Connect with us

BIHAR

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

Published

on

न पद का गर्व न ही कपड़े गंदे होने की परवाह। बांध टूटने से गरीबों पर आफत नहीं आए, सिर्फ इसकी चिंता। तभी तो, पूर्वी चंपारण के पताही में बाढ़ का जायजा लेने डीएम रमण कुमार पहुंचे तो अलग अंदाज में नजर आए। अधिकारियों को निर्देश देने के साथ खुद भी बांध की मरम्मत में जुट गए। मजदूरों के साथ कंधे पर बालू की बोरी लेकर रेनकट ठीक करने लगे। 

दरअसल शनिवार को जब जिले के पताही और ढाका में बाढ़ की स्थिति पैदा हुई तो डीएम रमण कुमार प्रशासनिक टीम के साथ पताही प्रखंड के देवापुर खोड़ीपाकड़ घाट पर पहुंचे। यहां बागमती खतरे के निशान से उपर बह रही है। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी तटबंध पर हुए रेनकट को जैसे ही देखा। यहां खड़े मजदूरों से कुदाल ले ली और बोरी बालू भरकर रेनकट वाले स्थान को भरने लगे।

फिर तो तमाशा देखने वाले भी जुट गए काम में

फिर क्या था। जो लोग रेनकट का तमाशा देख रहे थे वो भी मरम्मत काम में लगे लोगों के साथ जिलाधिकारी संग काम करने लगे और देखते-देखते कुछ ही देर में तात्कालिक तौर पर बांध को ठीक कर लिया गया। हालांकि, जिलाधिकारी ने मौके पर तैनात विभागीय अभियंता व प्रशासनिक अधिकारियों को हिदायत दी कि किसी भी स्थिति में तटबंध टूटने नहीं चाहिए।

डीएम की हिदायत के बाद अधिकारियों में हड़कंप

डीएम की इस हिदायत और खुद के कंधे पर उठाकर बालू की बोरियों को भरने के प्रयास के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा है और जो जहां है, वहीं जन सुरक्षा के कार्यों में लगा है। दिनभर के निरीक्षण के बाद डीएम ने शाम में भी आराम मुनासिब नहीं समझा। डीएम होने के ठसक से बाहर रहे और देरशाम निकलकर ढाका प्रखंड में लालबकेया के कहर से लोगों को बचाने की कवायद तेज कर दी। जिलाधिकारी ढाका के सराठा गांव में एनडीआरएफ की टीम के साथ पहुंचे। टीम के अधिकारियों से तत्काल ग्रामीणों के समक्ष राहत व बचाव कार्य करने की कवायद तेज की। देर रात तक वे फिल्ड में ही जमे रहे।

कहते हैं पूर्वी चंपारण के डीएम 

पूर्वी चंपारण के डीएम रमण कुमार कहते हैं कि आम आदमी की जिंदगी की रक्षा सबसे अहम है। आम लोग वहां बांध को लेकर चिंतित थे और काम कर रहे थे। मैंने भी श्रमदान किया। यह मेरा नैतिक दायित्व था। ऐसा सभी को करना चाहिए। प्रशासनिक अधिकारियों को आपात स्थिति में अपने पद की ठसक से बाहर निकलकर आम आदमी के साथ कदमताल करना चाहिए। ऐसा करने से बड़ी से बड़ी आपदा को आदमी टाल सकता है। मैंने जो किया वह एक आदमी के तौर पर मेरा दायित्व है।

Input : Dainik Jagran

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में एक व्यक्ति की सन्देहास्पद मौत, जांच में जुटी पुलिस

Published

on

मुज़फ्फरपुर के मिठनपुरा थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति की संदेहास्पद स्थितियों में मृत्यु हो गई। सूचना मिलते ही मिठनपुरा थाना की पुलिस मौके पर पहुँच मृतक की पत्नी और आसपास के लोगों से जानकारी हासिल करते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम हेतु मेडिकल अस्पताल भेज दिया है।

घटना के सम्बन्ध में बताया जा रहा है की बिजली विभाग में काम करने वाले रणजीत कुमार उर्फ़ चिक्कू अपनी पत्नी पूजा देवी के साथ मिठनपुरा थाना क्षेत्र
के रामबाग इलाके में सुन्दरबाग़ स्थित माईस्थान के पास, गली नं. 05 में अनिल महतो और सुनील महतो के मकान में रहते थे।

और साथ ही लॉक डाउन की वजह से बेरोजगार थे। मृतक रंजीत कुमार की पत्नी पूजा देवी ने बताया बीते शाम समोसा खाने के बाद उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई। गैस की दो-दो दवा खाने के बाद भी उन्हें राहत नहीं हुई, देर रात सीने में मालिश करने के बाद वे सोने चले गए।

इस बीच रंजीत दूसरे कमरे में चले गए। अहले सुबह बारिश होने पर पत्नी की नींद खुली और कमरे में आने पर उन्हें रंजीत मृत अवस्था में मिले।

आसपास के लोगो को जानकारी देने के बाद पहुंचे डॉक्टर ने भी जांचोपरांत उन्हें मृत  घोषित कर दिया।

मृतक की पत्नी से पश्चिम बंगाल के  सिलीगुड़ी की रहने वाली हैं और दो वर्ष पूर्व ही दोनों का विवाह हुआ था। उनकी एक बच्ची भी है जो सिलीगुड़ी में अपनी नानी के घर पर ही रहती है।

संदेहास्पद स्थितियों में मौत की सूचना पर मिठनपुरा थाना की पुलिस दल-बल के साथ पहुँच कर मामले की छानबीन करते हुए शव को पोस्टमॉर्टम हेतु एसकेएमसीएच भेज दिया।

मामले में पुलिस का कहना है की मामला संदेहास्पद प्रतीत हो रहा है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पायेगी और मौत के वास्तविक कारणों का पता चल सकेगा।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

बालाजी परिवार ने की प्रवासी मजदूरों की सहायता, आप भी आये आगे..

Published

on

आज बालाजी परिवार के द्वारा प्रवासियों मजदूर के लिए चावल पुलाव, आलू दम भोजन का पैकेट एवं पानी का बोतल रामदयालु चौक,गोबर सही चौक ,बैरिया बस स्टैंड एवं मेडिकल के पास जाकर पैकेट का वितरण किया गया है.

इस कार्यक्रम का नेतृत्व अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार अमर ने किया तथा उन्होंने कहा कि अभी समाचार पत्र के माध्यम से जब उन्होंने देखा कि स्टेशन पे भूख से बिलखते हुए एक बच्चे ने जब दम तोड़ा तो बालाजी परिवार को बहुत कष्ट हुआ.

बालाजी परिवार के सभी कार्यकारिणी सदस्यों एवं सहयोगी शर्मा ऋषि राज एवं आनंद जी ने हाथ आगे बढ़ाया और इस कार्यक्रम को गौतम शर्मा के नेतृत्व में किया गया और उन्होंने ने कहा कि जब तक लोग लॉक डाउन में प्रवासी मजदूर अपने घर तक आएंगे तब तक जहां तक संभव होगा उनके लिए भोजन एवं पानी का व्यवस्था किया जाएगा.

Continue Reading

BIHAR

मुंबई से दरभंगा पहुंची प्रवासी गर्भवती महिला का बच्चा हुआ तो नाम रखा ‘सोनू सूद’

Published

on

मुंबई. इन दिनों बॉलीवुड इंडस्ट्री के जाने माने एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) जबरदस्त सुर्खियों में बने हुए हैं. इस मुश्किल समय में वो लगातार प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए खड़े हुए हैं. कभी लॉकडाउन में गरीबों और जरूरतमंदों को खाना-राशन पहुंचाते दिख रहे हैं तो कभी प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतजाम कर रहे हैं. सोनू के इन्हीं नेक कामों ने उन्हें प्रवासी मजदूरों का रियल हीरो बना दिया है. सोशल मीडिया (Social media) पर उन्हें शुक्रिया करते कई मजदूरों के किस्से सामने आए हैं. वहीं उनकी मदद से घर पहुंची बिहार (Bihar) की एक गर्भवती मजदूर महिला (Pregnant Migrant Worker Woman) ने उन्हें बेहद स्पेशल तरीके से थैंक्यू कहा है.

India: Sonu Sood launches toll free number to help migrants reach ...

सोनू सूद ने इस वाकये का खुलासा खुद किया था. उन्होंने बॉम्बे टाइम्स से बातचीत में कहा था- ‘मैंने जिन लोगों को घर भेजा उनमें से एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया और उसका नाम मेरे नाम पर रखा है.’ सोनू ये भी कहा था कि ये वाकया उनके दिल को छू गया था. इस बातचीत के मुताबिक सोनू ने बताया, ‘मैंने टीम के साथ मिलकर 12 मई को प्रवासी मजदूरों का एक ग्रुप मुंबई से दरभंगा के लिए रवाना किया था. जिसमें में दो गर्भवती महिलाएं भी शामिल थीं. इनमें से एक को घर पहुंचते ही बच्चा हुआ. ये खुशखबरी उन्होंने मुझे फोन करके दी थी.’

Sonu Sood sends home another group of migrants stuck in Mumbai ...

सोनू का कहना है, ‘उनके परिजनों ने बताया कि बेटा हुआ है और उन्होंने अपने बेटे का नाम सोनू सूद रखा है. जब मैंने उनसे पूछा कि सूद कैसे… वो तो श्रीवास्तव हुआ ना? ये सुनकर महिला ने खुद बताया कि बच्चे का पूरा नाम सोनू सूद श्रीवास्तव रखा गया है.’ सोनू कहते हैं कि उन्हें उस महिला का शुक्रिया कहने का ये तरीका बेहद स्पेशल लगा और उनके दिल को छू गया.

सोनू ने अपने ट्विटर के जरिए कुछ प्रवासी मजदूरों के धन्यवाद का जवाब भी दिया है. सोनू द्वारा किए गए बस के इंतजाम के बाद उसमें सवार एक व्यक्ति ने उन्हें टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘सर हम लोग अच्छे से निकल चुके हैं, आप बेफिक्र रहिए, मैं आपको अपडेट करता रहूंगा, आपको प्यार भइया.’ इस पर सोनू ने लिखा- ‘विश यू अ हैप्पी जर्नी भाई, बोला था ना कल मां के हाथ का खाना खाओगे. बिहार पहुंच कर सबको सलाम कहना.’

Input : News18

Continue Reading
Uncategorized34 mins ago

मुजफ्फरपुर में कोरोना के कोहराम में आज फिर जुड़े तीन नए कोरोना मरीज़

MUZAFFARPUR39 mins ago

मुजफ्फरपुर में एक व्यक्ति की सन्देहास्पद मौत, जांच में जुटी पुलिस

MUZAFFARPUR1 hour ago

बालाजी परिवार ने की प्रवासी मजदूरों की सहायता, आप भी आये आगे..

INDIA1 hour ago

सुप्रीम कोर्ट का निर्देश- प्रवासी मजदूरों को घर भेजने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की

INDIA1 hour ago

राहुल गांधी बोले- हिंदुस्तान के लोगों को आज कर्ज नहीं पैसे की जरूरत, गरीबों की 6 महीने मदद करे सरकार

INDIA3 hours ago

वीर सावरकर एक महान देशभक्त जो कुछ देशद्रोही और घटिया राजनीति करने वालो का शिकार बन गये

INDIA3 hours ago

बड़ी खबर : BJP प्रवक्ता संबित पात्रा में दिखे COVID-19 जैसे लक्षण, अस्पताल में हुए भर्ती

BIHAR4 hours ago

मुंबई से दरभंगा पहुंची प्रवासी गर्भवती महिला का बच्चा हुआ तो नाम रखा ‘सोनू सूद’

BIHAR4 hours ago

मौसम विभाग ने बिहार के कई जिलों को लेकर जारी किया अलर्ट, तेज आंधी और बारिश की आशंका

INDIA8 hours ago

अब व्हाट्सएप से बुक करें गैस सिलेंडर, इस नंबर पर करना होगा मैसेज

BIHAR2 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR4 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD3 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

INDIA4 weeks ago

Lockdown Part 3- 17 मई तक जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

BIHAR3 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR4 weeks ago

बाहर फंसे बिहारियों की वापसी का बिहार सरकार नहीं करेगी इंतजाम, सुशील मोदी बोले- हमारे पास नहीं है संसाधन

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन के बीच 21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए सरकार ने की 5 बड़ी घोषणाएं

Uncategorized4 weeks ago

50 फीसद यात्रियों के साथ बसों का संचालन, बढ़ सकता किराया

Trending