Connect with us

INDIA

Be A Super Hero & Defeat Corona in ‘Lockdown’ Style

Published

on

Every person once in their life must thought ” Hey bhagwan ! kaash…. koi aisa din aaye jab mujhe kaam par jaane ki chinta na ho. Mast ghar mein TV ke saamne baith kar time
pass ho jaye aur accha accha khana saamne khane ko mil jaye”

And see this day has finally arrived, but who knows that this day will come with an unfortunate epidemic. Although, we Indians have much stamina and guts no doubt, to fight
in any circumstances. But we really need to take extra effort in these types of serious instances.

Advertisement

Well, now I’m pretty sure that you all get the hint of what I’m talking about. Yes, Corona …. you guess it right. Nowadays it become so familiar with everyone and so it’s mishap
effects.

What do you know about corona virus or Covid 19?

Advertisement

As we all know that this new virus has come directly from china but there are so many speculations still under surveillance that how is it raised. Corona virus is an infectious
disease which spread from one person to another person in no time. And the most unfortunate thing is that, it has no vaccine yet had been made to prevent the effected one.
Precaution is the only solution to get away from this epidemic Virus.

This is time where world has given high alert on this disease after being top on medical facilities. you cannot control on this virus, but you can definitely break the chain while not
being infected by this virous. Not only India but the whole world is following the lockdown movement spread by their various government.

Advertisement

Why lockdown is important?

If government is saying to go under lockdown because they love their citizens life, and they do care for their public. Simply i can say that lockdown is a movement asked by
government to make you away from this menacing virus. Because it really doesn’t take a lot of time to spread from one person to another. And the most important thing is you even
can’t identify this happens to you in almost 10 to 15 days. Every day you go through several newspaper about the death rate of these infected patients. And even though you
want to increase the death rate after dying, come on…. the door is open for you but there is also risk. you are not only harming yourself; you can make your loved one’s life also in
risk because once you get infected, you will make them too.

Advertisement

Safety measures

1) Wash your hand frequently with soap and water or using alcohol-based hand rub kills virus that may be on your hand.

Advertisement

2) Maintain social distancing is the most important thing and which is asked by the government again and again. The main motto behind India’s lockdown is to maintain
social distancing from any other person.

3) If you find difficulties while breathing or you have cough or fever, then you really need to consult the doctor as soon as possible.

Advertisement

4) Nowadays, try to avoid touching your eyes, nose or mouth. It may have chances that your hand might contain some virus which led you in problem in future.

Stay safe! Stay Home! Stay updated!

Advertisement

Team : Pooja Sinha

Advertisement

INDIA

राम और रामायण से जुड़े स्थलों को देखें फिर से एक बार, 24 से शुरू हो रही है रामायण सर्किट रेल यात्रा

Published

on

अगर आप भगवान राम से जुड़े सभी स्थलों के दर्शन करना चाहते हैं तो आपके पास मौका है। लोगों की भारी मांग पर रेलवे एक बार फिर से रामायण सर्किट रेल यात्रा की शुरूआत करने जा रही है। ये रेल यात्रा 24 अगस्त से शुरू होगी। रामायण सर्किट रेल यात्रा का सफर 19 रात और 20 दिनों का है। ये ट्रेन आपको भगवान राम से जुड़े सभी तीर्थ स्थलों के दर्शन कराएगी। इस दौरान आपको अयोध्या, प्रयागराज, सीतामढ़ी, जनकपुर, बक्सर, प्रयागराज, बक्सर, नासिक, हंपी, रामेश्वरम, भद्रचलम और कांचीपुरम के दर्शन कराएगी।

रामायण सर्किट ट्रेन में थर्ड एसी कोच हैं और इसमें यात्रियों के खाने-पीने की व्यवस्था है। इस यात्रा के दौरान यात्रियों को शुद्ध शाकाहारी भोजन मिलेगा। अगर आप इस यात्रा में शामिल होना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 84 हजार रुपये देने होंगे। वहीं अगर आप दो से तीन लोगों के ग्रुप में हैं तो आपको प्रति व्यक्ति 73,500 रुपये का खर्च आएगा। वहीं बच्चे के लिए इस पैकेज का मूल्य 67,200 रुपये है।

Advertisement

इन सबके अलावा आईआरसीटीसी बुकिंग करवाने वाले पहले 100 यात्रियों को दस फीसदी डिस्काउंट भी दे रही है। अगर आपके पास एक मुश्त इतनी राशि नहीं है तो आप किश्तों में भी टिकट बुक करा सकते हैं जिसकी अदायगी आपको 36 महीनों में करनी होगी। 36 महीने तक आपको हर महीने 2690 रुपये की किश्त का भुगतान करना होगा। रामायण सर्किट ट्रेन को दिल्ली सफदरजंग, गाजियाबाद, अलीगढ़, टुंडला, कानपुर और लखनऊ से पकड़ा जा सकता है। इस यात्रा की बुकिंग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से की जा सकती है। ऑफलाइन बुकिंग के लिए आपको लखनऊ के गोमती नगर स्थित आईआरसीटीसी कार्यालय आना होगा वहीं ऑनलाइन आप कहीं से भी बुकिंग करा सकते हैं।

Source : Hindustan

Advertisement

Continue Reading

INDIA

इस्लामिक अध्ययन के 2 छात्रों ने जीता रामायण क्विज, धाराप्रवाह पढ़ते हैं संस्कृत श्लोक

Published

on

एक तरफ देश में सांप्रदायिक सद्भाव के प्रति हालिया दिनों में कुछ ठहराव देखने को मिल रहा है तो दूसरी तरफ ऐसी मिसालें भी हैं जो सदियों पुरानी हमारी परंपरा को जीवंत करती है. जी हां, ऐसी ही एक मिसाल केरल में देखने को मिली. केरल में दो मुस्लिम युवा, जो हैं तो इस्लामिक स्ट्डीज के छात्र लेकिन इन्होंने रामायण प्रतियोगिता में भाग लेकर शानदार जीत हासिल की है. अब हर तरफ इन दोनों मुस्लिम युवा की चर्चा हो रही है. मलप्पुरम के दो मुस्लिम छात्रों मोहम्मद जाबिर पीके और मोहम्मद बसीथ एम ने इस रामायण प्रतियोगिता में जीत हासिल की है. दोनों छात्रों ने रामायण पर ऑनलाइन क्विज जीता है. इस प्रतियोगिता में एक हजार से अधिक लोगों ने भाग लिया था.

रामायण का अयोध्याकांड पसंदीदा श्लोक

Advertisement

दोनों छात्र केकेएचएम इस्लामिक एंड आर्ट्स कॉलेज वालेंचेरी में इस्लामिक स्ट्डीज की पढ़ाई करते हैं. दोनों युवा का रामायण में से पसंदीदा श्लोक अयोध्याकांड है जिसमें लक्ष्मण के क्रोध और प्रभु श्रीराम की ओर से अपने भाई को दी जा रही सांत्वना का जिक्र है. इसमें भगवान राम राज्य और शक्ति की निरर्थकता के बारे में बता रहे हैं. ये दोनों युवा थुंचथु रामानुजन एज़ुथाचन द्वारा लिखित महाकाव्य के मलयालम संस्करण ‘अध्यात्म रामायणम’ के छंदों को धाराप्रवाह और मधुर आवाज में प्रस्तुत करते हैं बल्कि इसका अर्थ भी विस्तार से बताते हैं. मोहम्मद जाबिर पीके और मोहम्मद बसीथ एम ने इस महाकाव्य का गहराई से अध्ययन किया है. यही कारण है कि दोनों ने इस प्रतियोगिता पर अपना कब्जा किया है. दोनों कॉलेज के दोस्त हैं.

हर धर्म के बारे में जानकारी

Advertisement

यह प्रतियोगिता डीसी बुक्स पब्लिशिंग हाउस द्वारा आयोजित की गई थी. बसीथ और जाबिर पांचवें और अंतिम ससाल के स्टूडेंट है. केकेएसएम इस्लामिक एंड आर्ट्स कॉलेज में यह 8 साल का कोर्स होता है. स्थानीय मीडिया में बसीथ और जाबिर की खूब चर्चा हो रही है और लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं. छात्रों ने बताया कि बचपन से ही वे महाकाव्य के बारे में जानते थे लेकिन वाफे कोर्स के दौरान उन्होंने इस महाकाव्य और हिन्दू धर्म के बारे में गहराई से अध्ययन किया. वाफे के सिलेबस में हर धर्म के बारे में पढ़ाया जाता है. उन्होंने बताया कि उनके पुस्तकालय में हर धर्म की किताबें प्रचुरता से उपलब्ध है.

आज सबसे ज्यादा इसे पढ़ने की जरूर

Advertisement

जाबिर ने बताया, देश के सभी नागरिकों को रामायण और महाभारत महाकाव्य जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि हमारी समृद्ध संस्कृति, विरासत और इतिहास का हिस्सा है. मेरा मानना है कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम इसे सीखें और इसके प्रति अपनी समझ बढ़ाएं. उन्होंने कहा कि राम को अपने पिता से किए वादे को पूरा करने के लिए अपने राज्य का त्याग करना पड़ा. सत्ता के अंतहीन संघर्षों के दौर में रहते हुए हमें राम जैसे पात्रों और रामायण जैसे महाकाव्यों से प्रेरणा लेनी चाहिए. इससे आगे बसीथ ने कहा, इस महाकाव्य को पढ़ने से अन्य धर्मों और इस समुदाय के लोगों को समझने में मदद करता है. उन्होंने कहा, कोई भी धर्म नफरत को बढ़ावा नहीं देता बल्कि केवल शांति और सद्भाव का प्रचार करता है. बसीथ ने कहा, प्रतियोगिता जीतने से उन्हें महाकाव्य को और गहराई से सीखने की प्रेरणा मिलती है.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

जगदीप धनखड़ होंगे नए उपराष्ट्रपति, विपक्ष की उम्मीदवार अल्वा को हराया

Published

on

देश के नए उपराष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए शनिवार को हुए मतदान में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ विजयी घोषित हुए हैं. उनका मुकाबला विपक्ष की संयुक्त उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा से था. धनखड़ को जहां 528 वोट मिले, वहीं अल्वा को सिर्फ 182 वोट से संतोष करना पड़ा, जबकि 15 वोट अमान्य करार दिये गए. लोकसभा के महासचिव उत्पल कुमार सिंह ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘सुबह 10 बजे से शुरू हुआ चुनाव शाम 5 बजे तक चला. इस दौरान 780 में से 725 सांसदों ने अपने मत का इस्तेमाल किया.’

जीत के लिए 390 से अधिक मतों की आवश्यकता थी. संसद में वर्तमान सदस्यों की मौजूदा संख्या 788 है, जिनमें से केवल भाजपा के 394 सांसद हैं. आंकड़ों के लिहाज से पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल धनखड़ की जीत पहले से ही तय मानी जा रही थी. अब थोड़ी ही देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा धनखड़ से मिलने जाएंगे.

Advertisement

धनखड़ 71 वर्ष के हैं और वह राजस्थान के प्रभावशाली जाट समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. उनकी पृष्ठभूमि समाजवादी रही है. जनता दल (यूनाईटेड), वाईएसआर कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, अन्नाद्रमुक और शिवसेना ने धनखड़ का समर्थन किया था.

चुनाव में शिकस्त झेलने वालीं अस्सी वर्षीय अल्वा कांग्रेस की वरिष्ठ नेता हैं और वह राजस्थान के राज्यपाल के रूप में भी काम कर चुकी हैं. तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), आम आदमी पार्टी (आप) और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने अल्वा के समर्थन की घोषणा की थी. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने भी अल्वा का समर्थन किया था. लोकसभा और राज्यसभा के सभी सदस्य उपराष्ट्रपति चुनाव के निर्वाचक मंडल में शामिल होते हैं. इसमें मनोनीत सदस्य भी मतदान करने के पात्र होते हैं.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR6 hours ago

जिस पति को पाने के लिए घर से की बगावत उसी ने शादी के महज तीन साल बाद दी दर्दनाक मौत

MUZAFFARPUR7 hours ago

सावन के हरे रंग में सराबोर हुई सुहागिनें खूब लगाए ठुमके

BIHAR9 hours ago

ललन सिंह बोले- नीतीश कुमार का कद घटाने को हुआ षड्यंत्र, आरसीपी थे दूसरा ‘चिराग मॉडल’

BIHAR14 hours ago

पटना हाईकोर्ट ने दिया आदेश, बिहार के 14 कॉलेजों की मान्यता होगी रद्द

INDIA14 hours ago

राम और रामायण से जुड़े स्थलों को देखें फिर से एक बार, 24 से शुरू हो रही है रामायण सर्किट रेल यात्रा

INDIA16 hours ago

इस्लामिक अध्ययन के 2 छात्रों ने जीता रामायण क्विज, धाराप्रवाह पढ़ते हैं संस्कृत श्लोक

MUZAFFARPUR16 hours ago

रोक सूची में खेसरा संग थाना व वार्ड का नंबर भी

MUZAFFARPUR19 hours ago

मुजफ्फरपुर : स्मैकियों की 180 दिनों तक जमानत रोकने को पुलिस देगी अर्जी

BIHAR19 hours ago

शादी करने के लिए पटना से पानीपत पहुंच गए 5 नाबालिग, पुलिस भी हैरान

BIHAR19 hours ago

पारस अस्पताल के डाॅक्टर पर रेप का आराेप, गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम पर बाउंसर्स ने किया हमला

BIHAR4 weeks ago

आईटीआई पास छात्रों को अग्निवीर बनने का मौका

BIHAR3 weeks ago

बिहार दारोगा रिजल्ट : छोटी सी दुकान चलाने वाले सख्स की दो बेटियाँ एक साथ बनी दारोगा

job-alert
BIHAR1 week ago

बिहार: मैट्रिक व इंटर पास महिलाएं हो जाएं तैयार, जल्द होगी 30 हजार कोऑर्डिनेटर की बहाली

INDIA3 weeks ago

प्यार के आगे धर्म की दीवार टूटी, हिंदू लड़के से मुस्लिम लड़की ने मंदिर में की शादी

BIHAR3 weeks ago

बिहार में तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई दरें

BIHAR4 weeks ago

बिहार में युवक की पीट-पीटकर हत्या, प्राइवेट पार्ट को काट डाला

BIHAR4 days ago

बीपीएससी 66वीं रिजल्ट : वैशाली के सुधीर बने टॉपर ; टॉप 10 में मुजफ्फरपुर के आयुष भी शामिल

BIHAR4 weeks ago

पिता ने ट्यूशन फीस के लिए दिए 60 हजार रुपए, बेटे ने साइलेंसर वाली पिस्टल खरीद पिता की हत्या

BIHAR2 days ago

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू

BIHAR3 weeks ago

बिहार : अब शिकायत करें, 3 से 30 दिनों के भीतर सड़क की मरम्मत हाेगी

Trending