छठ पर्व में घर आकर अपनें स्नेहीजनों से साथ आनंद उठाने की योजना बना रहे हैं तो तारीखें नोट कर लें
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

छठ पर्व में घर आकर अपनें स्नेहीजनों से साथ आनंद उठाने की योजना बना रहे हैं तो तारीखें नोट कर लें

Santosh Chaudhary

Published

on

छठ पर्व यानि आस्था का अथाह सागर, छठ पर्व यानि परिवारजनों के साथ प्यार से गुजरा वो सुखद पल, छठ पर्व यानि मां का आशीर्वाद। छठ पर्व के मायने हर बिहारियों के दिलों में कई होतें हैं। हर कोई इन पलों को अपनों के साथ जीना चाहता है।

आपमें से कई ऐसे भी हैं जो चाहते हुए भी अपने घर नहीं आ पातें। छठ पर्व में घर आने की योजना बना रहें हैं तो हम आपकी सहूलियत के लिए इस महापर्व की तारीखें आपसे साझा करना चाहते हैं। तारीखें इस प्रकार है –

  • नहाय खाय – 31 अक्तूबर 2019
  • खरना पूजा – 01 नवंबर 2019
  • संध्या अर्घ्य – 02 नवंबर 2019
  • प्रातः अर्घ्य – 03 नवंबर 2019

BIHAR

सुविधा : उत्तर बिहार के 22 रूटों पर चलेंगी 166 सरकारी बसें

Muzaffarpur Now

Published

on

उत्तर बिहार के 22 रूटों पर 166 सरकारी बसें चलेंगी। इसके लिए बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने टेंडर जारी किया है। इन 22 रूटों में से पांच पर पहले से सरकारी बसें चल रही हैं। पांच रूट पर महज 11 सरकारी बसें ही चल रही हैं। राज्य सरकार ने लोगों को सस्ते किराये पर यात्रा की सहूलियत को लेकर 17 नए रूटों पर निगम की बसें चलाने के लिए आदेश दिया है। मुजफ्फरपुर-समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर- बेगूसराय, मुजफ्फरपुर-सीवान, सीतामढ़ी-बेतिया व रोसड़ा-पटना आदि रूटों पर सरकारी बसें चलेंगी। बसें पीपीपी (लोक-निजी साझेदारी) के तहत चलेंगी। बस चलाने वाले इच्छुक ऑपरेटर निगम के कार्यालय में छह दिसंबर तक आवेदन जमा कर सकते हैं। आवेदनों पर विचार के बाद निगम निजी बस ऑपरेटर से करार करेगा। परमिट के बाद बसों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। इस संबंध में निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक एसएन झा ने बताया कि उत्तर बिहार के लोगों को सस्ता व सुलभ परिवहन सेवा उपलब्ध कराने के लिए 22 रूटों पर बस चलाने की तैयारी की जा रही है। इन इलाकों से लगातार सरकारी बसों की परिचालन की मांग की जा रही थी।

Input : Hindustan

Continue Reading

MUZAFFARPUR

पूरे भारत में रविवार को सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा मुजफ्फरपुर, पटना तीसरे नंबर पर

Ravi Pratap

Published

on

रविवार को समूचे देश में मुजफ्फरपुर की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित दर्ज की गयी. प्रदूषित हवा के मामले में पटना भी तीसरे स्थान पर रहा. प्रदेश की हवा की गुणवत्ता का स्तर बहुत खराब (वैरी पूअर) दर्ज की गयी. गया की हवा की गुणवत्ता मोडरेट श्रेणी की रही. इस तरह बिहार के दो मुख्य शहरों की हवा बहुत खराब रही. यह स्थिति कमोबेश पिछले करीब बीस दिन से बनी हुई है. जहां तक अच्छी हवा का सवाल है पूरे देश में केवल दो शहरों इलूर और तिरुवंतपुरम की हवा सांस लेने योग्य (अच्छी) दर्ज की गयी.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की आधिकारिक जानकारी के मुताबिक देश में हवा की बहुत खराब श्रेणी कुल 5 शहरों में दर्ज की गयी. इसमें मुजफ्फरपुर का एयर क्वालिटी इंडेक्स सबसे अधिक 315, वाराणसी का 312, पटना का 309, कानपुर का 307, कटनी का 304 रहा. गया का एयर क्वालिटी इंडेक्स 188 दर्ज किया गया है. उल्लेखनीय है कि समूचे देश में 102 शहरों केवल 23 शहरों की हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी की दर्ज की गयी है. इनमें दिल्ली भी शामिल है. 44 शहरों की हवा मोडरेड श्रेणी ( कम खराब) दर्ज की गयी है. कुल 103 शहरों में 31 शहरों की हवा संतोषजनक रही.

देश में केवल दो शहर इलूर और तिरुवनंतपुरम की हवा ही सांस लेने योग्य रही, एक्यूआइ रहा क्रमश. 27 व 40

प्रदूषण से बचने के लिए चलाएं साइकिल
शहर को वायु प्रदूषण से बचाने के लिए साइकिल चलाना होगा. अधिकारी हो या सामान्य लोग, वे साइकिल का इस्तेमाल करेंगे तो दूसरों को भी प्रेरणा मिलेगी. शहर इतना बड़ा नहीं है कि हम बाइक व कार छोड़ साइकिल से नहीं चल सकते. जरूरत हो तो गाड़ी का भी इस्तेमाल करें.

लेकिन दैनिक कार्यकलापों में साइकिल चलाएं. इससे शहर में प्रदूषण बहुत हद तक कम हो जायेगा. जिनका घर कार्यालय से नजदीक हो वे पैदल भी आ सकते हैं. इससे उनकी सेहत भी ठीक रहेगी. हमलोगों को इसे अपने जीवन में उतारना चाहिए. हम अब भी नहीं संभले तो आने वाले समय में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करना असंभव हो जायेगा.

छुट्टियों के दिन पौधे लगाना अपनी दिनचर्या में शामिल करें. बच्चों को भी बतायें कि पौधे लगाना क्यों जरूरी है. शहर में ज्यादा धुआं छोड़ने वाले गाड़ियों के प्रवेश पर रोक लगायी जाए. सरकारी व गैर सरकारी स्तर पर लोगों को बताया जाए कि वायु प्रदूषण से क्या हानियां हैं. फिलहाल जो शहर की स्थिति है, उससे क्या प्रभाव पड़ रहा है. जब हम खुद को बदलेंगे तो हमारा शहर भी बदलेगा.

Input : Prabhat Khabar

Continue Reading

BIHAR

जिसकी मौ’त में 23 लोग जेल में, वह जिंदा लौटा

Ravi Pratap

Published

on

नौबतपुर थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव में विगत 10 अगस्त को मॉब लिं’चिंग में मृत व्यक्ति के शव की पहचान पुलिस के लिए अबूझ पहेली बन गई है। शुरुआती दौर में मृत व्यक्ति की पहचान रानी तालाब थाना क्षेत्र के निसरपुरा निवासी कृष्णा मांझी के रूप में की गई थी। मगर बाद में गायब कृष्णा कुछ समय बाद सकुशल घर लौट आया।

अब मृतक की शिनाख्त करना पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। सच्चाई पता लगाने के लिए पुलिस कृष्णा मांझी को नौबतपुर लाने की कवायद में जुटी है। इस मामले में आईजी रेंज संजय सिंह ने सिटी एसपी वेस्ट अभिनव कुमार को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है।

थानाध्यक्ष सम्राट दीपक ने कहा कि इस संबंध में वरीय अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। कृष्णा मांझी का अदालत में 164 का बयान भी कलमबंद कराया जाएगा। दूसरी ओर, कृष्णा की पत्नी रुदी देवी का आरोप है कि 12 अगस्त को दानापुर अनुमंडलीय अस्पताल में शव देखने गई तो देखा कि शव सड़ी गली अवस्था में है। पुलिस ने जबरन उसे कृष्णा मांझी का शव बता दाह संस्कार करने को सौंप दिया। इसके बाद कर्ज लेकर दाह संस्कार किया।

गौरतबल है कि कि बीते 10 अगस्त को नवही पंचायत के महमदपुर गांव में गांव के रास्ते से गुजर रहे एक राहगीर को बच्चा चोरी के आरोप में उन्मादी भीड़ ने जमकर लाठी डंडे से पिटाई कर उसे अधमरा कर दिया था। इलाज़ के क्रम में उसकी मौत हो गई थी। मृतक की पहचान कृष्णा मांझी के रूप में की गई थी। इस मामले में 23 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी।

Input : Live Hindustan

Continue Reading
Advertisement
BIHAR4 mins ago

सुविधा : उत्तर बिहार के 22 रूटों पर चलेंगी 166 सरकारी बसें

MUZAFFARPUR13 mins ago

पूरे भारत में रविवार को सबसे ज्यादा प्रदूषित रहा मुजफ्फरपुर, पटना तीसरे नंबर पर

BIHAR25 mins ago

जिसकी मौ’त में 23 लोग जेल में, वह जिंदा लौटा

RELIGION1 hour ago

पर्व : मंगलवार को भैरव अष्टमी पर सिंदूर और तेल से करें भगवान का श्रृंगार और बोलें भैरव मंत्र

BIHAR1 hour ago

वशिष्ठ बाबू के नाम पर होगा कोईलवर का नया पुल: मंत्री

BIHAR1 hour ago

हाईटेक डुप्लेक्स में रहेंगे अब बिहार के MLA और MLC, सीएम आज देंगे सौगात

MUZAFFARPUR1 hour ago

सरैयागंज में रात को तीन घंटे तक ठप रहेगी बिजली

BIHAR2 hours ago

राहत की खबर: 22 नवंबर से पटना के चौक- चौराहों पर 35 रुपये किलो मिलेगा प्याज

EDUCATION3 hours ago

1613 छात्र-छात्राओं ने दी जीनियस क्लास प्रतिभा खोज परीक्षा

OMG4 hours ago

पत्नी की बक-बक से तंग पति 62 साल तक गूंगा-बहरा होने का नाटक करता रहा

MUZAFFARPUR2 days ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

INDIA2 days ago

आ गया ‘मिर्ज़ापुर 2’ का टीजर, पंकज त्रिपाठी ने इंस्टाग्राम पर किया शेयर

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR3 days ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

MUZAFFARPUR1 day ago

कुंवारी मां बनी कटरा की पी’ड़िता से दु’ष्क’र्म का आ’रोपी माैलवी गि’रफ्तार

BIHAR3 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

JOBS18 hours ago

भर्ती : 12वीं पास के लिए CISF में नौकरी, 300 जीडी हेड कांस्टेबल पदों के लिए करें आवेदन

victory-of-gamcha-campaign-by-nilotpal
BIHAR23 hours ago

होटल ने वेटरों के ड्रेस में गमछा किया शामिल

Trending

0Shares