Connect with us

Ravi Pratap

Published

on

I just find myself happy with the simple things. Appreciating the blessings God gave me.

BIHAR

पटना राजीवनगर में बुलडोजर पर लगी रोक, नहीं टूटेंगे मकान, 6 जुलाई को होगी सुनवाई

Published

on

इस वक्त की बड़ी खबर और अच्छी खबर उनके लिए है जिनका आशियाना राजीव नगर में टूट रहा था. फिलहाल इसपर रोक लगा दिया गया है. पटना हाईकोर्ट ने यह आदेश जारी किया है. कोर्ट ने प्रशासन की कार्रवाई पर दो दिनों का स्टे लगा दिया है, इस मामले पर अगली सुनवाई 6 जुलाई को होगी.

पटना के राजीव नगर थाना क्षेत्र स्थित नेपाली नगर इलाके में आवास बोर्ड की 40 एकड़ जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर चल रही जिला प्रशासन की कार्रवाई पर अगले दो दिनों के लिए रोक लगा दिया है. साथ इस दौरान पकड़े गये लोगों को भी पुलिस को छोड़ने का आदेश दिया है.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

दरअसल, पिछले महीने नोटिस देने के बाद 20 एकड़ पर बने अवैध निर्माण को तोड़ने के लिए दर्जनों बुलडोजर के साथ पटना जिला प्रशासन की टीम और सैकड़ों पुलिस बल की टीम राजीव नगर इलाके के नेपाली नगर पहुंची. जहां अपने मकान को टूटता देख स्थानीय लोग उग्र हो गए और पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया. इस घटना में पटना के सिटी एसपी सेंट्रल उपद्रवियों के पत्थर से घायल हो गए थे. स्थानीय लोग बीच सड़क पर पुलिस को रह-रहकर खदेड़ रहे हैं.

Source: Live Cities

Advertisement

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

योगी सरकार 2.0 ने 100 दिनों में अपराधियों की तोड़ी कमर, 500 से ज्यादा एनकाउंटर और करोड़ों की संपत्ति जब्त

Published

on

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो गए हैं. इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ अपने कामकाज का ब्योरा का देते हुए कहा कि 100 दिनों में माफियाओं पर कड़ा प्रहार किया गया. उन्होंने कहा कि 2017 के बाद से अब तक करीब 2925 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध संपत्ति जब्त की गई है. यह सरकार की अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति का परिणाम है. सीएम योगी ने कहा कि पिछले पांच साल में प्रदेश में कानून का राज स्थापित हुआ है. पहले प्रदेश दंगा और अराजकता के लिए जाना जाता था पर भाजपा सरकार में एक भी दंगा नहीं हुआ है. वहीं धार्मिक स्थलों से अनावश्यक लाउडस्पीकर हटाए गए हैं. यह बिना किसी विवाद के हुआ है. किसी भी धार्मिक त्योहार में सड़कों पर कोई आयोजन नहीं हुआ. जिससे प्रदेश में पहली बार निवेश का माहौल बना है.

उन्‍होंने मीड‍िया को बताया कि 2017 के पहले प्रदेश में विकास कार्यों को लेकर बड़ी समस्‍या थी. यूपी के सामने पहचान का संकट था. केंद्र की लाभकारी योजनाओं को लागू करने में प्रदेश सरकार रूच‍ि नहीं लेती थी. मगर 2017 के बाद इसमें बदलाव हुआ. आज प्रदेश में केंद्र सरकार की हर योजना का लाभ मुहैया हो रहा है. प्रदेश में गुडों-माफि‍या के खिलाफ व्‍यापक अभ‍ियान चलाया जा रहा है.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

2017 के बाद से अब तक 844 करोड़ रुपये की अवैध संपत्तियों को बुलडोजर से गिरवाया गया है. पॉस्‍को एक्‍ट के तहत 2273 अपराध‍ियों पर कार्रवाई की गई है. 68,784 अनध‍िकृत कब्‍जे और 76,196 अनध‍िकृत पार्क‍िंग को मुक्‍त कराया गया है.

nps-builders

जबकि 74,385 लाउडस्‍पीकर्स को धार्म‍िक स्‍थलों से हटाया गया है. वहीं, प्रदेश स्‍तर पर 50 माफि‍या और जिला स्‍तर पर 12 माफ‍िया पर कठोर कार्रवाई की गई है. बता दें कि योगी सरकार अपराधियों के खिलाफ सख्त रवैया अपना रही है. 25 मार्च 2022 से लेकर एक जुलाई 2022 तक कुल 525 एनकाउंटर हुए है. इस दौरान 1034 अपराधी गिरफ्तार किए गए हैं और 425 बदमाश पुलिस मुठभेड़ में घायल हुए हैं. बदमाशों से हुई इस मुठभेड़ में 68 पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं.

Advertisement

Source : News18

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

HEALTH

कोरोना के सभी वेरिएंट का पता सिर्फ 1 घंटे में, अमेरिका में विकसित हुआ CoVarScan टेस्ट

Published

on

कोरोना को आए करीब तीन साल होने को है लेकिन इसका कहर अब भी बदस्तूर जारी है. पूरी दुनिया में इस वक्त भी कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली है और पश्चिमी देशों में कुछ नए वेरिएंटों ने भी दस्तक देनी शुरू कर दी है. कोरोना के इस नए वेरिएंट का पता लगाने में कई-कई दिन लग जाते हैं. आरटीपीसीआर टेस्ट में करीब 24 घंटे का समय लगता है. लेकिन अमेरिकी वैज्ञानिकों ने अब एक ऐसा तरीका इजाद किया जिसके अतर्गत कोरोना के सभी वेरिएंट का टेस्ट सिर्फ एक घंटे में हो जाता है.

सभी वेरिएंट का सटीक पता

Advertisement

वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि SARS-CoV-2 के किसी भी वेरिएंट का पता सिर्फ एक रैपिड टेस्ट से एक घंटे के अंदर लग जाएगा. इस टेस्ट को CoVarScan नाम दिया गया है. यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास के शोधकर्ताओं ने इस CoVarScan से 4000 सैंपल का टेस्ट किया है. शोधकर्ताओं के इस अध्ययन को क्लीनिकल केमिस्ट्री जर्नल में प्रकाशित भी किया गया है. शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि CoVarScan से वर्तमान में पाए जाने वाले सभी वेरिएंट का सटीक पता लगाया जा सकता है.

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

यह अब तक इजाद किसी भी टेस्ट विधि से ज्यादा सटीक है. सबसे खास बात यह है कि चाहे सैंपल में कोई भी वेरिएंट क्यों न हो, उसका पता आसाना से लगा लिया जाता है.

Advertisement

nps-builders

फिलहाल कोई भी टेस्ट एक घंटे में वेरिएंट का पता नहीं लगाता

यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास के प्रोफेसर और इस अध्यन के प्रमुख शोधकर्ता जेफरी सोरेले ने बताया कि इस टेस्ट के इस्तेमाल से सामुदायिक स्तर पर पाए जाने वाले सभी वेरिएंट का पता तो जल्दी लगाया ही जाता है, इसके अलावा अगर कोई नया वेरिएंट सामने आया है, तो यह टेस्ट इसे भी बता देता है. जेफरी सोरेले ने बताया कि जब हम इलाज के लिए अलग-अलग प्रतिक्रिया देने वाले वेरिएंट के साथ काम कर रहे हैं, तो इसका प्रभाव मरीजों पर भी पड़ता है.वर्तमान में जितने भी कोविड टेस्ट हैं उनसे आमतौर पर कोविड-19 के जेनेटिक मैटेरियल या छोटे-छोटे अणुओं का पता चलता है. इन टेस्टों से वेरिएंट का पता नहीं चलता. इसके लिए सैंपल को अलग जगह पर भेजना होता है. लेकिन CoVarScan में वेरिएंट का पता भी एक घंटे में चल जाता है.

Advertisement

Source : News18

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

Trending