सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ... ऐसे हैं डीएम साहब
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

Avatar

Published

on

न पद का गर्व न ही कपड़े गंदे होने की परवाह। बांध टूटने से गरीबों पर आफत नहीं आए, सिर्फ इसकी चिंता। तभी तो, पूर्वी चंपारण के पताही में बाढ़ का जायजा लेने डीएम रमण कुमार पहुंचे तो अलग अंदाज में नजर आए। अधिकारियों को निर्देश देने के साथ खुद भी बांध की मरम्मत में जुट गए। मजदूरों के साथ कंधे पर बालू की बोरी लेकर रेनकट ठीक करने लगे। 

दरअसल शनिवार को जब जिले के पताही और ढाका में बाढ़ की स्थिति पैदा हुई तो डीएम रमण कुमार प्रशासनिक टीम के साथ पताही प्रखंड के देवापुर खोड़ीपाकड़ घाट पर पहुंचे। यहां बागमती खतरे के निशान से उपर बह रही है। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी तटबंध पर हुए रेनकट को जैसे ही देखा। यहां खड़े मजदूरों से कुदाल ले ली और बोरी बालू भरकर रेनकट वाले स्थान को भरने लगे।

फिर तो तमाशा देखने वाले भी जुट गए काम में

फिर क्या था। जो लोग रेनकट का तमाशा देख रहे थे वो भी मरम्मत काम में लगे लोगों के साथ जिलाधिकारी संग काम करने लगे और देखते-देखते कुछ ही देर में तात्कालिक तौर पर बांध को ठीक कर लिया गया। हालांकि, जिलाधिकारी ने मौके पर तैनात विभागीय अभियंता व प्रशासनिक अधिकारियों को हिदायत दी कि किसी भी स्थिति में तटबंध टूटने नहीं चाहिए।

डीएम की हिदायत के बाद अधिकारियों में हड़कंप

डीएम की इस हिदायत और खुद के कंधे पर उठाकर बालू की बोरियों को भरने के प्रयास के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा है और जो जहां है, वहीं जन सुरक्षा के कार्यों में लगा है। दिनभर के निरीक्षण के बाद डीएम ने शाम में भी आराम मुनासिब नहीं समझा। डीएम होने के ठसक से बाहर रहे और देरशाम निकलकर ढाका प्रखंड में लालबकेया के कहर से लोगों को बचाने की कवायद तेज कर दी। जिलाधिकारी ढाका के सराठा गांव में एनडीआरएफ की टीम के साथ पहुंचे। टीम के अधिकारियों से तत्काल ग्रामीणों के समक्ष राहत व बचाव कार्य करने की कवायद तेज की। देर रात तक वे फिल्ड में ही जमे रहे।

कहते हैं पूर्वी चंपारण के डीएम 

पूर्वी चंपारण के डीएम रमण कुमार कहते हैं कि आम आदमी की जिंदगी की रक्षा सबसे अहम है। आम लोग वहां बांध को लेकर चिंतित थे और काम कर रहे थे। मैंने भी श्रमदान किया। यह मेरा नैतिक दायित्व था। ऐसा सभी को करना चाहिए। प्रशासनिक अधिकारियों को आपात स्थिति में अपने पद की ठसक से बाहर निकलकर आम आदमी के साथ कदमताल करना चाहिए। ऐसा करने से बड़ी से बड़ी आपदा को आदमी टाल सकता है। मैंने जो किया वह एक आदमी के तौर पर मेरा दायित्व है।

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

बाबा पर 40 हजार भक्तों ने किया जलाभिषेक

Avatar

Published

on

सावन की पहली सोमवारी पर बाबा गरीबनाथ मंदिर में करीब 40 हजार शिवभक्तों ने बाबा का जलाभिषेक किया। कांवरियों का आना रविवार की सुबह से जो शुरू हुआ, सोमवार देर शाम तक जारी रहा। मंदिर प्रबंधन की मानें तो इस बार डाक कांवर सहित करीब 15 हजार कांवरियों ने बाबा गरीबनाथ का जलाभिषेक किया। सुबह करीब तीन बजे से स्थानीय लोगों का आना भी शुरू हो गया। ‘बोल बम’ और ‘हर हर महादेव’ के स्वर वातावरण में गूंज रहे थे।

 

लोगों ने कतारबद्ध होकर अरघा के माध्यम से बाबा को जल चढ़ाया। हालांकि, भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अन्य बार की तरह ही पुलिस प्रशासन व मंदिर प्रबंधन की ओर से पर्याप्त इंतजाम किए गए थे। मंदिर व मेला परिसर में काफी संख्या में पुरुष व महिला स्वयंसेवक तैनात थे। काफी पुलिस भी तैनात थी। प्रशासन की ओर से विभिन्न अधिकारियों के अलावा मंदिर न्यास समिति सचिव एनके सिन्हा, प्रशासक पं. विनय पाठक, न्यास समिति सदस्य डॉ. गोपाल फलक आदि व्यवस्था पर नजर रखे हुए थे। लोगों की भीड़ कम होने पर दोपहर करीब चार बजे प्रशासनिक स्वीकृति के बाद मंदिर प्रबंधन ने अरघा हटा दिया। उसके बाद देर शाम तक जल चढ़ाया गया।

रंग-बिरंगे पुष्पों से किया बाबा का महाश्रृंगार

पहली सोमवारी पर रात्रि में बाबा गरीबनाथ का रंगबिरंगे फूलों से महाश्रृंगार किया गया। इसके पूर्व पुजारी पं. बैद्यनाथ पाठक ने बाबा का जलाभिषेक किया। फिर दूध, दही, घी, शहद, शक्कर, चावल आदि से षोडशोपचार विधि से पूजन हुआ। उन्हें चंदन का लेप, भस्म व अष्टगंध लगाया गया। फिर शुरू हुआ महाश्रृंगार। गेंदा, गुलाब, कमल, बेला, जूही आदि रंगबिरंगे पुष्पों से सजे बाबा का मनमोहक स्वरूप देखते बनता था। लोग उस दृश्य को अपने कैमरे में उतारने को आतुर थे। इसके बाद महाआरती हुई। इसमें मंदिर के प्रधान पुजारी पं. विनय पाठक, वार्ड पार्षद केपी पप्पू, पंडित आशुतोष पाठक, संत अमरनाथ, पंडित अभिषेक पाठक, आचार्य सन्नी पाठक, भाजपा नेता प्रभात कुमार, रिंकू पाठक आदि शामिल हुए। बताते चलें कि पिछले साल की भांति इस साल भी बाबा के दर्शन के लिए बाहर बरामदे पर प्रोजेक्टर लगाया गया था। कई लोगों ने इसके माध्यम से उस आलौकिक दृश्य के दर्शन किए। मनाही के बावजूद प्रतिबंधित क्षेत्र में लगी रहीं दुकानें: शहर में प्रवेश करने पर निर्धारित कांवरिया मार्ग में मनाही के बावजूद कुछ फुटपाथी दुकानदारों ने दुकान सजाने से गुरेज नहीं किया। लाख कहने पर भी वे नहीं माने। पहली सोमवारी में भक्तों की संख्या अधिक नहीं रहने के कारण ज्यादा परेशानी तो नहीं हुई, मगर यदि दूसरी सोमवारी में भी यह स्थिति रही तो समस्या आ सकती है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

MUZAFFARPUR

पीजी में एडमिशन सिस्टम फेल, 27 तक बढ़ाई गई तारीख

Avatar

Published

on

विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर कक्षाओं में सत्र 2018-19 में नामांकन का पहला दौर सोमवार को खत्म होने के बाद एकबार फिर तिथि में विस्तार दे दिया गया। नामांकन में धांधली की शिकायतों के साथ भारी गड़बड़ी सामने आने के चलते तिथि आगे बढ़ानी पड़ी है। हालांकि, विवि के अधिकारी ऐसी बातों से साफ इन्कार करते हैं। रजिस्ट्रार कर्नल अजय कुमार राय ने मीडिया को जारी विज्ञप्ति में कहा है कि प्रभारी कुलपति प्रो. राजेश सिंह के आदेशानुसार, नामांकन की मियाद 27 जुलाई तक बढ़ा दी गई है। बहरहाल, काउंसिलिंग के जैसे ही नामांकन में भी कई तरह की शिकायतें सामने आई हैं। एक तो मेरिट लिस्ट के हिसाब से नामांकन नहीं लिया गया है। दूसरे कुछ लड़कों का नामांकन लड़कियों के कॉलेज में कर दिया गया। अर्थशास्त्र विभाग की तरह इतिहास विभाग में भी ऐसी शिकायत सामने आई है। मेरिट में कम अंक वालों को अच्छे कॉलेज मिल गए। कई विभागों में मनमाने तरीके से नामांकन लेकर सीटें भर दी गईं तो अधिकतर में सीटें रिक्त रह गईं हैं। नामांकन का दौर खत्म होने के बाद देरशाम तक यह तय नहीं हो पाया था कि विश्वविद्यालय ने अब तक कितने छात्र-छात्रओं का नामांकन कर लिया है। उधर, छात्र-छात्रएं इस असमंजस में रह गए कि दूसरी काउंसिलिंग होगी भी या नहीं? जो कोई विद्यार्थी इस दौर के नामांकन से किन्हीं कारणवश वंचित रह गया है उसे दोबारा मौका मिलेगा भी या नहीं इस बात की सटीक जानकारी भी किसी स्तर पर नहीं दी गई। बहरहाल, काउंसिलिंग की तरह ही नामांकन की व्यवस्था भी चौपट नजर आ रही। काफी अफरातफरी का माहौल है। इस आपाधापी में दूर-दराज से आए बड़ी संख्या में छात्र-छात्रएं विवि से वापस लौट रहे हैं।

24 विषयों में कुल 5336 सीटों के लिए नौ जुलाई से काउंसिलिंग

लड़कियों के कॉलेज में कर दिया लड़कों का नामांकन

अभी तक हो पाए नामांकन

विषय        नामांकन

अर्थशास्त्र  102

इतिहास  75

अंग्रेजी  59

गणित  80

राजनीति विज्ञान  4

Input : Dainik Jagran

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : नलजल योजना में मुखिया ने कराया बेटा को भुगतान, परिवाद दायर

Suman Saurabh Singh

Published

on

मुशहरी प्रखण्ड के बाड़ाजगन्नाथ पंचायत में नल जल योजना में अनियमितता के खिलाफ वार्ड संख्या- 01, 02, 11, सहित क्रियान्वित वार्डो में दिए गए अग्रिम के अनुरूप कार्य पूर्णता की जांच करने और मुखिया द्वारा वार्ड सदस्य से अपने पुत्र के नाम से चेक निर्गत करवा कर भुगतान लेने का मामला लोक शिकायत में दर्ज हो चुका है।

सूबे में मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण गली – नाली पक्कीकरण निश्चय योजना को मुख्यमंत्री ने अपने सात निश्चय में रखा है जिसके अंतर्गत विभिन्न पंचायतों में कार्य जारी है परन्तु काम शुरू होने के साथ- साथ अनियमितता का भी पुलिंदा खुलने का दौर जारी है जिसमे कईएक वार्ड सदस्य और मुखिया पर प्राथमिकी भी दर्ज हो चुकी है।

ताजा मामला मुज़फ़्फ़रपुर जिले के मुशहरी प्रखण्ड अंतर्गत बड़ा जगन्नाथ पंचायत का है जिसमें वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के अध्यक्ष और मुखिया द्वारा कुछ व्यक्तियों, प्रतिष्ठानों को बिना कार्य कराये अग्रिम का भुगतान कर दिए जाने और अग्रिम भुगतान राशि का चेक मुखिया द्वारा अपने पुत्र के नाम से कराए जाने का मामला पंचायत के पूर्व पैक्स अध्यक्ष प्रत्याशी शकिन्द्र कुमार ने लोक शिकायत में दर्ज कराया है।

शकिन्द्र ने इस बात का भी आरोप लगाया है कि मुखिया अप्रत्यक्ष रूप से लाभ लिया गया है जबकि योजना की मार्गदर्शिका में अग्रिम देने का कोई प्रावधान नहीं है लेकिन इस प्रकार का अग्रिम देना सरकारी राशि के गबन का दृष्टांत है। इसलिए कार्यादेश, कार्य प्रारंभ तिथि, अग्रिम चेक राशि निर्गत तिथि सहित भौतिक व स्थलीय जांच गहनता पूर्वक की जाने से अनियमितता की पोल खुल जाएगी।
शकिन्द्र ने मुखिया द्वारा वार्ड सदस्य से अपने पुत्र के नाम से चेक निर्गत करवा कर भुगतान लेने की जांच की जाए साथ ही अनधिकृत रूप से अग्रिम देने वाले को चिन्हित कर कार्रवाई करते हुए राशि की वसूली, लोक मांग वसूली अधिनियम के प्रावधानों के अन्तर्गत की जाने की मांग की है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
INDIA4 hours ago

सावन के पहले सोमवार पर मुस्लिमों ने पेश की अनोखी मिसाल, हो रही वाह-वाह, जानें पूरा मामला

MUZAFFARPUR4 hours ago

बाबा पर 40 हजार भक्तों ने किया जलाभिषेक

MUZAFFARPUR4 hours ago

पीजी में एडमिशन सिस्टम फेल, 27 तक बढ़ाई गई तारीख

MUZAFFARPUR16 hours ago

मुजफ्फरपुर : नलजल योजना में मुखिया ने कराया बेटा को भुगतान, परिवाद दायर

INDIA18 hours ago

ISRO के चंद्रयान-2 के लॉन्च पर Akshay Kumar समेत इन बॉलीवुड सितारों ने दी बधाई

MUZAFFARPUR21 hours ago

आस्था के नाम पर खुद के औऱ अपनो के जान के साथ मत करें खिलवाड़, पड़ सकता है महंगा

BIHAR22 hours ago

BJP नेताओं की बयानबाजी से JDU नाराज, दी चेतावनी-साथ या अलग, अभी तय कर लें

BIHAR22 hours ago

सावन की पहली सोमवारी पर मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, देवघर के बाबाधाम में कांवड़ियों का तांता

MUZAFFARPUR1 day ago

बोल बम का गूंजा उद्घोष, शिवमय हुई गरीबनाथ नगरी

MUZAFFARPUR1 day ago

मुजफ्फरपुर की ‘कृष्णा बम’ के जज्बे को सलाम, 38 सालों से कर रहीं देवघर में जलाभिषेक

INDIA4 weeks ago

पूरे देश में एक जैसा होगा लाइसेंस, राज्य नहीं कर पाएंगे कोई बदलाव

BIHAR1 week ago

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

BIHAR7 days ago

बिहार में पहली बार पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई, 3 DSP, 50 इंस्पेक्टर सहित 66 पर FIR

BIHAR7 days ago

पटना पहुंचे रितिक रोशन, आनंद कुमार के पैर छुए, कहा- लगता है पिछले जन्म में मैं बिहारी ही था

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में सरकारी राशि की मची है लूट, मनरेगा योजना में मजदूरों के बदले चल रहे JCB और टैक्टर

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : लड़की ने किया सु’साइड, कूद गई पानी की टंकी से

MUZAFFARPUR4 weeks ago

DM ने बढ़ाई स्कूल खुलनें की तारीख, सभी सरकारी-गैर सरकारी मे जारी रहेगा धारा 144

BIHAR3 weeks ago

बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, इन जिलों में भीषण बारिश और आंधी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

पब्लिक ट्रांसपोर्ट : Hello My Taxi ने मुजफ्फरपुर कैब के साथ शुरू की कैब सर्विस

INDIA3 weeks ago

चलते वाहन की चाबी नहीं निकाल सकती पुलिस, सिर्फ इनका है चालान करने का अधिकार

Trending

0Shares