Connect with us

BIHAR

मुर्दाबाद के नारे सुन नीतीश कुमार बोले, …..अपनी माता से पूछो वो सही बात बतलाएंगी

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर में एक रैली के दौरान उनको मुर्दाबाद के नारे लगा रहे लोगों समझाने लगे, नीतीश कुमार मुर्दाबाद के नारे लगा रहे लोगों को नीतीश कुमार ने कहा, “काहे के लिए मुर्दाबाद कह रहे हो, जिसका जिंदाबाद कर रहे हो उसको सुनने के लिए जाओ।” नीतीश कुमार यहीं नहीं रुके और मुर्दाबाद के नारे लगा रहे लोगों को कहा कि बिहार में पहले क्या कुछ होता था इसका पता लगाना है तो अपने घर जाकर अपनी माता से पूछना।

मुर्दाबाद का नारा लगा रहे लोगों को नीतीश कुमार ने कहा, “यहां आपको मालूम है, कुछ लोगों को न कोई ज्ञान है न कोई अनुभव, हम समाज को एक करने में लगे हुए हैं और वो लोग लगे हुए समाज को फिर बांटो फिर झगड़ा का माहौल पैदा करो। आप लोग देख रहे हो आप लोगों को कोई कुछ नहीं करेगा, हो तुम 8-10 आदमी, यहां हजार लोग बैठे हैं, कोई तुमको कुछ नहीं करेंगे। ये जान लो यहां पर, जो भी सबक सिखाता है, कम उम्र के बच्चे हो, क्या हाथ था अपने माता पिता से पूछ लो, कि शाम होने के बाद घर से बाहर निकल पाते थे? अपने माता पिता से पूछा कि स्कूल में कोई पढ़ाई होती थी? कोई ईलाज होता था?

Nitish Kumar gets angry after listening Murdabad slogan...- India TV Hindi

मुर्दाबाद का नारा लगा रहे लोगों को नीतीश कुमार बोले, “जानते हो, पूरे बिहार में ये जो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है उसमें एक महीने में 39 मरीज आते थे, हम लोगों ने जो अस्पताल की स्थिति बढा़ई, अब एक महीने में एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 10 हजार लोग इलाज के लिए जाते हैं, जरा जान लोग, पूछ लो, घर के अंदर पिता ठीक नहीं बताएगा, लेकिन अपनी माता से पूछोगे वो सही बात बतलाएगी। लोग किस तरह से क्या करते थे, पती अंदर गए तो पत्नी को गद्दी पर बैठा दिया लेकिन महिलाओं के उत्थान के लिए कोई काम हुआ।”

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान बुधवार को होगा और उसके लिए चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन है, ऐसे में सभी राजनीतिक दलों के नेता अपनी पूरी ताकत झोंकते हुए नजर आ रहे हैं।

Source : India TV

BIHAR

बढ़ती बिमारी और मौत के बावजूद, बिहारियों को नहीं लग रहा कोरोना से डर –

Abhishek Ranjan Garg

Published

on

वर्ल्ड में कोरोना वैक्सीन को लेकर तैयारियां जोरो-शोर पर हैं, फिर वो चाहें उसके वितरण की बात हो या फिर उसके साइड-इफेक्ट्स की लेकिन बिहार में लगता है प्रशासन ने पहले से ही वैक्सीन बिहार के लोगो को लगा दिया है.

जिस हिसाब से बिहार के लोग घूम रहे उसको देख के तो यही लगता है, शहर में जितनी चहल पहल दिख रही है, उसको देख के देश की राजधानी भी बिहार के लोगो से इसका हल माँगेगी.

पुलिस, प्रशासन, जनता, कचहरी, हॉस्पिटल जहा देखये वहाँ बिना मास्क बिना सोशल डिस्टनसिंग किये लोग बेखौफ घूम रहे है, जहा पूरा देश इससे लड़ने की कोशिश कर रहा है वहाँ बिहार में लोग बेखौफ घूम रहा है, पूछे जाने पर इनका उत्तर बड़ा हास्यापद है की ये अमीरों की बीमारी है , एसी में रहने वालों को ही होता है, लोग चुनाव का हवाला दे रहे है, शायद इन लोगो को ये अहसास नही है कि परिवार के लोग अपनो को अंतिम दर्शन तक नही कर पा रहे है.

इससे ज्यादा और क्या उदाहरण होगा, क्या किसी के घर पर कोरोना से मौत होने पर ही उसको ऐहसास होगा इस जानलेवा बीमारी की या कोई जबरदस्ती इनको अहसाह दिलाएगा.

हमे खुद ही समझ लेना चाहिये यूरोप जैसा लापरवाही नही करनी चाहये , प्रसासन को बिना मास्क या सोशल डिस्टनसिंग के चालान काटना चाहिये भीड़ इकट्ठा नही होने देना चाहये , अभी भी जग जाना चाहये नही तो बिहार मुर्दो के पहाड़ पर बैठ होगा.

जहाँ हम ये सब देख के सिर्फ अपने आप को कोष रहे होंगे, ऐसा समय ही क्यों आने दे थोड़ा सचेत और जागरूक रहने की जरूरत है, नेता लोग अपनी राजनीति कर के चले जायेंगे पछताना हमे होगा, ये समझने की जरूरत है.

Pics by Rohit Sahay (Aaj Tak) 

Continue Reading

BIHAR

मैट्रिक और इंटर परीक्षा के लिए बिहार बोर्ड की तैयारी, टेंपरेचर अधिक व सर्दी होने पर अलग कक्ष में बैंठेंगे परीक्षार्थी

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार बोर्ड ने कोरोना को ध्यान में रखते हुए इंटर और मैट्रिक की परीक्षा के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी है। बोर्ड के मुातबिक, शरीर का तापमान अधिक होने और सर्दी-जुकाम रहने पर अलग कक्षा में परीक्षा देना होगा। बोर्ड कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इंटर और मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2021 में एहतियात बरतेगा। ऐसे बोर्ड परीक्षार्थियों को चिह्नित किया जाएगा, जिन्हें सर्दी-जुकाम या उनके शरीर का तापमान अधिक होगा। सभी परीक्षा केंद्र पर एक कक्ष अलग से रहेगा।

exams

ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए छात्रों को एडमिट कार्ड में निर्देश दिये जायेंगे। इनमें छात्रों को कोरोना से बचने के लिए एहतियात रखने को कहा जायेगा। परीक्षा केंद्र पर मास्क लगाकर आना और हैंड सेनेटाइजर लेकर आना अनिवार्य होगा। बोर्ड की मानें तो सभी परीक्षा केंद्र पर थर्मो स्क्रीनिंग से प्रत्येक छात्र की जांच की जाएगी। इसके बाद ही छात्रों को प्रवेश मिलेगा।

दूरी बना कर बैठेंगे छात्र

स्क्रीनिंग में जिन छात्रों के शरीर का तापमान बढ़ा हुआ मिलेगा, उन छात्रों को अलग कक्षा में दो से तीन मीटर की दूरी पर बैठाया जायेगा। पटना जिला की बात करें तो इंटर और मैट्रिक परीक्षा मिलाकर 158 परीक्षा केंद्र होंगे। इन सभी केंद्रों पर कोविड-19 को देखते हुए एक अलग से कक्षा रखी जायेगी। पटना जिला शिक्षा कार्यालय की मानें तो हर केंद्र पर कोरोना से बचाव के लिए पूरे इंतजाम किये जाएंगे।

Source : Hindustan

Continue Reading

BIHAR

‘कोरोना बम’ साबित हो सकती हैं पैसेंजर ट्रेनें, भेड़-बकरियों की तरह यात्रा कर रहे लोग

Muzaffarpur Now

Published

on

पटना. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) का भारत में दस्तक दिए लगभग 10 माह बीत चुके हैं. इससे बचने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर गाइडलाइन जारी की जा रही है. पूरे देश में लॉकडाउन भी लगाया गया. लेकिन बिहारवासी हैं कि इन सबके बावजूद कोरोना को लेकर घोर लापरवाही बरत रहे हैं. कम से कम बिहार में चलने वाली लोकल ट्रेनों (Local Trains) को देखकर ऐसा ही लगता है. इन पैसेंजर ट्रेनों में लोग कोरोना संक्रमण के खतरे से बेखौफ होकर भेड़-बकरियों की तरह सफर कर रहे हैं.

कोरोना विस्फोट के खतरे के बीच फतुहा स्टेशन पर ये नजारे रोज देखे जा सकते हैं.

दरअसल भारत सरकार ने नियमों और शर्तों के साथ कई एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन शुरू कराया. बाद में रेल मंत्रालय ने कई रूटों पर लोकल-पैसेंजर ट्रेनों के परिचालन को मंजूरी दी. लेकिन इन ट्रेनों पर सफर करने वाले लोग कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रहे हैं. राजधानी पटना के फतुहा स्टेशन पर ऐसा नजारा रोज देखा जा सकता है. यहां से खुलने वाली मोकामा-दानापुर पैसेंजर ट्रेन में यात्री कोविड-19 के नियमों की अनदेखी कर भेड़-बकरियों की तरह यात्रा करते हैं. वहीं रेल प्रशासन, आरपीएफ और जीआरपी इस स्थिति पर चुप रहना ही सही समझ रहे हैं.

हालांकि इस ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों की भी अपनी मजबूरी है. यात्रियों में 90 फीसदी लोग ऐसे होते हैं जो रोजी-रोटी के लिए पटना आते हैं. बस और अन्य गाड़ियों पटना जाने में खर्च ज्यादा होता है, इसलिए लोग कोरोना संक्रमण के खतरे के बावजूद ट्रेन से यात्रा करते हैं.

पैसेंजर ट्रेन में भीड़-भाड़ का एक कारण ये भी है कि एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव छोटे-छोटे स्टेशनों पर नहीं होता है, जबिक पैसेंजर ट्रेनें हर छोटे-बड़े स्टेशनों पर रुकती हैं. लिहाजा लोकल यात्री पैसेंजर ट्रेन का सफर पसंद करते हैं.

Source : News18

Continue Reading
BIHAR29 mins ago

बढ़ती बिमारी और मौत के बावजूद, बिहारियों को नहीं लग रहा कोरोना से डर –

TRENDING42 mins ago

दुनिया का सबसे महंगा बैग लॉन्च, कीमत है 53 करोड़ रुपये

TRENDING59 mins ago

लॉकडाउन में घर जमाई बना दामाद तो साली को ले भागा, पकड़े जाने पर लड़की ने खाया जहर

BIHAR1 hour ago

मैट्रिक और इंटर परीक्षा के लिए बिहार बोर्ड की तैयारी, टेंपरेचर अधिक व सर्दी होने पर अलग कक्ष में बैंठेंगे परीक्षार्थी

INDIA1 hour ago

पीएम मोदी की समीक्षा के तुरंत बाद SII प्रमुख ने दी खुशखबरी

BIHAR1 hour ago

‘कोरोना बम’ साबित हो सकती हैं पैसेंजर ट्रेनें, भेड़-बकरियों की तरह यात्रा कर रहे लोग

INDIA2 hours ago

किसान आंदोलन पर बोले गृह मंत्री अमित शाह- ‘सरकार हर मांग पर विचार को तैयार’

BIHAR4 hours ago

लॉ एंड आर्डर को लेकर सख्त हुए CM नीतीश, DGP और चीफ सेक्रेटरी के साथ की मीटिंग

BIHAR5 hours ago

तेजस्वी पर बरसे मांझी, कहा- उन्हें नहीं कोई संवैधानिक जानकारी, नीतीश कुमार से मांगें माफी

BIHAR5 hours ago

राज्यसभा सांसद बन राष्ट्रीय राजनीति करेंगे सुशील मोदी, केंद्र में बन सकते हैं मंत्री!

BIHAR1 week ago

सात समंदर पार रूस से छठ करने पहुंची विदेशी बहू

WORLD2 weeks ago

संयुक्त राष्ट्र की शाखा ने चेताया- 2020 से भी ज्यादा खराब होगा साल 2021, दुनिया भर में पड़ेगा भीषण अकाल

BIHAR5 days ago

खाक से फलक तक : 18 साल की उम्र में घर से भागे, मजदूरी की, और अब हैं बिहार के मंत्री

TRENDING6 days ago

यात्री नहीं मिलने से पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्‍सप्रेस हो जाएगी बंद

INDIA3 days ago

राजस्थान छोड़कर जम्मू-कश्मीर जाना चाहते हैं IAS टीना डाबी के पति अतहर, लगाई तबादले की अर्जी

BIHAR1 week ago

एम्स से दीघा तक एलिवेटेड रोड पर आज से परिचालन शुरू, कोइलवर पुल पर आज ट्रायल रन

INDIA1 week ago

मिट्टी से भरी ट्रॉली खाली करते वक्त अचानक गिरने लगे सोने-चांदी के सिक्के, लूटकर भागे लोग

TRENDING2 weeks ago

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

BIHAR2 weeks ago

जीत की खुशी में पटाखा जलाने पर BJP नेता के बेटे की पीट-पीटकर हत्या, शव पेड़ पर लटकाया

BIHAR4 weeks ago

झूठा साबित हुआ लिपि सिंह का आरोप, भीड़ ने नहीं पुलिस ने की थी फायरिंग, CISF की रिपोर्ट से खुलासा

Trending