Connect with us

BIHAR

CoronaVirus: बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी बस सेवाएं, होटल-रेस्टोरेंट किए गए बंद

Published

on

कोरोना वायरस को लेकर एहतियातन बड़ा कदम उठाते हुए बिहार सरकार ने महामारी रेगुलेशन के तहत बिहार में सभी बसों के परिचालन के साथ ही राज्य के सभी रेस्टूरेंट, होटलो के बैंक्वेट हाल को 31 मार्च तक बंद कर दिया है। अब रेस्टोरेंट में बैठकर कोई खाना नहीं खा सकेगा। बैंक्वेट हाल की बुकिंग अगले 31 तक बंद रहेंगे और किसी समारोह के लिए बुकिंग नहीं होगी।

31 मार्च तक सिटी सर्विस एवं अंतरराज्यीय बसों का परिचालन रहेगा बंद

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए परिवहन विभाग ने पटना में सिटी सर्विसेज की बसों के साथ अंतरराज्यीय बसों के परिचालन पर रोक लगाने का निर्णय लिया है। शनिवार से सिटी सर्विसेज की बसों का परिचालन बंद कर दिया गया है वहीं रविवार से अंतरराज्यीय बसें भी नहीं चलेगी।

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण के फैलने से बचाव के लिए एहतियात के तौर पर 31 मार्च तक सिटी बसों के साथ अंतरराज्यीय बसों के परिचालन पर रोक लगाई गई है।

31 मार्च तक सरकारी एवं प्राइवेट सभी तरह के सिटी बसों एवं अंतरराज्यीय बसों का  परिचालन नहीं किया जाएगा। बसों का परिचालन पूरी तरह से बंद रहेगा। स्थिति सामान्य होने के बाद ही बसों के परिचालन शुरू करने का निर्णय लिया जाएगा।

परिवहन सचिव  संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि पटना-दिल्ली-पटना के बीच चलने वाली वोल्वो बसों के परिचालन पर भी 31 मार्च तक के लिए रोक लगाई गई है। दिल्ली के लिए 7 बसों का परिचालन किया जा रहा था।

बताते चलें कि बिहार राज्य पथ परिवहन निगम द्वारा पटना में 120 सिटी बसों का परिचालन प्रतिदिन किया जा रहा है । हर दिन लगभग 50 हजार यात्री सिटी बसों से सफर करते हैं।इसके पूर्व 31 मार्च तक काठमांडू और जनकपुर के लिए चलने वाली बसों को बंद किया जा चुका है।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट के वाहनों को सेनेटाइज कराना सुनिश्चित कराने के लिए संबंधित जिलों के डीटीओ, एमवीआई और ईएसआई को निर्देश दिया गया है। कोरोना वायरस  के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव  हेतु प्रमंडलीय आयुक्त पटना ने एहतियाती , महत्वपूर्ण एवं प्रभावी फैसला लिया है।

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : अनाप-शनाप औसत बिल भेज रहा विभाग, उपभोक्ता हलकान

Published

on

मुजफ्फरपुर : बिजली विभाग के अजब-गजब कारनामे सामने आ रहे हैं। दैनिक जागरण से विद्युत उपभोक्ताओं ने विभागीय लापरवाही की पोल पट्टी खोल दी है। ज्यादातर उपभोक्ताओं औसत री¨डग कर अनाप-शनाप बिल मिलने से परेशान हैं। ऑनलाइन या ऑफलाइन शिकायत के बावजूद कोई समाधान नहीं निकल पा रहा है। बैरिया पठानटोली कृष्ण मोहन नगर मोहल्ले के रहने वाली पूनम कुमारी को पिछले तीन वर्षो से एवरेज बिजली बिल आ रहा है। उनके पति अभय कुमार उर्फ बिट्ट लोहिया कॉलेज में हैं। वे दर्जनों बार शिकायत कर चुकी हैं। फिर भी उनको मीटर रीडिंग से बिजली बिल नहीं मिल रहा है। गलत मीटर नंबर से उनको बिजली बिल आ रहा है। कहीं विभाग एक बार लाखों रुपये की पेनाल्टी न लगा दें, इससे पूरा परिवार डरा हुआ है।

 

एस्सेल के जाने के बाद नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के हाथ बिजली व्यवस्था आई, तब से ही से इलाके के जेई और ऑनलाइन शिकायत कर रहे हैं। करजा थाने के गवसरा गांव निवासी भरत सिंह ने बिजली बिल सुधार के लिए विभाग के अधिकारियों को लगातार आवेदन दे रहे हैं। भगवानपुर श्रमजीवी नगर मोहल्ला निवासी दिनेश मिश्र ने दो महीने का एक साथ यूनिट जोड़ कर बिजली बिल बना देने की शिकायत की है। औराई आलमपुर के रहने वाले शिवेंद्र कुमार ने अधिक बिल आने की बात कही है। बैरिया आयाची ग्राम निवासी राकेश क्षत्रिय ने एवरेज बिजली बिल पेमेंट करने के बाद रीडिंग पर अधिक बिल आने से परेशान हैं।

नगर थाने के बालूघाट जंगलीमाई वार्ड-17 के निवासी लालशंकर प्रसाद सिन्हा ने अप्रैल माह का बिल नहीं आने की शिकायत की है। बैरिया के उपभोक्ता संजय कुमार ने ने अपने बिल को गलत बताया है। सरैयागंज के सुजीत कुमार ने बिल में गड़बड़ी की शिकायत की है। चंदवारा जमीरन गाछी मोहल्ला निवासी रईस अहमद एक साथ तीन महीने के बिजली बिल आने से परेशान हैं।

विद्युत उपभोक्ताओं ने खोली विभागीय लापरवाही की पोल पट्टी

दर्जनों बार शिकायत के बाद भी नहीं मिल रहा बिजली बिल

बिजली बिल या किसी तरह की गड़बड़ी को लेकर उपभोक्ता सीधे अपने सेक्शन के वरीय विद्युत अधिकारी से मिलें। समस्या का शीघ्र समाधान हो जाएगा। एवरेज बिल पाने वाले उपभोक्ता मीटर का वीडियो बनाकर कार्यपालक अभियंता को दे कर बिल सही करवा सकते हैं। – छबिंद्र  प्रसाद सिंह, विद्युत कार्यपालक अभियंता, नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : क्वारंटाइन केंद्र पर उकसाकर हंगामा कराने में प्राथमिकी

Published

on

मुजफ्फरपुर : कांटी प्रखंड के उच्च विद्यालय स्थित क्वारंटाइन केंद्र में प्रवासी मजदूरों को उकसाकर हंगामा कराने व भूख हड़ताल पर बैठाने के मामले में युवा संघर्ष शक्ति के संयोजक अनय राज पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

 

बता दें कि मामले में सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने संज्ञान लिया था। उन्होंने एसडीओ पश्चिमी को पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई का आदेश दिया था। इसके बाद क्वारंटाइन केंद्र प्रभारी हिमांशु राज ने कांटी थाने में मामला दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया। जिस पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत अनय पर मामला दर्ज किया। बता दें कि मंगलवार को सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था। जिस पर डीएम ने संज्ञान लिया था। इधर, अनय राज ने कहा कि कुछ लोगो के इशारे पर साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया है।

Continue Reading

BIHAR

जिले के 50 से अधिक छोटे स्कूल बंद होने की कगार पर

Published

on

जिले के 50 से अधिक प्राइवेट स्कूल बंद होने की कगार पर हैं। इन स्कूलों पर लॉकडाउन की मार पड़ी है। प्राइवेट स्कूल की समस्या को लेकर बने तिरहुत एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट स्कूल की समीक्षा में यह मामला सामने आया है। एसोसिएशन ने ऐसे सभी स्कूल को चिन्हित किया है। सीबीएसई एफिलिएटेड स्कूलों के अलावा जिले में बड़ी संख्या में प्राइवेट स्कूल चल रहे हैं। अभी सभी स्कूलों में कक्षाएं बंद हैं। बड़ी संख्या में ऐसे छोटे स्कूल हैं जहां 400 से 1000 के बीच बच्चों की संख्या है। इन स्कूलों में कमोबेश नामांकन भी बंद है। एसोसिएशन के सचिव सुमन कुमार ने बताया कि ये स्कूल इस स्थिति में आ गए हैं कि इनमें ताला लगाना पड़ सकता है। कई स्कूल बंद हो चुके हैं। वहां के बच्चों का नामांकन दूसरे स्कूल में कराया गया है। जिले में एक हजार से अधिक स्कूल हैं। 50 से अधिक स्कूल ऐसे हैं जो किराए के मकान में चल रहे हैं और अब उनके पास किराया तक देने के लिए रुपये नहीं है। बच्चों की फी जमा नहीं हो रही, नया नामांकन लिया नहीं जा रहा। ऐसे में स्कूल के पास आमदनी का कोई जरिया नहीं है। बैंक के लोन से स्कूल चलाने से लेकर इन स्कूलों के पास शिक्षकों को वेतन तक देने के लिए राशि नहीं है।

एसोसिएशन शुरू करेगा फंड की व्यवस्था:

सुमन कुमार ने बताया कि एसोसिएशन ने एक ऐसा फंड बनाने की योजना बनाई है जो इन बंद होते स्कूलों की मदद करेगा। इस फंड के माध्यम से ऐसे स्कूलों को लोन दिया जाएगा। इसमें प्रमंडल केसभी स्कूल मदद करेंगे ताकि स्कूल सुचारू रूप से चल सके। अन्य स्कूलों को भी चिह्नित किया जा रहा है, जिन्हें ऐसी मदद की जरूरत है। इन सभी स्कूलों को एसोसिएशन की ओर से बनाई गई वेबसाइट के माध्यम से मदद दी जाएगी। यह फंड प्राइवेट स्कूल की इस तरह की समस्या के समाधान के लिए ही बनाया जा रहा है।

Input : Live Hindustan 

Continue Reading
INDIA3 hours ago

अब व्हाट्सएप से बुक करें गैस सिलेंडर, इस नंबर पर करना होगा मैसेज

Jharkhand3 hours ago

पहली बार फ्लाइट से प्रवासी मजदूरों की वापसी, मुंबई से झारखंड लौटेंगे 180 लोग

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर : अनाप-शनाप औसत बिल भेज रहा विभाग, उपभोक्ता हलकान

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर : क्वारंटाइन केंद्र पर उकसाकर हंगामा कराने में प्राथमिकी

INDIA7 hours ago

ज्यादा मजदूरों की मदद के लिए सोनू सूद ने जारी किया टोल फ्री नंबर, जाने वालों से कहा- वापस जरूर आना

INDIA12 hours ago

व्यापारिक मोर्चे पर भी चीन के साथ आर-पार की लड़ाई के मूड में भारत, जानें पूरा ब्योरा

RELIGION12 hours ago

अब ऑन लाइन कर सकेंगे बद्रीनाथ और केदारनाथ के दर्शन, बोर्ड के लिए राज्य सरकार ने स्वीकृत किए 10 करोड़ रुपए

BIHAR13 hours ago

जिले के 50 से अधिक छोटे स्कूल बंद होने की कगार पर

BIHAR13 hours ago

बिहार बोर्ड मैट्रिक स्क्रूटिनी के लिए आवेदन 29 से, ऑनलाइन ही मांगे गए आवेदन

INDIA17 hours ago

Crime Patrol की टीवी एक्ट्रेस प्रेक्षा मेहता ने की आत्म हत्या, लॉकडाउन से हुईं डिप्रेशन का शिकार

BIHAR2 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR4 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD3 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

INDIA4 weeks ago

Lockdown Part 3- 17 मई तक जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

BIHAR3 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR4 weeks ago

बाहर फंसे बिहारियों की वापसी का बिहार सरकार नहीं करेगी इंतजाम, सुशील मोदी बोले- हमारे पास नहीं है संसाधन

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन के बीच 21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए सरकार ने की 5 बड़ी घोषणाएं

Uncategorized4 weeks ago

50 फीसद यात्रियों के साथ बसों का संचालन, बढ़ सकता किराया

Trending