सोने में पैसा लगाकर कमाएं मोटा मुनाफा, 1 रुपए में घर बैठे खरीदें Gold
Connect with us
leaderboard image

TRENDING

सोने में पैसा लगाकर कमाएं मोटा मुनाफा, 1 रुपए में घर बैठे खरीदें Gold

Santosh Chaudhary

Published

on

सोना खरीदना भारतीयों की पहली पसंद है. पिछले कुछ महीनों से सोने की कीमत लगतार बढ़ रही है. इसके बाद एक्सपर्ट्स का मानना है कि सोना दिवाली तक और महंगा होने वाला है. इसलिए सोना में पैसा लगाना इस समय बेस्ट इन्वेस्मेंट ऑप्शन है. अच्छा मुनाफा कमाने के लिए लोग गोल्ड ETF में पैसा लगा रहे हैं. हाल ही में आई रिपोर्ट भी इस बात को सत्यापित करती है. भारतीयों ने पिछले एक महीने में गहनों को छोड़ Gold ETF (एक्सचेंज ट्रेडेट फंड) में जमकर निवेश किया है. आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त में 145 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश हुआ है.

लेकिन कुछ लोगों को गोल्ड ETF में पैसा लगाने का प्रोसेस थोड़ा मुश्किल लगता है. वे निवेशक गोल्ड ETF के पेपरवर्क में वो फंसना नहीं चाहते और पड़ोस की दुकान पर उनको भरोसा नहीं है. ऐसे ही खरीदारों के लिए कई तरह के मोबाइल ऐप आ गए हैं जिनके जरिए आसानी से गोल्ड में निवेश कर सकते हैं. गूगल ने अपने UPI ऐप Google Pay के जरिए 99.99 फीसदी शुद्ध 24 कैरेट गोल्ड खरीदने का मौका दे रहा है. इसमें आप 1 रुपए तक भी गोल्ड खरीद सकते हैं.

Google Pay पर ऐसे खरीदें गोल्ड

  • सबसे पहले Google Pay ऐप डाउनलोड करें. इसे ओपन करने के बाद आपको Gold Vault नजर आएगा. अगर आपको Gold Vault नजर नहीं आ रहा है तो New पर क्लिक करके Gold Vault टाइप कर सकते हैं.
  •  Gold Vault पर क्लिक करने के बाद आपके सामने बाय, सेल और डिलीवरी का विकल्प नजर आएगा.
  • बाय पर क्लिक करने पर आपको mg में गोल्ड का भाव नजर आएगा. इस प्राइस में टैक्स भी शामिल है. आप कम से कम 1 रुपए का गोल्ड खरीद सकते हैं. आप जितने रुपए का गोल्ड खरीदना चाहते हैं वह रकम लिखकर क्लिक करें.
  • गोल्ड पर लगने वाला टैक्स अलग हो सकता है लिहाजा, यह ऐप सबसे पहले GPS से आपका लोकेशन चेक करेगा. आपको लोकेशन की अनुमति देनी होगी.
  • गोल्ड खरीदने की प्रक्रिया में 5 मिनट तक गोल्ड के भाव में कोई बदलाव नहीं होगा. अगर आपने सक्सेसफुली गोल्ड खरीद लिया है तो यह आपके Vault में नजर आने लगा.
  • अगर पेमेंट फेल हो जाता है तो तीन कारोबारी दिन के भीतर आपका पैसा वापस आ जाएगा. एक बार गोल्ड खरीदने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद आप इसे कैंसल नहीं कर सकते हैं बल्कि इसे उसी वक्त उस भाव पर MMTC PAMP पर बेच जरूर सकते हैं.

CLICK HERE TO DOWNLAOD GOOGLE PAY

Input : News18

TRENDING

लता मंगेशकर चौथे दिन भी आईसीयू में, हालत स्थिर; परिजन ने कहा-दुआओं के लिए शुक्रिया

Ravi Pratap

Published

on

लता मंगेशकर लगातार चौथे दिन गुरुवार को भी आईसीयू में एडमिट हैं। उनकी हालत स्थिर और पहले से कुछ बेहतर है। सांस लेने में तकलीफ के बाद लता मंगेशकर को सोमवार (11 नवंबर) को मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक, उन्हें फेफड़ों में इन्फेक्शन और निमोनिया की शिकायत है। डॉ. पतित समधानी उनकी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

बुधवार को लता मंगेशकर के परिवार की तरफ से बयान सामने आया है। इसमें कहा गया, ”लता जी की हालत अब स्थिर है। वे पहले से बेहतर हैं। आप सभी की दुआओं का धन्यवाद। हम चाह रहे हैं कि वे बेहतर हो जाए ताकि उन्हें जल्द घर लाया जा सके। हमारे साथ खड़े रहने और निजता का सम्मान करने के लिए शुक्रिया।”

हॉस्पिटल की तरफ से लता जी की सेहत को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया गया। हालांकि, डॉ. समधानी ने मंगलवार को एक अंग्रेजी अखबार को बताया था, ‘‘उनकी हालत में धीरे-धीरे सुधार आ रहा है। जब तक संक्रमण खत्म नहीं हो जाता, तब तक आगे कि प्रक्रिया संभव नहीं। इस समय कुछ भी कहना मुश्किल है।’’

परिवार की निजता का सम्मान करें: पीआर
इससे पहले मंगलवार को लता मंगेशकर की पब्लिक रिलेशन टीम ने एक बयान जारी किया था। इसमें कहा गया था कि हम आपको उनसे जुड़ी हर पल-पल की जानकारी देते रहेंगे। एक गायिका होने के नाते, उनके फेफड़े की ताकत बहुत ज्यादा है। वह वास्तव में एक फाइटर हैं। इससे पहले सोमवार को आशा भोंसले भी उनकी हालचाल लेने अस्पताल पहुंची थीं।

Input : Dainik Bhaskar

Continue Reading

TRENDING

अटूट आस्था : राम मंदिर के पक्ष में फैसला आने पर 27 साल बाद 81 वर्षीय महिला ने तोड़ा व्रत

Himanshu Raj

Published

on

अयोध्या मा’मले पर उच्चतम न्यायालय के फै’सले के बाद जबलपुर शहर की 81 वर्षीया महिला 27 साल बाद अ’न्न ग्र’हण करेंगी। इन वर्षों में वह केवल दूध और फलाहार के सहारे थीं। राम जन्मभूमि वि’वाद का स’माधान होने तक महिला ने अ’न्न ग्र’हण नहीं करने का सं’कल्प लिया था।

महिला के परिवार के एक सदस्य ने कहा कि अयोध्या मामले पर शनिवार को शीर्ष अदालत का फैसला आने के बाद अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है। अब, उनका उपवास तोड़ने के लिए जल्द ही एक उद्यापन (व्रत आदि की समाप्ति पर किया जानेवाला धार्मिक कर्म) किया जाएगा। उपवास कर रही महिला उर्मिला चतुर्वेदी के बेटे विवेक चतुर्वेदी ने रविवार को दावा किया कि मेरी मां पिछले 27 साल से फलाहार और दूध के आहार पर थीं। अयोध्या मामले में शीर्ष अदालत के फैसले को सुनकर वह बहुत खुश हैं।

विवेक ने कहा, मेरी मां भगवान राम की अनन्य भक्त हैं और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए समाधान का इंतजार कर रही थीं। वह अयोध्या में छह दिसंबर, 1992 की घटना के बाद शुरू हुई हिंसा को लेकर काफी परेशान थीं।

इन बुजुर्ग महिला की तस्वीर जमकर लोग सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं और उन्हें इस काम के लिए धन्य मान रहे हैं

 

 

Input: Live Hindustan

 

 

Continue Reading

TRENDING

प्रदूषण पर कविता : ‘मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी’

Santosh Chaudhary

Published

on

मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी

अबकी बार जो आंख की पलक का बाल टूटे
उल्टी मुठ्ठी पर रख
माँगना विश कि
तुम्हारे मोबाइल की स्क्रीन से
दो हरी पत्तियाँ आजाद होकर
किसी अनाथ ज़मीन  पर टीन  की गुमटी आबाद करे

जिसके आगे तुम एक आंख वाला पानी का दीया बालना
उसे महाआरती की कोई जरूरत नहीं है

देखना ये आग गर्भवती हो
जनेगी ढेर हरे -हरे बच्चे

फिर हरे बच्चों के स्कूल फॉर्म में
तुम पिता का नाम वाले कॉलम में “जंगल” लिखना

जैसे तुम्हारा स्पर्श भी तुम्हारा व्यक्तित्व है
वैसे ही छूना
जंगल से चिड़िया के संवाद को
जो रोज़ छोटी प्रार्थनाएं कर
ईश्वर उगाने में व्यस्त है

कई बरस-बरस बाद जब  तुम्हारा बच्चा

विज्ञान की किताब में
तितली को पकड़ने की बेचैनी जिएगा

पेड़ की कहानी सुन
हिंदी की कक्षा में रोएगा

और एक दिन
चिड़िया के चित्र में मोम कलर भरते हुए चीखेगा

मैंने कभी चिड़िया नहीं देखी
तब तुम बिना बाल काढ़े घर की चप्पलों में ही
उसे काँधे पर चढ़ा
कंकरीट के शहर से
दौड़ना इन्हीं जंगलों की ओर
क्योंकि बच्चे की इस चीख से डरावना कुछ भी नहीं

गांधारी की बंधी आंखें होकर
अपने भविष्य को चबाने से अच्छा है
हमें हरी कमीज़ें पहन लेनी चाहिए

खुद को मिट्टी की किन्हीं गहरी दरारों के बीच बोकर
अब हमें पेड़ हो जाना चाहिए

 – डॉ उषा दशोरा, जयपुर

Input : Hindustan

Continue Reading
Advertisement
mathematician-vashishtha-narayan-singh
BIHAR6 mins ago

वशिष्ठ नारायण सिंह नासा से गुमनामी तक

pollution-in-bihar
BIHAR15 mins ago

24 घंटे में फिर बढ़ा प्रदूषण, सास की बीमारी का ख’तरा

BIHAR21 mins ago

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए डीटीओ कार्यालय में हंगामा, पिटाई

BIHAR22 mins ago

जेपी सेतु पर 20 से शुरू होगा बड़े वाहनों का परिचालन

BIHAR32 mins ago

श्रद्धांजलि: तब लालू ने कहा था- बिहार को भले ही बंधक रखना पड़े, वशिष्ठ बाबू का इलाज विदेश तक कराएंगे

BIHAR40 mins ago

मिठनपुरा में फ्लावर मिल से एक ट्रक श’राब जब्त

BIHAR1 hour ago

प्रकाश पर्व : कंगन घाट पर बनेगी पांच हजार क्षमता वाली टेंट सिटी

BIHAR11 hours ago

डॉ. वशिष्ठ नारायण के निधन पर PM मोदी ने जताया शोक, कहा- देश ने खो दी विलक्षण प्रतिभा

TRENDING12 hours ago

लता मंगेशकर चौथे दिन भी आईसीयू में, हालत स्थिर; परिजन ने कहा-दुआओं के लिए शुक्रिया

BIHAR12 hours ago

रेड मारने गई बिहार पुलिस को उतारनी पड़ गई पैंट

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

INDIA2 weeks ago

छठ पूजा के दौरान दिखी यमुना की ख’तरनाक तस्वीर, सोशल मीडिया पर यूरोप की नदियों से की गई तुलना

Trending

0Shares