Connect with us

BIHAR

डियर मिस्टर एंड मिस, आप दारोगा और सहायक काराधिक्षक नहीं बन पायेंगे

Muzaffarpur Now

Published

on

अगर आपने अपने नाम के आगे मिस्टर, मिस, श्रीमती, श्री या डाॅ जोड़ रखा है, तो आप दारोगा और सहायक काराधीक्षक बनने के सपने देखना छोड़ दीजिये. क्योंकि ऐसे अभ्यर्थियों के आवेदन को रद्द कर दिया जायेगा.

वहीं, बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने अब इन पदों पर नियुक्ति के लिए शैक्षणिक योग्यता का कटऑफ डेट को भी बढ़ाते हुए एक अगस्त निर्धारित कर दिया है. जिससे हजारो की तादाद में युवा लाभान्वित होंगे. और उन्हें आवेदन करने का मौका मिल सकेगा. चूँकि, पहले यह तिथि एक जनवरी, 2019 थी. और मगध विश्वविद्यालय के सत्र में देरी होने की वजह से 2015-18 सत्र के लगभग 86000 छात्रों को फरवरी 2019 में डिग्री मिली थी. ऐसे में पहले के शैक्षणिक योग्यता कटऑफ तिथि के आधार पर वह आवेदन करने के लिए अयोग्य थे.

मालूम हो कि, अयोग्य ने दारोगा के 2064, सार्जेंट के 215, सहायक अधीक्षक कारा के 125 और सहायक अधीक्षक कारा (भूतपूर्व सैनिक कोटा) के 42 पदों पर नियुक्ति के लिए आवेदन माँगा है. जिसके लिए आवेदन भरने की तिथि 25 सितंबर तक निर्धारित की गयी है. आवेदन भरने के लिए अभ्यर्थी, आयोग (BIHAR POLICE SUB-ORDINATE SERVICES COMMISSION) के दिशानिर्देश को वेबसाइट पर देख सकते है.

बता दें कि पिछले साल दारोगा के 1717 पदों पर मांगे गए आवेदन में करीब 10 हजार अभ्यर्थियों के आवेदन केवल इसलिए निरस्त कर दिए गए थे. क्योंकि उनसे आवेदन भरने के दौरान चुक हो गई थी. जिसमे अधिकांश मामले एक इ-मेल पते के साथ कई आवेदन करने के पाए गए थे. जबकि, आयोग के इस सम्बन्ध में स्पष्ट निर्देश है कि एक इ-मेल पते के साथ सिर्फ एक आवेदन ही किया जा सकता है.

उधर, आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की सहयता के लिए आयोग ने हेल्प-डेस्क भी बनाये है. जिसके तहत छह हेल्पलाइन नंबर जारी किये गए है. जो 9431011448, 9431011449, 9431011450, 9431010907, 9431010908 व 7970989433 है.

 

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में 21 चिकित्सकों समेत 58 संक्रमित मिले, सूबे में सात की मौत

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर/पटना : मुजफ्फरपुर में शुक्रवार को फिर 58 कोरोना पॉजिटिव मिले। इसमें एसकेएमसीएच के पांच व सदर अस्पताल से जुड़े दो समेत 21 चिकित्सक शामिल हैं। इसके साथ ही जूरन छपरा इलाका हाई रिस्क में चला गया है। यहां निजी क्लीनिक चलाने वाले कई चिकित्सकों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। करीब सौ लोगों के नमूने लिए गए हैं।

इधर, केजरीवाल अस्पताल को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। अस्पताल के शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने बताया कि जो बच्चे भर्ती हैं, उनका इलाज होगा। नए मरीजों को भर्ती नहीं किया जाएगा। कई चिकित्सक पारिवारिक कारणों से अवकाश पर हैं। इसलिए यह कदम उठाया गया है। एसकेएमसी के प्राचार्य डॉ. विकास कुमार ने बताया कि 58 लोग संक्रमित मिले हैं। इनमें अधिकतर निजी व सरकारी चिकित्सक हैं। इधर, राज्य में कुल 428 नए मरीज मिले हैं। वहीं सात की मौत हो गई। कैमूर, नालंदा, पश्चिम चंपारण व पटना में एक-एक व पूर्वी चंपारण में दो ने दम तोड़ दिया। एम्स पटना में दरभंगा के संक्रमित वृद्ध की जान चली गई।

वरीय अधिकारी भी संक्रमित : मुजफ्फरपुर में स्वास्थ्य विभाग के एक वरीय अधिकारी व सदर अस्पताल की प्रयोगशाला से जुड़े चिकित्सक पॉजिटिव मिले हैं। वरीय अधिकारी ने तीन दिन पहले नमूना दिया था। उसके बाद से लगातार बैठकों में शामिल होते रहे। रोज जिला स्वास्थ्य समिति व सदर अस्पताल कार्यालय में भी आते रहे।

  • ’केजरीवाल अस्पताल बंद, संक्रमण के हाई रिस्क में जूरन छपरा कंटेनमेंट जोन बनाने की कवायद
  • 100 लोगों के जूरन छपरा इलाके में लिए गए नमूने

कोरोना को लेकर शनिवार को सिविल सर्जन के साथ बैठक होगी। इसमें ताजा मामलों की समीक्षा होगी। कंटेनमेंट जोन बनाने पर निर्णय लिया जाएगा।

-डॉ. चंद्रशेखर सिंह, डीएम, मुजफ्फरपुर

सदर अस्पताल के चिकित्सक व कर्मियों के नमूने होंगे संग्रहित

मुजफ्फरपुर : जूरन छपरा में सबसे ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। इसलिए उस इलाके को कंटेंटमेंट जोन बनाने की कवायद चल रही है। यह संकेत सिविल सर्जन डॉ.एसपी सिंह ने दिए। बताया कि सदर अस्पताल के सभी चिकित्सक व कर्मियों के नमूने संग्रहित करने का आदेश दिया गया है। दस अस्पतालों को चिह्नित किया गया है। वहां भर्ती मरीजों की लाइन लिस्ट कराने के बाद नमूने संग्रहित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जूरन छपरा इलाके से सौ लोगों के नमूने संग्रहित किए गए हैं। वहीं, आधा दर्जन निजी अस्पतालों में मरीजों को क्वारंटाइन किया गया है।

ये बनी रणनीति : ’ केजरीवाल सहित 10 निजी अस्पताल की जांच कर वहां भर्ती मरीजों की सूची बनाकर उसके संपर्क में आए लोगों की खोज होगी। ’ वहां पर भर्ती मरीजों की जांच के बाद रिपोर्ट निगेटिव आने पर उनको छुट्टी मिलेगी। अगर पॉजिटिव होंगे तो वहीं पर इलाज किया जाएगा। ’

  • जूरन छपरा इलाके से लिए गए सौ लोगों के नमूने, आधा दर्जन निजी अस्पतालों में मरीजों को किया गया क्वारंटाइन
  • बोले एसडीओ पूर्वी, कोई अस्पताल सील नहीं

एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार ने कहा कि अभी तक कम्युनिटी स्प्रेड का मामला नहीं मिला है। इसलिए न कोई अस्पताल व क्लीनिक सील किया गया है और न ही कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। कर्मियों की जांच रिपोर्ट आने के बाद जरूरत के अनुसार ही कंटेनमेंट जोन व सील करने की कवायद की जाएगी।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

सावधान! अब खुला खाद्य तेल की बिक्री पर होगी सख्ती, बेचे तो हो सकती है उम्र कैद और जुर्माना भी

Muzaffarpur Now

Published

on

खुला खाद्य तेल बेचे तो जेल हो सकती है। छह महीने से लेकर उम्र कैद तक की सजा हो सकती है। साथ में एक से दस लाख तक का जुर्माना भी। केन्द्र सरकार ने खुले खाद्य तेल की बिक्री पर रोक लगा दी है। साथ ही इसका कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया है। खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने यह निर्देश सभी राज्यों के खाद्य सचिवों को भेजा है।

careful now sale of open edible oil will be strictly prohibited in all state including bihar if sol

कोरोना महामारी के फैलने के बाद केन्द्रीय खाद्य मंत्रालय इसको लेकर ज्यादा सतर्क हो गया है। सरकार का मानना है कि खुला तेल बेचने में मिलावट की आशंका बनी रहती है, जिसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव होता है। केन्द्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि वर्ष 2011 में बने कानून में ही खुले तेल की बिक्री पर रोक है। लेकिन, कई राज्यों से अब भी शिकायतें मिल रही हैं कि खुला तेल धड़ल्ले से बिक रहा है। राज्य सरकार को इस पर सख्त कराई करनी चाहिए और हर हाल में खुला तेल की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए।

Mustard oil, once king of the kitchen, sees fewer buyers

राज्य में चार हजार करोड़ का व्यापार

राज्य में खाद्य तेल के रूप में ज्यादा सरसों तेल औ रिफाइंड की बिक्री होती है। ब्रांडेड कंपनियां तो पैक तेल ही बेचती हैं, लेकिन इसे खरीद कर खुदरा बेचने वाले व्यापारी खोलकर बेचते हैं। यहां लगभग आठ कंपनियों के तेल की बिक्री होती है। इसके लिए लगभग 250 वितरक राज्यभर में विभिन्न कंपनियों का तेल बेचते हैं।

लोकल कंपनियों का भी है व्यापार

राज्य में ऐसी कई कंपनियां व्यापार करती हैं जो हल्दिया और राजस्थान के साथ मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों से टैंकर में तेल मंगाती हैं। ऐसे व्यापारी टैंकर के तेल को लोकल ब्रांड के नाम से स्थानीय डब्बे में पैक करते हैं। चूकि पैकिंग स्थानीय स्तर पर ही व्यापारी करते हैं, लिहाजा वहां भी मिलावट का खतरा रहता है।

छोटे ग्राहकों को होगी परेशानी

खुले तेल की बिक्री बंद होने से ऐसे लोगों को परेशानी होगी, जो रोज कमाते-खाते हैं। बड़ी कंपनियों का छोटा पैक बाजार में नहीं दिखता है। लेकिन मजदूर तबके के कई ऐसे परिवार हैं जो रोज सौ ग्राम तेल ही खरीदते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे व्यापारी हैं जो मिल चलाते हैं और सरसों आदि की पेराई कर तेल बेचते हैं। उनके पास कोई ब्रांड नहीं होता है, लेकिन ग्राहक उसे अधिक शुद्ध मानते हैं।

अब तक केन्द्र सरकार का निर्देश वाला पत्र नहीं मिला है। पत्र आने में थोड़ा वक्त लगता है। पत्र मिलने पर उसके अनुसार कार्रवाई होगी। – विनय कुमार, सचिव, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग

Input : Hindustan

Continue Reading

BIHAR

बिहार में बाढ़ राहत की तैयारी शुरू, इस बार बाढ़ पीड़ितों को पके खाने का पैकेट दिया जाएगा!

Muzaffarpur Now

Published

on

दूध के पैकेट की तरह पानी का भी रेडीमेड पैक और खाना भी डब्बा बंद पैकेट में… इस बार ऐसी व्यवस्था बाढ़ राहत शिविरों में करने को लेकर मंथन जारी है। कोरोना का फैलाव रोकने के लिए सामुदायिक किचन में ऎसी व्यवस्था की जाएगी। लोग बिना एक दूसरे के संपर्क में आए अपने परिवार के साथ बैठकर खाना खा सकेंगे।

bihar flood

दरअसल इस बार बिहार में मानसून काफी अच्छा है। बीते कई वर्षों की तुलना में इस बार बारिश की स्थिति अच्छी है। अच्छी बारिश के कारण जहां खेती आसान हुई है वहीं दूसरी ओर बिहार में बाढ़ का खतरा भी बढ़ गया है। खासकर नेपाल से आने वाली नदियों में पानी आने पर उत्तर बिहार के डेढ़ दर्जन जिले बाढ़ की चपेट में कभी भी आ सकते हैं। इस परिस्थिति से निपटने के लिए आपदा प्रबंधन विभाग कार्य योजना बनाकर काम कर रहा है।

कोरोना काल को देखते हुए लोगों को इससे बचाने के लिए विभाग रेडीमेड खाने का पैकेट देने पर विचार कर रहा है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार अब तक बाढ़ राहत शिविर में बच्चों, वृद्ध और गर्भवती महिलाओं को दूध का पैकेट दिया जाता रहा है। बाकी थाली में लोग खाना लेकर खाते हैं। पानी की अलग व्यवस्था होती है। लेकिन इस प्रक्रिया में भीड़ लग सकती है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अधिक रहेगा।

बाढ़ राहत शिविर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके इसके लिए पीएचईडी पानी के पैकेट पर विचार कर रहा है। इसकी प्रक्रिया शुरू है। जिलों से इस पर संपर्क किया जा रहा है कि खाना बनाने के बाद उसे डब्बे में बंद कर किस तरह दिया जाए कि परिवार के लोग एक स्थान पर बैठकर आराम से खाना खा सकें और दूसरों के संपर्क में भी नहीं आएं। मास्क, सेनेटाइजर सहित अन्य व्यवस्था के साथ आपदा प्रबंधन इस पर काम कर रहा है। बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई तो जिलों को इस बाबत आवश्यक निर्देश दिया जाएगा।

Input : Hindustan

Continue Reading
MUZAFFARPUR18 mins ago

मुजफ्फरपुर में 21 चिकित्सकों समेत 58 संक्रमित मिले, सूबे में सात की मौत

BIHAR9 hours ago

सावधान! अब खुला खाद्य तेल की बिक्री पर होगी सख्ती, बेचे तो हो सकती है उम्र कैद और जुर्माना भी

BIHAR9 hours ago

बिहार में बाढ़ राहत की तैयारी शुरू, इस बार बाढ़ पीड़ितों को पके खाने का पैकेट दिया जाएगा!

INDIA11 hours ago

कोरोना की मार, रोजी-रोटी के लिए सब्जी बेचने को मजबूर हुए ये पंजाबी सिंगर

EDUCATION11 hours ago

सबसे बड़ी खबर: NEET, JEE Main और JEE Advance फिर स्थगित, अब सितंबर में होंगे एग्जाम

WORLD11 hours ago

चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में गतिरोध पर भारत का जापान ने किया समर्थन

INDIA12 hours ago

ये शख्स पहनता है देश का सबसे महंगा मास्क? कीमत 3 लाख रुपये

MUZAFFARPUR12 hours ago

जिले में पहली बार चला बाइक के साथ मास्क चेकिंग अभियान

BIHAR12 hours ago

देखें वीडियो : कोरोना के पॉजिटिव इफेक्ट! पूर्णिया में मिली गैंगेटिक डॉल्फिन

BIHAR13 hours ago

इस बार घर पर बनाएं बिहार का फेमस लिट्टी चोखा, चलेगा स्वाद का जादू

INDIA4 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR3 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

ENTERTAINMENT3 days ago

सामने आया चंद्रचूड़ सिंह के फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का असली रीजन

BIHAR3 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA3 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR1 week ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA2 weeks ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA3 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

Trending