धोनी के बाद रणजी में कोई बिहारी नहीं चमका अब फिर बिहार के नाम से खेल सकेंगे क्रिकेटर

0
373
M.S Dhoni, Bihar, Bihari

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार को रणजी में खेलने की अनुमति देने का बीसीसीआई को दिया आदेश

बिहार के क्रिकेटरों खेल प्रेमियों के लिए गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी खुशखबरी दी। कोर्ट ने रणजी ट्रॉफी और अन्य होम इवेंट में बिहार क्रिकेट टीम को हिस्सा लेने की अनुमति देने का भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को निर्देश दिया। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद यह व्यवस्था दी। बोर्ड ने बिहार को किसी भी स्टेट इवेंट में भाग लेने से रोक रखा था क्योंकि वह बोर्ड का पूर्णकालिक सदस्य नहीं था। कोर्ट ने आदेश में कहा कि टूर्नामेंटों में हिस्सा लेने की अनुमति बिहार और इस खेल के हित में होगी।

 

बिहार के नाम सुप्रीम कोर्ट में लड़ा क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार, जीता बिहार क्रिकेट एसोसिएशन

एम.एस. धोनी : अनटोल्ड स्टोरी…इस एक फिल्म ने बहुत कुछ दिखा दिया।…कैसे एक जिद अभावों से घिरे परिवार में महान क्रिकेटर का जन्म करा सकती है। बिहार से कोई बेटा कैसे रणजी खेलकर क्रिकेट की दुनिया का सिरमौर बन सकता है। आज धोनी की चर्चा इसलिए कि 2000 में झारखंड के अलग होने के बाद 2003 में बिहार के नाम पर खेलने वाली अंतिम रणजी टीम से धमाकेदार धोनी निकले थे। इसके बाद झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन खेलने लगा और बिहार में राजनीति से क्रिकेट बर्बाद हो गया। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार (सीएबी) ने लंबी लड़ाई लड़ी और आखिरकार 04 जनवरी 2018 वह ऐतिहासिक तारीख बन गई जब सुप्रीम कोर्ट ने बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) के तहत रणजी समेत बीसीसीआई की तमाम घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं में बिहार को खेलने का मौका दिया। इस फैसले के बाद अब आगे क्या, बता रही है यह रिपोर्ट…

जीत के बाद अब खेलेगा बिहार 

सुप्रीम कोर्ट में लड़ाई भले ही सीएबी ने लड़ी, लेकिन आदेश आया कि बीसीए अब रणजी समेत सभी घरेलू प्रतियोगिताओं में बिहार का प्रतिनिधित्व करेगा। यह निर्णय इसलिए कि बोर्ड ने बीसीए को ही मान्यता दे रखी है। निर्णय के इस पहलू में जाने की जगह यह समझना काफी है कि यह बिहार की जीत है। अब बिहार खेलेगा। सुखद संयोग यह कि रणजी के रास्ते बिहार से टीम इंडिया तक पहुंचने वाले सैयद सबा करीम इसी साल एक जनवरी से बीसीसीआई के महाप्रबंधक (क्रिकेट ऑपरेशन) बने हैं। एक बार फिर ऐसा कोई क्रिकेटर निकले, इसकी मानसिक तैयारी गुरुवार के फैसले के साथ ही शुरू हो गई है।

Source : Dainik Bhaskar

यह भी पढ़ेंबिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनींराइजनिंग स्टार

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआपहमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

यह भी पढ़ेंबिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनींराइजनिंग स्टार

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआपहमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)