नीतीश मॉडल की हवा निकाल दी UNDP की रिपोर्ट ने, बिहार को बताया सबसे गरीब राज्य

0
5296

‘बिहार में बहार है क्योंकि नीतीश कुमार है’ ये जुमला सीएम नीतीश के समर्थकों का है. कथित ‘सुशासन बाबू’ नीतीश कुमार 2005 से लगातार मुख्यमंत्री हैं. लेकिन सवाल ये है कि कुर्सी पर रहते हुए नीतीश कुमार ने 2005 से अभी तक बिहार को क्या दिया? बिहार में कितना बहार आया? कितना विकास हुआ? यह सवाल इसलिए उठ रहा है कि UNDP की रिपोर्ट में बिहार को देश का सबसे गरीब राज्य बताया गया है.

बिहार को नहीं मिलेगा स्पेशल स्टेटस

15वें वित्त आयोग की टीम पांच दिवसीय दौरे के बाद बिहार से रवाना हो गई. वित्त आयोग की टीम ने साफ कर दिया कि बिहार को स्पेशल स्टेटस देने का अधिकार उनके पास नहीं है. इधर यूएनडीपी की वैश्विक गरीबी सूचकांक रिपोर्ट 2018 ने बताया कि बिहार सबसे गरीब राज्य है. यूनाइटेड नेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम की रिपोर्ट ने नीतीश मॉडल के विकास की हवा निकाल दी है.

CLICK ON IMAGE FOR MORE INFO

क्या है UNDP की रिपोर्ट में

एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, बिहार देश का सबसे गरीब राज्य है. यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम (यूएनडीपी) और ओपीएचआई की रिपोर्ट बताती है कि बिहार की आधी से ज्यादा आबादी गरीब है. इस रिपोर्ट के मुताबिक, झारखंड की स्थिति भी बिहार से सही है. गरीबी की इस लिस्ट में जहां पहले स्थान पर बिहार है, वही दूसरे स्थान पर झारखंड और उत्तर प्रदेश है. तीसरे नंबर पर है मध्य प्रदेश. रिपोर्ट के अनुसार बिहार में 19.3% और यूपी में 19.7% लोग गरीब है.

वहीं झारखंड और मध्य प्रदेश में 20.6 % लोग हाशिए पर हैं. रिपोर्ट बताता है कि अगर जल्दी ही गरीबी पर काबू नहीं पाया गया तो ये पूरे बिहार को लील लेगा. बता दें कि साक्षरता के मामले में भी बिहार सबसे पिछड़ा राज्य है. अर्थशास्त्र के जानकारों का कहना है कि बिहार में उतना काम नहीं हुआ. वहीं उद्योग जगत के लोग भी आरोप लगा रहे है कि सोशल सेक्टर में सरकार जितनी राशि खर्च कर रही है उसका ठीक से इंप्लीमेंट और मॉनिटरिंग नहीं हो रहा है.

Input : Live Cities