राज्य सरकार ने बिहार राज्य औद्योगिक सुरक्षा बटालियन (एसआईएसबी) को जमीन पर उतारने की कवायद तेज कर दी है। इसके तहत फिलहाल इसकी दो वाहिनियों का गठन किया जा रहा है, जिनमें कुल 2698 पदों पर बहाली की जायेगी।

प्रत्येक वाहिनी में 20-20 इकाइयां होंगी। प्रत्येक इकाई में एक सब इंस्पेक्टर, चार असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर, आठ हवलदार, 40 सिपाही और एक चालक होंगे।

पुलिसकर्मियों के अतिरिक्त प्रत्येक इकाई में दो रसोइये, दो जलवाहक और एक नाई के पद भी होंगे। दोनों वाहिनियों को बीएमपी के साथ जोड़ कर रखा जायेगा। पहली वाहिनी का मुख्यालय डुमरांव स्थित बीएमपी (बिहार सैन्य पुलिस)-4 और दूसरी का मुख्यालय बेगूसराय स्थित बीएमपी-8 के परिसर में होगा।

 

इसके तहत कमांडेंट, सिपाही से लेकर महिला नर्स तक 1349 अलग- अलग पदों पर बहाली प्रत्येक वाहिनी में होगी। फिलहाल इन पदों का सृजन करते हुए इन्हें स्वीकृत कर दिया गया है। इन पर बहाली की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जायेगी।

 

प्रत्येक वाहिनी मुख्यालय में एक कमांडेंट, एक असिस्टेंट कमांडेंट, दो डीएसपी और इंस्पेक्टर, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर, आशु असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर समेत अन्य पद होंगे।  दोनों बटालियनों के गठन पर सालाना करीब 100 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा।

 

गृह विभाग ने इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी है। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की तरह ही इन बलों की तैनाती जिस औद्योगिक इकाई या प्रतिष्ठान में जितनी संख्या में करायी जायेगी, उनके खर्च का पूरा वहन संबंधित संस्थान करेगा।

 

दोनों वाहिनियों में कुल इन पदों पर होगी बहाली

 

कमांडेंट- 02

असिस्टेंट कमांडेंट- 02

डीएसपी- 04

चिकित्सा पदाधिकारी- 02

इंस्पेक्टर – 12

सब इंस्पेक्टर- 58

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर – 168

हवलदार- 364

सिपाही- 1834

प्रधान लिपिक- 02

उच्चवर्गीय लिपिक- 04

निम्नवर्गीय लिपिक- 06

दफ्तरी- 02

फार्मासिस्ट- 02

रसोइया- 90

जलवाहक- 90

धोबी- 04

नाई- 44

झाड़ूकश- 04

नर्सिंग अर्दली- 02

महिला नर्स- 02

Source : Dainik Jagran

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?