Connect with us

INDIA

कठुआ रेप मामला: छह अभियुक्तों को कोर्ट ने दोषी माना, पीड़िता की मां ने की फांसी की मांग

Santosh Chaudhary

Published

on

कठुआ रे’प माम’ले में पंजाब के पठानकोट की एक विशेष अदा’लत ने फ़ैसला सुना दिया है.

कठुआ रेप

मामले में कोर्ट ने सात में से छह अभि’युक्तों को दो’षी ठहराया है.

कोर्ट से बाहर आए पीड़ि’ता पक्ष के वकील मुबीन फ़ारूक़ी ने कहा कि विशाल को छोड़ कर सभी छह अभियु’क्तों को दो’षी ठहराया गया है. स’ज़ा क्या होगी, इस पर कोर्ट अपना फ़ैसला दोपहर बाद सुनाएगा.

मामले में आनंद दत्ता, दीपक खजुरिया, सांझी राम, तिलक राज, सुरिन्दर वर्मा और प्रवेश कुमार दो’षी ठहराए गए हैं. विशाल को कोर्ट ने बरी कर दिया है.

जम्मू के कठुआ में पिछले साल जनवरी के महीने में आठ साल की एक बच्ची के साथ गैंगरे’प के बाद उसकी ह’त्या कर दी गई थी.

पीड़िता की मां ने की फांसी की मांग

कोर्ट के फ़ैसले के बाद पीड़िता की मां ने मुख्य अभियुक्त सांझी राम को फांसी देने की मांग की है.

उन्होंने बीबीसी से कहा, “मुझे राहत मिली है, लेकिन न्याय तब मिलेगा जब सांझी राम और विशेष पुलिस अधिकारी दीपक खजुरिया को फांसी दी जाएगी.”

“मेरी बेटी का चेहरा आज भी मुझे परेशान करता है और यह दर्द जीवनभर रहेगा. जब मैं उसकी उम्र के दूसरे बच्चों को खेलते देखती हूं तो मैं अंदर से टूट जाती हूं.”

पीड़िता पक्ष के वकील मुबीन फ़ारूकी ने कहा, “आज सच की जीत हुई है. आज पूरे देश की जीत हुई है. पूरे देश ने यह लड़ाई मिल कर लड़ी थी. दीपक खजुरिया, प्रवेश कुमार और सांझी राम को 376डी, 302, 201, 363, 120बी, 343 और 376बी के तहत दोषी ठहराया गया है. वहीं तिलक राज, आनंद दत्ता और सुरिन्दर वर्मा को आईपीसी की धारा 201 के तहत दोषी ठहराया गया है. यह संवनैधानिक भावना की जीत है. सत्यमेव जयते.”

वहीं अभियुक्तों के वकील ने हाई कोर्ट जाने की बात कही है.

पुलिस के मुताबिक़ बच्ची को कई दिनों तक ड्रग्स देकर बेहोश रखा गया था. उसे पिछले साल 10 जनवरी को अग़वा किया गया था और क़रीब एक सप्ताह बाद उसका शव मिला था. इस मामले को लेकर देशभर में प्रदर्शन हुए थे.

मामले की सुनवाई बंद कमरे में तीन जून को पूरी कर ली गई थी और फ़ैसला 10 जून को सुनाना तय हुआ था.

सोमवार को क़रीब दस बजे मामले के सभी सात अभियुक्तों को कोर्ट लाया गया. इसके बाद फ़ैसले को सुनाने की कार्यवाही शुरू हुई.

मामले का आठवां अभियुक्त नाबालिग़ है.

फ़ैसले को लेकर जम्मू के कठुआ में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. ज़िले में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. पठानकोट में कोर्ट के बाहर भी भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है.

कठुआ रेप

सुप्रीम कोर्ट की दख़ल के बाद पठानकोट में शुरू हुई थी सुनवाई

कठुआ रेप और हत्या मामले में जब पुलिस चार्जशीट दायर करने जा रही थी तो रास्ते में कुछ स्थानीय पत्रकारों ने उनका रास्ता रोक लिया था. अभियुक्तों के पक्ष में रैलियां निकाली गई थीं.

इसे देखते हुए मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दख़ल दिया और आदेश दिया कि मामले का ट्रायल जम्मू से बाहर पठानकोट में किया जाएगा और इस ट्रायल में हर दिन कैमरे के सामने कार्यवाही होगी.

इस मामले की गूंज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सुनने को मिली थी. अप्रैल 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने आठ वर्षीय बच्ची से रेप और हत्या की घटना को ‘डरावना’ बताया था. उन्होंने उम्मीद जताई थी कि इस संबंध में प्रशासन न्याय ज़रूर सुनिश्चित करवाएगा.

सांजी राम

कठुआ रेप केस के एक अभियुक्त सांजी राम ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया था

 

मामले में कब क्या हुआ?

  • नाबालिग बच्ची 10 जनवरी 2018 को गुम हुई थी और 17 जनवरी को उसका शव मिला था.
  • जम्मू और कश्मीर सरकार ने 23 जनवरी 2018 को मामले की जांच राज्य पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंपी थी.
  • क्राइम ब्रांच ने 10 फ़रवरी 2018 को एक स्पेशल पुलिस ऑफ़िसर दीपक खजुरिया को गिरफ़्तार किया.
  • क्राइम ब्रांच ने 10 अप्रैल 2018 को इस मामले में कठुआ की एक अदालत में आरोप-पत्र दाख़िल किया था.
  • आरोप पत्र दाख़िल करते समय कठुआ के कई वकीलों ने अदालत के बाहर हंगामा किया और पुलिस को आरोप-पत्र दाख़िल करने से रोकने की कोशिश की थी.
  • आरोप-पत्र दाख़िल होने के बाद अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 18 अप्रैल 2018 की तारीख़ दी.
  • क्राइम ब्रांच ने अपने आरोप-पत्र में लिखा था कि पहले बच्ची का अपहरण किया गया, उसे नशीली दवाएं खिलाई गईं और कई दिनों तक उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया जाता रहा.
  • क्राइम ब्रांच ने अपने आरोप-पत्र में ये भी कहा कि बच्ची को कई दिनों तक इलाक़े के एक मंदिर में बंधक बनाकर रखा गया था. बाद में उसकी हत्या कर दी गई.
  • 16 जनवरी 2018 को ‘हिंदू एकता मंच’ नाम के एक संगठन ने कठुआ में वकीलों के समर्थन में रैली निकाली, जिसमें बीजेपी के स्थानीय विधायक राजीव जसरोटिया और दूसरे नेता भी शामिल थे.
  • 4 मार्च 2018 को बीजेपी के दो मंत्री चौधरी लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा ने कठुआ में ‘हिंदू एकता मंच’ की रैली को संबोधित किया और मामले की सीबीआई जाँच की मांग की.
  • 5 अप्रैल 2018 को इस पूरी घटना के मुख्य अभियुक्त सांझी राम ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया.
  • 13 अप्रैल 2018 को बीजेपी के दो मंत्री लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा से पार्टी ने इस्तीफ़ा माँगा.
  • 16 अप्रैल 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू और कश्मीर सरकार से इस बात का जवाब माँगा कि पीड़िता के परिवारवालों ने मामले के ट्रायल को राज्य से बाहर कराए जाने की मांग की है.
  • 18 अप्रैल 2018 को पहली सुनवाई में क्राइम ब्रांच से कहा गया कि सभी आरोपियों को आरोप-पत्र की कॉपी दी जाए.
  • सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर 7 मई 2018 की तारीख़ दी थी. दरअसल, पीड़ित परिवार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाख़िल कर केस का ट्रायल जम्मू और कश्मीर से बाहर कराने की मांग की थी.
  • इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले को पंजाब के पठानकोट में ट्रांसफर कर दिया था.

 Input : BBC Hindi

 

 

INDIA

74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी ने सातवीं बार लाल किले से तिरंगा फहराया

Ravi Pratap

Published

on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 74वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से सातवीं बार तिरंगा फहराया। इसके साथ मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को पीछे छोड़ दिया। अटलजी पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे, जिन्होंने 6 बार लाल किले पर तिरंगा फहराया था। लाल किले पर सबसे ज्यादा बार तिरंगा फहराने वाले प्रधानमंत्रियों की लिस्ट में मोदी चौथे नंबर पर आ गए हैं।

प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने सबसे ज्यादा 17 बार लाल किले से झंडा फहराया था। दूसरे नंबर पर इंदिरा गांधी हैं, जिन्हें 16 बार यह मौका मिला। जबकि मनमोहन सिंह (10 बार) तीसरे नंबर पर हैं। वहीं, राजीव गांधी ने 5 बार लाल किले से झंडा फहराया था।

पहले स्वतंत्रता दिवस पर 16 अगस्त को फहराया गया था तिरंगा

14-15 अगस्त की रात को भारत को आजादी मिली थी, लेकिन पहले स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त को नहीं, बल्कि 16 अगस्त को लाल किले पर तिरंगा फहराया गया था। इसके बाद से ही हर साल लाल किले से तिरंगा फहराने की परंपरा शुरू हुई।

Continue Reading

INDIA

74वां स्वतंत्रता दिवस आज, लाल किले की प्राचीर से PM नरेंद्र मोदी करेंगे देश को संबोधित

Ravi Pratap

Published

on

भारत आज अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस ऐतिहासिक अवसर पर लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराएंगे और देशवासियों को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री सुबह सात बजे राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देंगे और वहां से सीधे लाल किला पहुंचेंगे। समारोह स्थल पहुंचने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा सचिव डा अजय कुमार प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे।

रक्षा सचिव सेना के दिल्ली एरिया के जनरल आफिसर इन कमान लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार मिश्रा का प्रधानमंत्री से परिचय करायेंगे जो प्रधानमंत्री को सलामी मंच पर लेकर जायेंगे। तीनों सेनाओं और पुलिस के जवान प्रधानमंत्री को सलामी देंगे जिसके बाद प्रधानमंत्री सलामी गारद का निरीक्षण करेंगे। सलामी गारद की कमान लेफ्टिनेंट कर्नल गौरव ए येवालकर के पास होगी।

इसके बाद प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर पर जायेंगे जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुख उनका अभिनंदन करेंगे। यहां से वह प्रधानमंत्री ध्वजारोहण के लिए प्रस्थान करेंगे। सेना की मेजर श्वेता पांडे ध्वजारोहण में प्रधानमंत्री का सहयोग करेंगी। सेना की तरफ से 21 तोपों की सलामी दी जायेगी। इसके साथ ही राष्ट्रीय गार्ड राष्ट्रीय ध्वज को ‘राष्ट्रीय सलामी’ पेश करेंगे। सेना का बैंड इस दौरान राष्ट्र गान की धुन बजायेगा।

तिरंगा फहराने के बाद प्रधानमंत्री राष्ट्र को संबोधित करेंगे। उनके संबोधन के बाद राष्ट्रीय कैडेट कोर के कैडेट राष्ट्र गान गायेंगे। इस बार के समारोह में स्कूली बच्चों की जगह एनसीसी के 500 कैडेट हिस्सा ले रहे हैं।

Input : Live Hindustan

Continue Reading

INDIA

सुशांत सिंह ने अंकिता के लिए खरीदा था 4.5 करोड़ का फ्लैट, खुद भर रहे थे EMI

Muzaffarpur Now

Published

on

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में ईडी को जांच में पता चला है कि सुशांत मलाड में स्थित 4.5 करोड़ रुपये के एक फ्लैट के लिए इंस्टॉलमेंट्स भर रहे थे. एजेंसी के सूत्रों ने बताया है कि ये शायद वही फ्लैट है जिसमें अंकिता लोखंडे रह रही हैं. अंकिता, सुशांत सिंह राजपूत की एक्स गर्लफ्रेंड हैं. अंकिता को सवालों की एक फेहरिस्त इंडिया टुडे ने भेजी है जिस पर उन्होंने अब तक कोई जवाब नहीं दिया है.

सूत्रों के मुताबिक रिया चक्रवर्ती ने भी पूछताछ के दौरान इस फ्लैट का जिक्र किया था और उन्होंने बताया था कि सुशांत चाह कर भी अंकिता से ये फ्लैट खाली करने को नहीं कह पा रहे थे जबकि वो इसकी ईएमआई भर रहे थे. हालांकि अब तक ये साफ नहीं है कि सुशांत फ्लैट के लिए कितनी धनराशि जमा कर चुके थे लेकिन इतना जरूर पता चला है कि बस कुछ ही इंस्टॉलमेंट बाकी रह गई थीं.

ये भी पाया गया है कि सुशांत के खाते से हर महीने इस फ्लैट की ईएमआई का पैसा कट रहा था. बता दें कि सुशांत मामले की जांच के लिए अंकिता काफी बेबाकी से बोलती रही हैं और उन्होंने कई बार इस मामले में सीबीआई जांच कराने की मांग की है. ईडी अब तक इस मामले की जांच कर रहा था कि क्या सुशांत के खाते से रिया चक्रवर्ती ने किसी तरह की हेरफेर की है.

रिया के खिलाफ चल रही मनी लॉन्डरिंग जांच

मालूम हो कि सुशांत के पिता ने बिहार पुलिस में कराई एफआईआर में ये दावा किया था कि रिया की नजर सुशांत के पैसे पर थी और उन्होंने कई करोड़ की हेरफेर सुशांत के अकाउंट से की थी. सूत्रों की मानें तो एजेंसी जल्द ही इस मामले में प्रॉपर्टी के डिटेल्स चेक करेगी कि रजिस्ट्रेशन किसके नाम पर है और इनवेस्टमेंट किस तरह हुआ है.

Input : Aaj Tak

Continue Reading
BIHAR2 mins ago

फिर नीतीश का दामन थामेंगे मांझी! हम और जदयू में सहमति के आसार

INDIA13 mins ago

74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी ने सातवीं बार लाल किले से तिरंगा फहराया

BIHAR30 mins ago

नीतीश सरकार से समर्थन वापस ले सकती है राम विलास पासवान की पार्टी लोजपा: पार्टी सूत्र

INDIA2 hours ago

74वां स्वतंत्रता दिवस आज, लाल किले की प्राचीर से PM नरेंद्र मोदी करेंगे देश को संबोधित

INDIA10 hours ago

सुशांत सिंह ने अंकिता के लिए खरीदा था 4.5 करोड़ का फ्लैट, खुद भर रहे थे EMI

BIHAR10 hours ago

BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद भी नहीं बदले हैं चिराग पासवान के सुर, कल पटना में बुलायी पार्टी की आपात बैठक

INDIA10 hours ago

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के लिए अमेरिका से आ रहा नया विमान एयर इंडिया वन

INDIA10 hours ago

सुशांत के परिवार पर विवादित बयान के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत का यू-टर्न

MUZAFFARPUR11 hours ago

नाले के अवरोधों को साफ़ कर किसी भी सूरत में जलनिकासी सुनिश्चित करें निगम – मंत्रीसुरेश शर्मा

MUZAFFARPUR11 hours ago

मुजफ्फरपुर का युवक निकला साइबर क्रिमिनल पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के नाम पर करता था फर्जीवाड़ा

BIHAR1 week ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA4 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR2 weeks ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR6 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR1 week ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending