Connect with us

MUZAFFARPUR

शहर के यूथ आइकॉन ऐश्वर्य निगम ने छठ के प्रति युवाओं को जागरुक करने के लिए लाया छठ स्पेशल गीत

Published

on

अलगोल फिल्म्स के बैनर तले बनी भोजपुरी वीडियो एल्बम “छठी मैया टहके सेनुरा हमार ” 25 अक्टूबर को पूरे भारतवर्ष में रिलीज की गई। इस एल्बम की शूटिंग गुजरात के सूरत शहर के वरसाना के फार्म हाउस के खूबसूरत लोकेशन्स पर की गई है। इस एल्बम को भोजपुरी एवं हिंदी फिल्मों के जाने – माने संगीत निर्देशक अजय जयसवाल ने अपने मधुर संगीत से सजाया है। जबकि इंडियन आइडल फेम गायिका दीपाली सहाय व बॉलीवुड के पार्श्वगायक ऐश्वर्या निगम रंजन ने पहली बार इस एल्बम में छठ गीत गाकर इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाने जा रहे है। इस छठ गीत को अपने खूबसूरत शब्दों से पिरोया है गीतकार डॉ. सागर ने। वहीं इस एल्बम को निर्देशित किया है स्वपनिल जयसवाल ने व इसका निर्माण किया है पीयूष जयसवाल ने।

Image may contain: 2 people, including Aishwarya Ranjan, people smiling, people standing, outdoor and text

एल्बम के संगीत निर्देशक अजय ने कहा कि इस एल्बम के निर्माण का उद्देश्य आज के युवा पीढ़ी को छठ जैसे महापर्व के प्रति जागरूक करना है। अभी तक हमारे घर के बुजुर्ग ही छठ करते आये हैं लेकिन जानकारी के आभाव के चलते युवा पीढ़ी इसे किस दिशा लेकर जाएगी ये नहीं पता। यह पर्व बहुत ही नियम और शुद्धता से किया जाता है इसीलिए आज के समय में हमें अपने घर के बहु – बेटी को इस महापर्व से अवगत कराना चाहिए, ताकि वो इसके महत्व को समझ कर अपने जनरेशन के लोगों को बता सकें। उन्होंने कहा कि यह पारंपरिक गीत पूरी तरह से नए रूप में लाया जा रहा है। वहीं गायक ऐश्वर्या निगम ने कहा कि इस एल्बम के माध्यम से मैंने पहली बार छठ गीत को गया है जिसे लेकर मैं काफी उत्साहित हूं। ऐश्वर्य ने कहा कि यह एल्बम युवा वर्ग को एक सशक्त संदेश देगा। उन्होंने लोगों से इस गीत को सुनने एवं ढेर सारा प्यार देने की अपील की।

Advertisement

जबकि गायिका दीपाली ने कहा छठ जैसे पर्व को अब देश भर में मनाया जाने लगा है। उन्होंने कहा कि हमारी छठ को विश्व भर में महत्त्वा मिले और ज्यादा से ज्यादा लीग इसके प्रति जागरूक हों, यही हमारा उद्देश्य है। दीपाली ने कहा कि शूटिंग के दौरान भी इस महापर्व हेतु पूरी शुद्धता का ध्यान रखा गया था। उन्होंने कहा कि मैं बिहार, यूपी, झारखंड के साथ गुजरात के लोगों का भी आभार व्यक्त करना चाहती हूं क्योंकि शूटिंग के दरम्यान उनलोगों ने हमारी काफी मदद की । दीपाली ने कहा कि छठ जैसे पर्व से हमारी बचपन की कई यादें जुड़ी हुई हैं और हम इसे हमेसा याद रखना चाहते हैं छठ को हर साल मानते हुए। दादी और माँ के बाद ये हमारी जिम्मेवारी है कि इस पर्व को हम आगे लेकर जाएं और इसे पूरे नियम और शुद्धता के साथ मनाये।

Advertisement

Advertisement

MUZAFFARPUR

सावन के हरे रंग में सराबोर हुई सुहागिनें खूब लगाए ठुमके

Published

on

हाय हाय रे ये मज़बूरी,तेरे सौ टकिए की नौकरी में मेरा लाखों का सावन जाए,,,,,चूडी मजा न देगी कंगन मजा न देगा, तेरे बगैर साजन सावन मजा न देगा,,,,,सावन का महीना और हरी साड़ी से लिपटी सुहागिन जब एक जगह जुटेंगी तो ठुमके भी लगेंगे।

कुछ ऐसा ही हुआ रविवार को आयोजित “हरीतिमा सावन महोत्सव” में स्थानीय कलमबाग चौक स्थित एक होटल में आयोजित महोत्सव में महिलाओं ने घर के काम काज में से खुद को आजाद कर अपने माहौल को खूब जीया।

Advertisement

सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर गणेश वन्दना घर पे पधारो गज़ानन्द जी,,,,के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की।

रैम्प वाक में सावन क्विन रश्मि प्रभात रंजन,फर्स्ट रनर अप अनामिका, सेकेंड रनर अप दीपा, डांस में अर्पिता, पुष्पांजलि चुनी गई। महिलाओं ने स्वछन्द होकर खूब मस्ती की। बावजूद अपनी परंपरा को नहीं छोड़ा। अरबा चावल,दूभी,सिंदूर, बिन्दी अंजुरी में ले रुपा सिंह ने सबके खोंईच्छा भर कर विदा किए।

Advertisement

संचालन कवियित्री मीनाक्षी मीनल ने किया। भूमिहार महिला समाज की ओर से आयोजित महोत्सव में कविता सिंह, सपना राज,डॉ सुभद्राकुमारी, डॉ बोधि कश्यप, पल्लवी दत्ता, भावना भूषण,मंजू सिंह, अनामिका सिंह, रश्मि सुमि,सोनी तिवारी, कोमल सिंह सहित सौ से अधिक महिलाओं ने भाग लिया।

Advertisement
Continue Reading

MUZAFFARPUR

रोक सूची में खेसरा संग थाना व वार्ड का नंबर भी

Published

on

जमीन खरीद-बिक्री की रोक सूची में शामिल खेसरा के रैयतों के लिए एक और राहत भरी खबर है। अंचल व जिला स्तर पर बनने वाली रोक सूची के खेसरा के साथ अब थाना व वार्ड नम्बर भी दर्ज करना होगा। पहले रोक सूची में थाना व वार्ड नम्बर दर्ज न रहने के कारण पूरे जिले का एक नम्बर का खेसरा एक साथ ब्लॉक हो जा रहा था, जिससे रोक सूची में शामिल खेसरा की संख्या 1.10 लाख से भी ऊपर हो गई थी। इससे रैयतों को नाहक परेशानी हो रही थी और उनकी खतियानी जमीन पर रोक सूची में शामिल बतायी जा रही थी।

डीएम प्रणव कुमार ने रोक सूची में संशोधन के लिए जो नया आदेश जारी किया है, उससे लोगों को बड़ी राहत मिलने वाली है। अब रोक सूची में खेसरा के साथ ही उसका वार्ड व थाना नम्बर भी दर्ज रहेगा। इसका लाभ यह होगा कि रोक सूची में वही खेसरा शामिल होगा जिस वार्ड की जमीन पर रोक लगायी जाएगी। डीएम ने सभी अंचलाधिकारियों को आदेश दिया है कि रोक सूची में शामिल सभी खेसरा के साथ थाना व वार्ड नम्बर दर्ज कर संशोधित रोक सूची बनायें, जिससे लोगों को राहत मिल सके। उन्होंने अंचलाधिकारियों को दो सप्ताह के भीतर संशोधित रिपोर्ट तैयार कर भेजने का आदेश दिया है। अंचलों में होने वाली इस सुधार के लिए अभियान चलेगा और इसकी मॉनिटरिंग दोनों डीसीएलआर करेंगे।

Advertisement

इसके साथ ही उन्होंने डीसीएलआर पूर्वी सह खास महाल पदाधिकारी को खास महाल की जमीन की विवरणी उपलब्ध कराने का आदेश दिया है।

जिले में अभी जो रोक सूची प्रभावी है, उसमें सिर्फ खेसरा संख्या दर्ज है। उसमें न तो खाता संख्या है, न वार्ड संख्या व और थाना नम्बर। उदाहरणत: यदि खेसरा नम्बर आठ को रोक सूची में शामिल किया गया, तो जिले के सभी वार्ड के आठ नम्बर खेसरा पर रोक लग जा रही थी।

Advertisement

अब वार्ड नम्बर दर्ज होने के बाद उसी वार्ड का खेसरा नम्बर ब्लॉक होगा, जिसका विवरण रोक सूची में शामिल रहेगा।

लोगों की इस समस्या को आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान’ ने प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद राज्य स्तर पर रोक सूची की समीक्षा हुई और अब नया आदेश आया है। उम्मीद है कि जिले में रोक सूची में शामिल 1.10 लाख खेसरा घटकर अब कुछ हजार रह जाएगी।

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : स्मैकियों की 180 दिनों तक जमानत रोकने को पुलिस देगी अर्जी

Published

on

एनडीपीएस की जांच में खामियों पर हाइकोर्ट में फजीहत के बाद एसएसपी जयंतकांत ने सभी थानों को एसओपी जारी कर इसके पालन का निर्देश दिया है। नई हिदायत के अनुसार अब जब्त चरस-स्मैक की एफएसएल जांच होने तक स्मैकियों की जमानत 180 दिन तक रोकने के लिए पुलिस कोर्ट में आवेदन देगी। एनडीपीएस एक्ट में नियम के अनुसार चरस-स्मैक के साथ धराए आरोपितों के खिलाफ 90 दिन में जांच पूरी कर कोर्ट में पुलिस को चार्जशीट दाखिल कर देनी है।

यदि पुलिस 90 दिन में चार्जशीट दाखिल नहीं करती है तो कोर्ट आरोपित को जमानत का लाभ दे देता है। इस बाध्यता के कारण कांड के आईओ जब्त प्रदर्श की एफएसएल से रिपोर्ट लिए बगैर हड़बड़ी में आरोपितों के खिलाफ 90 दिन पूरी होने से पहले कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर रही थी। अब ऐसा नहीं होगा। यदि पहले 90 दिनों के अंदर जब्त चरस-स्मैक की जांच रिपोर्ट एफएसएल से नहीं मिलती है तो आईओ अगले 90 दिन तक आरोपी को जमानत नहीं देने के लिए कोर्ट में अर्जी देंगे। फिर 180 दिन के अंदर एफएसएल रिपोर्ट लेने के बाद ही कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की जायेगी। विशेष लोक अभियोजक केस मेंकानूनी पक्ष रखेंगे।

Advertisement

मजिस्ट्रेट की गैरमौजूदगी में जब्ती के लिए आरोपी से लेनी होगी मंजूरी

एनडीपीएस एक्ट के मुताबिक मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में ही चरस-स्मैक या मादक पदार्थ जब्त की जानी है। इसके लिए जब्ती स्थल पर मजिस्ट्रेट को बुलाना पुलिस के लिए अनिवार्य है। यदि जब्ती के समय से किसी कारणवश मजिस्ट्रेट नहीं उपलब्ध होते हैं तो आरोपित से एक मंजूरी पत्र लेना है, जिसमें आरोपी यह स्वीकार करेगा कि पुलिस अधिकारी के द्वारा ली जा रही तलाशी के लिए वह तैयार है और उसे कोई आपत्ति नहीं है। आरोपी की लिखित मंजूरी को पुलिस जब्ती सूची के साथ कोर्ट में पेश करेगी।

Advertisement

पुलिस को कोर्ट से लगी थी फटकार

अक्सर पुलिस खुद ही तलाशी लेकर एफआईआर में 50 पुड़िया या 100 पुड़िया चरस स्मैक जब्ती दिखा देती थी। यह एनडीपीएस नियम के अनुसार गलत है। इस नियम के उल्लंघन का मामला अहियापुर की एफआईआर में पकड़ी गई, जिसको लेकर हाइकोर्ट में मुजफ्फरपुर पुलिस के वरीय अधिकारियों को कड़ी फटकार लगी थी।

Advertisement

एनडीपीएस मामले में सभी बिंदुओं का पालन करने के लिए सभी थानेदारों को एसओपी जारी किया गया है। इसके तहत यदि पहले 90 दिन में एफएसएल रिपोर्ट नहीं मिलती है तो अगले 90 दिन और आरोपित को जमानत नहीं देने के लिए कोर्ट में अर्जी दी जायेगी। बगैर एफएसएल रिपोर्ट के कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने वाले आईओ पर कार्रवाई की जायेगी। – जयंतकांत, एसएसपी

Source : Hindustan

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR6 hours ago

जिस पति को पाने के लिए घर से की बगावत उसी ने शादी के महज तीन साल बाद दी दर्दनाक मौत

MUZAFFARPUR8 hours ago

सावन के हरे रंग में सराबोर हुई सुहागिनें खूब लगाए ठुमके

BIHAR10 hours ago

ललन सिंह बोले- नीतीश कुमार का कद घटाने को हुआ षड्यंत्र, आरसीपी थे दूसरा ‘चिराग मॉडल’

BIHAR15 hours ago

पटना हाईकोर्ट ने दिया आदेश, बिहार के 14 कॉलेजों की मान्यता होगी रद्द

INDIA15 hours ago

राम और रामायण से जुड़े स्थलों को देखें फिर से एक बार, 24 से शुरू हो रही है रामायण सर्किट रेल यात्रा

INDIA16 hours ago

इस्लामिक अध्ययन के 2 छात्रों ने जीता रामायण क्विज, धाराप्रवाह पढ़ते हैं संस्कृत श्लोक

MUZAFFARPUR17 hours ago

रोक सूची में खेसरा संग थाना व वार्ड का नंबर भी

MUZAFFARPUR20 hours ago

मुजफ्फरपुर : स्मैकियों की 180 दिनों तक जमानत रोकने को पुलिस देगी अर्जी

BIHAR20 hours ago

शादी करने के लिए पटना से पानीपत पहुंच गए 5 नाबालिग, पुलिस भी हैरान

BIHAR20 hours ago

पारस अस्पताल के डाॅक्टर पर रेप का आराेप, गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम पर बाउंसर्स ने किया हमला

BIHAR4 weeks ago

आईटीआई पास छात्रों को अग्निवीर बनने का मौका

BIHAR3 weeks ago

बिहार दारोगा रिजल्ट : छोटी सी दुकान चलाने वाले सख्स की दो बेटियाँ एक साथ बनी दारोगा

job-alert
BIHAR1 week ago

बिहार: मैट्रिक व इंटर पास महिलाएं हो जाएं तैयार, जल्द होगी 30 हजार कोऑर्डिनेटर की बहाली

INDIA3 weeks ago

प्यार के आगे धर्म की दीवार टूटी, हिंदू लड़के से मुस्लिम लड़की ने मंदिर में की शादी

BIHAR3 weeks ago

बिहार में तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई दरें

BIHAR4 weeks ago

बिहार में युवक की पीट-पीटकर हत्या, प्राइवेट पार्ट को काट डाला

BIHAR4 days ago

बीपीएससी 66वीं रिजल्ट : वैशाली के सुधीर बने टॉपर ; टॉप 10 में मुजफ्फरपुर के आयुष भी शामिल

BIHAR4 weeks ago

पिता ने ट्यूशन फीस के लिए दिए 60 हजार रुपए, बेटे ने साइलेंसर वाली पिस्टल खरीद पिता की हत्या

BIHAR2 days ago

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू

BUSINESS4 days ago

पैसों की जरूरत हो तो लोन की जगह लें ये सुविधा; होगा बड़ा फायदा

Trending