BPSC : कोर्ट में चपरासी थे पिता, बेटी बन गई जज, पास की बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

BPSC : कोर्ट में चपरासी थे पिता, बेटी बन गई जज, पास की बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा

Ravi Pratap

Published

on

कहा जाता है कि अगर लक्ष्य के प्रति कठिन परिश्रम और समर्पण भाव से कोई जुट जाए तो कोई भी लक्ष्य दूर नहीं है। अदालत में चपरासी की नौकरी करने वाले की बिटिया अर्चना अपने पिता के सरकारी झोपड़ीनुमा क्वार्टर में ही जज बनने का सपना देखा था और आज उसका सपना पूरा हो गया। अर्चना को हालांकि इस बात का अफसोस है कि इस खुशी के मौके पर उनके पिता मौजूद नहीं हैं।

अर्चना ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा कि उनके “पिता गौरीनंदन प्रतिदिन किसी न किसी जज का ‘टहल’ बजाते थे, जो बचपन में एक बच्चे को अच्छा नहीं लगता था। उसी स्कूली शिक्षा के दौरान ही उस चपरासी क्वार्टर में मैंने जज बनने की प्रतिज्ञा ली थी और आज ईश्वर ने उस प्रतिज्ञा को पूरा कर दिया है।”

अर्चना कहती हैं, “सपना तो जज बनने का देख लिया था, परंतु इस सपने को साकार करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। शादीशुदा और एक बच्चे की मां होने के बावजूद मैंने हौसला रखा और आज मेरा सपना पूरा हो गया है।”

सोनपुर व्यवहार न्यायालय में चपरासी पद पर थे अर्चना के पिता

पटना के कंकड़बाग की रहने वाली अर्चना का बिहार न्यायिक सेवा प्रतियोगिता परीक्षा में चयन हुआ है। साधारण से परिवार में जन्मी अर्चना के पिता गौरीनंदन सारण जिले के सोनपुर व्यवहार न्यायालय में चपरासी पद पर थे। अर्चना ने शास्त्रीनगर राजकीय उच्च विद्यालय से 12वीं तथा पटना विश्वविद्यालय से आगे की शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद शास्त्रीनगर राजकीय उच्च विद्यालय में वह छात्रों को कम्प्यूटर सिखाने लगीं। इसी बीच अर्चना का विवाह हो गया।

अर्चना कहती हैं कि विवाह के बाद उन्हें लगा कि अब उनका सपना पूरा नहीं हो पाएगा। लेकिन परिस्थितियों ने करवट लिया और अर्चना पुणे विश्वविद्यालय पहुंच गईं, जहां से उन्होंने एलएलबी की पढ़ाई की। इसके बाद उन्हें फिर पटना वापस आ जाना पड़ा, परंतु उन्होंने अपनी जिद नहीं छोड़ी थी। वर्ष 2014 में उन्होंने बीएमटी लॉ कॉलेज पूर्णिया से एलएलएम किया।

कब देखा था जज बनने का सपना
अर्चना ने अपने दूसरे प्रयास में बिहार न्यायिक सेवा में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने आईएएनएस से कहा, “जज बनने का सपना तब देखा था जब मैं सोनपुर जज कोठी में एक छोटे से कमरे में परिवार के साथ रहती थी। छोटे से कमरे से मैंने जज बनने का सपना देखा जो आज पूरा हुआ है।”

अर्चना बताती हैं कि उन्होंने पांच साल के बेटे के साथ दिल्ली में पढ़ाई भी की और कोचिंग भी चलाया, परंतु अपने सपने को हमेशा सामने रखा। वह कहती हैं कि हर काम में कठिनाइयां आती हैं परंतु हौसला नहीं छोड़ना चाहिए और अपनी जिद पूरी करनी चाहिए।

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि पति राजीव रंजन पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में क्लर्क के पद पर कार्यरत हैं, और उनका सहयोग हर समय मिला। अर्चना भावुक हो उठती हैं, “कल जो लोग मुझे तरह-तरह के ताने देते थे, आज इस सफलता के बाद बधाई दे रहे हैं। मुझे इस बात की खुशी है।”

अर्चना बताती हैं कि पिता की मौत के बाद तो जीवन की गाड़ी ही पटरी से ही उतर गई थी। इस समय उनकी मां ने उन्हें हर मोड़ पर साथ दिया। उन्हें परिवार के अलावा कई शुभचिंतकों का भी साथ मिला, जिन्हें भी वह शुक्रिया कहती हैं।

Input : Live Hindustan

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में अ’पराधियों ने फिर दी पुलिस को चुनौती, आभूषण कारोबारी की गो’ली मा’रकर ह’त्या

Ravi Pratap

Published

on

मुजफ्फरपुर में अपराधियों ने एक बार फिर से पुलिस को चुनौती दी है। बैखौफ अ’पराधियों ने एक आभूषण कारोबारी प्रभात कुमार की गोली मारकर ह’त्या कर दी है। बताया जा रहा है कि दुकान बंद कर घर जा रहे स्वर्ण व्यवसायी प्रभात कुमार को अ’पराधियों ने गोलियों से भून डाला है। अ’पराधियों ने 3 गो’ली मारी जिससे घटनास्थल पर ही स्वर्ण कारोबारी की मौ’त हो गई। घटना थाना क्षेत्र के सुजवालपुर मस्जिद चौक की है।

जानकारी के मुताबिक स्वर्ण कारोबारी दुकान बंदकर अपने घर दोनवा जा रहे थे। इसी बीच मोटरसाइकिल सवार अपराधियों ने पीछा कर तीन गोली मार दी। कारोबारी की मौत घटनास्थल पर ही हो गई।

बताया जा हत्या से नाराज स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Input : News4Nation

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में पूरे दिन जाम में रेंगते रहे वाहन, प्रशासन बना बेपरवाह

Ravi Pratap

Published

on

जाम की समस्या शहरवासियों की नियति बन चुकी है। प्रमुख चौक-चौराहों पर अक्सर जाम अब आम बात हो गई है। बुधवार को भी कुछ ऐसा ही हाल रहा। मिठनपुरा इलाके में पानी टंकी चौक से लेकर क्लब रोड तक भीषण जाम लगा रहा। एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में समस्या और भी जटिल होती चली गई। जाम में एक घंटे तक वाहन रेंगते रहे। सूचना मिलने पर मिठनपुरा थानाध्यक्ष ने पुलिस बल को मौके पर भेजा। फिर कड़ी मशक्कत के बाद जाम से निजात मिली। कुछ ऐसा ही हाल जूरन छपरा, कंपनीबाग, मोतीझील, कलमबाग रोड और अघोरिया बाजार का रहा।

मूकदर्शक बन जाते ट्रैफिक जवान

जाम लगने पर पुलिस बल के जवान मूकदर्शक बनकर देखते रहते हैं। अघोरिया बाजार चौक पर अक्सर ऐसा नजारा देखने को मिलता है। हर आधे घंटे पर वहां जाम लगता है। लेकिन, इससे निपटने के लिए प्रशासन के पास कोई ठोस रणनीति नहीं है। जाम से जूझ रहे लोग प्रशासन को कोसते रहते हैं।

अतिरिक्त जवानों की तैनाती के बवजूद सुधार नहीं

हाल में ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए एक सौ अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गई थी। लेकिन, दो माह बीतने के बाद भी कोई सुधार नहीं दिख रहा है।

Input : Daink jagran

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में तैयार बैलेट पेपर पर वाेट डाल रहे हैं झारखंड के दृष्टिहीन वाेटर

Ravi Pratap

Published

on

झारखंड विधानसभा चुनाव में वाेट डाल रहे दृष्टिहीन वाेटराें के लिए बैलेट पेपर की छपाई मुजफ्फरपुर में हाे रही है। लाेकसभा चुनाव में बेहतर कार्य करने काे लेकर झारखंड का निर्वाचन विभाग फिर शहर के शुभम ब्रेल प्रेस से बैलेट पेपर छपवा रहा है। बता दें कि वहां हुए प्रथम चरण के मतदान में दृष्टिहीन वाेटर यहीं से प्रकाशित बैलेट पेपर पर अपना वाेट डाल चुके हैं।

अन्य चरणाें के लिए अभी छपाई जारी है।दृष्टिहीनों के लिए खास बैलेट पेपर की छपाई 2018 से यहां के शुभम ब्रेल प्रेस में की जा रही है। झारखंड के प्रत्येक बूथ के लिए औसतन दो से चार बैलेट पेपर की छपाई हाेती है। इसमें वोटर लिस्ट, वोटर्स गाइडलाइन से लेकर बैलेट पेपर तक की चीजें शामिल हैं। अब तक झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए लगभग 1 लाख पेज की छपाई हो चुकी है। इनमें लगभग 20 हजार बैलेट पेपर शामिल हैं। जबकि, लोकसभा चुनाव में 55 हजार बैलेट पेपर समेत लगभग 3.5 लाख पेज की छपाई की गई थी। फिलहाल एक चरण का चुनाव वहां संपन्न हो चुका है और 3 चरणाें का हाेना बाकी है।

शुभम ब्रेल प्रेस की स्थापना 2017 में हुई थी। लोकसभा चुनाव में बिहार के दृष्टिहीन मतदाताओं के बैलेट पेपर की छपाई को संपर्क किया गया, लेकिन सफलता न मिली। दृष्टिहीन के लिए प्रकाशित होनेवाले बैलेट पेपर में कैंडिडेट के सीरियल नंबर्स समेत पार्टी और कैंडिडेट के नाम होते हैं। इसी प्रेस से बिहार की कक्षा 1 से 5 तक के दृष्टिहीन बच्चों के लिए किताबें छप रही हैं। मुजफ्फरपुर के लिए यह 8वीं तक के लिए उपलब्ध है। वहीं, झारखंड के लिए अब तक कक्षा 1 से 5 तक के लिए पुस्तकों का प्रकाशन हो चुका है। बिहार शिक्षा परियोजना के जरिए इसका वितरण किया जाता है।

मुजफ्फरपुर के दृष्टिहीन वाेटर्स के लिए देहरादून में छपते बैलेट पेपर

मुजफ्फरपुर समेत बिहार के अन्य जिलाें के दृष्टिहीन वाेटराें के लिए देहरादून के प्रेस से बैलेट पेपर समेत अन्य सामग्री का प्रकाशन हाेता है। मुजफ्फरपुर के उप निर्वाचन अधिकारी संजय िमश्र ने कहा कि उन्हें शहर में ब्रेल प्रेस हाेने की जानकारी नहीं थी। लिहाजा, अब तक मुजफ्फरपुर के दृष्टिहीन वाेटराें के लिए बैलेट पेपर का प्रकाशन देहरादून से कराया जा रहा है।

Input : Daink Bhaskar

Continue Reading
Advertisement
MUZAFFARPUR7 hours ago

मुजफ्फरपुर में अ’पराधियों ने फिर दी पुलिस को चुनौती, आभूषण कारोबारी की गो’ली मा’रकर ह’त्या

MUZAFFARPUR8 hours ago

मुजफ्फरपुर में पूरे दिन जाम में रेंगते रहे वाहन, प्रशासन बना बेपरवाह

MUZAFFARPUR8 hours ago

मुजफ्फरपुर में तैयार बैलेट पेपर पर वाेट डाल रहे हैं झारखंड के दृष्टिहीन वाेटर

INDIA10 hours ago

शादी में लड़के ने गिफ्ट में दिया 5 किलो प्याज, दुल्हन ने खुश होकर किया ऐसा

OMG10 hours ago

पति ने खुद की पढ़ाई रोककर पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगते ही पत्नी ने दूसरी शादी कर ली

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर पुलिस को बड़ी सफलता, सिंडिकेट बैंक को लूटने की कोशिश करने वाले सभी अपराधियों को किया गिरफ्तार

BIHAR13 hours ago

शिक्षा विभाग में बड़ा घोटाला, 1 अरब 20 करोड़ की राशि डकार गए बाबू और हेडमास्‍टर

RELIGION17 hours ago

गुरुवार के दिन घर में नहीं बनानी चाहिए खिचड़ी, इन 6 कामों को भी करने से बचें

INDIA17 hours ago

उन्नावः ज’मानत पर छूटे रे’प के आ’रोपियों ने पी’ड़िता पर केरोसीन छि’ड़क कर जिं’दा ज’लाया

STORY1 day ago

ऐसे दरिंदे दौर में कैसे बचेगी भारत की करोड़ों बेटियों की अस्मत और जान

TRENDING6 days ago

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे कम समय में 100 मिलियन व्यूज़ मिले

INDIA3 days ago

12वीं पास के लिए CISF में नौकरियां, 81,100 होगी सैलरी

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर बैंक मैनेजर की ह’त्या करने पहुचे शूट’र की लो’डेड पिस्ट’ल ने दिया धो’खा, लोगो ने जम’कर पी’टा

INDIA6 days ago

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर में 8 ब’म मिलने से ह’ड़कंप, घर में छिपाकर रखा गया था ब’म

BIHAR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर पहुंची श्रीराम जानकी विवाह बरात का शंख ध्वनि के बीच भव्य स्वागत

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

BIHAR3 days ago

बिहार पुलिस: सब इंस्‍पेक्‍टर के 221 पदों के ल‍िये आवेदन शुरू, 1 लाख से ज्‍यादा होगी सैलरी

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR3 weeks ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

INDIA1 week ago

ट्रेन में सफर करने से पहले जान लें ये पांच नियम, आपकी यात्रा होगी मंगलमय

Trending

0Shares