कश्मीर मामले में भारत ने कभी नहीं मांगी मदद, ट्रंप का दावा झूठा; व्हाइट हाउस को देनी पड़ी सफाई
Connect with us
leaderboard image

WORLD

कश्मीर मामले में भारत ने कभी नहीं मांगी मदद, ट्रंप का दावा झूठा; व्हाइट हाउस को देनी पड़ी सफाई

Santosh Chaudhary

Published

on

कश्मीर के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दावे को भारत ने सिरे से खारिज कर दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से ऐसी कोई गुजारिश नहीं की है। यही नहीं व्हाइट हाउस के आधिकारिक बयान में कश्मीर का कोई जिक्र तक नहीं है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने ट्रंप के बयान को झूठा साबित करते हुए कहा कि कश्मीर, भारत-पाकिस्तान के लिए द्विपक्षीय मसला है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति में कश्मीर पर मध्यस्थता का ऑफर दिया था।

इमरान खान से मुलाकात के दौरान ट्रंप ने दावा किया था कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कश्मीर मसले को लेकर मदद मांगी थी। हालांकि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने साफ कर दिया कि मामले पर भारत किसी भी तीसरे पक्ष को बर्दास्त नहीं कर सकता। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने भी अपने बयान में कहा है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मसला है। हम उन प्रयासों का समर्थन करना जारी रखेंगे जो दोनों देशों के बीच तनाव को कम करते हैं और बातचीत के लिए अनुकूल माहौल बनाते हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में साफ किया है कि भारत और पाकिस्तान के बीच सफल वार्ता तभी संभव है, जब पाकिस्तान अपने आतंकवादियों के खिलाफ निरंतर और सख्त कदम उठाए। उन्होंने कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच में असली जड़ पाकिस्तान की ज़मीन पर पनप रहा आतंकवाद है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मध्यस्थता के दावे को खारिज करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने साफ कर दिया की पीएम मोदी ने कश्मीर मसले पर कभी भी मध्यस्थता की बात नहीं कही। उन्होंने कहा कि हमने अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा प्रेस को दिए उस बयान का देखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि यदि भारत और पाकिस्तान अनुरोध करते हैं तो वह कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से इस तरह का कोई अनुरोध नहीं किया है।

दूसरे ट्वीट में रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान के साथ किसी भी बातचीत के लिए सीमापार आतंकवाद पर रोक लगाना जरूरी होगा। भारत और पाकिस्तान के बीच सभी मुद्दों के द्विपक्षीय रूप से समाधान के लिए शिमला समझौता और लाहौर घोषणापत्र का अनुपालन आधार होगा।

वहीं, अमेरिकी सांसद ब्रैड शेरमन ने ट्रंप के दावे को झूठा करार दिया है। उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी कभी भी कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का सुझाव नहीं देंगे। ट्रम्प का बयान शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि हर कोई जानता है कि भारत लगातार कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का विरोध करता रहा है।

बता दें कि द्विपक्षीय संबंधों में सुधार को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी। व्हाइट हाउस में हुई मुलाकात के दौरान इमरान खान के साथ पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा, आइएसआइ प्रमुख ले.जनरल फैज हमीद और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी मौजूद थे।

Input : Dainik Jagran

 

WORLD

शादी के लिए कोर्स अनिवार्य, फेल हुए तो छिन जाएगा विवाह का अधिकार

Ravi Pratap

Published

on

शादी को लेकर अमूमन कहा जाता है कि यह ऐसा लड्‌डू है, जिसे खाने वाला भी पछताता है और नहीं खाने वाला भी। इंडोनेशिया में इन दिनों शादी को लेकर खूब चर्चाएं हो रही हैं। दरअसल, यहां सरकार प्री-वेडिंग कोर्स शुरू करने जा रही है।

इसमें शादी करने जा रहे जोड़ाें को शादी के बाद जिंदगी में होने वाले बदलावों के बारे में शिक्षित किया जाएगा। इन्हें सेहत का ध्यान रखने, बीमारियों से बचने और बच्चों की देखभाल की ट्रेनिंग दी जाएगी, ताकि ये जोड़े सफल दांपत्य जीवन शुरू कर सकें। शादी लायक उम्र के हाे चुके सभी युवाओंके लिए यह काेर्स अनिवार्य है। फेल हाेने वालाें काे सरकार शादी का अधिकार नहीं देगी।

इंडोनेशिया के अखबार ‘जकार्ता पोस्ट’ के मुताबिक, यह कोर्स 2020 में शुरू होगा और मुफ्त में कराया जाएगा। तीन महीने का यह कोर्स इंडोनेशिया के मानव विकास और सांस्कृतिक मंत्रालय ने धार्मिक और स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर तैयार किया है। स्वास्थ्य विभाग की डायरेक्टर जनरल किराना प्रितसरी ने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। पहले भी विभाग शादी लायक युवक-युवतियों को प्रशिक्षित करता रहा है। फर्क सिर्फ इतना है कि अब यह पूरे देश में लागू किया जा रहा है।

‘शादी एक बड़ी जिम्मेदारी’

कोर्स बिल्कुल सरल है, लेकिन अगर कोई जोड़ा इसमें फेल हो जाता है, तो इंडोनेशिया की सरकार उन दोनों से शादी का अधिकार छीन लेगी। इस तरह के विवाह पूर्व कार्यक्रम का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि कोई भी जोड़ा वैवाहिक जीवन को संभालने और माता-पिता बनने के लिए भावनात्मक और शारीरिक रूप से कितना तैयार है। इंडोनेशिया के मानव विकास और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री मुहाजिर एफेंदी ने कहा कि हर कोई शादी करना चाहता है, लेकिन परिवार चलाना एक अलग बात है। इस कोर्स में केवल शादी को सफल बनाने के नुस्खे ही नहीं बताए जाएंगे,बल्कि बच्चों की देखभाल करना, बीमारियों से बचाव और स्वास्थ्य का ख्याल रखना भी सिखाया जाएगा।

मंत्री ने कहा- लोग जिम्मेदार रहें इसलिए यह कोर्स लागू किया गया है

इंडोनेशिया के मानव विकास मंत्री मुहाजिर एफेंदी ने कहा कि कोर्स अनिवार्य इसलिए किया है, ताकि लोग शादी के बाद पूरी तरह जिम्मेदार रहें। 3 महीने तक चलने वाले कोर्स में घरेलू जीवन की हर बारीकी बताई जाएगी, जिसमें घर के आर्थिक हालात जैसा विषय भी शामिल होगा। कोर्स पूरा होने के बाद सर्टिफिकेट के जरिए जोड़ों को शादी की मंजूरी दी जाएगी।

Input : Dainik bhaskar

Continue Reading

WORLD

बिहारी इन चाइना: बाढ़ पी’ड़ितों की पुनर्वास के लिए आगे आए चीन में रह रहे बिहारी

Ravi Pratap

Published

on

बिहार बा’ढ़ पी’ड़ितों की मदद और पुन’र्वास के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में अब चीन में रह रहे बिहार के लोग सूबे की मदद करने के लिए आगे आए हैं। ‘बिहारी इन चाइना’ के सदस्यों ने बाढ़ पी’ड़ितों की मदद के लिए अपना योगदान दिया है। इन सदस्यों की तरफ से 1,12,472 रुपये सहायता राशि शंघाई स्थित प्रधान कोसलावास को सौंपी गई।

चीन में रह रहे बिहारी समाज के लोग सूबे की मदद के लिए पहली बार इस तरह से एक मंच पर साथ आए हैं। एक महीने पहले ही बिहार के मधुबनी के रहने वाले रोहित और मोतिहारी के रहने वाले अमित चीन के कुछ लोगों के साथ यहां आए थे, जिन्होंने बाढ़ पीड़ितों की मदद भी की थी। रोहित और अमित चीन में रिसर्च स्कॉलर हैं और काफी लंबे समय से वहां रह रहे हैं।

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए शंघाई में आयोजित एक कार्यक्रम में अमित चंद्र देशमुख, रोहित राज, फजल आलम, अनंत, तान्या , रीना गुप्ता और अशेष गुप्ता ने चीन के अगल-अलग इलाकों से इकट्ठा धनराशि का सामूहिक चेक प्रधान कोसलावास अनिल राय को सौंपा। इस दौरान अनिल राय की पत्नी हर्षिता राय भी वहां मौजूद थीं।

 

चीन के अलग अलग क्षेत्रों में तकरीन 100 से ज्यादा बिहारी समाज के लोग बिहारी इन चाइना ग्रुप से जुड़े हैं। ग्रुप की तरफ से देश के बाहर अपनी माटी से जुड़े रहने और अपने लोगों को मदद की हमेशा कोशिश रहती है। इसके माध्यम से चीन में बिहार का खानपान, देसी पहनावा और संस्कृति को आगे बढ़ाने का भी काम किया जाता है।

Input: NBT

Continue Reading

WORLD

चमत्कार…डॉक्टर ने म’रीज को 2 घंटे के लिए मा’रा, इलाज के बाद फिर जिं’दा किया

Santosh Chaudhary

Published

on

अब डॉक्टर आपको मा’रकर यानी मु’र्दा बनाकर करेंगे इलाज. अगर आप गंभीर रूप से घा’यल हैं या आपको दिल का दौ’रा पड़ा है. या आपके सिर में गं’भीर चो’ट है. चिंता न करिए…आप म’रकर वापस जिं’दा भी हो जाएंगे. ऐसा अमेरिका के डॉक्टरों का दावा है. उन्होंने दावा किया है कि ये परीक्षण 10 लोगों पर सफल रहा है.

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

कहां हुआ ये हैरतअंगेज परीक्षण?
अमेरिका के बाल्टीमोर शहर के यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन सेंटर के डॉक्टरों ने यह आश्चर्यजनक कारनामा किया है. इस परीक्षण की रिपोर्ट न्यू साइंटिस्ट मैगजीन में प्रकाशित हुई है.

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

किसने किया ये मेडिकल टेस्ट?
यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन सेंटर के डॉक्टर सैम्युएल टिशरमैन और उनकी सर्जिकल टीम ने.

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

मकसद क्या था मरीज को मारकर जिंदा करने का
डॉ. सैम्युएल टिशरमैन चाहते हैं कि अगर मरीज बेहद गंभीर हालत में आता है तो कई बार सर्जरी के दौरान उसकी मौत हो जाती है. डॉक्टरों के पास उसे बचाने के लिए समय नहीं मिलता. इसलिए वे मरीज को उसी घायल अवस्था में मुर्दा बना दें तो उन्हें उसे ठीक करने का समय मिल जाएगा.

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

किस तरह की पद्धत्ति अपनाई डॉक्टरों की टीम ने?
यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन सेंटर के डॉ. सैम्युएल टिशरमैन ने इंसान को मारकर उसका इलाज करने के बाद वापस जिंदा करने की जो तकनीक अपनाई उसका नाम है – इमरजेंसी प्रिजरवेशन एंड रीससिटेशन (EPR).

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

आखिर क्यों जरूरत पड़ी इस तरीके के इलाज की?
डॉ. सैम्युएल टिशरमैन के पास एक बार स्वस्थ युवक आया जिसके दिल में किसी ने चाकू मार दिया था. उसे तत्काल इलाज के लिए ले गए लेकिन उसी दौरान उसकी मौत हो गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

आखिर डॉक्टरों को प्रेरणा कहां से मिली इसकी?
एक दिन डॉ. सैम्युएल टिशरमैन ने पढ़ा कि गंभीर रूप से घायल सुअर को तीन घंटे के लिए मार डाला गया, इलाज के बाद उसे फिर से ठीक कर दिया. तभी उनके दिमाग में ये आइडिया आया. क्यों न इंसानों को भी इसी तरह कुछ घंटे मारकर ठीक किया जा सकता. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

फिर क्या किया डॉक्टरों की टीम ने
EPR तकनीक में गंभीर रूप से घायल इंसान को 10 से 15 डिग्री सेल्सियस पर रख दिया जाता है. पूरे शरीर के खून के बेहद ठंडे सलाइन से बदल दिया जाता है. खून को निकालकर सुरक्षित रख देते हैं. दिमाग काम करना बंद कर देता है. ऐसी हालात में घायल इंसान मरा हुआ होता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

इलाज के बाद शरीर में वापस बहा देते हैं खून
डॉ. सैम्युएल टिशरमैन ने यही पद्धत्ति अपनाई. उन्होंने अपनी टीम के साथ मिलकर यह परीक्षण 10 लोगों पर किया. अधिकतम दो घंटे के इलाज के बाद डॉ. सैम्युएल टिशरमैन ने मरीज के शरीर को वापस 37 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर लाए. शरीर में खून का प्रवाह किया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

गर्मी मिली तो शरीर ने फिर काम करना शुरू कर दिया
जब शरीर को सामान्य तापमान मिला तो उसने काम करना शुरू कर दिया. दिल धड़कने लगा और खून दिमाग में पहुंचने लगा. धीरे-धीरे पूरा शरीर सामान्य हो गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चमत्कार...डॉक्टर ने मरीज को 2 घंटे के लिए मारा, इलाज के बाद फिर जिंदा किया

अमेरिकी प्रशासन ने दी थी परीक्षण की अनुमति
अमेरिकी संस्थान यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने डॉ. सैम्युएल टिशरमैन को उनका परीक्षण पूरा करने की अनुमति दी थी. अब भी परीक्षण जारी है. डॉ. सैम्युएल टिशरमैन ने कहा कि वे 2020 के अंत तक इस परीक्षण का पूरा परिणाम बताएंगे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Input : Ajj Tak

 

 

Continue Reading
Advertisement
BIHAR45 mins ago

प्‍याज के शतक पर गरमाई बिहार की सियासत, BJP बोली- नौटंकी कर रहे पप्‍पू

BIHAR2 hours ago

बिहार में बंद होंगे पो’र्न साइट्स, नीतीश कुमार केंद्र को लिखेंगे पत्र

HEALTH3 hours ago

गुणों की खान हैं आंवला, आंखों से लेकर दिल तक का रखता है ख्‍याल – जानिए

BIHAR5 hours ago

राबड़ी देवी ने है’दराबाद पु’लिस को सराहा, कहा- बिहार में भी इस तरह के ए’नकाउंट’र की जरुरत है

BIHAR6 hours ago

घर वापसी पर शिवांगी को सम्मानित करेगा पूर्व सैनिक संघ

BIHAR7 hours ago

है’दराबाद पु’लिस का ऑन स्पॉट ए’नका’उंटर, बिहार पुलिस अ’धज’ले श’वों को कब दिलाएगी इं’साफ

TRENDING8 hours ago

है’दराबाद एन’काउंटर: पु’लिस पर फूलों की बारिश, लगाए गए जिं’दाबाद के नारे

INDIA8 hours ago

श’र्मनाक : है’दराबाद एन’काउंटर पर उठे सवाल, पु’लिस पर FI’R द’र्ज करने की मांग

INDIA9 hours ago

म’हिला डॉ’क्‍टर के पिता बोले- अब मिली बेटी को शांति

INDIA9 hours ago

है’दराबाद के द’रिंदों के ए’नकाउं’टर पर बोलीं नि’र्भया की मां- वो इसी लायक थे…

TRENDING1 week ago

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे कम समय में 100 मिलियन व्यूज़ मिले

INDIA3 days ago

12वीं पास के लिए CISF में नौकरियां, 81,100 होगी सैलरी

OMG1 day ago

पति ने खुद की पढ़ाई रोककर पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगते ही पत्नी ने दूसरी शादी कर ली

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर बैंक मैनेजर की ह’त्या करने पहुचे शूट’र की लो’डेड पिस्ट’ल ने दिया धो’खा, लोगो ने जम’कर पी’टा

INDIA6 days ago

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर में 8 ब’म मिलने से ह’ड़कंप, घर में छिपाकर रखा गया था ब’म

BIHAR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर पहुंची श्रीराम जानकी विवाह बरात का शंख ध्वनि के बीच भव्य स्वागत

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

BIHAR3 days ago

बिहार पुलिस: सब इंस्‍पेक्‍टर के 221 पदों के ल‍िये आवेदन शुरू, 1 लाख से ज्‍यादा होगी सैलरी

tharki-proffesor
MUZAFFARPUR3 weeks ago

खुलासा: कोचिंग आने वाली हर छात्रा को आजमाता था मुजफ्फरपुर का ‘पा’पी प्रोफेसर’, भेजा गया जे’ल

Trending

0Shares