नए मोटर वाहन संशोधन अधिनियम के विरोध में पप्पू यादव ने चलाई साइकिल
Connect with us
leaderboard image

MUZAFFARPUR

नए मोटर वाहन संशोधन अधिनियम के विरोध में पप्पू यादव ने चलाई साइकिल

Santosh Chaudhary

Published

on

जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि समाज के बुराइयों के खिलाफ जब भी लड़ाई लड़ी गई तो लड़ाई छोटी चिंगारी से ही शुरु हुई है. आज केंद्र एवं राज्य सरकार अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं कर पा रही, जिसके खिलाफ आम आदमी को अपनी आवाज बुलंद करनी चाहिए. आज मुल्क और प्रदेश को बचाने के लिए सभी को एकजुट होने की आवश्यकता है, और निचले पायदान पर बैठे समाज के गरीब तबकों को आगे लाने के लिए आवाज और संघर्ष की आवाज बनने की आवश्यकता है.

पप्‍पू यादव ने ये बातें आज जन अधिकार महिला परिषद द्वारा गैंगरेप , महिला उत्‍पीड़न और नए मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 के विरोध में आयोजित राज्‍यव्‍यापी धरना में शामिल होते हुए पटना के गर्दनीबाग धरना स्‍थल पर कही. उन्‍होंने कहा कि आज बेटियां और महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं. आये दिन प्रदेश की बेटियों के अस्‍मत लूटे जा रहे हैं. पटना जैसे शहर में लॉज मालिक शराब और शवाब की नशे में चूर रहते हैं, ऐसे में इन अवैध हॉस्‍टलों में बेटियां कैसे सुरक्षित रहेंगी. इसलिए आज जन अधिकार महिला परिषद ने राज्‍य के तमाम जिलों के मुख्‍यालय पर धरना देकर विरोध दर्ज कराया है.

वहीं, धरना की अध्यक्षता महिला प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष आभा राय ने कहा कि बिहार की महिलाएं अब अपने ऊपर दमन और अत्‍याचार नहीं सहेंगी. प्रदेश की नीतीश सरकार महिला विरोधी सरकार हैं, तभी तो शराबबंदी के बाद भी उनके ही लोग हर जगह शराब बेचवा रहे हैं. जन अधिकार महिला परिषद इसकी तीखी भर्त्‍सना करती है.

आभा राय ने कहा कि आज जिस तरह से बिहार में महिलाओं पर हमले बढ़े हैं, वो एक चिंता का विषय है. इस पर नेता राजनीति तो करते हैं, लेकिन इन हमलों पर लगाम लगाने के लिए वे कुछ नहीं करते, क्‍योंकि अपराधियों को वही सह देते हैं. ऐसे में प्रदेश की महिलाओं के लिए भाई के रूप में राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पप्‍पू यादव उनके साथ खड़े हैं और अकेले दम पर बेटी की लड़ाई लड़ रहे हैं. चाहे वो मुजफ्फरपुर शेल्‍टर हाउस का मामला हो या फिर कस्‍तूरबा स्‍कूल का. हमेशा उन्‍होंने बेटियों को बचाने के लिए संघर्ष किया है और आज उनके संघर्ष को और तेज करने की जरूरत है.

धरना स्‍थल पर पूर्व सांसद पप्‍पू यादव ने नए मोटर वाहन संशोधन अधिनियम के विरोध में अपने आवास से विरोध स्वरूप साईकिल चलाकर पहुंचे और इस अधिनियम को काला कानून बताया. उन्‍होंने कहा कि आज देश में सबसे ज्यादा नफरत और उन्माद से मौते हो रही है, जिसके खिलाफ कानून बनाने की आवश्यकता है. अपराध और माफिया के सहारे सरकार चलाई जा रही है, जिस कारण पूरे राज्य और देश में हाहाकार की स्थिति है. मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 भारत जैसे देश के लिए काला कानून है.

उन्‍होंने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियां जब आर्थिक मामले में धाराशायी हो गई, तब वे इस कानून के जरिये देश की आम जनता को सजा देने का काम कर रही है. भारत की इकोनॉमी अमेरिका, इंग्लैंड, जापान जैसी तो है नहीं और न हीं सड़क उस तरह की है, फिर इतनी बड़ी धन उगाही किसके लिए? क्या इंश्योरेंस का पैसा इंश्योरेंस कंपनियों को जाएगी? दरअसल केंद्र की सरकार आर्थिक मामलों में पूरी तरह विफल हो चुकी है और देश भयानक मंदी की ओर बढ़ चुका है. उससे उबरने के लिए पैसों का विकेंद्रीकरण करना होगा. पैसे का फ्लो बाजार में बढ़ाने की जरूरत है. लेकिन सरकार वो तो कर नहीं रही. सरकार तो पैसों को कुछ खास लोगों तक ही सीमित कर रही है. ऐसे में देश की आर्थिक हालात खराब होना लाजमी है. सिर्फ मोटर वाहन क़ानून के जरिये धन उगाही करने से अर्थ व्यवस्था पटरी पर कभी नहीं आ सकते, उल्टे आप लाखों नौजवान और छात्रों के लिए परेशानी पैदा कर रहे हैं.

पप्‍पू यादव ने कहा कि सीधी बात है, जिस देश में प्रति व्यक्ति आय न्यूनतम स्तर पर है, वहां जुर्माने की इतनी मोटी रकम तुगलकी फरमान कही जायेगी. जिनकी वेतन 10 हजार है, अगर उसे जुर्माना ही 10 हजार देना पड़ गया,तो वह घर कैसे चलाएगा यह समझने वाली बात है. उन्होंने कहा कि जब तक केंद्र सरकार इसका काला कानून को वापस नहीं लेगी जन अधिकार पार्टी अनवरत आंदोलन चलाती रहेगी. आज गर्दनीबाग में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, दमन, उत्पीड़न तथा नए मोटर वाहन अधिनियम काला कानून के विरोध में धरना दिया गया. जिसमें बड़ी संख्या में महिलाओं के साथ पार्टी के नेता कार्यकर्ता उपस्थित थे.

धरना को राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष पूर्व मंत्री अखलाक अहमद, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज़ अहमद, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, अकबर अली प्रवेज, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह कुशवाहा, प्रदेश प्रधान महासचिव सूर्यनारायण साहनी, प्रदेश महासचिव संदीप सिंह समदर्शी, अरुण सिंह, शंकर पटेल, जावेद इकबाल खान, मोहम्मद अली, छात्र के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद, आजाद चांद, दिलीप यादव,शौकत अली, मनीष यादव, विशाल कुमार, शशांक मोनू, आलोक कुमार, सनी कुमार, महिला प्रकोष्ठ की शीतल गुप्ता, वंदना भारती, रेणु जायसवाल, सुनीता देवी, अर्चना सिंह ,विभा देवी ,प्रिया राज ,कुंदन कुमार, विकास बंसी ,जयप्रकाश यादव, रजनीश तिवारी ,राजीव कुमार कुसुम, प्रोफेसर श्याम देव सिंह, निरंजन कुमार, ब्रजेश यादव, अनुज यादव, काजल कुमारी, सपना कुमारी सहित अन्य नेतागण ने संबोधित किया और धरना में मौजूद रहे.

Input : Live Cities

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर प्लेटफार्म एक पर चलना दुश्वार, हर तरफ कब्जा

Ravi Pratap

Published

on

मुजफ्फरपुर जंक्शन ए वन ग्रेड होने के बावजूद यात्री सुविधाओं में फिसड्डी है। जंक्शन के सभी प्लेटफार्म पर अव्यवस्था का आलम है। प्लेटफार्म संख्या एक भी इससे अछूता नहीं है। यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल न करते हुए रेलवे के अलग-अलग विभागों ने अपने फायदे के लिए प्लेटफार्म संख्या एक पर कब्जा जमा रखा है। इस कारण इस प्लेटफार्म पर यात्रियों का चलना भी दुश्वार हो गया है।

600 मीटर लंबे इस प्लेटफार्म पर कहीं भी ऐसी जगह नहीं बची है, जहां यात्री बेफ्रिक होकर आराम से चल सके। विभागों ने अपना सामान भारी मात्रा में प्लेटफार्म पर जमा लिया है। प्लेटफार्म के एक हिस्से में आरएमएस के हजारों पैकेट पड़े हैं तो दूसरे हिस्से में रेलवे के पार्सल का ढेर लगा है। बचे हिस्से में बॉक्स पोर्टल के सैकड़ों बॉक्स प्लेटफार्म पर पड़े हैं। इसके बाद भी बची-खुची जगहों पर रेलवे ने स्टॉल खुलवा दिया है। अमूमन डाउन लाइन की सभी महत्वपूर्ण ट्रेनें प्लेटफार्म संख्या एक पर ही आती हैं। ट्रेनों पर सवार होने के लिए हर दिन प्लेटफार्म पर अफरातफरी मची रहती है। इस स्थिति में हर तरफ सामान बिखरे होने से दर्जनों यात्री गिरकर चोटिल होते हैं।

पिछले हफ्ते हुई थी मौत

बीते आठ नवंबर को भी प्लेटफार्म एक पर हर तरह का सामान बिखरा पड़ा था। यात्रियों की संख्या भी काफी थी। ट्रेन में चढ़ने के लिए हुई धक्का-मुक्की के क्रम में समस्तीपुर के सुशील झा ट्रैक पर गिर पड़े व ट्रेन से कट गए। दो महीना पहले भी हुई इस तरह की घटना में एक अन्य यात्री की मौत हुई थी। चोटिल होने की घटनाएं अक्सर होती हैं।

प्लेटफार्म पर लगतीं बाइकें

रेलकर्मियों की मनमानी इस तरह चल रही है कि वे अपनी बाइकें प्लेटफार्म पर ही लगाते हैं। कुछ दिन पहले बाइक हटाने के लिए जीआरपी ने अभियान चलाया था। अभियान खत्म होते सैकड़ों की संख्या में बाइकें फिर से लगने लगी हैं। प्लेटफार्म के जिस हिस्से में बाइकें लगाई जाती हैं, वह प्लेटफार्म एक को प्लेटफार्म पांच व छह से जोड़ता है।

रखी जाती निर्माण सामग्री

प्लेटफार्म संख्या तीन व चार का हाल भी कमोबेश एक की तरह ही है। यहां पिछले एक साल से निर्माण काम चल रहा है। इसको लेकर प्लेटफार्म के एक बड़े हिस्से को घेर दिया गया है। निर्माण सामग्री रख दी गई है। इंजीनियरिंग विभाग की लापरवाही के कारण तीन महीने का फुटओवर ब्रिज का कार्य पिछले एक साल से चल रहा है।

प्लेटफार्म संख्या एक पर विभागों का कब्जा कर वहां सामान रख देना गंभीर मामला है। यह यात्रियों के लिए जानलेवा साबित होगा। स्थानीय अधिकारियों ने इस मामले की जानकारी नहीं दी है। मामले की जांच कराई जाएगी। सभी विभागों को सामान हटाने का आदेश दिया जाएगा।

-सीएस प्रसाद, सीनियर डीसीएम, सोनपुर मंडल

Input : Live Hindustan

Continue Reading

MUZAFFARPUR

ईमानदारी की दुकान चला रहे बच्चे

Ravi Pratap

Published

on

कॉपी 10 रुपये, पेंसिल 5 रुपये, कटर 3 रुपये, इरेजर 3 रुपये…। बरामदे में टेबल पर सजी इस दुकान पर कोई दुकानदार नहीं है। सामान के ऊपर गांधीजी की तस्वीर वाला एक पोस्टर और उस पर नाम लिखा है ‘ईमानदारी की दुकान।

बच्चे अपनी जरूरत के अनुसार सामान लेने आते हैं और इसी पोस्टर पर लिखा दाम देख टेबल पर रखे गुल्लक में पैसा डाल देते हैं। ईमानदारी का पाठ किताबों में नहीं बल्कि रोजमर्रा के जीवन में सीखाने के लिए यह अनोखी दुकान कांटी के उत्क्रमित मध्य विद्यालय ढेमहां के बच्चे चला रहे हैं।

जिले का यह स्कूल इन बच्चों की इस अनोखी दुकानदारी की वजह से चर्चा का विषय बना हुआ है। न कोई सामान देने वाला और न कोई रुपये लेने वाला। यहां बच्चों के ईमान पर सामान बिकता है। इस ईमानदारी की दुकान की वजह से बच्चे किताबों से रटकर नहीं बल्कि जीवन में ईमान लाना सीख रहे हैं। बच्चे जितना सामान लेते हैं, खुद ईमानदारी से उसका दाम गुल्लक में डाल देते हैं। पिछले आठ महीने से चल रही ईमानदारी की इस दुकान ने पूरे स्कूल की सूरत बदल दी है।

बाल संसद और मीना मंच के बच्चे करते हैं मॉनिटरिंग

स्कूल में बने बाल संसद और मीना मंच के बच्चे इसे संचालित कर रहे हैं। पहली बार में शिक्षकों ने सहयोग दिया मगर अब सबकुछ खुद बच्चे देख रहे हैं। आरती, कुमकुम, चुलबुल, रोहित, रिमझिम आदि बच्चे कहते हैं कि सामान बिकने से जितने रुपये गुल्लक में आते हैं, उन्हीं से फिर आगे का सामान लाते हैं। कांटी स्थित इस स्कूल के प्रधानाध्यापक गोपाल फलक कहते हैं कि पहले बच्चों को सामान के लिए भटकना पड़ता था। इस दुकान का उद्देश्य बच्चों में स्वाबलंबन, नैतिक शिक्षा और ईमानदारी को जीवन में उतारना है। इन बच्चों की वजह से स्कूल आज मॉडल बन गया है।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में 45 साल के बूढ़े आदमी के साथ लड़की का अ’श्लील वीडियो वायरल

Ravi Pratap

Published

on

इस वक्त एक बड़ी खबर आ रही है मुजफ्फरपुर से, जहां समाज को श’र्मशार करने वाली घटना सामने आई है. सोशल मीडिया पर 45 साल के एक बुजुर्ग के साथ लड़की का अ’श्लील वीडियो वायरल हो रहा है. बदमाशों ने खेत में अ’श्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाला है. मामला सामने आने के बाद पुलिस कार्रवाई में जुटी हुई है.

 

वारदात जिले के सरैया थाना इलाके के जैतपुर ओपी की है. जहां सोशल मीडिया पर 45 साल के एक बुजुर्ग के साथ लड़की का अश्लील वीडियो वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में दिख रहे दोनों लोग खुद को चाचा-भतीजी बता रहे हैं. वीडियो में देखा जा रहा है कि लगभग 18 से 20 साल की एक लड़की 45 साल के एक बूढ़े आदमी के साथ देखी जा रही है. वीडियो बनाने वाले बदमाशों की भी आवाज़ वीडियो में सुनाई दे रही है. जब बदमाशों ने कैमरा ऑन कर उनके रिश्ते के बारे में पूछा तो उन्होंने चाचा-भतीजी होने की बात कही.

सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मुजफ्फरपुर पुलिस हरकत में आई है. एसएसपी जयंत कांत ने वायरल वीडियो की पुष्टि करने की बात कहते हुए बताया कि जांच की जा रही है. आरोपियों को चिन्हित कर उनके ऊपर कार्रवाई की जाएगी.

Input : Ajay Deep (First Bihar jh)

Continue Reading
Advertisement
BIHAR20 mins ago

प्रकाश पर्व : कंगन घाट पर बनेगी पांच हजार क्षमता वाली टेंट सिटी

BIHAR10 hours ago

डॉ. वशिष्ठ नारायण के निधन पर PM मोदी ने जताया शोक, कहा- देश ने खो दी विलक्षण प्रतिभा

TRENDING11 hours ago

लता मंगेशकर चौथे दिन भी आईसीयू में, हालत स्थिर; परिजन ने कहा-दुआओं के लिए शुक्रिया

BIHAR11 hours ago

रेड मारने गई बिहार पुलिस को उतारनी पड़ गई पैंट

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर प्लेटफार्म एक पर चलना दुश्वार, हर तरफ कब्जा

MUZAFFARPUR13 hours ago

ईमानदारी की दुकान चला रहे बच्चे

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर में 45 साल के बूढ़े आदमी के साथ लड़की का अ’श्लील वीडियो वायरल

vashishtha-narayan-singh
BIHAR14 hours ago

श्रद्धांजलि: 31 कंप्यूटर्स से भी तेज चलता था गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का दिमाग

INDIA16 hours ago

झारखंड में BJP को बड़ा झटका दे सकती है JDU-LJP, साथ चुनाव लड़ने के दिए संकेत

BIHAR18 hours ago

गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर सरकार खोलेगी इंजीनियरिंग कॉलेज, CM ने परिजनों को दिया भरोसा

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

INDIA2 weeks ago

छठ पूजा के दौरान दिखी यमुना की ख’तरनाक तस्वीर, सोशल मीडिया पर यूरोप की नदियों से की गई तुलना

Trending

0Shares