Connect with us

MUZAFFARPUR

जब एईएस से म’रने लगे बच्चे तो हुई बचाव की चिंता,ऑडिट में सामने आया सच

Santosh Chaudhary

Published

on

जिले में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम यानी एईएस से जब बच्चे म’रने लगे तो इलाज व जागरूकता की चिंता प्रशासन को हुई। सबकुछ आनन-फानन में शुरू हुआ। इसका परिणाम रहा कि जिला मुख्यालय से लेकर राज्य व केंद्र मुख्यालय तक हं’गामा शुरू हुआ। मरीजों की तुलना में जगह कम पडऩे लगी। हालत यह रही कि एसकेएमसीएच से कै’दी वार्ड को सदर अस्पताल में शिफ्ट कराना पड़ा। बी’मारी से बचाव को लेकर नियमित बैठक व जो तैयारी की समीक्षा होनी चाहिए वह नहीं हो पाई। इस तरह की खामियां नियंत्रक-महालेखा परीक्षक (सीएजी) के निर्देश पर प्रधान महालेखाकार (पीएजी) पटना की विशेष जेई-एईएस ऑडिट टीम की रिपोर्ट में मामला सामने आया हैं। टीम ने जिलाधिकारी को बतौर जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष होने के नाते कई लापरवाही की रिपोर्ट दी है। इस पर बड़े बदलाव की कवायद चल रही है।

2014 से 20 तक का ऑडिट

जानकारी के अनुसार 2014-15 से लेकर 2019-20 का ऑडिट हुआ है। इसमें एसकेएमसीएच, जिला प्रशासन की तैयारी व बीमारी से बचाव की जांच की गई है। पड़ताल में यह बात सामने आई कि केवल दवाओं की उपलब्धता को बीमारी से बचाव का आधार बनाया गया। इस साल सबसे ज्यादा लापरवाही बरती गई। समय पर बैठक भी नहीं हो पाई।

सही कार्ययोजना भी नहीं बनी

पिछले पांच साल से हर साल यह बीमारी हो रही तथा बच्चे मर रहे हैं। लेकिन, इससे निपटने के लिए सही से कार्ययोजना नहीं बनी। बीमारी से बचाव संबंधित दस्तावेज भी जिला प्रशासन के पास नहीं मिले। इस साल बीते 12 जून तक 94 बच्चों की मौत हो गई तो जल्दी-जल्दी मे जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष जिलाधिकारी ने कमान संभाली और बचाव कार्य शुरू कराया।

डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति की गई। फिर बीते 18 जून को प्रशासनिक अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति कर इलाज की व्यवस्था की गई। इस तरह जब बच्चों की मौत का सिलसिला नहीं रुका तो जिलाधिकारी ने 29 जून 2019 से सोशल ऑडिट कराया। इससे पहले पिछले पांच साल में बीमारी को लेकर सोशल ऑडिट समेत अन्य बचाव कार्य पर बेहतर काम नहीं हुआ। इस बारे में सिविल सर्जन डॉ एसपी सिंह ने कहा कि ऑडिट टीम आई थी उसने जो भी जानकारी मांगी उपलब्ध कराई गई। उसकी रिपोर्ट की अभी जानकारी नहीं मिली है। जो सुझाव होगा उसे पूरा किया जाएगा। वैसे एईएस को लेकर पिछले पांच साल से सदर अस्पताल सहित सभी पीएचसी में विशेष वार्ड बना है। इस साल भी विभाग की ओर से जागरूकता व बचाव का कार्य किया गया है।

ये मिलीं खामियां, मांगा जवाब

ऑडिट टीम ने खामियों को उजागर करते हुए संबंधित अधिकारियों से मंतव्य मांगा है।

– किन कारणों से वार्षिक कार्ययोजना तैयार नहीं की गई।

– जब प्रशासन की जानकारी में था कि हर वर्ष यह जिला एईएस व जेई से प्रभावित होता है तो किस परिस्थिति में रोकथाम की वार्षिक कार्ययोजना तैयार नहीं हुई तथा वार्षिक बजट की मांग की गई।

– एईएस चमकी-बुखार के प्रकोप से जिला में आपात स्थिति उत्पन्न होने के बाद जागरूकता अभियान, मरीजों की खोज, प्रचार-प्रसार और चिकित्सकों व पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई।

– जब कई साल से जिला आक्रांत था तो इस साल यानी 2019 में सामाजिक अंकेक्षण कराए जाने का औचित्य स्पष्ट किया जाए।

– जिलाधिकारी कार्यालय स्तर पर एईएस के पर्यवेक्षण, नियंत्रण, रोकथाम आदि से संबंधित कोई भी अभिलेख संधारित नहीं किया गया इसका क्या कारण था?

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में अब तक कोरोना से 2 लोगों की मौत, आज 26 नए मरीज मिले

Muzaffarpur Now

Published

on

muzaffarpur-corona

जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह के निर्देश के आलोक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और उस पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के परस्पर समन्वय से गंभीरता पूर्वक दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा वर्तमान स्थिति पर पैनी नजर रखी जा रही है।

आज जिले में कोरोना से संक्रमित कुल 26 मरीज सामने आए। इस तरह जिले में अब तक कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 601 हो चुकी है। आज उपचार के बाद कुल 27 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। इस तरह अब तक कुल 399 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। कुल दो व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। जिले में अब कुल एक्टिव केस की संख्या 200 है।

जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में सभी प्रखंडों में गठित फ्लाइंग स्क्वायड टीम के द्वारा मास्क पहनो अभियान को निरंतर गति दी जा रही है। साथ ही लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए लगातार अनुरोध भी किया जा रहा है। जिला परिवहन पदाधिकारी रजनीश लाल अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार और अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी अनिल कुमार दास एवं उनकी टीमों द्वारा मास्क न पहने वाले के विरुद्ध सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है।

प्रखंडों में भी यह कवायद लगातार चल रही है। मास्क न पहने वाले से जुर्माने भी वसूले जा रहे हैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट का भी निरन्तर जांच किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने जिले वासियों/आम -आवाम से अपील की है कि मास्क का नियमित तौर पर प्रयोग करें। सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करें। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचे। साथ ही सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का अक्षरशः पालन करें।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

अतिथि शिक्षकों की सेवा स्थायी करने हेतु जिले के सभी 11 विधायकों ने की अनुसंशा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर जिले के सभी 11 विधायकों ने आज यानि 10 जुलाई को अतिथि शिक्षकों की सेवा अवधि को स्थायी करने की सिफ़ारिश करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा है। विधायकों ने यह स्वीकार किया है कि इंटरमीडिएट में अतिथि शिक्षकों के आने बाद परिणाम में गुणात्मक परिवर्तन हुआ है।

उच्चतर माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष हिमांशु राज ने सभी विधायकों को इस अनुशंसा हेतु धन्यवाद करते हुए कहा कि शिक्षकों ने कोरोना काल में भी अपनी जान जोखिम में डालकर इंटरमीडिएट व मैट्रिक की कॉपी का मूल्यांकन किया जिससे बोर्ड ससमय परिणाम घोषित कर पाई। साथ ही उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अतिथि शिक्षक सदैव सरकार के हर आदेश का अनुपालन करते रहें हैं अतः अब राज्य सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वें इन शिक्षकों को उचित पारितोषिक मिलना चाहिए। इस क्रम में उन्होंने सरकार से शिक्षकों के सेवाकाल को स्थायी (60 वर्ष) तथा मानदेय को भी स्थायी करने की मांग की है।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

गांव में बिना मुंह-नाक ढंके घूमने के अभ्यस्त हैं तो हो जाएं सावधान

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर : कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी लोगों को जागरूक होना होगा। इस महामारी से बचाव के लिए निर्धारित मापदंड का अनुपालन सबको करना होगा। तभी कोरोना से जंग जीत सकते हैं। उक्त बातें डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने कहीं। संक्रमण से बचाव को लेकर अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में कई बिंदुओं पर रणनीति तैयार की। इसके तहत शहर से लेकर गांव तक मास्क नहीं पहनने वालों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी।

मास्क पहनो अभियान को गति देने की तैयारी

डीएम ने कहा कि मास्क पहनो अभियान को गति देने के मद्देनजर जिले में जांच अभियान जारी है। विभिन्न वरीय पदाधिकारियों के नेतृत्व में सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। दुकानों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में भी मास्क का इस्तेमाल नहीं करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है। इस अभियान को लगातार जारी रखा जाएगा। शहर के साथ-साथ जिले के सभी प्रखंडों में भी अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए प्रखंड स्तर पर 22 फ्लाइंग स्क्वॉयड की टीम गठित की गई है। अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर जांच अभियान गांव तक चलाई जाएगी। इस दौरान लोगों को जागरूक करने की भी कवायद होगी।

दुकानदार के साथ ग्राहक को भी पहनना होगा मास्क

डीएम ने कहा कि सभी दुकानदार व कर्मी के साथ दुकान पर आए ग्राहक को भी मास्क पहनना है। अगर दुकान पर आए ग्राहक बिना मास्क नजर आएंगे तो इसकी जिम्मेदारी दुकानदार की होगी। ऐसे में दुकान को सील किया जाएगा। शहरी क्षेत्र के साथ नगर पंचायत इलाके में इसको लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत एक दर्जन से अधिक दुकानें सील की जा चुकी हैं।

यात्री अगर बिना मास्क के मिले तो जब्त होंगे वाहन

डीएम ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन या निजी वाहन में अगर यात्रा कर रहे हैं तो मास्क अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करें। अगर बिना मास्क के यात्री बैठे मिलेंगे तो संबंधित चालक व मालिक इसके लिए जिम्मेवार होंगे। इस स्थिति में उनके वाहन जब्त कर लिए जाएंगे। बता दें कि डीटीओ द्वारा कई दिनों से इस दिशा में अभियान चलाकर वाहन जब्ती व जुर्माने की कार्रवाई भी की जा रही है।

होटल में आयोजित कार्यक्रम की देनी होगी थाने को सूचना

डीएम ने कहा कि होटल या बैंकेट हॉल आदि में अगर कोई वैवाहिक कार्यक्रम किए जा रहे हैं तो इसकी सूचना स्थानीय थाने को देनी होगी। साथ ही कार्यक्रम में 50 से कम लोग भाग लेंगे। इस आशय का बांड संबंधित को भरकर थाने को देना होगा। कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों को मास्क का प्रयोग करना होगा। वहां पर सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी। शारीरिक दूरी बनाकर रखनी होगी। अगर ये सब नहीं किया गया तो संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
INDIA1 hour ago

गैंगस्‍टर विकास दुबे का हुआ अंतिम संस्कार, पत्नी ऋचा बोली- एक दिन करूंगी सबका हिसाब

muzaffarpur-corona
MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर में अब तक कोरोना से 2 लोगों की मौत, आज 26 नए मरीज मिले

BIHAR2 hours ago

बिहार में बढ़ा कोरोना का खतरा, सरकार ने 9 मेडिकल कॉलेज में खोला कोविड सेंटर

MUZAFFARPUR2 hours ago

अतिथि शिक्षकों की सेवा स्थायी करने हेतु जिले के सभी 11 विधायकों ने की अनुसंशा

BIHAR5 hours ago

पटना में जीजा को पसंद आ गई साली, एक लाख रुपये सुपारी देकर गर्भवती पत्नी को मरवा दिया

BIHAR6 hours ago

2 टोकरी आम के लिए बच्चे का मर्डर, जांच में जुटी पुलिस

BIHAR7 hours ago

भारत के पहले कोरोना वैक्सिन का पटना AIIMS में आज से ह्यूमन ट्रायल शुरू

BIHAR7 hours ago

बिहारियों से झारखंड में बढ़ रहा कोरोना, हेमंत के अनुरोध पर बिहार से झारखंड जाने वाली ट्रेनों के परिचालन पर लगी रोक

WORLD10 hours ago

नेपाल में भारतीय न्‍यूज चैनल बैन, PAK और चीन के चैनल रहेंगे चालू

INDIA10 hours ago

60-70 रुपये किलो पहुंचा टमाटर का भाव, रामविलास पासवान ने दिया मौसम को दोष

BIHAR4 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

ENTERTAINMENT1 week ago

सामने आया चंद्रचूड़ सिंह के फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का असली रीजन

BIHAR3 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA4 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

MUZAFFARPUR7 days ago

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में सलमान के अधिवक्ता मुजफ्फरपुर कोर्ट में हुए हाजिर

BIHAR2 weeks ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA5 days ago

महिला सब इंस्पेक्टर गिरफ्तार, रेप के आरोपी को बचाने के लिए 35 लाख रुपए लिया रिश्वत

BIHAR4 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR3 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

INDIA3 weeks ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

Trending