Connect with us
leaderboard image

BIHAR

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

Ravi Pratap

Published

on

लवगुरु मटुकनाथ अपनी जूली को लाने सात समुंदर पार पहुंच गए हैं। जल्द ही वे जूली को लेकर पटना लौटेंगे। प्रो. मटुकनाथ ने ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में बताया कि पिछले दिनों जूली के एक संदेश ने उन्हें त्रिनिदाद एंड टोबैगो के सेंटगस्टीन तक पहुंचा दिया। सात मार्च को वहां पहुंचकर उन्होंने बताया कि वे जल्द ही जूली को लेकर पटना लौटेंगे। जूली पूरी तरह स्वस्थ हो जाएंगी।

लवगुरु ने कहा कि गृहस्थ से होकर ही संन्यास तक का रास्ता जाता है। इसके विपरीत जूली बिना गृहस्थ आश्रम जिए संन्यास की ओर चल पड़ीं। उनके स्वास्थ्य खराब होने की यह सबसे बड़ी वजह रहीं। जूली फिर से गृहस्थ आश्रम में जीवन जीना चाहती हैं और इस वजह से उन्होंने पटना वापस लाने का संदेश भेजा था।

प्रो. मटुक नाथ ने बताया कि दरअसल जूली का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य खराब चल रहा था। मीडिया में जूली को उनके हाल पर छोड़ने की खबरों का खंडन करते हुए प्रो. मटुकनाथ ने कहा कि उनके प्रति शत्रु भाव रखने वाले लोगों ने ऐसा प्रचारित करने की कोशिश की लेकिन जूली को वापस लाने पर उनका जवाब उन्हें मिल जाएगा। वे अपने शुभचिंतकों को बताना चाहते हैं कि जूली अब चल-फिर रही हैं। खाना-पीना सामान्य हो चुका है और जल्द ही पटना में रहकर स्वास्थ्य लाभ करेंगी।

जूली के भीतर वैराग्य का भाव 2014 से ही दिखने लगा था, उन्हें छोड़ा नहीं था

यादों के पन्ने पलटते हुए प्रो. मटुकनाथ ने कहा कि जूली को उन्होंने छोड़ा नहीं था बल्कि वे उनकी निजी स्वतंत्रता के समर्थक थे। लवगुरु ने बताया कि जूली के भीतर वैराग्य का भाव 2014 से ही दिखने लगा था। वे भजनों पर नृत्य करती थीं और चिंतन-मनन में लीन रहती थीं। वर्ष 2016 तक वे आध्यात्मिक वातावरण में डूबने के लिए पटना से कभी-कभार वृंदावन, होशियारपुर व बाकी धर्मस्थलों पर जाया करती थीं। वैराग्य की ओर जूली का झुकाव उन्होंने वर्ष 2016 के आरंभ में देखा। उन्होंने जूली को सलाह दी कि वो चाहें तो निश्चिंत भाव से वैराग्य जी सकती हैं। बकौल प्रो. मटुकनाथ, जूली के मानसिक स्वास्थ्य पर वर्ष 2016 के बाद ही असर होना शुरू हुआ।

पहले संपर्क में रहीं, अचानक फोन आना हो गया था बंद

जूली पटना से मटुकनाथ का घर छोड़कर ईश्वर में ध्यान लगाने वृंदावन समेत दर्जनों जगहों पर भ्रमण करती रहीं। प्रो. मटुकनाथ ने बताया कि इस बीच वे फोन के जरिए संपर्क में भी रहीं लेकिन अचानक जूली का फोन आना बंद हो गया। बाद में उन्हें जानकारी मिली कि वे अस्वस्थ हालत में त्रिनिदाद एंड टोबैगो पहुंच गई हैं। वे किसी को जीवित बुद्ध मानने लगी थीं और उनका अनुसरण करते हुए यहां इस हालत तक पहुंच गईं।

Input : Live Hindustan

MUZAFFARPUR

बरुराज में हथियार के साथ 5 अपराधी गिरफ्तार, लूटी गई बाइक, मोबाइल समेत अन्य समान बरामद

Vikash Kumar

Published

on

मुजफ्फरपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. लूट के वारदात को अंजाम देने की योजना बनाते पांच अपराधियों को पुलिस ने हथियार के साथ गिरफ्तार किया है. डीएसपी पक्षीमी कृष्ण मुरारी प्रसाद के नेतृत्व में पुलिस बरुराज थाने की पुलिस ने बिरहिमा बाजार से हथियार के साथ पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया है. इसके पास से लूटी हुई चार बाइक, 1 पिस्टल, दो कट्टा, एवं जिंदा कारतूस समेत अन्य हथियार बरामद हुई है. पुलिस पूछताछ में मुजफ्फरपुर के बरुराज, साहेबगंज एवं सीमावर्ती मोतिहारी जिला के चकिया एवं कल्याणपुर थाने में कई कांडों का उद्भेदन हुआ है. इसकी जानकारी डीएसपी पक्षीमी कृष्ण मुरारी प्रसाद ने दिया है. छापेमारी दल में डीएसपी पक्षीमी कृष्णमुरारी प्रसाद के अलावे बरुराज थानाध्यक्ष अनूप कुमार, एएसआई अखिलेश यादव, योगेंद्र सिंह, रविन्द्र कुँवर, एसआई रामचंद्र पासवान, प्रमोद यादव, समेत थाने में तैनात समस्त पुलिसकर्मी शामिल थे.

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर पुलिस के थानाध्यक्ष ने पेश की इंसानियत की मिसाल, सलाम है ऐसे पुलिसवालों को

Arvind Akela

Published

on

मुजफ्फरपुर पुलिस का ऐसा भी रूप दिखा जब एसकेएमसीएच में भर्ती युवक को खून देने मुशहरी थानाध्यक्ष मीलों दूरी तय कर पहुंचे। एसकेएमसीएच में भर्ती युवक को खून की कमी थी जिसके बाद युवक ने वाट्सएप के जरिए मुशहरी थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार से मदद मांगी। युवक को A+ खून की जरूरत थी, थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार का रक्त भी A+ है।

अतः मानव धर्म की मर्यादा का पालन करते हुए थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार, युवक की मदद करने कई किलोमीटर की दूरी कर एसकेएमसीएच पहुंचे। मिठनपुरा के कालीबाड़ी का रहने वाले युवक की जिंदगी खतरें में थी, लॉक डाउन की वजह से उन्हें कोई डोनर नहीं मिल रहा था। ऐसे में थानाध्यक्ष ने अपने धर्म का पालन करते हुए युवक की जान बचाई। गौरतलब है कि पूर्व में भी थानाध्यक्ष का परिवार जरूरत पड़ने पर पटना तक पहुंच कर लोगों की जान बचा चुकें है।

देखे वीडियो :

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

MUZAFFARPUR

चमकी बुखार से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने कस ली है कमर, हर पहलू पर डीएम कर रहे हैं समीक्षा

Santosh Chaudhary

Published

on

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में एईएस/चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर आज एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई ।जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित विभिन्न कोषांगों के नोडल पदाधिकारी और वरीय पदाधिकारियों को पूर्व में दिए गए निर्देश के अनुपालन प्रतिवेदन की समीक्षा की एवं उनके द्वारा महत्वपूर्ण निर्देश भी दिए गए। पूर्व में प्रभावित 320 गांवों को पदाधिकारियों के साथ टैग कर दिया गया है।

इसमें प्रखंड, जिला एवं पंचायत स्तर के अधिकारी शामिल हैं जिनके साथ गांवों को टैग किया गया है। पिछले सप्ताह जिलाधिकारी द्वारा दिए गए सख्त निर्देश के आलोक में पदाधिकारियों का गांवों से टैगिंग संबंधित कार्य का त्वरित निष्पादन किया गया। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया है कि सभी पदाधिकारी जिन्होंने गांव को गोद लिया है वे बृहस्पतिवार को उन गांव में जाएंगे।

पिछले साल जिन घरों में बच्चों की मृत्यु हुई थी, उन घरों से संपर्क करेंगे। सभी अधिकारी गोद लिए हुए गांवों में डोर टू डोर विजिट करेंगे और चमकी बुखार पर नियंत्रण तथा इससे बचाव के संबंध में घरवालों को आवश्यक जानकारी भी देंगे। वॉल राइटिंग की भी जांच उनके द्वारा की जाएगी। साथ ही उस गांव के जो मुख्य रिसोर्स पर्सन होंगे उनका उन्मुखीकरण भी करेंगे ताकि रिसोर्स पर्सन उक्त बीमारी के बारे में संबंधित पदाधिकारियों को शीघ्र सूचना प्रेषित कर सकें।

स्वास्थ विभाग द्वारा कराए गए दीवाल लेखन की समीक्षा के क्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि 607 भवनों पर दीवार लेखन किया जाना था जिसके विरुद्ध अभी तक 485 पीएचसी एपीएचसी एवं स्वास्थ उपकेंद्रों पर दीवाल लेखन का कार्य पूर्ण हो गया है। शेष 122 जगहों पर 8 मार्च तक दीवाल लेखन का कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया गया ।वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि हैंडबिल के माध्यम से भी प्रचार-प्रसार किया गया है।

राज्य सरकार से प्राप्त डेढ़ लाख हैंडविल का वितरण किया गया शेष के लिए सरकार को अधियाचन भेजी गई। वहीं डीपीआरओ ने बताया कि जिले में मुख्य रूप से प्रभावित पांच प्रखंडों के 291 गांव में फरवरी माह में 6 कला जत्था के टीमों द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सघन प्रचार -प्रसार किया गया और लोगों को जागरूक किया गया। चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण के लिए प्रखंड एवं पंचायत स्तरीय अधिकारियों और कर्मियों का प्रशिक्षण की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस संबंध में प्रशिक्षण कोषांग द्वारा बताया गया कि प्रशिक्षण का कैलेंडर तैयार कर लिया गया है जिसकी शुरुआत 8 अप्रैल से होगी जो कि 21 अप्रैल तक चलेगा।

इस दरमियान सभी प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी एवं कर्मी, पंचायत स्तरीय पदाधिकारी एवं कर्मी एवं प्रखंड स्तरीय जनप्रतिनिधि, प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय के शिक्षक का प्रशिक्षण कार्य किया जाएगा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि प्रत्येक पदाधिकारी प्रशिक्षण सत्र में अचूक रूप से उपस्थित होना सुनिश्चित करेंगे। वहीं बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि चमकी बुखार को लेकर सारी तैयारियां मुकम्मल हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि एईएस वार्डो में कुल 21 ग्लूकोमीटर हैं। सभी 15 प्रखंडों में 02 बेड का वातानुकूलित एईएस वार्ड चल रहा है। बंदरा में भी विद्युत दोष दूर कर लिया गया है। इस तरह सभी 16 प्रखण्डो के पीएचसी में एईएस वार्ड कार्य कर रहा है 11 प्रकार के एईएस के उपचार से समन्धित महत्वपूर्ण उपकरण उपलब्ध हैं जिसकी कुल संख्या 1987 है। 50 प्रकार की दवाइयां और पर्याप्त मात्रा में ओआरएस की भी उपलब्धता है। ओआरएस का पैकेट्स प्रखण्डो को उपलब्ध करा दिया गत है जिसे आंगनवाड़ी केंद्रों को उपलब्ध कराया जा रहा है।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading
MUZAFFARPUR10 hours ago

बरुराज में हथियार के साथ 5 अपराधी गिरफ्तार, लूटी गई बाइक, मोबाइल समेत अन्य समान बरामद

MUZAFFARPUR10 hours ago

मुजफ्फरपुर पुलिस के थानाध्यक्ष ने पेश की इंसानियत की मिसाल, सलाम है ऐसे पुलिसवालों को

MUZAFFARPUR11 hours ago

चमकी बुखार से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने कस ली है कमर, हर पहलू पर डीएम कर रहे हैं समीक्षा

INDIA11 hours ago

इंदौर की घटना पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अखबार में छपवाया विज्ञापन, मांगी माफी

BIHAR12 hours ago

लॉकडाउन में राहत, बिहार से बाहर फंसे मजदूरों को नीतीश सरकार ऐसे देगी 1000 रुपये

INDIA12 hours ago

जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए हिंदुस्तानी भाऊ आए आगे, बांटी खिचड़ी और मास्क, फैन्स बोले- रियल हीरो

BIHAR13 hours ago

मुजफ्फरपुर के लोगों को रास नहीं आ रही होम डिलीवरी की प्रशासनिक व्यवस्था

INDIA13 hours ago

कोरोना पॉजिटिव ने किसी पर थूका तो जानलेवा हमला और वो मर गया तो मर्डर केस चलेगा

INDIA13 hours ago

14 तक अगर एक भी कोरोना पॉजिटिव रहा तो UP सरकार 15 के बाद भी नहीं खोलेगी लॉकडाउन

TRENDING13 hours ago

लॉकडाउन में फंसी 8 साल की बच्ची को 270 किमी कार चलाकर डॉक्टर ने पहुंचाया घर

INDIA3 days ago

गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अब लॉकडाउन के दौरान मिलेगी ये छूट, देखें लिस्ट

BIHAR1 week ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

INDIA2 weeks ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA2 weeks ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR2 days ago

बिहार में शुरू हुआ कोरोना का चेन ब्रेक, थर्ड स्टेज का खतरा भी कमा

BIHAR3 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

INDIA1 week ago

Lockdown के दौरान युवक ने फोन करके कहा 4 समोसे भिजवा दो, डीएम ने भिजवाए 4 समोसे और साफ कराई नाली

BIHAR2 weeks ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA7 days ago

COVID-19 के बीच सलमान खान के भतीजे की मौत, परिवार में शोक की लहर

Trending