मोदी सरकार ने ई-सिगरेट के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरह बैन लगाया
Connect with us
leaderboard image

INDIA

मोदी सरकार ने ई-सिगरेट के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरह बैन लगाया

Santosh Chaudhary

Published

on

केंद्र सरकार ने ई-सिगरेट के उत्पादन और बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगाने का फैसला किया है. बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया. कैबिनेट की बैठक के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ई-सिगरेट समाज में एक नई समस्‍या को जन्‍म दे रहा है और बच्‍चे इससे अपना रहे हैं. निर्मला सीतारमण ने कहा कि ई-सिगरेट को बनाना, आयात/निर्यात, बिक्री, वितरण, स्‍टोर करना और विज्ञापन करना सब पर प्रतिबंध होगा. वित्‍त मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि ‘ई-सिगरेट ऑर्डिनेंस 2019’ को मंत्रियों के समूह ने कुछ समय पहले ही इस पर विमर्श किया था. ऑर्डिनेंस के ड्रॉफ्ट में स्‍वास्‍थ मंत्रालय ने प्रस्‍ताव दिया था कि पहली बार कानून का उल्‍लंघन करने वालों पर एक लाख रुपये का जुर्माना और एक साल की सजा का प्रावधान हो.आपको बता दें कि इससे पहले बीते अगस्त में ई-सिगरेट निषेध अध्यादेश, 2019 प्रधानमंत्री कार्यालय के निर्देश के बाद एक जीओएम को भेजा गया था.

अध्यादेश के मसौदे में स्वास्थ्य मंत्रालय ने पहली बार उल्लंघन करने वालों पर एक लाख रुपये के जुर्माने के साथ एक साल क की अधिकतम सजा का प्रस्ताव था. मंत्रालय ने बार-बार अपराध करने वालों के लिए पांच लाख रुपये का जुर्माना और अधिकतम तीन साल की जेल की सिफारिश की थी. मोदी सरकार के पहले 100 दिन के एजेंडे में ई-सिगरेट सहित अन्य वैकल्पिक धूम्रपान उपकरणों पर प्रतिबंध लगाना शामिल था. उधर, ई-सिगरेट का समर्थन करने वालों की दलील है कि यह धूम्रपान करने वाले तंबाकू की तुलना में कम हानिकारक है. हालांकि सरकार यह कहते हुए प्रतिबंध लगाने पर जोर दे रही है कि उसमें पारंपरिक सिगरेट के समान ही जोखिम है. शीर्ष मेडिकल शोध निकाय भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने ऐसे उपकरणों पर पूर्ण प्रतिबंध की सिफारिश की थी.

क्या है ई-सिगरेट :

ई-सिगरेट या इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट एक बैटरी-चालित डिवाइस होती है, जो तम्बाकू या गैर-तम्बाकू पदार्थों की भाप को सांस के साथ भीतर ले जाती है. आमतौर पर सिगरेट, बीड़ी या सिगार जैसे धूम्रपान के लिए प्रयोग किए जाने वाले तम्बाकू उत्पादों के विकल्प के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली ई-सिगरेट तम्बाकू जैसा स्वाद और एहसास देती है, जबकि वास्तव में इसमें कोई धुआं नहीं होता है. ई-सिगरेट एक ट्यूब के आकार में होती है, और इनका बाहरी रूप सिगरेट और सिगार जैसा ही बनाया जाता है.

 

INDIA

तेज प्रताप यादव ने BMW कार की आटो से ट’क्कर के बाद मांगा 1,80,00 ह’र्जा’ना, चालक को पी’टा

Santosh Chaudhary

Published

on

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे और राजद के नेता तेज प्रताप यादव की कार गुरुवार की सुबह वाराणसी में दुर्घ’टनाग्रस्‍’त होने की जानकारी होने के बाद पु’लिस प्र’शासन में ह’ड़कंप म’च गया।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव की कार गुरुवार को वाराणसी में राेहनिया के करनाडाडी क्षेत्र से गुजर रही थी कि कार रोहनिया के पास दु’र्घटनाग्र’स्‍त हो गई। ‘हा’दसे की जानकारी होने के बाद पुलिस स’क्रिय होकर मौके पर पहुंच गई। हा’दसे की जानकारी होने के बाद तेज प्रताप यादव ने कार में जा रहे लोगों से पल पल की जानकारी भी ली। वहीं दुर्घ’टनाग्र’स्‍त होने के बाद कार स्‍टार्ट न होने और आगे न जा पाने की स्थिति होने की वजह से मौके पर ही सड़क के किनारे खड़ी कर दी गई।

Image result for तेज प्रताप BMW"

 

दरअसल इन दिनों तेज प्रताप यादव वृंदावन में हैं और उनको लेने के लिए बिहार से होकर रोहनिया के रास्‍ते उनकी बीएमडब्‍ल्‍यू कार गुजर रही थी कि सुबह करीब 6:30 बजे आटो में पीछे से उसने टक्‍कर मार दी। पुलिस के अनुसार तेज प्रताप की कार में उनके पीए स्रजन स्‍वराज और ड्राइवर जयापाल ही मौजूद थे। हादसे के बाद कार सड़क पर ही खड़ी हो गई। वहीं कार के साथ ही स्‍कोर्ट के अलावा दो अन्‍य गाडियां भी चल रही थीं जिनको तेज प्रताप यादव को लेने वृंदावन जाना था।

हादसे के बाद क्षतिग्रस्त बीएमडब्लू कार।

हादसे के बाद तेज प्रताप के चालक ने आटो चालक से 180000 रुपये हर्जाना मांगा तो आटो चालक ने असमर्थता जता दी। इसके बाद तेज प्रताप यादव के चालक ने आटो ड्राइवर को मारकर साथ में चल रही स्‍कोर्ट की गाड़ी में बैठा लिया। बीच सड़क पर वीआइपी गाड़ी के चालक द्वारा मारपीट की जानकारी होने के बाद मौके पर लोगों की भारी भीड़ लग गई तो सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। वहीं तेज प्रताप ने फोन पर अपने पीए को पुलिस थाने जाने से मना कर दिया। हालांकि मौके पर समझौता नहीं होने पर दोनों ही पक्षों को पुलिस रोहनिया थाने लेकर पहुंच गई और आवश्‍यक कार्रवाई में जुट गई है। चूंकि मामला वीआइपी व्‍यक्ति के वाहन से जुड़ा हुआ है लिहाजा पुलिस ने भी शीर्ष अधिकारियों को घटनाक्रम से अवगत करा दिया है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

INDIA

Children’s Day: गुरुग्राम की दिव्यांशी सिंघल को इस तस्वीर के लिए Google देगा 7 लाख की स्कॉलरशिप

Ravi Pratap

Published

on

Google Doddle पर आज चिल्ड्रन्स डे (Children’s Day) मनाया जा रहा है. इस दिन पहले और पूर्व प्रधान मंत्री जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) का जन्म हुआ था. गूगल ने ये डूडल चाचा नेहरू (Chacha Nehru) को समर्पित किया है. आपको बता दें, ये गूगल डूडल गुरुग्राम की दूसरी क्लास में पढ़ने वाली सात साल की लड़की दिव्यांशी सिंघल ने बनाया है. दिव्यांशी ने इस तस्वीर में पेड़-पौधों को चलते हुए दिखाया है और नाम दिया है ‘वॉकिंग ट्री’ (Walking Tree).


साल 2009 से गूगल हर साल 14 नवंबर को ‘Doodle 4 Google’ नाम की एक प्रतियोगिता रखता है. इस साल इस कॉम्पिटिशन की थीम थी “When I grow up, I hope”. इस बाल दिवस (Children’s Day) की प्रतियोगिता में गूगल को 1.1 लाख एंट्रीज़ मिली, ये सभी चित्र 1 से 5 तक की कक्षा वाले बच्चों ने बनाए थे, जिसमें दिव्यांशी सिंघल की इस पेंटिंग को चुना गया.

बता दें, पहले बाल दिवस (Bal Diwas) हर साल 20 नवंबर को मनाया जाता था, लेकिन 1969 में जवाहर लाल नेहरू की मौत के बाद चिल्ड्रन्स डे (Happy Children’s Day) को चाचा नेहरू के जन्मदिन 14 नवंबर को मनाया जाने लगा.

Children’s Day पूरे भारत में मनाया जाता है. इस दिन बच्चे स्कूलों में नाच-गाने वाले प्रोग्राम करते हैं. चाचा नेहरू के जन्मदिन पर खास भाषण दिया जाता है. वहीं, बाल दिवस के मैसेजेस से एक-दूसरे को चिल्ड्रंस डे की बधाई दी जाती हैं.
गूगल देता है स्कॉलरशिप
हर साल गूगल भारत के 1 से 5 कक्षा तक के बच्चों के लिए गूगल 4 डूडल नाम की प्रतियोगिता रखता है. इसमें जीतने वाले बच्चे (नेशनल विनर) को 5 लाख की कॉलेज स्कॉलरशिप और 2 लाख टेक्नोलॉजी पैकेज दिया जाता है. ये पूरी स्कॉलरशिप बच्चे के स्कूल को दी जाती है. इसके साथ ही बच्चे को सर्टिफिकेट/ट्रोफी और गूगल ऑफिस में भी घुमाया जाता है.

नेशनल विनर के अलावा, रनर-अप रहे 4 बच्चों की तस्वीरों को चिल्ड्रन्स डे पर बनाई गई गूगल गैलरी (Google Gallery) में शोकेस किया जाता है. इन बच्चों को भी 2.5 लाख कॉलेज स्कॉलरशिप और 1 लाख टेक्नोलॉजी पैकेज दिया जाता है. साथ ही सर्टिफिकेट/ट्रोफी के अलावा गूगल इंडिया ऑफिस में घुमाया जाता है.

Continue Reading

INDIA

मेड इन इंडिया इलेक्ट्रिक बाइक Ultraviolette F77 लॉन्च, मिलेगी 147 किमी की टॉप स्पीड

Santosh Chaudhary

Published

on

Ultraviolette F77

बैग्लुरू बेस्ड Ultraviolette ऑटोमोटिव प्राइवेट लिमिटेड की मेड इन इंडिया इलेक्ट्रिक बाइक F77 लॉन्च हो गई है। इसकी ऑन रोड कीमत 3 से 3.5 लाख रुपए है। बाइक की आज यानी 13 नवंबर से प्रीबुकिंग शुरू हो गई है। लॉन्चिंग से पहले 100 बाइक की बुकिंग हो चुकी है। इस बाइक की डिलीवरी साल 2020 से शुरू होगी।

मोटर और बैटरी

इस बाइक में 25kWh इलेक्ट्रिक मोटर मिलती है, जो 33.5hp की पॉवर पर 2,250 आरपीएम और 450 न्यूटन मीटर का टॉर्क पैदा करता है। बाइक 2.89 सेंकेड में जीरो 100 किमी की रफ्तार हासिल कर लेती है। बाइक की टॉप स्पीड 147 किमी प्रति घंटा होगी। कंपनी का दावा है कि बाइक को फुल चार्ज होने में महज 16 रुपए की इलेक्ट्रिसिटी का खर्च आएगा। वहीं फुल चार्ज होने में बाइक से 130 से 150 किमी का सफर तय किया जा सकेगा।

चार्जिंग और कनेक्टिविटी

बाइक की खरीद पर 1 kW का स्टैंडर्ड चार्जर मिलेगा और 3 kW का पोर्टेबल चार्जर मिलेगा। बाइक में ब्रेकिंग के तौर पर डुअल चैनल एबीसी सिस्टम मिलेगा। बाइक 3G और 2G kr की एटीई कनेक्टिविटी के साथ आएगी। इसका चार्जिंग टाइम 5 घंटे है। लेकिन इसे फास्ट चार्जर की मदद से 1.5 घंटे में फुल चार्ज किया जा सकता है। बाइक में तीन ड्राइव मोड ईको, स्पोर्ट, इनसेन मिलेंगे।

डायमेंशन

  • व्हीलबेस – 1240mm
  • सीट हाइट -800mm
  • कर्व वेट – 158किग्रा
  • फ्रंट ब्रेक – 320mm डिस्क
  • रियर ब्रेक – 230mm डिस्क
  • बैटरी – 3 लिथियम ऑयन बैटरी पैक

फीचर्स

  • बाइक ट्रैकिंग
  • राइड टेलीमेटिक्स
  • राइडिंग मोड्स
  • ऐप बेस्ड कनेक्टिविटी

Input : Dainik Bhaskar

Continue Reading
Advertisement
BIHAR18 mins ago

वशिष्ठ नारायण सिंह के पार्थिव शरीर को एम्बुलेंस नहीं मिला, मुख्यमंत्री आने को हुए तो अधिकारियों ने रेड कारपेट बिछा दी

INDIA30 mins ago

तेज प्रताप यादव ने BMW कार की आटो से ट’क्कर के बाद मांगा 1,80,00 ह’र्जा’ना, चालक को पी’टा

MUZAFFARPUR39 mins ago

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड की सुनवाई टली, वकीलों के स्ट्राइक के कारण महापापियों को आज नहीं मिली सजा

INDIA58 mins ago

Children’s Day: गुरुग्राम की दिव्यांशी सिंघल को इस तस्वीर के लिए Google देगा 7 लाख की स्कॉलरशिप

BIHAR2 hours ago

वशिष्ठ नारायण सिंह को CM नीतीश ने दी श्रद्धांजलि, लेकिन PMCH नहीं दे सका एंबुलेंस

BIHAR2 hours ago

नि’धन के बाद PMCH में वसिष्ठ ना. सिंह का हुआ अपमान, सड़क पर लावारिस पड़ा रहा श’व, नहीं मिला एम्बुलेंस

BIHAR3 hours ago

शिक्षा दिवस पर मौलाना अबुल कलाम आजाद की जगह पर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की मनाई जयंती

BIHAR3 hours ago

BSEB Bihar Inter Exam 2019-20: रजिस्‍ट्रेशन प्रक्रिया शुरू, इन तीन बातों का जरूर रखें ध्‍यान वरना नहीं बैठ पाएंगे परीक्षा में

BIHAR3 hours ago

आइंस्टीन को चुनौती देने वाले गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन, पटना में तोड़ा दम

MUZAFFARPUR4 hours ago

सावधान, 24 घंटे में ही खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR2 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

RELIGION4 weeks ago

कब से शुरू हुई छठ महापर्व मनाने की परंपरा, जानिए पौराणिक बातें

Trending