Connect with us

BIHAR

बिहारी परिवारों को उल्टा- सीधा और नीच सोच का कहने वाली ज्योति यादव जैसी पत्रकार को हम कब जवाब देंगे

Abhishek Ranjan Garg

Published

on

ज्योति यादव एक साधारण वेबसाइट में मामूली सी पत्रकार है, जो हमेशा उल्टा- सीधा और लोगो के ध्यान खींचने के लिये अनर्गल बात करते रहती है. सुशांत मामले में लोगो का ध्यान अपनी तरफ लाने के लिये ज्योति ने नीचता की सारी हद पार कर दी और बिहार के परिवारों के ख़िलाफ़ अपने लेख से भड़ास निकालने लगी उन्होंने एक लेख निकाला जिसमें वो सुशांत के मौत का जिम्मेदार उसके परिवार को ही ठहराने के लिये ढ़ेरो तरह का अनर्गल विलाप किया.

ज्योति ने अपने बकवास लेख में कई अनपढ़ वाले तथ्य दिए है जिसमें वो कहती है कि बिहारी परिवार अपने बच्चों को मॉडर्न श्रवण कुमार बनने का दबाव डालते रहते है और हर गलती का आरोप अपने बेटे के महिला मित्र पर लगाते है. इतना कहते हुये ज्योति यादव अपनी घटिया मानसिकता का परिचय देंते हुये बिहार को पितृसत्तात्मक बता देती है. ज्योति यादव शायद नहीं जानती की जितनी इज्जत बिहार में महिलाओं को परिवार में दी जाती है शायद ही कही हो. ज्योति छोटी मानसिकता की एक ऐसी पत्रकार है जिनकी बिहारियों से नफ़रत उनके लेख से साफ झलकती है. उनके लेख को पढ़कर यह साफ होता है कि बिहारियों के प्रति नफ़रत और घृणा फैलाना इनके एजेंडा में है.

Image may contain: 1 person, close-up, text that says "Prant Off The"

ज्योति यादव अपने लेख में कहती है कि बिहार की पितृसत्तात्मक है ऐसा शायद वो इसलिये सोचती है क्योंकि उन्हें एक ख़ास एजेंडा को फैलाना है और सुशांत के आरोपियों को बचाना है. ज्योति यादव शायद कभी बिहार नहीं आयी है उन्होंने मन ही मन बिहार के प्रति अपने नफरत को इस लेख में जाहिर कर दिया है. बिहार के परिवार वाले अपने बच्चों से प्यार नही करते ऐसा कहने वाली ज्योति को शायद उनके घर मे प्यार और सही शिक्षा नही मिला है तभी वो ऐसी घृणित सोच को समाज मे फ़ैला रही है.

ज्योति यादव का बिहार के प्रति नफ़रत किस बात का यह तो नहीं मालूम लेक़िन ज्योति ने अपने लेख के माध्यम से बिहार के लोगो को नीचा दिखाने का पूरा प्रयास किया है और सुशांत मामले में एक अनर्गल विलाप शुरू करने का प्रयास किया है. ऐसे लेखों के माध्यम से ज्योति यादव जैसी पत्रकार सुशांत मामले को भटकाने का प्रयास में लगी है.

BIHAR

नीतीश के ‘निश्चय’ को मुखिया लगा रहे पलीता, ठेकेदार-सुपरवाइजर के साथ मिलकर बहाई जा रही भ्रष्टाचार की गंगा, देखें घोटाला करने वाले मुखिया की लिस्ट

Ravi Pratap

Published

on

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चयों में से एक निश्चय को घोटालेबाजों की नजर लग गई है। ये योजना हर घर नल का जल है जिसमें जमकर माल बटोरा गया है। इस योजना में भ्रष्टाचार की गंगोत्री बहाने के आरोप में अब तक 350 से ज्यादा मुखिया पर FIR दर्ज हुई है। सरकारी बाबुओं पर भी इस मामले में एक्शन हुआ है।

मुखिया के अलावा ठेकेदार, सुपरवाइजर और पंचायत सचिव भी घपले में शामिल

ये फेहरिस्त बहुत लंबी है। राज्य में सिर्फ नल जल योजना में घपले को लेकर अब तक 373 मुखिया, 45 ठेकेदार ,62 सुपरवाइजर, 32 पंचायत सचिव पर FIR दर्ज कराई जा चुकी है। इन पर आरोप है कि योजना के बजाए इन्होंने अपनी जेब भरने पर ध्यान दिया। काम में गुणवत्ता से लेकर हर मोर्चे पर घपला हुआ। क्या मुखिया, क्या ठेकेदार… जो जितना पैसा अपनी जेब में भर सकता था, उसने उतना भर लिया। लेकिन घोटाले का घड़ा जल्दी ही फूट गया जब इसकी शिकायतें आने लगीं।

RTI से हुआ खुलासा

बिहार के जानेमाने आरटीआई एक्टिविस्ट शिवप्रकाश राय ने जब नल जल योजना से जुड़ी जानकारी मांगी तब ये खुलासा हुआ। पता चला कि ज्यादातर मुखिया पर कमीशनखोरी से लेकर प्रोजेक्ट को पूरा कराने में लेट-लतीफी बरतने, काम की खराब गुणवत्ता जैसे गंभीर आरोप थे। जब इसकी जांच हुई तो आरोप सही पाए गए। इसके बाद अब सरकार की तरफ से दोषी पाए गए सभी मुखिया को पद मुक्त करने की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही प्रोजेक्ट की निगरानी में चूक या लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर भी कार्रवाई होनी तय है। तेरह प्रखंड विकास पदाधिकारी और 10 पंचायत राज पदाधिकारी से इस बारे में लिखित सफाई मांगी गई है।

देख लीजिए घोटाला करने वाले मुखिया की लिस्ट

जिन जिलों में मुखिया पर प्राथमिकी हुई है उसमें पटना में 12,औरंगाबाद में 9, नालंदा में 6, जहानाबाद में 19, मुजफ्फरपुर में 16, गया में 17, भागलपुर में 13, मधुबनी में 22, दरभंगा में 13, सहरसा में 16, बांका में 17 ,रोहतास में 15, पूर्वी चंपारण में 12, पश्चिम चंपारण में नौ, सिवान में 9, सारण में 5, मुंगेर में 19, समस्तीपुर में 13, सुपौल में 11, मधेपुरा में 17 ,पूर्णिया में 12, भोजपुर में 8, गोपालगंज में 12, वैशाली में 17, सीतामढ़ी में 12 मुखिया शामिल हैं।

गड़बड़ी मिलने के बाद मुख्य सचिव ने जारी किया आदेळ
‘हर घर नल का जल’ योजना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चयों में से एक और उनके ड्रीम प्रोजेक्ट तक में शामिल है। चुनाव हों या फिर कोई भी मौका, सीएम नीतीश इसकी चर्चा हमेशा करते हैं। अब इसी में गड़बड़ी के मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्य सचिव दीपक कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को प्रोजेक्ट में पूरी पारदर्शिता लाने और निगरानी बढ़ाने का आदेश दिया है।

मुख्यमंत्री नीतीश तक के गृह जिले में हुआ घपला!
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा के सिलाव प्रखंड के पाकी गांव में सात निश्चय योजना से बनाई गई पानी टंकी टावर सहित 24 घंटे के अंदर जमींदोज हो गई। स्थानीय लोगों की माने तो इस पानी टंकी का निर्माण काफी दिनों से कराया जा रहा था। इसी सोमवार को इसके ऊपर पानी की टंकी रखी गई और सुबह में जैसे ही इस में पानी भरना शुरू किया गया तो अचानक टंकी समेत टावर टूट कर गिर गया । इससे आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। इस मामले में पंचायत की मुखिया कांति देवी ने बताया कि उन्होंने राशि की भुगतान कर दिया गया है । उन्होंने बताया कि वार्ड संख्या 11 में 18 लाख की लागत से नल जल योजना काम कराया जा रहा था। मगर काम में अनियमितता बरती गई जिसके कारण यह हादसा हुआ । उन्होंने सीधे-सीधे वार्ड सदस्य वार्ड सचिव पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। इस मामले में सिलाव के प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉक्टर अंजनी कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी । जो भी दोषी होंगे उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Input: NBT Hindi

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

MUZAFFARPUR

राम काज कर‍िबे को आतुर : मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम मय हुआ मुजफ्फरपुर

Ravi Pratap

Published

on

श्रीराम मंदिर के निर्माण को लेकर निधि समर्पण अभियान तेज हो गया है। रविवार को इसे लेकर महानगर के 11 नगरों के विभिन्न स्थानों से पहुंचे रामभक्तों का जत्था मोटरसाइकिल से मुजफ्फरपुर क्लब पहुंचा। यहां से मोटरसाइकिल रैली शुरू होकर जूरन छपरा, इमलीचट्टी, माड़ीपुर ओवरब्रिज होते हुए छाता चौक, कलमबाग चौक, मिठनपुरा, पानी टंकी चौक, बनारस बैंक चौक, दुर्गास्थान मंदिर, गरीबस्थान मंदिर, सरैयागंज टावर होते हुए पुन: मुजफ्फरपुर क्लब में समाप्त हुआ। बाइक पर जय श्री राम रचित झंडा और सबों के गर्दन और माथे पर भगवा पट्टियां थी। रैली के दौरान जय श्री राम का नारा गूंजता रहा।

महानगर अभियान प्रमुख कृष्ण मुरारी भरतिया ने कहा कि निधि समर्पण जागरूकता को लेकर यह बाइक रैली निकाली गई है। अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने को लेकर कई कार्यक्रम चलाए जाएंगे। कोई भी व्यक्ति श्रीराम मंदिर निर्माण से ना चूके इसे लेकर अभियान चलाया जा रहा है। यह 27 फरवरी तक चलेगा। प्रचार प्रमुख प्रभात कुमार ने बताया कि महानगर के 104 बस्तियों के अंतर्गत सैकड़ों गली प्रमुख बनाए गए हैं। जो अभियान को गति देंगे।

रैली मे सह अभियान प्रमुख प्रेम कुमार सर्राफ, हिसाब प्रमुख जगन्नाथ प्रसाद, अनीष कुमार, अभिषेक आनंद सन्नी, पंडित अभिषेक पाठक, वैभव मिश्रा, विकास चौधरी, सूतापट्टी नगर अभियान प्रमुख सुकेश प्रकाश, अरुण ओझा, हरिओम कुमार, रंजन कुमार, मनोज कुमार मुन्ना, अशोक शर्मा, सुरज कुमार गुप्ता, रंजीत कुमार, रंजन तिवारी, दिनेश प्रसाद, मनीष कुमार सिंह, नचिकेता पांडे, महनीष कुमार, अमित रंजन, साकेत शुभम, परितोष सिंह, योगेश कुमार टिंकू, अमरेश कुमार विपुल, प्रदुयमण राणा समेत सैकड़ों रामभक्त शामिल हुए।वहीं हिंदू रक्षा सेना के तत्वाधान में रामदयालु स्थित मुक्तिनाथ मंदिर से भव्य मोटरसाइकिल रैली निकाली गई।

यह कच्ची-पक्की, शेरपुर, अतरदह, ओरिएंट क्लब होते हुए मुजफ्फरपुर क्लब पहुंचे। इसमें मुख्य रूप से हिंदू रक्षा सेना के संयोजक राकेश पटेल, सुनील पाठक संजय सिन्हा समेत बड़ी संख्या में राम भक्त शामिल थे।

Input: Dainik Jagran

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

MUZAFFARPUR

जदयू ने कोरोना योद्धा के रूप में चिकित्सक व मुजफ्फरपुर नाउ को किया सम्मानित

Ravi Pratap

Published

on

मुज़फ़्फ़रपुर शहर के मोतीझील स्थित जिला जनता दल यूनाइटेड की ओर से कोरोना योद्धा सम्मान समारोह का आयोजन जिला अध्यक्ष रंजीत सहनी की अध्यक्षता में किया गया। वही इस कार्यक्रम में शिरकत किए पूर्व विधायक महेश्वर यादव समेत जदयू ने पूर्व प्रत्याशी मोहम्मद जमाल।

जिलाध्यक्ष श्री सहनी ने बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य रहा कि कोरोना में चिकित्सक और मीडिया कर्मियों ने जो जान जोखिम में डालकर जो काम किया है उसको लेकर सदर अस्पताल के चिकित्सकों एवं कर्मचारी समेत पत्रकार अरविंद अकेला, अमरेंद्र तिवारी, विशाल कुमार, पुनीत झा, मुकेश चौरसिया,विक्रम कुमार, अभिषेक कुमार, सोनू शर्मा, रूपेश कुमार, नवनीत कुमार को शॉल, फुल का पौधा और डायरी देकर सम्मानित किया गया हैं.इस कार्यक्रम में मौजूद रहे जदयू महानगर अध्यक्ष अमरेश कुमार, जिला सचिव सुनील कुमार, सुबोध कुमार समेत अन्य जदयू नेता गण।

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
BIHAR13 mins ago

नीतीश के ‘निश्चय’ को मुखिया लगा रहे पलीता, ठेकेदार-सुपरवाइजर के साथ मिलकर बहाई जा रही भ्रष्टाचार की गंगा, देखें घोटाला करने वाले मुखिया की लिस्ट

MUZAFFARPUR32 mins ago

राम काज कर‍िबे को आतुर : मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम मय हुआ मुजफ्फरपुर

MUZAFFARPUR43 mins ago

जदयू ने कोरोना योद्धा के रूप में चिकित्सक व मुजफ्फरपुर नाउ को किया सम्मानित

MUZAFFARPUR1 hour ago

मुजफ्फरपुर के हैंडलूम-लहठी काे मिला ग्लोबल मार्केट ऑनलाइन ट्रेडिंग में उतरा

BIHAR1 hour ago

एलजेपी के उपाध्यक्ष का बड़ा दावा- अगर चिराग अकेले चुनाव नहीं लड़ते, तो तेजस्वी को नहीं मिलती इतनी सीटें

INDIA2 hours ago

नई बनी सड़क पर स्कूटी लेकर चढ़ गयी लड़की, लोग बोले-गयी भैंस कंक्रीट में

BIHAR2 hours ago

नीतीश सरकार के पूर्व मंत्री का बड़ा आरोप, पैसा लेकर भी जमीन नहीं दे रहा एयर फोर्स अथॉरिटी

INDIA2 hours ago

लव जिहाद पर नसीरुद्दीन शाह ने जताई नाराजगी, बोले- इसमें गलत क्या है?

DHARM2 hours ago

बिना बेलपत्र अधूरी मानी जाती है भगवान शिव की पूजा, जा’निए महत्व

INDIA2 hours ago

‘पंजाब आकर समझाएं कृषि कानून-हम उठाएंगे आपका खर्च’, हेमा मालिनी को किसानों की पेशकश

INDIA2 weeks ago

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

TRENDING4 weeks ago

भारतीय अरबपति को सिर्फ 73 रुपये में बेचनी पड़ी 2 अरब डॉलर की कंपनी

BIHAR4 weeks ago

इंटेलिजेंस ब्यूरो में ग्रेजुएट्स के लिए ACIO की 2000 भर्ती, जानें IB भर्ती की खास बातें

INDIA3 days ago

इंग्लिश मीडियम बहू और हिंदी मीडियम सास के रिश्‍तेे में यूं आ रही दरार, पहुंच रहे थाने तक

TRENDING2 weeks ago

12 लीटर सोडा, 40 बोतल बीयर रोज: 412 किलो के शख्स ने दुनिया को कहा अलविदा

JOBS3 weeks ago

डाक विभाग ने निकाली है बंपर भर्तियां, 10वीं पास करें आवेदन, जानें फॉर्म भरने का तरीका

BIHAR2 weeks ago

29 IAS, 38 IPS की ट्रांसफर-पोस्टिंग: 12 DM बदले, चंद्रशेखर सिंह पटना के नए DM बने; 13 SP बदले, लिपि सिंह को सहरसा SP बनाया गया

TRENDING3 days ago

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

MUZAFFARPUR3 weeks ago

निगम में शामिल होंगे शहर से सटे 32 गांव, 49 से बढ़ कर हाे सकते हैं अब 76 वार्ड

BIHAR3 weeks ago

तो इसलिए हैं पंजाब के किसान सड़कों पर, बिहार के किसानों के मुकाबले कमाते हैं पांच गुना ज्यादा

Trending