Connect with us

Bhartendu Kumar

Published

on

BIHAR

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव सीढ़ियों से गिरे, कंधे की हड्डी में हुआ फ्रैक्चर, 2 महीने बेड रेस्ट की सलाह

Published

on

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव सीढ़ियों से गिर गए हैं. उनके कंधे और हाथ में गंभीर चोट आई है. आनन-फानन में लालू यादव का एक निजी अस्पताल में आज एमआरआई कराया गया. सूत्रों के मुताबिक, उनके कंधे की हड्डी में हेयरलाइन फ्रैक्चर हो गया है और उन्हें दो महीने के बेड रेस्ट के लिए कहा गया है.

लालू प्रसाद यादव अभी पटना के राबड़ी देवी के सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड पर रहते हैं. यहीं उनके कंधे और हाथ पर गंभीर चोट आई है. आनन-फानन में पटना के एक निजी अस्पताल में उनका एमआईआई कराया गया. सूत्रों के मुताबिक, उनके कंधे की हड्डी में हेयरलाइन फ्रैक्चर हुआ है. लालू यादव को डॉक्टर ने दो महीने का बेड रेस्ट करने की सलाह दी है.

Advertisement

बताया जा रहा है कि सीढ़ियों से उतरने के दौरान लालू यादव का संतुलन बिगड़ गया और वह गिर गए. उनके हाथ और कंधे के साथ कमर में भी चोट आई है.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

लालू की तबीयत रहती है खराब

बता दें कि आरजेडी सुप्रीमो की तबीयत खराब रहती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, लालू यादव डाइबिटीज, ब्लड प्रेशर, ह्रदय रोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव, थैलीसीमिया, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड का बढ़ना, ब्रेन से सम्बंधित बीमारी, कमज़ोर इम्युनिटी, दाहिने कंधे की हड्डी में दिक्कत, पैर की हड्डी की समस्या, आँख में दिक्कत, POST AVR 2014 ( ह्रदय से सम्बंधित ) जैसी समस्याओं से ग्रसित हैं. बताया जा रहा है कि इन सभी बीमारियों में लालू सबसे ज्यादा किडनी की बीमारी से परेशान हैं.

Advertisement

Source : Aaj Tak

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

BIHAR

बिहार में एम्बुलेंस हुई बीमार, धक्का लगाकर लोगों ने किया इलाज

Published

on

मेनटेनेंस के बगैर गया जिले के शेरघाटी के अनुमंडलीय अस्पताल की एम्बुलेंस खटारा हो गई है। हाल यह है कि हर सुबह एम्बुलेंस को चालू करने के लिए स्वास्थकर्मियों को जोरदार धक्का देना पड़ता है। मरीजों को अस्पताल लाने-ले जाने के दौरान दिन-भर बीच रास्ते में ही एम्बुलेंस के बंद होने का डर बना रहता है सो अलग। यह स्थिति महीनों से बनी हुई है, मगर इसकी मरम्मत नहीं करवायी जा रही है।

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

हकीकत यह है कि शेरघाटी अस्पताल की एम्बुलेंस के फर्श और पांवदान तक टूटे हैं। खिड़कियों में शीशे नहीं हैं। एयरकंडिशनिंग सिस्टम और पंखे की बात बेकार है। हेडलाइट और बैकलाइट में खराबी है सो अलग। एम्बुलेंस के गेट को बंद रखने के लिए ऑटोमैटिक लॉक की जगह सुतली-रस्सी का उपयोग किया जा रहा है। मरीजों को ढोने वाली गाड़ी का कई सालों से फिटनेस फेल है। वाहन का इंश्योरेंस तक नहीं है।

Advertisement

nps-builders

गौर करने वाली बात यह है कि मुख्य मार्गों पर बाइक सवारों के हेलमेट चेक कर जुर्माना वसूलने वाली पुलिस या परिवहन अधिकारियों ने भी मरीजों की जान को खतरे में डालकर ऐम्बुलेंस का संचालन किए जाने के प्रति आंखें मूंद ली हैं। ऐम्बुलेंस चालक प्रवीण मालाकार ने बताया कि इसकी मरम्मत के लिए कई दफे जिम्मेवार अधिकारियों को सूचना दी गई है। इधर अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डा.राजेंद्र प्रसाद सिंह कहते हैं कि एम्बुलेंस के मेनटेनेंस के लिए आउटसोर्सिंग कम्पनी के अधिकारियों को कई बार पत्र लिखे गए हैं।

Source: Hindustan

Advertisement

Genius-Classes

Continue Reading

BIHAR

आज जेल होई, काल्ह बेल होई…बिहार में रील्स के चक्कर में जमानत रिजेक्ट

Published

on

बिहार के बक्सर जिले में मामूली मारपीट के मामले में जमानत लेने पुलिस स्टेशन पहुंचे तीन युवकों ने कुछ ऐसा गुल खिला दिया कि थानेदार ने बेल रिजेक्ट कर दी। जाहिर सी बात है युवकों की परेशानी बढ़ गई। अब उन्हें अदालत से जमानत लेनी पड़ेगी।घटना शुक्रवार की है, जब महादेवगंज गांव में आयोजित यज्ञ के दौरान हुई मारपीट के एक मामले में दर्ज प्राथमिकी के आरोपी तीन युवकों विशाल सिंह, शक्तिमान सिंह व अजित सिंह को नावानगर थाना पर बुलाया गया।

मामूली मारपीट में जमानतीय धारा का मुकदमा होने के चलते थानेदार ने अपने स्तर से बेल देने के लिए तीनों को थाना बुलाया था। तीनों एक साथ थाना गेट में घुसे। लेकिन, गेट में घुसते हुए युवकों ने वीडियो बना लिया और उसमें ‘आज जेल होई, काल्ह बेल होई, परसों से उहे खेल होई’ जैसा भोजपुरी गाना जोड़कर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया।

Advertisement

यह वीडियो इन युवकों के विरोधी पक्ष के हाथ लग गया, जो युवकों के थाना के अंदर पहुंचने से पहले थानेदार के पास तक पहुंच गया। विरोधी पक्ष ने इसे धमकी समझते हुए थानेदार से शिकायत कर दी। इसके बाद वीडियो पर संज्ञान लेते हुए थानेदार ने तीनों युवकों को बेल देने से इंकार कर दिया।

बता दें कि मई माह में स्थानीय थाना के महादेवगंज गांव में आयोजित यज्ञ समारोह के दौरान दो पक्षों में मारपीट हुई थी। इसमें दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। एक पक्ष द्वारा कराई गई प्राथमिकी में इन तीनों युवक को आरोपी बनाया गया था। जमानतीय धारा में दर्ज हुई प्राथमिकी में तीनों युवकों को केस के अनुसंधानकर्ता सब इंस्पेक्टर शिवपुकार सिंह ने बेल देने के लिए थाना बुलाया था। पर इनके द्वारा बनाए गए वीडियो ने इनकी परेशानी बढ़ा दी। स्थानीय लोग इसे कानून का मजाक उड़ाना बता रहे हैं।

Advertisement

Source: Hindustan

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

Trending