Connect with us

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर के जय अलानी देशभर से भगा रहे ‘भूत-प्रेत’

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर में बचपन गुजारने वाला लड़का आज देश-दुनिया में लोगों के मन से भूत का भय भगा रहा है। लोगों को भूत और अंधविश्वास के तिलिस्म से उबारने वाले जय अलानी ने पैरानॉर्मल इन्वेस्टिगेशन के माध्यम से एक अलग पहचान बनाई है। बिहार ही नहीं राजस्थान, मध्यप्रदेश, दिल्ली, महाराष्ट्र आदि के जिलों में जय करीब ढाई सौ पैरानॉर्मल इन्वेस्टिगेशन कर चुके हैं। भूत या अंधविश्वास की बात वाली जगहों पर जय अपनी टीम के साथ रात गुजारते हैं। दो-तीन रात गुजारने के बाद वे लोगों के सामने इस वहम का खुलासा करते हैं। जय अलानी ने शहर के चंदवारा इलाके में रहकर 10वीं तक की पढ़ाई पूरी की है। बाद में वे सपरिवार पटना शिफ्ट कर गये। फिलहाल, जय दिल्ली में रह रहे हैं। जय ने बताया कि वे 10 साल से पारा इन्वेस्टिगेशन कर रहे हैं।

Image may contain: 1 person, sitting, tree, hat, beard and outdoor

निगेटिव एनर्जीको भूत मानते हैं लोग

अब तक सौ लोकेशन बेस्ड और डेढ़ सौ केस बेस्ड इन्वेस्टिगेशन किए हैं। राजस्थान के भानगढ़, जैसलमेर के कुलधरा, उत्तराखंड के मसूरी, लोहाघाट में इन्वेस्टिगेशन के दौरान कई रात गुजारना काफी रोमांचक रहा है। कई रात बिताने के बाद पता चला कि कुछ निगेटिव एनर्जी है जिसे लोग भूत मानते हैं। लेकिन इससे इंसानों को कभी नुकसान नहीं हुआ। जय कहते हैं कि यह लोगों के मन के वहम से अधिक कुछ नहीं।

Image may contain: one or more people and close-up

15 से 20 उपकरणों से लैस रहती है टीम जय ने बताया कि इन्वेस्टिगेशन के दौरान वे 15 से 20 तरह के इंस्ट्रूमेंट का इस्तेमाल करते हैं। छह तरह के कैमरे, नाइट विजन, थर्मल कैमरा के अलावा इलेक्ट्रो मैगनेटिक फील्ड की रीडिंग, टेम्परेचर के लिए, रेडियो फ्रिक्वेंसी आदि टूल्स लेकर जाते हैं। जय ने बताया कि इन मशीनों से भूत का पता नहीं चल सकता। इन मशीनों से इन्वेस्टिगेशन में सबूत इकठ्ठा करने में आसानी होती है। इन सबूतों से यह पता चलता है कि कोई निगेटिव एनर्जी है या नहीं। अब तक के रिसर्च में बमुश्किल 15 फीसदी जगहों पर ही निगेटिव एनर्जी मिली है। लेकिन उससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचा।

Input : Hindustan

MUZAFFARPUR

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर से हाजीपुर या पटना जाना हो या पटना हाजीपुर से उत्तर बिहार के किसी जिले में जाना हो। रामदयालुनगर से लेकर मधौल तक आपको जाम व दुर्घटना का सामना करना पड़ेगा। यह स्थिति पिछले कई वर्षों से बनी है। नगर विकास व पथ निर्माण विभाग की पहल से इस एनएच को दुरुस्त करने की पहल तो हुई, लेकिन दो साल बाद भी बात बनी नहीं है।

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच इतनी जर्जर हो चुकी है कि हर दूसरे दिन बड़े वाहन भी दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। जर्जर सड़क के कारण बड़े वाहनों की धूरी व पत्ती ऐसे टूटती है, मानों ताश के पत्ते भहराते हों। एक बार एक वाहन गड्ढे में फंसा नहीं कि मुजफ्फरपुर से पटना की दूरी एक से चार घंटे तक बढ़ जाती है। रामदयालुनगर में जाम लगने से एनएच 77 से गुजरने वाले वाहनों का पहिया पूरी तरह से थम जाता है। फिर चाहे एनएच 28 से एनएच 77 पर जाने वाले वाहन हों या फिर अघोरिया बाजार से रामदयालुनगर होते हुए एनएच 77 पर पहुंचने वाले वाहन। सभी रोड में वाहनों की लम्बी कतार लग जाती है। इस कतार में गंभीर मरीजों को पटना लेकर जाने वाली एम्बुलेंस भी होती हैं और स्कूली बच्चों को घर व स्कूल पहुंचाने वाले बस भी। इसके अलावा सैकड़ों सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारी भी इस जाम में फंसे होते हैं।

सप्ताह में तीन से चार दुर्घटना इस छोटे से दायरे में आम बात है। दुर्घटना में कई लोगों की जान भी जा चुकी है। करीब डेढ़ किलोमीटर में एनएच का यह हाल है कि गांव की सड़क भी इससे अच्छी दिखती है।

Input : Hindustan

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर: रेप पीड़िता की खुदकुशी मामले में आठ नामजद, थानेदार के खिलाफ जांच

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कटरा में रेप पीड़िता की खुदकुशी के 12 घंटे बाद एएसपी पूर्वी ने ऑन-स्पॉट एफआईआर दर्ज की। इसमें मुख्य आरोपित व उसके परिवार के सात सदस्यों को आरोपित किया। वहीं, इस पूरे प्रकरण में थानेदार की भूमिका की जांच का निर्देश दिया है। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने शव को पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा। बुधवार की सुबह मेडिकल बोर्ड गठित कर पोस्टमार्टम कराया गया। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई गई। ​

मृतका के पिता के आवेदन के आलोक में एएसपी पूर्वी अमितेश कुमार ने मौके पर ही केस दर्ज किया। आवेदन में थानाध्यक्ष पर पीड़िता को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप भी लगाया गया है। पिता ने कहा है कि उनकी बेटी ने थानेदार के ढुलमुल रवैये से दुखी होकर खुदकुशी की है। थानाध्यक्ष पर और भी आरोप लगे हैं, लेकिन एफआईआर बुक में थानाध्यक्ष को आरोप से फिलहाल मुक्त रखा गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई संभव हो सकेगी। ​

रेलवे में कार्यरत है मुख्य आरोपित :​

मुख्य आरोपित रेलवे में नौकरी करता है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस वारंट भी ले चुकी है, लेकिन वह बीते फरवरी से ही छुट्टी पर है। इसके लिए रेलवे से भी संपर्क किया जा रहा है। बताया जाता है कि वह बरौनी-कटिहार रेलखंड के किसी स्टेशन पर कार्यरत है। छुट्टी पर होने की वजह से उसकी सही लोकेशन नहीं मिल रही है। ​



दोषी मिलने पर नपेंगे थानेदार :​

एएसपी पूर्वी ने बताया कि थानेदार सिकंदर कुमार की भूमिका कैसी थी और क्या उन्होंने कॉल करने पर पीड़िता व उसके परिजन के साथ गलत ढंग से बात की और कॉल काट दी थी, इसकी वैज्ञानिक तरीके से जांच कराई जा रही है। वरीय पुलिस पदाधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं। दोषी मिलने पर विभागीय के साथ कानूनी कार्रवाई भी होगी। ​



12 घंटे तक जमे रहे ग्रामीण :​

मंगलवार की दोपहर तीन बजे अपने कमरे में रेप पीड़िता ने दुपट्टा का फंदा डालकर खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद से आरोपितों की गिरफ्तारी व थानेदार पर कार्रवाई की मांग को लेकर परिजन और ग्रामीण रात के तीन बजे तक अड़े रहे। रात करीब दो बजे एएसपी पूर्वी के पहुंचने और ऑनस्पॉट एफआईआर करने के बाद सभी शांत हुए।​

शादी का झांसा देकर यौन शोषण:​

मृतका के परिजनों का आरोप है कि गांव के ही एक युवक ने शादी का झांसा देकर युवती का यौन शोषण किया। जब युवती गर्भवती हुई और शादी के लिए दबाव बनाना शुरू किया तो युवक ने धोखा देकर गर्भपात करा दिया। इस बीच युवक की रेलवे में नौकरी लग गई। इसके बाद युवती ने कटरा थाने में छह फरवरी 2020 को मुख्य आरोपित समेत नौ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।​

​मुख्य आरोपित व उसके परिवार के सात सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। थानेदार के खिलाफ एफआईआर नहीं हुई है। उनके खिलाफ जांच कराई जा रही है। मुख्य आरोपित अपनी ड्यूटी से बीते फरवरी से छुट्टी पर है। पुलिस जल्द गिरफ्तार करेगी। ​-अमितेश कुमार, एएसपी पूर्वी​

Input : Hindustan

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में चार चिकित्सकों समेत 54 कोरोना पॉजिटिव मिले

Muzaffarpur Now

Published

on

जिले में बुधवार को चार चिकित्सक, आधा दर्जन स्वास्थ्यकर्मी समेत 54 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इस बीच पटना में इलाजरत कोविड केयर से जुड़े चिकित्सक की हालत में लगातार सुधार हो रहा है। उनको खून देने के लिए कई लोग आगे आए हैं। संक्रमित मिले चिकित्सक एसकेएमसीएच व केजरीवाल अस्पताल से जुड़े हैं। वहीं, जूरन छपरा इलाके के एक शिशु रोग विशेषज्ञ भी कोरोना की जद में आ गए हैं।

इसके साथ एसकेएमसीएच व सदर अस्पताल से जुड़ीं आधा दर्जन एएनएम भी संक्रमित हैं। इन सभी को कोविड केयर सेंटर में भेजने की तैयारी चल रही है। एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ.सुनील कुमार शाही ने बताया कि मेडिसिन और दंत विभाग से जुड़े चिकित्सकों व अन्य कर्मियों के नमूने संग्रहित किए जाएंगे। पांच चिकित्सकों ने अपने नमूना दिए हैं। तीन एएनएम संक्रमित मिली हैं। इनके भी संपर्क में आने वाले सभी लोगों के नमूने लेकर जांच कराई जाएगी।

केजरीवाल अस्पताल के कार्यपालक पदाधिकारी रंजन मिश्रा ने बताया कि उनके अस्पताल के एक चिकित्सक के संक्रमित होने की सूचना मिल रही है। उनके संपर्क में आने वालों की जांच कराई जाएगी। संक्रमित चिकित्सक काफी दिनों से अवकाश पर हैं। परिसर में आने वाले सभी मरीज व स्वजनों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। परिसर को तीन बार सैनिटाइज कराया जा रहा है।

सिविल सर्जन डॉ.एसपी सिंह ने बताया कि जिले में 54 लोग संक्रमित मिले हैं। सभी के संपर्क में आने वाले लोगों की तलाश कर उनके नमूने लिए जाएंगे। सभी चिकित्सक व कर्मियों को नमूना जांच कराने की सलाह दी गई है। सुरक्षाकर्मियों की भी जांच होगी। इधर, दस लोग कोरोना की जंग जीतकर वापस घर लौट गए हैं।

एसकेएमसीएच में आई दो नई मशीनें

एसकेएमसीच में कोरोना वायरस की जांच के लिए अभी तीन मशीनें लगी हैं। दो टू नेट मशीनें और आई हैं। जल्द ही उनको चालू किया जाएगा। इससे जांच काम में तेजी आएगी।

कई महिला सिपाहियों ने दिए नमूने

सदर अस्पताल में पुलिस लाइन की आधा दर्जन महिला सिपाहियों ने जांच के लिए नमूने संग्रहित कराए। कुढ़नी की एक ममता भी संदिग्ध मिली हैं। उनका नमूना लिया गया है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR35 mins ago

नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म, 5 एजेंडों पर लगी मुहर

BIHAR37 mins ago

बिहार से अब चलेंगी 45 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें, ECR ने रेलवे बोर्ड को भेजा 23 जोड़ी नयी ट्रेनों का प्रस्ताव

INDIA40 mins ago

SBI ग्राहकों के लिए अलर्ट! बैंक ने ATM से कैश निकालने के बदले नियम, नहीं जानने पर भरना होगा जुर्माना

MUZAFFARPUR3 hours ago

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

INDIA3 hours ago

मेथी समझ कर खाई गांजे की सब्जी, परिवार के छह लोग बीमार

MUZAFFARPUR3 hours ago

मुजफ्फरपुर: रेप पीड़िता की खुदकुशी मामले में आठ नामजद, थानेदार के खिलाफ जांच

BIHAR3 hours ago

कभी सुना है इन नायाब नोटों के बारे में, 165 देशों की करेंसी है विक्रमजीत के पास, आप भी देंखें

BIHAR3 hours ago

पटना सिटी में मिले कोरोना के 63 नए मरीज, खाजेकला एरिया आज होगा सील

WORLD5 hours ago

चीन के खिलाफ सैनिकों में गुस्सा, कर सकते हैं विद्रोह, गलवन में झड़प की सच्चाई को छिपा रहे चिनफिंग

BIHAR5 hours ago

कोविड अस्पताल बनेगा पटना AIIMS, कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को लेकर हुआ फैसला

INDIA4 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA3 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR6 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA3 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending