क्या आप जानते हैं तुलसी के सेवन के ये फायदे?
Connect with us
leaderboard image

HEALTH

क्या आप जानते हैं तुलसी के सेवन के ये फायदे?

Santosh Chaudhary

Published

on

आज तुलसी विवाह है. हिंदू धर्म में तुलसी को काफी पवित्र पौधा माना जाता है और उसकी पूजा भी होती है. इस पौधे में काफी औषधीय गुण भी होते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रोज तुलसी का सेवन करने से कई बीमारियों में राहत रहती है क्योंकि तुलसी कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है. आइए जानते हैं तुलसी के सेवन के फायदे…

1.सर्दी, जुकाम से मिलती है राहत: आप तुलसी का रोजाना सेवन कर सकते. मौसम में बदलाव के समय अगर आप तुलसी के पत्तों का सेवन करते हैं तो आपको सर्दी और जुकाम जैसी समस्या नहीं होती है.

2.छाले होते हैं दूर: अगर आपको अक्सर छालों की समस्या रहती है तो आपको तुलसी की पत्तियां चबानी चाहिए. ऐसा करने से छाले दूर हो जाते हैं.

3.सांसों की बदबू से मिलता है छुटकारा: कई लोगों को सांसों की बदबू की समस्या होती है. उनके लिए भी तुलसी का सेवन करना काफी फायदेमंद रहता है. तुलसी खाने से धीरे धीरे सांसों की बदबू की समस्या दूर हो जाती है.

4.माइग्रेन और साइनस में मिलता है आराम: अगर आपको माइग्रेन और साइनस की समस्या है तो आपको तुलसी के काढ़े का सेवन करना चाहिए. इससे माइग्रेन और साइनस में काफी आराम मिलता है.

5.दस्त में मिलती है राहत: अगर दस्त की समस्या हो तो तुलसी के पत्तों और जीरे का उपाय काफी कारगर रहता है. तुलसी और जीरे को साथ मिलाकर पीस लें और दिन में चार से पांच बार इसे चाटते रहें. ऐसा करने से मरीज को काफी आराम मिलता है.

6.तुलसी की चाय भी है फायदेमंद: आप चाहें तो रोजाना तुलसी की चाय का भी सेवन कर सकते हैं. गर्म उबलते हुए पानी में तुलसी की कुछ पत्तियां डालकर 2 से 3 मिनट तक खौलाइये. इसके बाद छलनी से चाय वाले कप में छान लीजिए. अब इसे पी जाएं. इसे पीने से आपको काफी फायदा मिलेगा.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. मुजफ्फरपुर नाउ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

Input : News18

 

 

HEALTH

घर में लगाएंगे ये पौधे तो जहरीली हवा से मिलेगी राहत, कम देखभाल में देंगे ज्यादा लाभ

Santosh Chaudhary

Published

on

एक बार फिर दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों की आबो-हवा खराब हो गई है। सड़कों पर तो बुरा हाल है ही, घरों और ऑफिस के अंदर भी सांस लेने लेने में लोगों को तकलीफ हो रही है। ये प्रदूषित हवा आपको काफी बीमार कर सकती है। घर और ऑफिस में रहते हुए यदि आप थोड़ा एतिहात बरत लें तो आपको इस जहरीली हवा से राहत मिल सकती है।

बढ़ते प्रदूषण के कारण लोग जहां मास्क और एयर प्यूरीफायर की खोज में लगे हैं। इसी बीच हम आपको ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे है जो सस्ते होने के साथ ही आपके घर की सुंदरता में चार चांद लगा देंगे। कुछ ऐसे पौधें मौजूद हैं जो आपको ताजी हवा देने के साथ ही कई बीमारियों को भी दूर भगाने में मदद करते हैं।  आप इन्हें अपने घर और ऑफिस में लगाकर खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।

इन पौधों को लगाने से खुद को स्वस्थ रख सकते हैं आप

एलोवेरा

एलोवेरा स्कीन के लिए तो लाभदायक है ही, ये पौधा एक अच्छा एयर प्यूरीफायर भी है। एलोवेरा अनेक औषधीय गुणों से भी परिपूर्ण है।  केमिकल बेस्ड क्लीनर्स पेंट्स में जो हानिकारक फॉरमलडिहाइड पाए जातें है उनसे तो ये वातावरण को मुक्त करता है। साथ ही ये सूरज की थोड़ी रोशनी में अच्छे से पनपता है।

स्नेक प्लांट

स्नेक प्लांट कहे ये मदर-इन-लॉज-टंग बात एक ही है। वायु में जो  खतरनाक तत्व फॉरमलडिहाइड मौजूद होते हैं उन्हें फिल्टर करने के लिहाज से यह बेस्ट है। ये हानिकारक तत्व  टॉयलेट पेपर, पर्सनल केयर प्रोडक्टस, टिश्यूज और केमिकल बेस्ड क्लीनर्स के जरिए ये वातावरण में मिल जाता है। स्नेक प्लांट को ज्यादा सूरज की रोशनी की जरुरत भी नहीं होती है। इसलिए आप अपने बाखरुम में लगा सकते हैं।

तुलसी

तुलसी का पौधा नेचुरल एक अच्छा एयर प्यूरिफायर है। ऐसे इसलिए क्योंकि 24 घंटों में से 20 घंटे ऑक्सीजन छोड़ता है। ये पौधा कार्बन डाई ऑक्साइड, कार्बन मोनो ऑक्साइड और सल्फर डाईऑक्साइड जैसे हानिकारक गैस को सोखता है।

स्पाइडर प्लांट

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में यदि आपके पास पौधे की देखभाल करने के लिए समय नहीं है तो आपके लिए स्पाइडर प्लांट एक अच्छा विकल्प है। छोटे-छोटे सफेद फूलों और घनी पत्तियों वाला खूबसूरत पौधा कम देखभाल में भी जीवत रहती है और वायु को शुद्ध करता रहता है। इतना ही नहीं ये रबर, लेदर और प्रिटिंग मैटेरियल में जो तत्व और कई प्रकार की हानिकारण गैसों जैसे कार्बन मोनो ऑक्साइड से वातावरण को मुक्त करता है।

रबर प्लांट

कई बार ऑफिस में भी शुद्ध हवा की कमी महसूस होती है ऐसे में आप वहां  रबर प्लांट्स रख सकते हैं। इसे जीवत रखने के लिए थोड़ी सी धूप भी काफी है।  वुडन फर्नीचर से जो हानिकारक ऑर्गेनिक कंपाउंड फॉरमलडिहाइड रिलीज होता है उससे वातावरण को मुक्त करने की इनकी क्षमता लाजवाब है।

फाइकस बेंजामिना

ये पौधा वातावरण को  फर्नीचर द्वारा रिलीज होने वाले फॉरमलडिहाइड, बेंजीन और ट्राइक्लोरोथाइलीन जैसे तत्वों से बचाता है। हालांकि, समय पर इसे पानी और देखभाल की जरुरत होती है। जैसे ही पर्याप्त रोशनी और देखभाल इसे मिल जाती है और ये अपनी डनडोर कंडीशन में सेट हो जाता है तो ये लंबे समय तक जीवित रहता है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

HEALTH

रोज सोने से पहले खाएं उबला हुआ केला, कुछ ही दिन में दिखाई देगा चमत्कार

Santosh Chaudhary

Published

on

केला खाने के फायदों के बारे में तो आपने सुना ही होगा. केले में पोषक तत्व पाए जाते हैं. इसका सेवन करने के कई फायदे हैं. आयुर्वेद में भी केले के सेवन को ऊर्जावर्धक और बलवर्धक बताया गया है. यदि आप केला नहीं खाते तो आप इसका सेवन शुरू कर सकते हैं. आज हम आपको जिस तरह केले के सेवन के बारे में बता रहे हैं वह आमतौर पर अलग है. शायद आपने ऐसा कभी न किया हो. लेकिन रात को सोने से पहले केला उबालकर खाने से आपको कुछ ही दिन में इसका असर दिखाई देने लगेगा. कुछ लोग शरीर का वजन बढ़ाने के लिए भी केले का सेवन करते हैं.

शरीर को ताकत देता है कैल्शियम

आगे हम आपको केले के औषधीय प्रयोग के बारे में बताने जा रहे हैं. यह प्रयोग आपके लिए बेहद आसान और फायदेमंद है. यदि आपको भी रात में नींद नहीं आने की समस्या है तो केले का सेवन आपके लिए गुणकारी साबित होगा. केले में पाया जाने वाला कैल्शियम आपके शरीर को ताकत तो देता है साथ ही हडि्डयों को भी मजबूत करता है. इसलिए इसे आयुर्वेद में भी हड्डियों को मजबूत करने वाला फल माना गया है.

यदि आपको भी रात में नींद नहीं आने की शिकायत है तो सोने से ठीक पहले छिलके सहित केले की चाय बनाकर पिएं. ऐसा लगातार एक हफ्ते तक करने से आपको रात में अच्छी नींद आएगी. साथ ही आप सुबह को बिस्तर से उठने के बाद खुद को पहले से ज्यादा फ्रेश महसूस करेंगे.

बनाने की विधि

यदि आपको नींद नहीं आने की समस्या है तो एक छोटे आकार के पके हुए केले के साथ ही एक छोटा टुकड़ा दालचीनी और एक कप पानी लें. इसके बाद पानी में दालचीनी डालकर उबाल आने दें. पूरा उबाल आने पर केले को छिलके समेत काटकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और उबलते हुए पानी में डाल दें. 10 मिनट तक धीमी आंच पर पकाने के बाद छानकर इस पानी को चाय की तरह पिएं.

ऐसा करने से आपको नींद न आने की समस्या में राहत मिलेगी. यदि आपकी नींद रात में खुल जाती है तो भी यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा. शायद आपको यह पता न हो कि इसके छिलके भी बहुत गुणकारी होते हैं. केले के छिलकों में भी मैग्नीशियम और पोटेशियम पाया जाता है. ये दोनों ही नर्वस सिस्टम को रिलेक्स कर नींद लेने में सहायक होते हैं.

Input : Zee News

Continue Reading

HEALTH

क्या आप भी दर्द को नजरअंदाज करते हैं, यह आदत इस रूप में बढ़ा सकती परेशानी

Santosh Chaudhary

Published

on

शरीर के किसी हिस्से में अगर दर्द शुरू होता है तो उसे नजरअंदाज करना खतरनाक हो सकता है। दर्द अक्सर किसी भी व्यक्ति को जोड़ों से शुरू होता है। इसमें युवाओं के दर्द का सबसे बड़ा कारण सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस होता है। ससमय इलाज नहीं कराने से यह दर्द धीरे-धीरे परेशानी का कारण बन जाता है। उक्त बातें CME(Continuing medical education) में पैथोलॉजी विभाग के डॉ. विवेक कुमार ने बताईं।डॉ. कुमार ने बताया कि दर्द चार प्रकार के होते हैं। इनमें फिजियोलॉजिकल, न्यूरोपैथिक, इनफ्लेमेटरी एवं डिसफंक्शन पेन होता है।

फिजियोलॉजिकल दर्द चोट लगने या किसी बाहरी परेशानी से होता है। न्यूरोपैथिक का दर्द नसों में होता है। इनफ्लेमेटरी में कमर एवं घुटने का दर्द होता है। जबकि डिसफंक्शनल का दर्द शरीर के किसी भी भाग में अचानक बहुत तेज होता है। इस दर्द का चिकित्सक समुचित कारण का पता लगा इलाज करना जरूरी होता है। ऐसा नहीं करने पर मरीजों की परेशानी बढ़ सकती है। उन्हें दर्द से राहत नहीं मिलेगी।

सीएमई कार्यक्रम में डॉ. विनोद कुमार, डॉ. मनोज कुमार, डॉ. नीरा कुमारी, डॉ. दीपक कुमार, डॉ. एसके पाठक, डॉ. शंकर दयाल सिंह, डॉ. महेश प्रसाद, डॉ. दिनेश साह, डॉ. कमल शर्मा, डॉ. रामउग्र प्रसाद, डॉ. तृप्ति सिंह समेत दर्जनों चिकित्सक ने भाग लिया।

Input : Dainik Jagran

 

Continue Reading
Advertisement
BIHAR4 mins ago

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए डीटीओ कार्यालय में हंगामा, पिटाई

BIHAR5 mins ago

जेपी सेतु पर 20 से शुरू होगा बड़े वाहनों का परिचालन

BIHAR15 mins ago

श्रद्धांजलि: तब लालू ने कहा था- बिहार को भले ही बंधक रखना पड़े, वशिष्ठ बाबू का इलाज विदेश तक कराएंगे

BIHAR23 mins ago

मिठनपुरा में फ्लावर मिल से एक ट्रक श’राब जब्त

BIHAR47 mins ago

प्रकाश पर्व : कंगन घाट पर बनेगी पांच हजार क्षमता वाली टेंट सिटी

BIHAR11 hours ago

डॉ. वशिष्ठ नारायण के निधन पर PM मोदी ने जताया शोक, कहा- देश ने खो दी विलक्षण प्रतिभा

TRENDING12 hours ago

लता मंगेशकर चौथे दिन भी आईसीयू में, हालत स्थिर; परिजन ने कहा-दुआओं के लिए शुक्रिया

BIHAR12 hours ago

रेड मारने गई बिहार पुलिस को उतारनी पड़ गई पैंट

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर प्लेटफार्म एक पर चलना दुश्वार, हर तरफ कब्जा

MUZAFFARPUR13 hours ago

ईमानदारी की दुकान चला रहे बच्चे

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

INDIA2 weeks ago

छठ पूजा के दौरान दिखी यमुना की ख’तरनाक तस्वीर, सोशल मीडिया पर यूरोप की नदियों से की गई तुलना

Trending

0Shares