देश का करीब 47 प्रतिशत सोना है मुथूट बैंक की शाखओं में जमा

0
596

मुजफ्फरपुर के भगवानपुर चौक स्थित केरल बेस कंपनी मुथूट फायनांस में दस करोड़ के जेवरात की डकैती का मामला भले ही सुलझ गया पर इस घटना ने इस बैंक को एक बार फिर चर्चा में ला दिया है। बीते 6 फरवरी को इस बैंक में हुई जेवरातों की लूट के महज सौ घंटे के अंदर ही पुलिस और एसआईटी की टीम ने जिस तरह पूरे मामले का उद्भेदन करते हुए लूट में शामिल लुटेरों में से तीन को गिरफ्तार कर उनसे लूटे गए 32 किलों के जेवरात में से 26.5 किला के स्वर्णाभूषण बरामद किए यह बिहार पुलिस और इसके अधिकायिों के लिए एक मिशाल कायम कर गया। इस उद्भेदन के लिए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय एडीजी कुंदन कृष्णन मुजफफरपुर और समस्तीपुर के एसपी और एसर्आटी में शामिल सभी पुलिसकर्मी बधाई के पात्र हैं। गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर में लूट को अंजाम देने वाले डकैतो में अधिकतर वैशाली जिला के ही निवासी हैं। इसी जिला निवासी तीन डकैतों को जयपुर पुलिस ने बिहार पुलिस की मदद से एक वर्ष पूर्र्व में दबोचा था।

दिलचस्प बात यह है कि देश का करीब 47 प्रतिशत सोना केरल की 3 कंपनियों मुथूट फाइनैंस, मणप्पुरम फाइनैंस व मुथूट फिनकौर्प के पास है। सितंबर 2018 तक इन कंपनियों के पास 263 टन सोना था। सोने की कीमत 9 खरब 42 अरब 40 करोड़ रुपए आंकी गई थी। इन में मुथूट फाइनैंस की गोल्ड होल्डिंग करीब 152 टन ह। यह सोना कई अमीर देशों के स्वर्ण भंडार से भी ज्यादा है। मणप्पुरम फाइनैंस के पास 65.11 टन एवं मुथूट फिनकौर्प के पास 46.90 टन सोना होने का अनुमान है। जबकि भारत की कुल गोल्ड होल्डिंग 558 टन है।

देश की सब से बड़ी गोल्ड फाइनैंसिंग कंपनी के रूप में पहचान रखने वाली मुथूट फाइनैंस कंपनी की विभिन्न शाखाओं में 6 साल के दौरान लूट व डकैती की 10 वारदातें हुई हैं। इन में करीब सवा दो़ क्विंटल सोना लूटा गया है। सन 2013 में 21 फरवरी को लखनऊ में इस कंपनी की शाखा से 6 करोड़ रुपए से ज्यादा का करीब 20 किलो सोना लूटा गया था. सन 2015 में 22 फरवरी को ढाई करोड़ रुपए से अधिक के करीब 10 किलो सोने की डकैती हुई। वर्ष 2016 में 30 जनवरी को पश्चिम बंगाल के चौबीस परगना जिले में 9 करोड़ रुपए मूल्य का 30 किलो सोना लूटा गया। 16 मई, 2016 को पंजाब के पटियाला में करीब 3 करोड़ रुपए के 11 किलो सोने की लूट हुई। 28 दिसंबर, 2016 को हैदराबाद में 12 करोड़ रुपए का करीब 40 किलो सोना लूटा गया। 23 फरवरी, 2017 को पश्चिम बंगाल के पूर्वी कोलकाता स्थित बेनियापुकुर में 5 करोड़ से ज्यादा के करीब 20 किलो सोने की डकैती हुई।

जयपुर पुलिस ने 21 जुलाई, 2017 को मुथूट फाइनैंस की शाखा से करीब 27 किलो सोना लूटने के मामले में 21 अगस्त, 2017 को बिहार की राजधानी पटना से 3 आरोपियों शुभम उर्फ सेतू उर्फ शिब्बू भूमिहार, पंकज उर्फ बुल्ला यादव और विशाल कुमार उर्फ विक्की उर्फ रहमान यादव को गिरफ्तार किया। ये तीनों आरोपी बिहार के वैशाली जिले के हाजीपुर के रहने वाले थे। इन लोगों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने यह वारदात गिरोह के सरगना सुबोध उर्फ राजीव और अन्नू उर्फ राहुल के साथ मिल कर की थी लूट का सोना सुबोध कांत सिंह के पास था। जिसे 20 जनवरी 2018 को उसके चार अन्य साथियों के साथ एसटीएफ ने पटना में गिरफ्तार कर लिया था फिलवक्त सभी जयपुर की जेल में हैं। मूल रुप से नालंदा जिले का निवासी सुबोध कांत सिंह और उसके गिरोह ने अबतक देश के पांच राज्यों में इस बैंक से 100 करोड़ से अधिक के जेवरात लूटे हैं। मुजफ्फरपुर में हुई लूट के उद्भेदन में सबसे अहम भूमिका बैंक में लगे सीसीटीवी ने निभाई जिसमें एक युवा लूटेरे द्वारा लॉकर से सोने के वाले जेवरात वाले पैकेट को निकालत हुए उसका साफ चेहरा कैद हो गया जिसके आधार पर वैशाली के एक पुलिस अधिकारी ने उसकी पहचान कर ली।

Input : Khabar Manthan

 

Pic by Madhav Kumar

billions-spice-food-courtpreastaurant-muzaffarpur-grand-mall