आश्रय गृह का उद्घाटन, मंत्री बोले- गरीबों को Rs.45 में रहने-खाने की सुविधा मिलेगी

0
297

केंद्र व राज्य सरकार गरीबों के हित में काम कर रही है। इसी कड़ी में शहर में आश्रय स्थल की सुविधा बहाल की गई है। इसमें बहुत कम दर पर नगर निगम प्रशासन गांवों से शहर में मजदूरी के लिए आने वालों को रहने व खाने की सुविधा देगा। यहां कामगारों को 30 रुपया में खाना व 15 रुपया में रहने की सुविधा मिलेगी। ये बातें नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने रविवार को लकड़ीढाई चंदवारा स्थित नगर निगम के पानीकल कार्यालय परिसर में कहीं। वह दीनदयाल अंत्योदय योजना के राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत आश्रय स्थल के नए भवन के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर में आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए सरकार गंभीर है। सरकार को आपराधिक घटनाओं के होने के कारणों की जानकारी मिली है। इसपर कई स्तर से जांच कर कार्रवाई हो रही है। जो भी इसमें शामिल है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। मौके पर मेयर सुरेश कुमार ने कहा कि आश्रय स्थल के साथ इस परिसर में कूड़ा-कचरा से जैविक खाद भी बनाया जा रहा है। इस आश्रय स्थल को पूरे देश स्तर पर मॉडल बनाया जाएगा। मौके पर वार्ड पार्षद केपी पप्पू, संजय केजरीवाल, विजय झा, शेरू अहमद, बुडको के कार्यपालक अभियंता सुरेश प्रसाद सिन्हा, उपनगर आयुक्त हीरा कुमारी, रणधीरलाल, सिटी मैनेजर ओमप्रकाश, मंत्री के प्रवक्ता संजीव कुमार सिंह सहित अन्य मौजूद थे।

आश्रय स्थल में मिलेंगी सुविधाएं:

-24 घंटे मिलेगी सुविधा, शहरी आश्रयविहीन व्यक्तियों के लिए ठहरने की व्यवस्था

-बिस्तर, पंखे, आदि से सुज्जित साफ हवादार कमरे होंगे

-प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग-अलग बेड की व्यवस्था

-बिजली, पानी, रसोईघर आदि की व्यवस्था

-प्रतिदिन आवासन शुल्क प्रति व्यक्ति 15 रुपया

-मांग के अनुसार शाकाहारी भोजन प्रति थाली 30 रुपया

Input : Live Hindustan

billions-spice-food-courtpreastaurant-muzaffarpur-grand-mall