धोनी के बारे में दोस्‍त ने खोला राज- हम उसे आतंकवादी कहते थे, अब वह‍ संत बन गया
Connect with us
leaderboard image

SPORTS

धोनी के बारे में दोस्‍त ने खोला राज- हम उसे आतंकवादी कहते थे, अब वह‍ संत बन गया

Himanshu Raj

Published

on

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 30 मई से शुरू होने वाले आईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में महेंद्र सिंह धोनी अहम खिलाड़ी साबित होंगे. धोनी का यह चौथा वर्ल्‍ड कप होगा और वेस्‍ट इंडीज के क्रिस गेल के बाद वे प्रतियोगिता में दूसरे सबसे अनुभवी क्रिकेटर होंगे. वे दो बार(2007 टी20 वर्ल्‍ड कप और 2011 वनडे वर्ल्‍ड कप) भारत को वर्ल्‍ड चैंपियन बना चुके हैं.

क्रिकेट की दुनिया के सबसे बड़े टूर्नामेंट से पहले धोनी के करीबी दोस्‍त सत्‍य प्रकाश ने उनके बारे में कई दिलचस्‍प खुलासे किए हैं. बता दें कि सत्‍य प्रकाश ने ही धोनी को भारतीय रेलवे में नौकरी दिलाने में मदद की थी. दोनों बिहार के लिए साथ क्रिकेट भी खेला करते थे.

उन्‍होंने खेल मैगजीन ‘स्‍पोर्टस्‍टार’ को बताया कि वे सभी दोस्‍त धोनी को आतंकवादी बुलाते थे. सत्‍य प्रकाश ने मैगजीन को बताया, ‘हम उसे आतंकवादी बुलाया करते थे. वह 20 गेंदों में 40-50 रन बना दिया करता था. लेकिन जब से वह देश के लिए खेलने लग गया है तब से संत बन गया है और उसने अपनी अप्रोच बदल ली है. वह काफी जल्‍दी सीखता है.’

 

सत्‍य प्रकाश 18 साल से धोनी के दोस्‍त हैं. उन्‍होंने ही धोनी को भारतीय रेलवे में नौकरी दिलाने में मदद की थी. दोनों बिहार के लिए साथ क्रिकेट भी खेला करते थे.

वर्ल्‍ड कप के पहले सामने आए एमएस धोनी के भाई, किए कई बड़े खुलासे

virat kohli interview, indian cricket team, ravi shastri, ms dhoni, विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम, एमएस धोनी

धोनी के संघर्ष के बारे में उन्‍होंने बताया, ‘धोनी कहता है कि फाइव स्‍टार होटल में रूकने से न तो भूख मिटती है और न अच्‍छी नींद आती है. बाकी खिलाड़ियों और धोनी यह अंतर है कि वह भावनाएं नहीं रखता. 2003 में जब हम फुटबॉल खेल रहे थे तो उसकी मां ने फोन किया. उसने कहा कि फोन बजने दो, गेम पर ध्‍यान दो. बाद में हमें पता चला कि वह मैच में काफी गंभीर था और अपनी लय तोड़ना नहीं चाहता था.’

शुरुआत में उसने न के बराबर कप्‍तानी की लेकिन देखो कैसे वह महान खिलाड़ियों का कप्‍तान बन गया. वह हमेशा हिंदी में बात करता था लेकिन अब वह फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है. हम दोस्‍त कभी उसकी काबिलियत पहचान ही नहीं पाए. — सत्‍य प्रकाश

एमएस धोनी शुरू से ही आत्‍मविश्‍वास से लबरेज रहे. उनकी इस खूबी के बारे में सत्‍य प्रकाश ने स्‍पोर्टस्‍टार को बताया, ‘एक मैच के दौरान किसी ने उसे छेड़ा और कहा कि आज तेरा दिन है और तू जितने चाहे रन बना सकता है लेकिन कल तू हमारे साथ ही खेलेगा. इस पर धोनी ने जवाब दिया कि तुम चाहे जितने रन बना लो हम 15 ओवर में जीत जाएंगे. बाद में उसकी टीम 14.4 ओवर में मैच जीत गई.’

ms dhoni, ms dhoni friends, dhoni friend satya prakash, dhoni terrorist comment, icc cricket world cup 2019, एमएस धोनी, धोनी दोस्‍त, धोनी सत्‍य प्रकाश, धोनी आतंकवादी

एमएस धोनी और सत्‍य प्रकाश 18 साल से दोस्‍त हैं.

एमएस धोनी की कप्‍तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने कई खिताब जीते हैं और बड़ी कामयाबी पाई. वे इकलौते कप्‍तान हैं जिन्‍होंने आईसीसी के तीनों टूर्नामेंट जीते हैं. धोनी ने 2007 में टी20 वर्ल्‍ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्‍ड कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीतने का कारनामा किया है.

Input : News18

SPORTS

अंबाती रायुडू ने संन्यास का फैसला लिया वापस, जानिए किसे दिया क्रेडिट

Santosh Chaudhary

Published

on

33 वर्षीय रायुडू ने हैदराबाद क्रिकेट असोसिएशन (एचसीए) को एक खत लिखकर कहा है कि संन्यास लेने का फैसला उन्होंने भावनाओं में बहकर लिया था और वो अब सिलेक्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे।

टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज अंबाती रायुडू ने क्रिकेट से संन्यास का फैसला वापस ले लिया है। दो महीने पहले रायुडू ने क्रिकेट से सभी फॉरमैट से संन्यास का ऐलान किया था। 33 वर्षीय रायुडू ने हैदराबाद क्रिकेट असोसिएशन (एचसीए) को एक खत लिखकर कहा है कि संन्यास लेने का फैसला उन्होंने भावनाओं में बहकर लिया था और वो अब सिलेक्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे।

गुरुवार को रायुडू ने एचसीए के सीओए को ई-मेल में लिखा, ‘मैं आपकी जानकारी में लाना चाहता हूं कि मैं संन्यास के फैसले को पीछे छोड़ते हुए क्रिकेट के सभी फॉरमैट में खेलना चाहता हूं। मैं इसके लिए चेन्नई सुपर किंग्स, वीवीएस लक्ष्मण और नोएल द्रविड़ को शुक्रिया कहना चाहता हूं, जो मेरे मुश्किल समय में मेरे साथ रहे और मुझे इस बात का अहसास दिलाया कि अभी मेरे अंदर काफी क्रिकेट बचा है।’

 

उन्होंने इस ई-मेल में लिखा, ‘मैं हैदराबाद की टैलेंटेड टीम के साथ शानदार सीजन खेलने को लेकर उत्साहित हूं। मैं 10 सितंबर से हैदराबाद टीम ज्वॉइन करने के लिए उपलब्ध हूं।’ एचसीए के सीओए ने ई-मेल में लिखा, ‘आपको जानकारी दी जाती है कि रायुडू अपना संन्यास वापस ले चुके हैं और वो 2019-20 में एचसीए के लिए शॉर्ट फॉरमैट में खेलने के लिए उपलब्ध रहेंगे।’ इंग्लैंड में हुए विश्व कप के लिए रायुडू को टीम में नहीं चुना गया था। इसके बाद शिखर धवन के चोटिल होने के बाद उन्हें बैक-अप के तौर पर भी नहीं चुना गया।

विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया की घोषणा जब हुई थी, तो चयनकर्ताओं ने विजय शंकर की थ्री-डायमेंशन की बात करते हुए उन्हें रायुडू पर तरजीह दी थी, जिसके बाद रायुडू ने तंज कसते हुए ट्वीट किया था कि विश्व कप देखने के लिए थ्री-डी ग्लासेस ऑर्डर किए हैं। पिछले साल ही रायुडू ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी कि वो लिमिटेड ओवर्स मैचों पर ध्यान देंगे।

Input : Hindustan

Continue Reading

MUZAFFARPUR

सात खिलाड़ियों को मिलेगा मुजफ्फरपुर खेल रत्न अवार्ड

Ravi Pratap

Published

on

29 अगस्त को खेल दिवस पर जिले कई खेल विभूतियों को सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए संस्था युग सृजन ने खेल पुरस्कारों की सूची जारी की है।

इनमें स्कूल फुटबॉल नेशनल खेल चुकी श्यामा रानी, वर्ल्ड यूथ कैडेट चेस चैम्पिनशिप में भाग लेने वाली मरियम फातिमा, नेशनल बैडमिंटन में कैंप कर चुके अमृत राज, वुशू के नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट कुमार आनंद, रणजी खिलाड़ी विकास रंजन, केवी नेशनल टेटे चैम्पियन कुनैन फातमा, ईस्ट जोन इंटर यूनिवर्सिटी लॉन टेनिस चैम्पियन प्रियम कुमारी व नेशनल सीनियर सब-जूनियर व जूनियर नेशनल हॉकी टूर्नामेंट खेल चुके सौरव कुमार को मुजफ्फरपुर खेल रत्न अवार्ड के लिए चयनित किया गया है।

शहर के जवाहरलाल रोड स्थित नॉर्थ बिहार चैम्बर कॉमर्स सभागार में समारोह का आायोजन कर इन खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाएगा। इनके अलावा गोलकीपर फुटबॉल कोच विनोद चौधरी, लॉन टेनिस कोज मो. आरिफ व एथलेटिक्स कोच संतोष कुमार को महर्षि परशुराम अवार्ड, जिला खेल पदाधिकारी जयनारायण कुमार एवं नेशनल कराटे कोच ई. राहुल श्रीवास्तव को शहीद खुदीराम बोस अवार्ड, जिला बास्केटबॉल एसोसिएशन के सचिव अखिलेश कुमार को सरदार पटेल अवार्ड, मुखर्जी सेमिनरी हाईस्कूल (हॉकी), उ.वि.केशोपुर सकरा (फुटबॉल), बिहार अंडर-17 क्रिकेट प्रतियोगिता के आयोजक, एकलव्य हॉकी टीम, एमडीडीएम कॉलेज, आरडीएस कॉलेज, सेंटर जेवियर्स जूनियर व सीनियर स्कूल व जीडी मदर इंटरनेशनल स्कूल को महर्षि दयानंद सरस्वती अवार्ड के लिए चुना गया है।

इस बार भीष्म पितामह अवार्ड गोपालचन्द्र राय (फुटबॉल), मो. शर्फुद्दीन उर्फ मुन्ना (फुटबॉल), त्रिलोकी साहू (टेबल टेनिस) व पुनीत कुमार (शतरंज) को मिलेगा। वहीं एमडीडीएम कॉलेज की डॉ. शकिला अजीम, मुखिया दिनेश पुष्पम, अभय कुमार,निशांत राज,बालमुकुंद, दिलमोहन झा, शिखा शाही, अश्वनी अगम्य, सन्नी कुमार वर्मा, रवि कुमार एवं डॉ. रामाशंकर द्विवेदी को सुरेश अचल विशिष्ट अवार्ड दिया जाएगा। इसके अलावा विभिन्न खेलों में राज्य व नेशनल स्तर पर मेडल जीतने वाले खिलाड़ी भी सम्मानित किए जाएंगे।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

SPORTS

कुमार धर्मसेना बोले- हां ‘ओवरथ्रो’ पर मैंने गलत फैसला दिया, लेकिन मुझे इसका मलाल नहीं

Santosh Chaudhary

Published

on

अंपायर कुमार धर्मसेना ने स्वीकार किया है कि विश्व कप फाइनल में ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को छह रन देना उनकी गलती थी। लेकिन साथ ही धर्मसेना ने यह भी कहा कि इस फैसले का उन्हें कभी मलाल नहीं होगा। मार्टिन गुप्टिल का थ्रो दूसरा रन लेने की कोशिश कर रहे बेन स्टोक्स के बल्ले से टकराने के बाद सीमा रेखा के पार चला गया था। जिसके बाद धर्मसेना ने पांच की जगह इंग्लैंड के स्कोर में छह रन जोड़ने का इशारा किया था।

फाइनल में ओवरथ्रो पर हुआ था विवाद     

यह मैच बाद में टाई रहा और सुपर ओवर में भी दोनों टीमों ने समान रन बनाए। जिसके बाद इंग्लैंड को अधिक बाउंड्री लगाने के कारण विजेता घोषित किया गया जिससे न्यूजीलैंड के खिलाड़ी हैरान थे। धर्मसेना ने ‘संडे टाइम्स’ से बातचीत में कहा, ‘टीवी रीप्ले देखने के बाद लोगों के लिए टिप्पणियां करना आसान होता है। अब टीवी रीप्ले देखने के बाद मैं स्वीकार करता हूं कि फैसला करने में गलती हुई।’

‘टीवी देखने वालों के लिए टिप्पणी आसान’

धर्मसेना ने कहा, ‘लेकिन मैदान पर टीवी रीप्ले देखने की सहूलियत नहीं थी और मुझे अपने फैसले पर कभी मलाल नहीं होगा। साथ ही आईसीसी ने उस समय किए फैसले के लिए मेरी सराहना की है।’ कुमार धर्मसेना ने लेग अंपायर मराइस इरासमस से सलाह मशविरे के बाद इंग्लैंड के स्कोर में छह रन जोड़ने का फैसला किया था। इंग्लैंड को अंतिम तीन गेंद पर जीत के लिए नौ रन की दरकार थी और इसके बाद उसे दो गेंद में तीन रन चाहिए थे।

हम टीवी रीप्ले नहीं देख सकते थे: धर्मसेना        

धर्मसेना ने कहा कि नियमों के अनुसार इस घटना को लेकर तीसरे अंपायर से सलाह लेने का कोई प्रावधान नहीं था। उन्होंने कहा, ‘नियमों में इस मुद्दे को तीसरे अंपायर के पास भेजने का कोई प्रावधान नहीं था क्योंकि कोई आउट नहीं हुआ था। इसलिए मैंने संवाद प्रणाली के जरिए लेग अंपायर से सलाह ली जिसे सभी अन्य अंपायरों और मैच रैफरी ने सुना। वे टीवी रीप्ले नहीं देख सकते थे, उन सभी ने पुष्टि की कि बल्लेबाजों ने रन पूरा कर लिया है। इसके बाद मैंने अपना फैसला किया।’

Input : Hindustan

Continue Reading
Advertisement
MUZAFFARPUR5 mins ago

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए माताएं करेंगी जीवित्पुत्रिका व्रत

MUZAFFARPUR7 mins ago

मुजफ्फरपुर के लाल साहिल बनें अमेरिकन टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता

INDIA28 mins ago

तेलुगु स्टार नागार्जुन ने पी वी सिंधु को गिफ्ट की 73 लाख की BMW X5 SUV

BIHAR52 mins ago

जिस तेजस विमान से रक्षा मंत्री ने रचा इतिहास उसे उड़ा रहा था बिहार का लाल

INDIA59 mins ago

आयुष्मान भारत योजना के तहत अब रेलवे अस्पताल में भी इलाज

BIHAR2 hours ago

समस्तीपुर की बेटी अंजलि की नई उड़ान, रूस में बनीं सैन्य राजनयिक

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर में एक ही गांव के 43 लोगो को फ़ूड पॉइजनिंग ; अस्पताल में चल रहा इलाज़

MUZAFFARPUR2 hours ago

ठेकेदार के घर से चो’री करते पकड़ी गई छात्र

INDIA4 hours ago

मोदी सरकार का ऐलान- कैंप लगाकर 200 जिलों में बांटे जाएंगे लोन, गवाह बनेंगे सांसद

MUZAFFARPUR7 hours ago

चक्कर चौक की तरफ बनेगा जंक्शन का दूसरा मुख्य द्वार

INDIA2 weeks ago

New MV Act के भारी चालान से बचा सकता है आपका स्मार्ट फोन, जानिए- कैसे

BIHAR2 weeks ago

ट्रैफिक फाइन-DL व RC नहीं दिखाने पर तत्काल नहीं कट सकता चालान, जानिए नियम

BIHAR1 week ago

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Uncategorized2 weeks ago

Jio Fiber Plans हुए लॉन्च, जानें कैसे आपकी जिंदगी और घर खर्च पर पड़ेगा इसका असर

BIHAR1 week ago

KBC सीजन 11 का पहला करोड़पति बना बिहार का लाल, जहानाबाद के सनोज राज ने रचा इतिहास

BIHAR2 weeks ago

बिहार पु’लिस का आदेश – चप्पल पहनकर बाइक चलाई तो एक हजार जु’र्माना

OMG1 week ago

दिल्ली में कटा ‘भगवान राम’ का 1.41 लाख का चालान, कोर्ट में जाकर भरा

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर में पु’लिस पर ह’मला: ASI समेत 3 पुलिसकर्मी हुए ज’ख्मी

BIHAR3 weeks ago

370 इफ़ेक्ट: बिहारी लड़कों ने कश्मीरी लड़कियों से रचाई शादी, सुपौल लाते ही लग गया थाने का चक्कर

BIHAR2 weeks ago

10 दिन पहले 56 हजार में खरीदी थी स्कूटी, 42 हजार का आया चा’लान

Trending