मुजफ्फरपुर से उठी शहीद हेमराज के परिजन को मिले सहायता की मांग पर, पीएमओ हरकत में

0
193

शहीद हेमराज की पत्नी धर्मवती और उनके तीन बच्चे बीते छह साल से एक दफ्तर से दूसरे दफ्तर के चक्कर लगाने के बावजूद अब तक उन्हें सरकारी नौकरी मिली है और पेट्रोल पंप नहीं मिलने के साथ-साथ मथुरा के कैंट इलाके के जिस क्वार्टर में हेमराज की विधवा अपने बच्चों समेत रह रही है उसे खाली कराने के मामले में पीएमओ हरकत में आकर जांच के आदेश दिए हैं।



मालूम हो कि मुज़फ़्फ़रपुर जिले के शकिन्द्र कुमार ने शहीद हेमराज के परिवार को मिलने वाले सहायत व सुविधा दिलाने के लिए प्रधानमंत्री व गृह मंत्रालय को लिखा था।

बता दें कि 8 जनवरी 2013 को देश को जम्मू-कश्मीर में एलओसी के पास कृष्णा घाटी में मथुरा निवासी सेना के लांस नायक हेमराज शहीद हो गए थे। पाकिस्तानी फौज ने उनके साथ एक और जवान सुधाकर सिंह का सिर कलम कर दिया था। पाकिस्तानी सैनिकों के इस बर्बर कृत्य पर देश में उबाल आ गया था। उस वक्त हेमराज की शहादत पर खूब राजनीति हुई।

इसी मामले को लेकर शकिन्द्र ने अनुरोध किया है कि लांस नायक शहीद हेमराज के परिजन को दी गई सरकारी सुविधा (नौकरी, पेट्रोल पम्प, सहित अन्य) की बिंदुवार जांच कर सुविधा प्रदान की जाए तथा अब उनके परिवार को सुविधा मुहैया नहीं कराने के लिए दोषी कौन है उस अधिकारी/कर्मचारी को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई की जाए।

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur