Connect with us

INDIA

CAA प्रदर्शन पर CM योगी के बि’गड़े बोल- महिलाएं धरने पर और पुरुष रजाई में

Santosh Chaudhary

Published

on

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर से नागरिकता संशोधन का/नून का वि/रोध करने वाले लोगों को स्पष्ट संदेश दिया है कि यूपी की धरती पर कश्मीर वाले आ/जादी के नारे लगाने पर दे/शद्रो/ह का के/स लगेगा. इसके साथ ही उन्होंने धरना देने वाली महिलाओं के पतियों पर क/टाक्ष भी किया है.

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली में शिरकत की. इस दौरान सीएम योगी ने जगह-जगह सीएए के विरोध में धरने पर बैठने वाली महिलाओं के पतियों पर सवाल उठाए. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुरुष घरों में रजाई में सो रहे हैं और महिलाएं धरने पर बैठी हैं. महिलाएं कह रही हैं कि पुरुषों ने कह दिया है कि वह अक्षम हो गए हैं.

कानपुर में योगी ने बोला कांग्रेस पर हमला

कानपुर में सीएए की समर्थन रैली में भारी भीड़ को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि शरण में आने वाली की रक्षा करना भारत की परंपरा रही है. जिन अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहा है उनके लिए कानून है. जो विरोध कर रहे हैं उनके लिए हिन्दू, ईसाई, सिख महत्वपूर्ण नहीं हैं. अब कांग्रेस के लिए ईसाई भी महत्वपूर्ण नहीं है. वह कहती है कि आईएसआई के लोग महत्वपूर्ण हैं.

महिलाओं के धरने पर सीएम ने यूं कसा तंज

रैली में सीएम योगी ने सीएए के विरोध में धरना देने वाली महिलाओं के पतियों पर तंज कसते हुए कहा कि अब आदमी घर में रजाई में सो रहा है और महिलाएं धरने पर बैठी हैं. महिलाएं कहती हैं कि पुरुषों का कहना है अब हम अक्षम हो चुके हैं, आप धरने पर बैठो जाकर. कांग्रेस, सपा, बसपा के ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए.

कानपुर से योगी ने दंगाइयों को दिया स्पष्ट संदेश

हिंसक वारदातों पर की गई कार्रवाई के बारे में बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोकतंत्र में शांति से धरना प्रदर्शन करने का सबका हक है लेकिन कोई सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करेगा तो वसूली होगी. योगी ने आगे चेतावनी देते हुए कहा कि यूपी की धरती पर कश्मीर वाले आजादी के नारे लगाने पर देशद्रोह का केस लगेगा.

योगी ने विपक्ष पर भी बोला हमला

योगी ने रैली में आगे विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि आज विपक्ष दुश्मनों की भाषा बोल रहा है. जब पीएम ने कह दिया है कि सीएए का एनआरसी से संबंध नहीं है फिर भी लोग अपनी महिलाओं और बच्चों को आगे भेज रहे हैं. जैसे उनके बस में कुछ करने को नहीं है. अब हमें मौन नहीं रहना है. महाभारत में द्रोपदी के चीर हरण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अपराध में हर सहयोगी भी दोषी होता है. हमें अब मोदीजी के अभियान में लगना है.

(इनपुट: रंजय) Aaj Tak

INDIA

प्रधानमंत्री मोदी की ‘डेट ऑफ बर्थ’ पर बवाल, दो जन्म तिथियां का दावा

Ravi Pratap

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर चल रहे विवादों के बीच एक नए मुद्दे को जन्म देने की कोशिश हो रही है। नया मुद्दा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डेट ऑफ बर्थ (जन्मतिथि) है। विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने पीएम मोदी की जन्म तिथि में गड़बड़ी होने का आरोप लगाया है। यही नहीं कांग्रेस ने गुजरात विश्वविद्यालय द्वारा मोदी की पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री की जानकारी साझा करने के समय पर भी सवाल उठाया।

क्या लगाया आरोप?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि एमएन कॉलेज के छात्र रजिस्टर (जिसमें मोदी ने प्री-साइंस यानी 12वीं में दाखिला लिया था) में नरेंद्र मोदी की जन्म तिथि 29 अगस्त, 1949 है। उनके चुनावी हलफनामे में उन्होंने अपनी जन्म तिथि नहीं बताई है बल्कि अपनी उम्र लिखी है। सार्वजनिक रूप से उपलब्ध उनकी औपचारिक जन्म तिथि 17 सितंबर, 1950 है।’

पूछा- अगल-अलग  जन्म तिथि का क्या है राज?

अपने दावे की पुष्टि करने के लिए उन्होंने स्कूल रजिस्टर की प्रति दिखाई, जिसमें प्रधानमंत्री का नाम नरेंद्र कुमार दामोदरदास मोदी और उनकी जन्म तिथि लिखी है। गोहिल ने कहा कि हम जानना चाहते हैं कि अलग-अलग जन्मतिथि के पीछे कारण क्या है। उनके पासपोर्ट या पैन कार्ड और अन्य दस्तावेजों में उनकी जन्मतिथि क्या है? और अलग-अलग जन्मतिथि के पीछे कारण क्या है?

Input: Patrika

Continue Reading

INDIA

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर क्यों ट्रेंड कर रहा है राष्ट्रीय बेरोज़गार दिवस?

Ravi Pratap

Published

on

17 सितंबर, गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन 70वाँ जन्मदिन है. इस मौके पर भारत में रात 12 बजे से ही #HappyBdayNaMo, #PrimeMinister #NarendraModiBirthday और #NarendraModi सोशल मीडिया पर ट्रेंड होने लगा है. लेकिन इसी के साथ एक और हैशटैग है जो ट्विटर पर टॉप ट्रेंड में शामिल है: #NationalUnemploymentDay या #राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस.

लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर राष्ट्रीय बेरोज़गार दिवस क्यों ट्रेंड कर रहा है? दरअसल, ये भारतीय युवाओं, ख़ासकर भारतीय छात्रों के विरोध और माँगों का नतीजा है.

कोरोना महामारी के दौर में भारत की अर्थव्यवस्था भारी संकट का सामना कर रही है.

बेरोज़गारी की मार, युवा बेहाल
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) ने अनुसार इस साल अप्रैल-जून तिमाही में देश की जीडीपी में 23.9 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी, जो पिछले 40 वर्षों में सबसे भारी गिरावट है.

इतना ही नहीं, सेंटर फ़ॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी के आँकड़ों के अनुसार छह सितंबर वाले सप्ताह में भारत की शहरी बेरोज़गारी दर 8.32 फ़ीसदी के स्तर पर चली गई.

लॉकडाउन और आर्थिक सुस्ती की वजह से लाखों लोगों को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है और बड़ी संख्या में लोगों का रोज़गार ठप हो गया है.

सेंटर फ़ॉर इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के आकड़ों के मुताबिक़, लॉकडाउन लगने के एक महीने के बाद से क़रीब 12 करोड़ लोग अपने काम से हाथ गंवा चुके हैं. अधिकतर लोग असंगठित और ग्रामीण क्षेत्र से हैं.

सीएमआईई के आकलन के मुताबिक़, वेतन पर काम करने वाले संगठित क्षेत्र में 1.9 करोड़ लोगों ने अपनी नौकरियां लॉकडाउन के दौरान खोई हैं.

अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन और एशियन डेवलपमेंट बैंक की एक अन्य रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया है कि 30 की उम्र के नीचे के क़रीब चालीस लाख से अधिक भारतीयों ने अपनी नौकरियाँ महामारी की वजह से गंवाई हैं. 15 से 24 साल के लोगों पर सबसे अधिक असर पड़ा है.

छात्रों की बढ़ती नाराज़गी
आर्थिक सुस्ती और बेरोज़गारी की ऊंची दर के बीच भारतीय युवा सरकार के प्रति अपनी नाराज़गी लगातार ज़ाहिर कर रहे हैं. इस नाराज़गी का असर भारतीय सोशल मीडिया में, ख़ासकर ट्विटर पर साफ़ देखने को मिल रहा है.

पिछले कुछ हफ़्तों से भारतीय छात्रों और युवाओं ने सरकार के ख़िलाफ़ अपनी मुहिम सोशल मीडिया पर तेज़ कर दी है. बेरोज़गारी के साथ-साथ छात्र एसएससी जैसी परीक्षाएँ तय समय पर न होने और नौकरियों के लिए तय समय पर नियुक्ति न होने से भी ख़फ़ा हैं.

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों की मांग है कि जो वैकेंसी निकाली जाए उनकी परीक्षाएं जल्द हों और उनके परिणाम जल्दी आएं. इसके अलावा कई संस्थानों में बेतहाशा फ़ीस वृद्धि से परेशान छात्र भी सरकार से सुनवाई की गुहार लगा रहे हैं.

इससे पहले नौ सितंबर को देश के अलग-अलग हिस्सों में युवाओं ने रात नौ बजकर नौ मिनट पर टॉर्च, मोबाइल फ़्लैश और दिए जलाकर सांकेतिक रूप से अपना विरोध ज़ाहिर किया था.

इसी मुहिम को आगे बढ़ते हुए अब कई युवा और छात्र संगठन 17 सितंबर यानी प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर #राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस ट्रेंड कराकर सांकेतिक रूप से अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं. युवाओं की इस मुहिम को कई विपक्षी दलों और अलग-अलग संगठनों का समर्थन भी हासिल है.

इस दौरान युवा छात्र #राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस और #NationalUnemploymentDay हैशटैग के साथ अपनी माँगें सरकार के सामने रख रहे हैं.

सोशल मीडिया पर इसे लेकर कई तरह के मीम्स और अलग-अलग पोस्ट भी शेयर किए जा रहे हैं.कई छात्रों ने ट्विटर हैंडल पर अपने नाम के आगे ‘बेरोज़गार’ शब्द भी जोड़ लिया है.हंसराज मीणा ने ट्वीट किया है: मोदी जी, युवाओं के भविष्य के साथ मत खेलिए.

एक ट्विटर यूज़र ने भोजपुरी में लिखा है: SSC भुलाय ग़यिल बा, की आज CGL 220 का नोटिसवा निकाले का रहा. कोई बतावा उनका , नाही SSC सोयिते रहिल.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम मन की बात और बीजेपी के कई वीडियोज़ को को यूट्यूब पर भारी संख्या में डिसलाइक्स मिलने के पीछे भी छात्रों के ग़ुस्से को कारण बताया जा रहा था.

हालाँकि पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इसके लिए काँग्रेस की साज़िश और तुर्की के बोट्स को ज़िम्मेदार ठहराया था.

Continue Reading

INDIA

दिशा की मौत की खबर सुन बेहोश हो गए थे सुशांत, होश आया तो बोले- वो मुझे मार देंगे- रिपोर्ट

Muzaffarpur Now

Published

on

मुंबई. बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की जांच कर रही CBI की टीम के सामने सुशांत के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी (Sidharth Pithani) ने बड़ा खुलासा किया है. सीबीआई को जानकारी देते हुए सिद्धार्थ ने बताया है कि दिशा सालियान (Disha Salian) की मौत की खबर सुनने के बाद सुशांत बेहोश हो गए थे. उसके बाद जब उन्हें होश आया तो सुशांत ने कहा कि वो लोग मुझे भी मार डालेंगे. पिठानी के इस बयान को सीबीआई की टीम सुशांत और दिशा की मौत के कनेक्शन से जोड़ते हुए देख रही है.

बता दें कि 8 जून को सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर दिशा सालियान ने अपने फ्लैट से कूदकर जान दे दी थी जबकि सुशांत सिंह राजपूत की बॉडी 14 जून को मुंबई स्थित उनके घर पर फंदे में लटकी मिली थी. सिद्धार्थ पिठानी ने सीबीआई को बताया है कि 8 जून को दिशा की मौत के बाद सुशांत काफी परेशान हो गए थे. उनकी हालत ठीक नहीं थी. दिशा की मौत के बाद सुशांत को अपनी जिंदगी का डर सताने लगा था. सिद्धार्थ पिठानी ने बताया कि सुशांत ने उनसे अपनी सुरक्षा बढ़ाने की बात भी कही थी. सिद्धार्थ के इस बयान से सीबीआई को लग रह है कि दिशा से जुड़ा कोई राज सुशांत को पता था, यही कारण है वह काफी डरे हुए थे.

सिद्धार्थ पिठानी ने सीबीआई को बताया है कि दिशा की मौत के बाद सुशांत अपने लैपटॉप, कैमरा और हार्ड ड्राइव खोज रहे थे. इसके बाद सुशांत ने कई बार रिया को भी फोन लगाया लेकिन उन्होंने फोन ​नहीं उठाया. इसके बाद सुशांत और भी ज्यादा परेशान हो गए क्योंकि रिया सुशांत का हर पासवर्ड जानती थीं. 8 जून को ही रिया सुशांत का घर छोड़कर चली गईं थीं. सुशांत को इस बात का डर था कि रिया उसके सारे पासवर्ड जानती हैं, इसलिए वह दूसरे लोगों के साथ उन्हें भी फंसा सकती हैं.

नारकोटिक्‍स क्राइम ब्‍यूरो ने किया है बड़ा खुलासा

सुशांत‍ सिंह राजपूत की मौत के मामले से जुड़े ड्रग्‍स केस की जांच कर रही नारकोटिक्‍स क्राइम ब्‍यूरो (NCB) के सामने रिया चक्रवर्ती ने बॉलीवुड एक्‍ट्रेस सारा अली खान, रकुलप्रीत सिंह और सिमोन का नाम लिया है. इसकी पुष्टि खुद एनसीबी ने की है. एनसीबी का कहना है कि अभी इन लोगों को समन नहीं भेजा गया है. वहीं जांच करते-करते एनसीबी की टीम एक टापू पर बने सुशांत के फार्महाउस तक जा पहुंची है. यहां एनसीबी की टीम ने एक व्‍यक्ति का बयान भी दर्ज किया है. व्‍यक्ति ने बताया है कि इसी फार्महाउस में रिया चक्रवर्ती सुशांत के साथ कई बार आईं. सुशांत यहां दोस्‍तों के साथ पार्टी भी करते थे.

Source : News18

Continue Reading
INDIA1 min ago

प्रधानमंत्री मोदी की ‘डेट ऑफ बर्थ’ पर बवाल, दो जन्म तिथियां का दावा

INDIA22 mins ago

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर क्यों ट्रेंड कर रहा है राष्ट्रीय बेरोज़गार दिवस?

BIHAR52 mins ago

बीपीएससी 66वीं के 562 पदों के लिए 28 से रजिस्ट्रेशन

INDIA1 hour ago

दिशा की मौत की खबर सुन बेहोश हो गए थे सुशांत, होश आया तो बोले- वो मुझे मार देंगे- रिपोर्ट

BOLLYWOOD2 hours ago

कंगना रनौत का जया बच्चन को जवाब- हीरो के साथ सोने के बाद मिलता था 2 मिनट का रोल

MUZAFFARPUR3 hours ago

दुर्गा पूजा के पहले सभी सड़कों के गड्ढे भरने और सर्वे करा ड्रेनेज बनाने का प्रस्ताव नगर निगम बाेर्ड में पास

INDIA4 hours ago

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 70वां जन्मदिन आज, अमित शाह बोले- राष्ट्रसेवा में समर्पित सर्वप्रिय नेता को बधाई

FESTIVALS4 hours ago

आज मनाया जा रहा विश्वकर्मा पूजा, जानें शुभ मुहूर्त एवं महत्व

TECH12 hours ago

रोजाना 47 रुपये देकर खरीदें Redmi Note 9 Pro Max, कंपनी दे रही शानदार ऑफर

INDIA13 hours ago

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी हुए कोरोना पॉजिटिव, खुद ट्वीट कर दी जानकारी

BIHAR4 days ago

KBC जीत करोड़पति बने थे सुशील कुमार, सेलेब्रिटी बनने के बाद देखा सबसे बुरा समय

BIHAR4 days ago

जाते जाते भी लोगो के लिए मांग रखकर, रुला गए ब्रह्म बाबा..

JOBS2 weeks ago

Amazon दे रहा पैसा कमाने का मौका! सिर्फ 4 घंटे में कमा सकते हैं 60000-70000 रु

BIHAR1 week ago

बारिश में भीगकर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था कांस्टेबल, रास्ते से गुजर रहे DIG ने गाड़ी रोक किया सम्मानित

MUZAFFARPUR6 days ago

पिता जदयू में और मां लोजपा में, बेटी कोमल सिंह लड़ेगी मुजफ्फरपुर के गायघाट से चुनाव!

BIHAR3 weeks ago

क्या बिहार के डीजीपी ने दे दिया इस्तीफा? जानिए खुद गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर क्या कहा?

INDIA4 weeks ago

फर्स्ट डिविजन से पास होने वाली लड़कियों को स्कूटी देगी राज्य सरकार…

BIHAR4 weeks ago

सुशांत सिंह की संपत्ति पर पिता ने जताया दावा, बोले- इस पर केवल मेरा हक

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

INDIA2 weeks ago

एलपीजी सिलिंडर बुकिंग पर मिल रहा है 500 रुपये तक का कैशबैक, करें बस यह छोटा सा काम

Trending