Connect with us

Shwetabh Kumar

Published

on

BIHAR

महाराष्ट्र के एक’नाथ’ बने शिंदे, मुख्यमंत्री पद की ली शपथ, देवेंद्र फडणवीस डिप्टी सीएम पर माने

Published

on

एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। शिंदे ने मराठी में शपथ ली। बता दें कि देंवेंद्र फडणवीस ने ही ऐलान किया था कि एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि वह खुद सरकार में नहीं होंगे और बाहर से सरकार की मदद करेंगे। हालांकि बाद में जेपी नड्डा ने खुद मीडिया के सामने आकर कहा कि पार्टी चाहती है कि वह उपमुख्यमंत्री बनें।

डिप्टी सीएम बने देवेंद्र फडणवीस

Advertisement

पांच साल तक महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री रहने वाले देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। जब वह शपथ लेने चले तो विधायकों ने उनके समर्थन में नारेबाजी की। बता दें कि एकनाथ शिंदे ने 40 शिवसेना के विधायकों के साथ कुल 50 विधायक होने का दावा किया है। वहीं भाजपा के 106 विधायक हैं।

शपथ ग्रहण के मौके पर एकनाथ शिंदे का परिवार भी राजभवन पहुंचा। बता दें कि एकनाथ शिंंदे उद्धव सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। शपथ ग्रहण में शिवसेना के विधायक शामिल नहीं हो सके। दरअसल बागी विधायकों इस समय गोवा के होटल में ही हैं। हालांकि शपथ के दौरान उन्होंने गोवा के होटल में ही जश्न मानाया। भाजपा के नेता शपथ ग्रहण में पहुंचे।

Advertisement

Genius-Classes

देवेंद्र फडणवीस के ‘त्याग’ की नड्डा ने की तारीफ

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने देवेंद्र फडणवीस की तारीफ करते हुए कहा कि एकनाथ शिंदे जी और देवेंद्र फडणवीस जी को बधाई। आज ये सिद्ध हो गया कि BJP के मन में कभी मुख्यमंत्री पद की लालसा नहीं थी। 2019 के चुनाव में स्पष्ट जनादेश मा. नरेंद्र मोदी जी एवं देवेंद्र जी को मिला था। उद्धव ठाकरे ने CM पद के लालच में हमारा साथ छोड़कर विपक्ष के साथ सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा कि पार्टी चाहती है कि देवेंद्र फडणवीस सरकार में रहें और उपमुख्यमंत्री का पदभार संभालें।

Advertisement

Source : Hindustan

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Advertisement
Continue Reading

BIHAR

तेज प्रताप यादव का एक और 2 मिनट, इस बार विधानसभा स्पीकर से अकेले में मिलना चाहते हैं लालू के लाल

Published

on

बिहार विधानसभा में हसनपुर से विधायक और राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा से दो मिनट अकेले में मिलना चाहते हैं। पटना में विधानसभा सत्र के आखिरी दिन मीडिया वालों के सामने आए तेज प्रताप यादव ने कहा कि वो स्पीकर साहब से अकेले में दो मिनट मिलना चाहते हैं। मीडिया वालों ने पूछा कि किस विषय पर मिलना चाहते हैं तो जवाब में तेज प्रताप यादव ने कहा कि पर्सनल कुछ विषय है, दो मिनट मिलना चाहते हैं। जाते-जाते मीडिया वालों से मुस्कुराते हुए बोल गए- आप लोग तो जानते ही हैं दो मिनट का मतलब।

तेज प्रताप यादव जिस दो मिनट का मतलब पत्रकारों को पता होने की बात कहकर मुस्कुरा रहे हैं दरअसल में वो इतना हास्यास्पद मामला नहीं है। हुआ ये था कि एक यू-ट्यूब पत्रकार वेद प्रकाश कुछ समय पहले तेज प्रताप यादव का इंटरव्यू लेने गया था जिसे उन्होंने माइक-कैमरा रखकर दो मिनट बात करने के लिए चलने कहा था। तेज प्रताप इस दौरान वेद प्रकाश का स्टिंग ऑपरेशन कर रहे थे।

Advertisement

तेज प्रताप के दो मिनट बात करने की बात पर वेद प्रकाश अनहोनी की आशंका में अपनी कार से वहां से निकल जाते हैं जिनका पीछा करते हुए तेज प्रताप पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के आवास तक जाते हैं और दिखाते हैं कि वेद प्रकाश की कार उनके घर से निकलकर यहां लगी है। तेज प्रताप यादव ने तब आरोप लगाया था कि पूर्व सीएम मांझी के इशारे पर उनको और लालू यादव परिवार को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है और कुछ पत्रकार मांझी के आवास से डील हो रहे हैं।

Advertisement

बाद में तेज प्रताप यादव ने पत्रकारों से कहा था कि उनके दो मिनट का मतलब था कि वो घर के दरवाजे पर आए आदमी का सम्मान करना चाहते हैं, उसे रसगुल्ला खिलाना चाहते हैं, समोसा खिलाना चाहते हैं, मिठाई खिलाना चाहते हैं। तेज प्रताप यादव ने सफाई देते हुए कहा था कि उन्होंने वेद प्रकाश को भी सम्मान देने के लिए ही दो मिनट बुलाया था लेकिन वो भाग गए।

Genius-Classes

विधानसभा की बात करें तो पांच दिन का सत्र गुरुवार को समाप्त हो गया। इस दौरान आरजेडी के नेतृत्व में विपक्ष ने सदन का ज्यादातर दिन बहिष्कार किया। अग्निपथ आंदोलन के खिलाफ कार्यस्थगन प्रस्ताव को लेकर अड़े आरजेडी और कांग्रेस के प्रस्ताव को दोनों सदनों में मंजूरी नहीं मिली जिसके बाद मंगलवार को दोपहर बाद से ही ज्यादातर समय आरजेडी के विधायक सदन से बाहर रहे।

Advertisement

तेजस्वी यादव ने बहिष्कार का ऐलान करते वक्त कहा था कि सदन में विपक्ष को बोलने तक नहीं दिया जा रहा है। बुधवार को भी विपक्षी विधायक स्पीकर के चैंबर के बाहर धरना देते रहे। बुधवार को आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के 5 में से 4 विधायकों को तोड़कर अपनी पार्टी में मिला लिया जो अररिया, पूर्णिया और किशनगंज जिलों से जीतकर आए थे। AIMIM के चार एमएलए के आने से सीमांचल में आरजेडी के विधायकों की संख्या बढ़ गई है।

Source : Hindustan

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading

BIHAR

पीएम नरेंद्र मोदी 12 जुलाई को आयेंगे बिहार, विधानसभा भवन के शताब्दी समारोह में होंगे शामिल

Published

on

पटना. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जल्द ही बिहार दौरा होने वाला. वे विधान सभा भवन शताब्दी स्मृति स्तंभ के लोकार्पण में के लिए पटना आने वाले हैं. इसकी तैयारी विधान सभा और सरकार के स्तर पर पिछले कई दिनों से की जा रही थी. बता दें कि बिहार विधान सभा में बने शताब्दी स्थिति स्तंभ का शिलान्यास राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया था और अब उसका लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे.

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी का यह दौरा आगामी 12 जुलाई को संभावित है. इसकी जानकारी मिलने के बाद के बाद पीएम मोदी के स्वागत की तैयारियां बिहार में की जा रही हैं. बिहार विधान सभा के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन अचानक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधान सभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के कमरे में पहुंचे और उन्हें इस बात की जानकारी दी कि पीएम मोदी 12 जुलाई को बिहार दौरे पर आ सकते हैं.

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बिहार आने की खबर जैसे ही सरकार के अधिकारियों और विधान सभा अध्यक्ष को मिली उसके बाद अब उनके स्वागत की तैयारियां जोरों पर हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा विधान सभा अध्यक्ष विजय सिन्हा को पीएम के आगमन की जानकारी देने के बाद ही विधान सभा में तैयारी शुरू कर दी गई. विधान सभा अध्यक्ष ने पीएम के आगमन को लेकर भवन निर्माण विभाग के साथ बैठक की. इस बैठक में मंत्री अशोक चौधरी और विभाग के अन्य अधिकारी शामिल हुए.

Genius-Classes

भवन निर्माण विभाग को यह निर्देश दिया गया है कि 12 जुलाई के पहले जो भी निर्माण कार्य बिहार विधानसभा में चल रहा है उसे किसी भी कीमत पर पूरा कर लिया जाए. भवन निर्माण विभाग के साथ विधान सभा अध्यक्ष ने जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ भी बैठक की. इसमें पटना के डीएम और सीनियर एसपी सहित अन्य अधिकारी इसमें मौजूद रहे. माना जा रहा है कि 12 जुलाई को ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देवघर में हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे, और उसी दिन बिहार में बिहार विधान सभा शताब्दी स्मृति स्तंभ का भी लोकार्पण करेंगे.

Advertisement

Source : News18

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Advertisement
Continue Reading

Trending