PM मोदी सरकार से JDU का किनारा, बिहार में गरमाई सियासत; HAM बोला- हमारे साथ आइए
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

PM मोदी सरकार से JDU का किनारा, बिहार में गरमाई सियासत; HAM बोला- हमारे साथ आइए

Avatar

Published

on

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (PM Modi Government) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) के शामिल नहीं होने के फैसले पर बिहार में राजनीति गर्म हो गई है। जेडीयू सुप्रीमो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के यह कहने के बावजूद कि पार्टी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का हिस्‍सा है, विपक्ष ने सवाल उठाए हैं। उधर, कांग्रेस (Congress) ने इसपर अभी तक चुप्‍पी साध रखी है।

हैरान करने वाला जदयू का यू टर्न

विदित हो कि एक दिन पहले तक जेडीयू केंद्र सरकार में शामिल होने की बात कर रहा था। बीते 21 व 23 मई को खुद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने की बात कही थी। शपथ ग्रहण के ठीक एक दिन पहले बुधवार को भी पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी त्‍यागी ने कहा था कि जेडीयू का मंत्रिमंडल में शामिल होना तय है। हालांकि, मंत्री कौन बनेगा यह पार्टी सुप्रीमो नीतीश कुमार तय करेंगे। इसके बाद ठीक शपथ ग्रहण के पहले नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने से इनकर कर दिया। जेडीयू का अचानक का यह यू-टर्न हैरान करने वाला है।

‘हम’ बोला: अब महागठबंधन में आ जाएं नीतीश कुमार

नरेंद्र मोदी सरकार में जेडीयू के शामिल नहीं होने पर महागठबंधन (Grand Alliance) के घटक दल हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने तंज कसते हुए कहा कि बिहार के गांवों की शादी में जैसे दूल्‍हा के फूफा रूठते हैं, वैसे ही नीतीश कुमार एनडीए में रूठ गए हैं। कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) अपने अहंकार की वजह से नीतीश कुमार को नीचा दिखा रही है। इसी वजह से जेडीयू को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई। दानिश ने कहा कि जेडीयू को महागठबंधन के साथ आकर सशक्त विपक्ष की भूमिका का निर्वहन करना चाहिए।

यह आने-जाने की सियासत का परिणाम: RJD

राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के विधायक रामानुज प्रसाद ने कहा कि यह नीतीश कुमार के आने-जाने की सियासत का परिणाम है। चुनाव के दौरान पहले वे अपने काम की मजदूरी मांग रहे थे, लेकिन बाद में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नाम पर वोट मांगने लगे। जब उन्‍होंने मोदी के नाम पर वोट मांगे तो वोट भी तो मोदी को ही मिले। ऐसे में मंत्रिमंडल का फैसला तो माेदी ही करेंगे। उन्‍होंने कहा कि चुनाव में जेडीयू तो आन घोषणा पत्र तक नहीं ला सका।

मामले पर कांग्रेस ने चुप्पी साधी

उधर, इस मसले पर कांग्रेस ने चुप्पी साध ली है। पार्टी के किसी नेता ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता हरखू झा एवं राजेश राठौर ने कहा कि हमें अभी एक माह तक किसी भी प्रकार का बयान देने से मना कर दिया गया है। ऐसे में हम इस मसले पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं हैं। सूत्रों के अनुसार अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मीडिया इंचार्ज रंदीप सिंह सूरजेवाला ने बाकायदा निर्देश जारी कर नेताओं को किसी भी प्रकार का बयान देने से मना कर दिया है।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

सावन की पहली सोमवारी पर मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, देवघर के बाबाधाम में कांवड़ियों का तांता

Avatar

Published

on

सावन की पहली सोमवारी को बिहार में आस्‍था का सैलाब फूट पड़ा है। श्रद्धालु विभिन्‍न मंदिरों में उमड़ पड़े हैं। उधर, रविवार को भागलपुर में उत्‍तरवाहिनी गंगा का जल लेकर जाने वाले भक्‍त सुबह से ही झारखंड के देवघर स्थित शिव मंदिर में जलार्पण कर रहे हैं।

शिवालयों में श्रद्धालुओं का सैलाब

भगवान शिव के सबसे प्रिय मास सावन की पहली सोमवारी पर शिवालयों में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। इसे देखते हुए पटना सहित पूरे प्रदेश के प्रमुख शिवालयों में विशेष इंतजाम किए गए हैं। शिवभक्त इसके लिए रविवार से ही तैयारी में जुटे रहे। प्रसाद और फूलों की दुकानों पर श्रद्धालुओं की भीड़ दिखी। लोगों ने बेलपत्र की भी जमकर खरीदारी की।

सोमवारी पर बन रहे शुभ योग

पंडितों की मानें तो इस वर्ष सावन में चारों सोमवार बहुत ही अद्भुत संयोग में हैं। सावन में दो सोमवार कृष्ण पक्ष में और दो शुक्ल पक्ष में है। दो सोमवार को सोम प्रदोष व्रत तथा तीसरे सोमवार को बेहद कल्याणकारी नागपंचमी है। कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित राकेश झा शास्त्री ने कहा कि सावन मास के कृष्ण पक्ष में पंचमी तिथि को प्रथम सोमवार जयद योग में होने से भगवान शिव की पूजा बेलपत्र और दूध से अभिषेक करने से श्रद्धालुओं के समस्त दोष समाप्त हो जाएंगे। इसके अलावा रोगों से छुटकारा, पितृदोष से मुक्ति और व्यवसाय संबंधित बाधाओं मे समाधान मिलेगा। महामृत्युंजय मंत्र और गायत्री मंत्र के साथ अभिषेक-पूजन से सभी कष्ट पलभर में दूर हो जाते हैं।

शिवाभिषेक और श्रृंगार पूजा से मनोरथ होंगे पूर्ण

ज्योतिषी पंडित राकेश झा के अनुसार सावन के प्रथम सोम प्रदोष में भगवान भोलेनाथ का अभिषेक और उनका श्रृंगार करने से श्रद्धालुओं के मनोरथ पूर्ण होंगे। शादी-विवाह में आने वाली अड़चनें भी दूर होंगी। संतान की इच्छा रखने वाले जातक सोमवारी को उमा-महेश्वर को पंचामृत से अभिषेक करें। लक्ष्मी प्राप्ति और कारोबार में सफलता के लिए दूध से अभिषेक कर पुष्पहार अर्पित करें।

बोल बम के नारे से गूंजे प्रदेश के शिवालय

सावन की पहली सोमवारी पर आज पटना सहित प्रदेश के सभी शिवालय बोल बम और हर-हर महादेव के जयकारे से गूंजायमान हैं। सुबह से ही जलाभिषेक करने के लिए शिवभक्तों की लंबी लाइन मंदिरों के बाहर देखी जा रही है।

पहली सोमवारी पर संभावित भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए हैं। मंदिरों के बाहर और मुख्य मार्गों पर दंडाधिकारी और सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं। साथ ही कई स्वयंसेवी संस्थाएं भी सेवा भाव का परिचय देते हुए शिवालयों में श्रद्धालुओं की सेवा में लगीं हैं।

पूरे बिहार में दिख रहा आस्था का जन सैलाब

पटना के अलावा बिहार के विभिन्‍न भागों में भी आस्था का जन सैलाब फूटता दिख रहा है। लखीसराय के अशोक धाम में पहली सोमावरी को भारी भीड़ दिख रही है। हर तरफ बोल बम के नारे लग रहे हैं। लोग दूर-दूर से पैदल पांव और अपने साधनों से पहुंचकर विशाल शिवलिंग का जलाभिषेक कर रहे हैं।

औरंगाबाद जिले में सावन की पहली सोमवारी को शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। प्रखंड के देवकुली शिव मंदिर एवं पुनपुन नदी के तट पर सतियाड़े शिव मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ पहुंचने का सिलसिला शुरु हुआ जो जारी है।

मधेपुरा के प्रसिद्ध सिंहेश्वर धाम में पूजा को श्रद्धालुओं की  भीड़ उमड़ पड़ी है। शेखपुरा में सावन की पहली सोमवारी को जिला में सभी जगह हर-हर महादेव का जयघोष हो रहा है। जिले के सभी शिव मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा है। राजगीर में मठ मंदिरों की नगरी राजगीर के विभिन्न शिवालयों में श्रावणी माह के  प्रथम सोमवारी के दिन शिवभक्तों की भीड़ पूजा अर्चना के लिए भीड़ उमड़ पड़ी है।

कैमूर जिला मुख्यालय भभुआ सहित भगवानपुर, अधौरा, चैनपुर, चांद, रामपुर, दुर्गावती, मोहनियां, कुदरा, रामगढ़, नुआंव प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित शिव मंदिरों में सावन माह के पहली सोमवारी को श्रद्धालुओं की भीड़ सूर्योदय होते ही उमड़ पड़ी। छपरा में भगवान भोलेनाथ को जलाभिषेक व पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम शिवालयों में ब्रह्ममुहूर्त में ही पहुंच गया। सोनपुर के प्राचीन बाबा हरिहरनाथ मंदिर से लेकर छपरा के प्रसिद्ध धन्नी धर्मनाथ मंदिर तक हर हर महादेव से गूंज रहे हैं।

मधुबनी के पंडौल के प्रसिद्ध उगना शिवालय पर जलाभिषेक को शिवभक्त सुबह से कतारबद्ध हैं। मधुबनी के जयनगर के शिलानाथ शिवालय, बिस्फी के भैरवा शिवालय व अंधराठाढ़ी के मदनेश्वर स्थान महादेव मंदिर
में भी दर्शन-पूजन को भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है।

बेतिया के सागर पोखरा शिव मंदिर व कालीबाग मंदिर में पहली सोमवारी पर जलाभिषेक को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। बेतिया के चनपटिया में सावन माह की प्रथम सोमवारी पर निकली कांवड़ यात्रा निकाली गई।

सुल्‍तानगंज से गंगाजल लेकर बाबाधाम पहुंचे कांवड़िया

उधर, रविवार को भागलपुर के सुल्‍तानगंज के अजगवीनाथ स्थित उत्तरवाहिनी गंगा से जल लेकर ढ़ाई लाख से अधिक कांवड़िया बाबा नगरी देवघर गए। बाबा रावणेश्वर धाम के लिए कांवरियो का जत्था अनवरत निकलता रहा। सुल्तानगंज-देवघर पथ पर रविवार को उमस भरी गर्मी व तेज धूप के बीच कोने-कोने में बम-बम भोले की गूंज थी। बोल-बम, हर-हर गंगे का जयघोष हर क्षण सुनाई पड़ रहा था।
रविवार को दोपहर 12 बजे के बाद गंगा घाटों पर कांवर लेकर चलने वाले कांवड़ियों की संख्या कम और डाक कांवड़ियों की संख्या ज्यादा थी। डाक कांवड़िये बिना रूके 108 किलोमीटर की यात्रा कर 24 घंटे के अंदर देवघर स्थित बाबा भोलेनाथ पर जल चढ़ाते हैं। रविवार को ढाई लाख से अधिक कांवड़िया बाबा धाम के लिए रवाना हुए।  जिसमें सवा लाख डाक कांवड़िया थे।

बाबाधाम में श्रद्धालुओं की 12 किमी तंबी कतार

देवघर स्थित बाबाधाम में कांवड़ियों का आना अनवरत जारी रहता है, लेकिन सोमवार को अधिक भीड़ देखी जा रही है। डाक कांवड़िया रात 12 बजे से ही आने लगे थे। आज सुबह में तो बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक करने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा है। पूरा देवघर शहर केसरियामय है। सोमवार को सुबह से ही भक्तों की कतार लगी हुई है। मंदिर परिसर से लगभग 12 किमी लंबी लाइन देखी जा रही है।

श्रद्धालुओं को सुखद अनुभूति देने के लिए देवघर नगर को सजाया गया है। यातायात सुरक्षा, विधि-व्यवस्था, हेल्पलाइन नंबर, सोशल मीडिया समेत कई स्तर पर प्रशासन की ओर से कांवड़ियों को सुविधा देने की तैयारी है। देवघर के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा के नेतृत्व में पूरा प्रशासनिक अमला दायित्वों के निर्वहन को तैयार है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

MUZAFFARPUR

बोल बम का गूंजा उद्घोष, शिवमय हुई गरीबनाथ नगरी

Ravi Pratap

Published

on

हर-हर महादेव व बाेल बम के जयकारे से रविवार की रात से ही बाबा गरीबनाथ मंदिर परिसर समेत पूरा कांवरिया पथ गूंजने लगा। रात से ही मंदिर के बाहर कांवरिया पथ पर सोमवारी जलाभिषेक के लिए श्रद्धालु लाइन में लगने लगे।

रात्रि 9.30 बजे से ही अरघा के माध्यम से श्रद्धालुओं ने बाबा का जलाभिषेक करना शुरू दिया। इससे पूर्व बाबा गरीबनाथ मंदिर के मुख्य द्वार पर 51 आचार्याें ने संयुक्त रुप से शंख ध्वनि से भगवान शिव व गंगा का आह्वान किया और महाआरती की गई। सामान्य कांवरियाें के अलावा डाक बम व दांडी बम ने भी बाबा का जलाभिषेक किया।

Photo : Madhav Kumar

शंख ध्वनि से जलाभिषेक की औपचारिक शुरुआत मंदिर के प्रधान पुजारी पं. विनय पाठक के सानिध्य में की गई। मंदिर के मुख्य द्वार के समीप लगी एलईडी में कांवरिया बाबा के गर्भ गृह का दर्शन करते रहे।

Photo : Mahdav Kumar

आज पहली साेमवारी की रात मौसमी फूलों से हाेगा बाबा गरीबनाथ का महाशृंगार

सावन की पहली साेमवारी की रात्रि 9.30 बजे बाबा गरीबनाथ का गुलाब, रजनीगंधा, अपराजिता, जूही अादि माैसमी फूलों से भव्य महाशृंगार किया जाएगा। वहीं, मिष्ठान का भोग लगाया जाएगा। मंदिर के प्रधान पुजारी पं. विनय पाठक ने बताया कि महाशृंगार के बाद विधि-विधान से षाेडशोपचार पूजन व महाआरती की जाएगी।

रात्रि 10.30 बजे मंदिर का पट बंद हो जाएगा। मंदिर का पट पुन: मंगलवार की प्रात: 4 बजे खुलेगा।

Photo : Madhav Kumar

भीड़ नियंत्रण को जंक्शन पर 25 अतिरिक्त जवानाें की तैनाती रविवार काे की गई। आमगाेला पुल के नीचे और रामदयालु नगर गुमटी के समीप भी जवान तैनात रहेंगे। रेल थानाध्यक्ष अच्छे लाल सिंह यादव ने बताया कि महिलाओ की सुरक्षा काे लेकर महिला जवानाें काे लगाया गया है। आरपीएफ इंस्पेक्टर वीपी वर्मा ने बताया कि 24 घंटे ये जवान तैनात रहेंगे। मेला स्पेशल और भागलपुर इंटरसिटी में हाेने वाली भीड़ पर विशेष नजर रखी जाएगी।

Input : Dainik Bhaskar

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर की ‘कृष्णा बम’ के जज्बे को सलाम, 38 सालों से कर रहीं देवघर में जलाभिषेक

Avatar

Published

on

सावन के हर संडे को गंगाधाम से बाबाधाम तक दर्शनार्थियों का हुजूम देखने को मिलता है. गंगाधाम मतलब सुल्तानगंज, तो बाबाधाम मतलब देवघर. जी हां, मुजफ्फरपुर की कृष्णा रानी अब ‘कृष्णा बम’ बन गई हैं. सावन की हर सोमवारी को वे डाक बम के रूप में देवघर पहुंचकर बाबा पर जलाभिषेक करती हैं. वे 38 वर्षों से लगातार देवघर में बाबा को जलाभिषेक कर रही हैं.

रविवार को ही वो सुल्तानगंज पहुंचकर दोपहर लगभग ढाई-तीन बजे के आसपास उत्तरवाहिनी गंगा का जल भरती हैं और चल पड़ती हैं बाबा नगरिया. और उनके साथ चल पड़ता है भक्तों का हुजूम.

सुल्तानगंज से देवघर लगभग 108 किलोमीटर के बीच लोग उनके इंतजार में पलक पावड़े बिछाए रहते हैं. 68 वर्ष की उम्र में भी उनकी रफ्तार किसी से कम नहीं रहती है. उन्हें देखकर कितने कांवरिया उनकी ही रफ्तार में रम जाते हैं. भक्त बोल बम कहना भूल जाते हैं और ‘कृष्णा बम’ के जयघोष से इलाका गूंज उठता है.

Image may contain: 7 people, people smiling, people standing and outdoor

पूरे कांवरिया पथ पर अब कृष्णा बम की खास पहचान बन गई है. वे सुल्तानगंज में जल भरने के बाद 12 से 14 घंटे में देवघर पहुंच जाती हैं. उनके दर्शन के लिए आधा घंटा पहले से कांवरिया मार्ग में दोनों तरफ लोग लाइन में लग जाते हैं और उनके दर्शन के लिए बेचैन रहते हैं. यहां तक कि उनके पैर छूने के लिए भी लोग लालायित रहते हैं.

हर जगह यह देखने को मिलता है, सुल्तानगंज, असरगंज, मासूमगंज, तारापुर, रामपुर नहर, कटोरिया, सुइया पहाड़ से लेकर दुम्मा व दशर्निया तक. खासकर सुल्तानगंज से रामपुर नहर तक तो उन्हें देखने के लिए जबर्दस्त भीड़ रहती है. चूंकि उस समय तक दिन ही रहता है. भगदड़ और किसी अन्य अनहोनी घटना से बचने के लिए जिला प्रशासन और राज्य सरकार के द्वारा उन्हें कुछ वर्षों से पूरे कांवरिया पथ पर सुरक्षा भी मुहैया कराया जाता है.

Input : Live Cities

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
BIHAR6 mins ago

सावन की पहली सोमवारी पर मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, देवघर के बाबाधाम में कांवड़ियों का तांता

MUZAFFARPUR2 hours ago

बोल बम का गूंजा उद्घोष, शिवमय हुई गरीबनाथ नगरी

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुजफ्फरपुर की ‘कृष्णा बम’ के जज्बे को सलाम, 38 सालों से कर रहीं देवघर में जलाभिषेक

INDIA5 hours ago

नई व्यवस्था : छात्र अब ले सकेंगे एक साथ कई डिग्रियां

BIHAR6 hours ago

प्रदेश में कोई भी बाढ़ पीड़ित भूखा नहीं रहेगा : मुख्यमंत्री

Uncategorized16 hours ago

बाबा गरीबनाथ की नगरी मुजफ्फरपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्रावणी मेला की शुरूआत

SPORTS18 hours ago

कुमार धर्मसेना बोले- हां ‘ओवरथ्रो’ पर मैंने गलत फैसला दिया, लेकिन मुझे इसका मलाल नहीं

BIHAR23 hours ago

रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान का निधन, समस्तीपुर से थे सांसद

MUZAFFARPUR24 hours ago

औरंगाबाद के डीएम ने बनाया किर्तिमान, मुजफ्फरपुर हैं मातृभूमि

WORLD1 day ago

अमेरिका पहुंचे इमरान खान की एयरपोर्ट पर ‘घनघोर बेइज्जती’, स्वागत नहीं होने पर मेट्रो से जाना पड़ा होटल

INDIA4 weeks ago

पूरे देश में एक जैसा होगा लाइसेंस, राज्य नहीं कर पाएंगे कोई बदलाव

BIHAR1 week ago

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

BIHAR6 days ago

बिहार में पहली बार पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई, 3 DSP, 50 इंस्पेक्टर सहित 66 पर FIR

BIHAR6 days ago

पटना पहुंचे रितिक रोशन, आनंद कुमार के पैर छुए, कहा- लगता है पिछले जन्म में मैं बिहारी ही था

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में सरकारी राशि की मची है लूट, मनरेगा योजना में मजदूरों के बदले चल रहे JCB और टैक्टर

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : लड़की ने किया सु’साइड, कूद गई पानी की टंकी से

MUZAFFARPUR4 weeks ago

DM ने बढ़ाई स्कूल खुलनें की तारीख, सभी सरकारी-गैर सरकारी मे जारी रहेगा धारा 144

BIHAR3 weeks ago

बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, इन जिलों में भीषण बारिश और आंधी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

पब्लिक ट्रांसपोर्ट : Hello My Taxi ने मुजफ्फरपुर कैब के साथ शुरू की कैब सर्विस

INDIA3 weeks ago

चलते वाहन की चाबी नहीं निकाल सकती पुलिस, सिर्फ इनका है चालान करने का अधिकार

Trending