Connect with us

MUZAFFARPUR

दो निषादों की सीधी टक्कर में भारी पड़ रहा मोदी फैक्टर

Published

on

मुजफ्फरपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी हैं अजय निषाद। उनके सामने वीआईपी के डॉ. राजभूषण चौधरी निषाद हैं। मुकाबला आमने-सामने का है। यहां के युवा मतदाता मुखर हैं। हर चुनाव में उठने वाले मुद्दे फिर उठाए जा रहे हैं।

इसबार मुजफ्फरपुर की चुनावी फिजां में मतदाताओं का अलहदा अंदाज दिख रहा है। जातिगत समीकरण टूटते दिख रहे हैं। युवाओं की टोलियां मुखर हैं। खास जाति-वर्ग को अपना वोट बैंक समझने वाले नेताओं के समीकरण इस बार पूरी तरह से बिगड़ जाएं तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी। धुआंधार तरीके से पब्लिक एड्रेस सिस्टम से लैस प्रत्याशी और उनके प्रमुख नेताओं की गाड़ियां उन सड़कों पर भी धूल उड़ा रही हैं, जिन्हें पक्की सड़क में तब्दील करने के वादे सभी चुनावों में किए गए। बारिश के दिनों की बात तो छोड़िए, वैशाख महीने में भी चचरी पुल के सहारे दिन गुजारने वाले बाराडीह के छोटेलाल चुनावी चर्चा पर व्यंग्यात्मक लहजे में कहते हैं कि हर चुनावी मौसम में उन्हें मुजफ्फरपुर से हवाई उड़ान का सपना दिखाया जाता है। चचरी पुलों को दिखाते हुए वे कहते हैं कि हकीकत तो यही है। स्मार्ट सिटी का ख्वाब दिखाया जा रहा है, धरातल पर जर्जर सड़क और जाम से बावस्ता होना पड़ रहा। फोर लेन रोड अधूरा है। बागमती परियोजना भी मंझधार में अटकी है। बच्चों के खेल-कूद के लिए अच्छी व्यवस्था नहीं है। शाही लीची के प्रसंस्करण की बात बयानों तक सिमटी है। लहठी उद्योग जयपुरिया लहठी के सामने दम तोड़ने लगा है।


प्रत्याशी अपने काम से ज्यादा अपने नेता के नाम पर मांग रहे हैं वोट

विधानसभा पर किसका कब्जा

  1. मुजफ्फरपुर सुरेश शर्मा भाजपा
  2. कुढ़नी केदार प्रसाद गुप्ता भाजपा
  3. सकरा लालबाबू राम राजद
  4. गायघाट महेश्वर यादव राजद
  5. बाेचहां बेबी कुमारी निर्दलीय
  6. औराई डाॅ. सुरेन्द्र यादव राजद

अजय निषाद, भाजपा

2014 में अजय निषाद यहां से सांसद चुने गए। पिता स्व. कैप्टन जयनारायण निषाद यहां से चार बार सांसद बने। अजय साहेबगंज से भाजपा और कुढ़नी से राजद के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं।

डॉ. राजभूषण निषाद, वीआईपी

डॉ. राजभूषण मूल रूप से बेगूसराय के रहनेवाले हैं। रोसड़ा में नर्सिंग होम संचालित करते हैं। तीन वर्ष पूर्व वीआईपी पार्टी के बेगूसराय जिलाध्यक्ष बने। फिर जल्द ही पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बने।

भाजपा-वीआईपी में सीधी टक्कर, एकमुश्त वाेट किसी काे नहीं

मोदी लहर के बीच हुए 2014 के चुनाव में जीत का सेहरा पहनने वाले अजय निषाद इस बार फिर से भाजपा टिकट पर मैदान में हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस के अखिलेश सिंह से उनका सीधा मुकाबला था। इस बार गठबंधन के कारण वीआईपी के खाते में आई इस सीट से डॉ. राजभूषण चौधरी निषाद उन्हें चुनौती दे रहे हैं। दोनों एक ही जाति से हैं। इस कारण मुकाबला दिलचस्प हो गया है। पिछले पांच साल में ऐसी कोई चर्चित उपलब्धि अजय निषाद के खाते में नहीं आई है, सो हर चुनावी सभा में वह अपनी जीत की बात कम नरेंद्र मोदी को मजबूत करने की बात अधिक करते हैं। कटरा के चामुंडा देवी मंदिर के सामने मिले गायघाट विधानसभा क्षेत्र के बलोर निधि गांव के संतोष यादव कहते हैं कि इस बार यादव वोटरों का एकमुश्त वोट किसी एक पार्टी को मिलने से रहा।

25 साल के इस युवा की बात से बुजुर्ग हरेराम यादव भी सहमत दिखे। कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र के सोनबरसा चौक पर सैलून चलानेे वाले ब्रजेश कहते हैं कि पहली बार प्रत्याशी से अधिक प्रधानमंत्री की चर्चा करते सुन रहे हैं। छह मई को मतदान के दिन भले ही यहां के वोटरों के पास 22 प्रत्याशियों का विकल्प होगा, पर यह अभी से साफ हो गया है कि भाजपा और वीआईपी के बीच ही सीधा संघर्ष होगा।

पहचान का संकट

वीआईपी के राजभूषण चौधरी के लिए सबसे बड़ी चुनौती पहचान की है। यूं तो अजय निषाद वैशाली के रहने वाले हैं। लेकिन, चार बार मुजफ्फरपुर के सांसद रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. कैप्टन जयनारायण निषाद के पुत्र होने के कारण उन्हें 2014 में बाहरी होने के बाद भी वैसी परेशानी नहीं हुई, जिस तरह राजभूषण झेल रहे हैं। अंतिम समय में टिकट फाइनल होने के कारण भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

2014 लोकसभा

अजय निषाद (भाजपा)

मत 469295

अखिलेश सिंह (कांग्रेस)

मत 246873

जातीय समीकरण

  1. यादव 1.90 लाख
  2. मुस्लिम 2.40 लाख
  3. सवर्ण 3.80 लाख
  4. वैश्य 2.56 लाख
  5. अन्य 5.70 लाख

आंकडे़

कुल वोटर 1730544

पुरुष वोटर 920013

महिला वोटर 807724

इनपुट : दैनिक भास्कर | कुमार भवानंद, मुजफ्फरपुर 

 

MUZAFFARPUR

कोहरे के कारण लिच्छवी समेत 12 ट्रेनें 3 महीने तक रद्द

Published

on

कोहरे के कारण दिल्ली समेत उत्तर भारत जाने वाली कुछ ट्रेनों को रद्द और कुछ के फेरों में कमी की गई है। गुरुवार से तीन महीने तक लिच्छवी एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की 12 एक्सप्रेस ट्रेनें रद्द रहेंगी। बाघ, स्वतंत्रता सेनानी सहित 10 ट्रेनों के फेरे कम किए गए हैं। ट्रेनें हफ्ते में एक से दो दिन रद्द रहेंगी।

इस कारण दिल्ली समेत पंजाब, हरियाण व उत्तर प्रदेश जाने वाले यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है। पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ विरेंद्र कुमार ने बताया कि कोहरे के दौरान ट्रेनें अत्यधिक विलंब चलती हैं। इससे यात्रियों को होने वाली कठिनाइयों के मद्देनजर रेलवे ने ट्रेनों को रद्द करने के साथ कुछ के फेरे में कमी की है। एक मार्च से ट्रेनों का परिचालन सामान्य हो जाएगा।

तीन माह तक रद्द रहने वाली ट्रेनें

● 12537/38 बनारस- मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस

● 14523/24 अम्बाला-बरौनी हरिहर एक्सप्रेस

● 14005/06 आनंद विहार-सीतामढ़ी लिच्छवी एक्सप्रेस

● 14673/74 अमृतसर-जयनगर शहीद एक्सप्रेस

● 15903/04 डिब्रूगढ़-चंडीगढ़ एक्सप्रेस

● 15203/04 लखनऊ-बरौनी एक्सप्रेस

ये ट्रेनें सप्ताह में अलग-अलग दिन रहेंगी रद्द

● 12523 न्यू जलपाईगुड़ी-नई दिल्ली एक्सप्रेस शनिवार को रद्द

● 12524 नई दिल्ली-न्यू जलपाईगुड़ी एक्सप्रेस रविवार को रद्द

● 13019 हावड़ा-काठगोदाम बाघ एक्सप्रेस रविवार को रद्द

● 13020 काठगोदाम-हावड़ा बाघ एक्सप्रेस मंगलवार को रद्द

● 15909 डिब्रूगढ़-लालगढ़ अवध असम एक्सप्रेस शनिवार को रद्द

● 15910 लालगढ-डिब्रूगढ़ अवध असम एक्सप्रेस मंगलवार को रद्द

● 12561 जयनगर-नई दिल्ली स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस गुरुवार को रद्द

● 12562 नई दिल्ली-जयनगर एक्सप्रेस स्वतंत्रता सेनानी शुक्रवार को रद्द

● 11123 ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस सोमवार एवं गुरुवार को रद्द

● 11124 बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस मंगलवार एवं शुक्रवार को रद्द

Source : Hindustan

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading

MUZAFFARPUR

स्वास्थ्य सचिव सेंथिल ने होमी भाभा कैंसर अस्पताल के दक्षिण गेट का किया उद्घाटन

Published

on

By

आज दिनांक 30 नवंबर 2022 को होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र, मुजफ्फरपुर के दक्षिणी गेट का उद्घाटन एवं पीडियाट्रिक ऑनकोलॉजी डिपार्टमेंट का शुभारंभ बिहार सरकार में स्वास्थ्य सचिव के सेंथिल के द्वारा किया गया।

इस मौके पर होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र मुजफ्फरपुर के प्रभारी डॉ रविकांत सिंह ने कहा कि हम स्वास्थ्य व्यवस्था में एक कदम और आगे बढ़े हैं। इतने कम समय में ही होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल और अनुसंधान केंद्र, मुजफ्फरपुर ने बिहार में कैंसर के इलाज के साथ रोकथाम के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किए है।

होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र, मुजफ्फरपुर में सर्जिकल ओंको, गायनिक ओंको, मेडिकल ओंको, ब्रेस्ट ओंको और हेड एन नेक ओंको की सुविधाएं थी अब यहां पीडियाट्रिक ऑनकोलॉजी की भी सुविधाएं मिलेगी।

डॉ रविकांत सिंह ने कहा कि अभी बिहार राज्य में पीडियाट्रिक ऑनकोलॉजिस्ट की बहुत कमी है जिसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता था। पहले इस इलाज के लिए होमी भाभा कैंसर अस्पताल वाराणसी जाना होता था लेकिन अब इसके इलाज के लिए बिहार सरकार ने पीकू बिल्डिंग में 15 बेड सिर्फ पीडियाट्रिक कैंसर के इलाज के दिया है। पीडियाट्रिक डिपार्टमेंट के चालू हो जाने से बच्चों में होने वाले कैंसर के इलाज और देखरेख में तेजी आएगी।

अभी तक इस संस्थान में 4881 से ज्यादा मरीज रजिस्टर्ड हुए है। 11700 से ज्यादा कीमोथेरेपी साइकल हो चुकी है। इस संस्थान में अभी तक मेजर सर्जरी 519 से ऊपर और माइनर सर्जरी 1480 से ऊपर हो चुकी है। जबकि 42644 से ऊपर मरीजों का इलाज यहां पर चला है।

डॉ रविकांत सिंह के अनुसार कि उत्तर बिहार के लोगों को कैंसर के इलाज के लिए पहले अन्यत्र जगहों पर पलायन करना पड़ता था और इसमें कई ऐसे लोग होते है जो आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होते उनके लिए टाटा स्मारक केंद्र ने मुजफ्फरपुर में अपनी इकाई खोली है ताकि सब्सिडी रेट में उनका इलाज सम्भव हो सके। इसके लिए अस्पताल आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को सरकारी योजना के लाभ भी प्रदान कराने में मदद करती है।

इस मौके पर बिहार सरकार में स्वास्थ्य सचिव माननीय श्री के. सेंथिल ने यहां काम कर रहे सारे कर्मचारियों को धन्यवाद दिया कि इतने कम संसाधन और समय के वाबजूद इतनी मरीजों को अपनी सेवाएं दी है। यहां का मेडिकल ऑनकोलॉजी विभाग पूरे बिहार और झारखंड से बेहतर है और प्रतिदिन खुद को बेहतर करते जा रही है।

Continue Reading

BIHAR

मुजफ्फरपुर : बेल किसी और की, दूसरे को जेल से छोड़ा ; जेल प्रशासन ने दर्ज कराया केस

Published

on

शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा से बंदी को जमानत पर छोड़ने में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। हथौड़ी थाना से आर्म्स एक्ट व बाइक चोरी के साथ गिरफ्तार गुड्डू कुमार की कोर्ट से बेल हुई थी, लेकिन जेल प्रशासन ने अहियापुर थाना से मादक पदार्थ और आर्म्स एक्ट में बंद गुड्डू कुमार को मुक्त कर दिया। जमानत कराने वाले वकील ने इस बारे में आपत्ति की, तब इसका खुलासा हुआ।

मिठनपुरा थानेदार श्रीकांत सिन्हा ने एफआईआर के हवाले से बताया कि हथौड़ी पुलिस ने बीते 25 मई को मीनापुर थाना के शंकरपुर गांव निवासी रामदेव सहनी के पुत्र गुड्डू कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बीते 23 नवंबर को उसकी कोर्ट से जमानत हो गई। रिलीज ऑर्डर आने के बाद बंदी को मुक्त करने के लिए जेल में नाम पुकारा गया। इसके बदले मीनापुर थाने के शंकरपुर गांव निवासी धनेश्वर राय का पुत्र गुड्डू कुमार जेल गेट पर पहुंचा। पूछताछ के बाद उसे ही जेल से मुक्त कर दिया गया। जब रामदेव सहनी के पुत्र गुड्डू के वकील ने आपत्ति की तब खलबली मच गई।

जांच-पड़ताल में पता चला कि जिस गुड्डू कुमार को मुक्त किया गया था, वह अहियापुर थाने में बीते 19 सितंबर को पिस्टल और गांजा के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। उसकी बेल अभी नहीं हुई है। अब जमानत पर छूटे रामदेव सहनी के पुत्र गुड्डू कुमार से मिठनपुरा पुलिस पूछताछ करेगी। वहीं, जेल से छूटने के बाद अहियापुर थाने का आरोपित गुड्डू फरार चल रहा है। बताया जाता है कि जेल में हर बंदी का पहचान चिह्न लिखा जाता है। जिस गुड्डू को बेल पर छोड़ा गया, उसके चिह्न का मिलान नहीं किया गया। रिलीज आदेश कांड संख्या के साथ आता है। दोनों का पता समान था, पर पिता का नाम अलग-अलग था। इन बिंदुओं पर भी ध्यान नहीं दिया गया।

जेल प्रशासन ने मंगलवार को मिठनपुरा थाने में इस फर्जीवाड़े की एफआईआर दर्ज कराई है। जेल प्रशासन ने इसमें दोनों बंदियों को नामजद आरोपित बनाया है। हालांकि, जेल से बंदी को मुक्त करने के प्रक्रिया में खुद जेल की लापरवाही सामने आ रही है।

Source : Hindustan

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR6 hours ago

सुशील मोदी का दावा राज्य में टल सकता हैं निकाय चुनाव, SC के ऑर्डर को बताया टाइपो एरर

INDIA7 hours ago

दिसंबर में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, आरबीआई ने जारी की छुट्टी की लिस्ट

MUZAFFARPUR8 hours ago

कोहरे के कारण लिच्छवी समेत 12 ट्रेनें 3 महीने तक रद्द

BIHAR21 hours ago

नगर निकाय चुनाव की हुई घोषणा, 2 चरणों में संपन्न होंगे चुनाव

BIHAR22 hours ago

पटना में राक्षस कैफे का हुआ उद्घाटन

MUZAFFARPUR22 hours ago

स्वास्थ्य सचिव सेंथिल ने होमी भाभा कैंसर अस्पताल के दक्षिण गेट का किया उद्घाटन

BIHAR1 day ago

मधुर भंडारकर की फिल्म में नजर आएगी बिहार की बेटी आयशा

baalu-sand-ghar
BIHAR1 day ago

बिहार में बालू खनन होगा बंद, नीतीश सरकार ने विभागों को जारी किया नोटिस

JOBS1 day ago

केंद्रीय विद्यालयों में 13 हजार पदों पर बंपर बहाली

BIHAR1 day ago

फैसला : अब मैट्रिक पास ही बनेंगी आंगनबाड़ी सहायिका और इंटर पास सेविका

TRENDING3 weeks ago

प्यार की खातिर टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

इंतजार की घड़ी खत्म: 12 साल पहले बना सिटी पार्क 15 नवंबर से पब्लिक के लिए खुलेगा

TRENDING4 weeks ago

गेयर बदलने के स्टाइल पर हो गई फिदा, करोड़पति महिला ने ड्राइवर से ही रचा ली शादी

INDIA2 weeks ago

गर्लफ्रेंड शादी करना चाहती थी, प्रेमी ने उसके 35 टुकड़े किए, कई दिन फ्रिज में रखा

SPORTS2 weeks ago

खुशखबरी! टी20 वर्ल्ड कप में हार के बाद भारतीय टीम में फिर होगी धोनी की वापसी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सोनपुर मेला के लिए रेलवे की तैयारी पूरी,मुजफ्फरपुर से चलेगी 4 जोड़ी स्पेशल ट्रेन

ENTERTAINMENT3 weeks ago

‘कसौटी जिंदगी की’ एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी का जिम में वर्कआउट करते वक्त निधन

MUZAFFARPUR3 weeks ago

सोनपुर मेले में भारी भीड़ को देखते हुए आज और कल मुजफ्फरपुर से चलेगी स्पेशल ट्रेनें

OMG4 weeks ago

पाकिस्तानी एक्ट्रेस सेहर शिनवारी का जिम्बाब्वे को ऑफर, इंडिया को हराया तो तुमसे करूंगी शादी

BIHAR3 weeks ago

भोजपुरी एक्ट्र्रेस अक्षरा सिंह की बढ़ीं मुश्किलें, पटना के घर पर पुलिस ने चिपकाया इश्तेहार

Trending