अभी-अभी : सीएम की सुरक्षा को लेकर प्रशासन चौकस, नीतीश की सभा में आधार कार्ड से मिलेगा प्रवेश

0
42
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सीएम नीतीश कुमार के जिलों में विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा का चतुर्थ चरण शुक्रवार से प्रारंभ हुआ। दो दिवसीय चतुर्थ चरण में सीएम शाहाबाद के चारों जिले बक्सर, कैमूर, रोहतास एवं भोजपुर की समीक्षा यात्रा पर है। शुक्रवार को बक्सर, कैमूर में ग्राम एवं अन्य कार्यक्रम के बाद सीएम का काफिला शाम छह बजे सर्किट हाउस पहुंचा। सीएम के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम में बक्सर की घटना के कारण विलंब हुआ। कैमूर के मोहनियां से उनका काफिला शाम पांच बजे रवाना हुआ। इसके बाद सीएम का काफिला सड़क मार्ग से सासाराम पहुंचा। सीएम के सर्किट हाउस पहुंचते हीं वहां जुटे कार्यकर्ता उत्साहित हो गए। गगनभेदी नारों के बीच सीएम का स्वागत किया गया। सीएम को बुके एवं गुलदस्ता देने की होड़ से मच गई। कुछ देरतक अफरा-तफरी का भी माहौल हो गया। सीएम के कारवां के साथ पहुंचे दर्जनों वाहन सर्किट हाउस रोड में खड़े हो गए, जिससे कुछ देरतक जाम की स्थिति रही। सुरक्षा कर्मी भी अपने वाहन से उतर कर सर्किट हाउस की तरफ भागे। परंतु थोड़े देर में स्थिति समान्य हो गई।

गौरतलब है कि सीएम की समीक्षा यात्रा शुक्रवार को बक्सर के ग्राम- पंचायत नंदन गांव प्रखंड- डुमरांव से आरंभ हुई। परंतु वहां गांव भ्रमण के दौरान सीएम के काफिले पर पथराव हुआ। जिसके कारण वहां कार्यक्रम में विलंब हुआ। दोपहर दो बजे सीएम कैमूर केपानापुर पहुंचना था, परंतु वे सड़क मार्ग से लगभग डेढ़ घंटे लेट से पहुंचे। गांव का करेंगे भ्रमण शनिवार को सीएम का समीक्षा यात्रा के क्रम में संझौली के अमैठी पंचायत के सुसाड़ी गांव पहुंचेंगे। जहां वे गांव का भ्रमण कर सात निश्चय योजना का निरीक्षण करेंगे एवं चौपाल कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। जिसमें ओडीएफ आदि कार्यक्रम को ले डोमेन्स्ट्रेशन किया जाएगा। इसके बाद सीएम भोजपुर के जगदीशपुर प्रखंड के दावां गांव के लिए रवाना होंगे। जहां दो से चार बजे तक कार्यक्रम है। इसके साथ हीं सीएम के समीक्षा यात्रा का चतुर्थ चरण समाप्त हो जाएगा।

Cambridge Montessori, School, Muzaffarpur

जीवन रक्षक दवाओं के साथ रहेगी मेडिकल टीम विकास समीक्षा यात्रा के तहत जिले में पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आगमन के बाद से प्रस्थान तक जीवन रंक्षक दवाओं के साथ मेडिकल टीम के सदस्य मौके पर तैनात रहेंगे। सीविल सर्जन ने बताया कि मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को ले दो मेडिकल टीमें तैनात रहेगी। संसाधनों से लैस होकर तैनात रहने को कहा गया है। तैनात की गई दो टीमें मुख्य मंत्री के अागमन को ले दो मेडिकल टीमों को गठन किया गया है। शुक्रवार को तैनात ‘ ए’ टीम में डाक्टर धीरेन्द्र नारायण (चिकित्सा पदाधिकारी), सुनिल कुमार कनौजिया(परिचारका), धर्मेन्द्र कुमार,(प्र.प्रा.) श्याम बहादुर(चतुर्थवर्गीय कर्मचारी), संजय कुमार इएमटी, संतोष कुमार(चालक), अहमद हुसैन(सहायक) को प्रतिनियुक्त किया गया है। ओडीएफ आइकन करेंगी सीएम का स्वागत समीक्षा यात्रा के क्रम में सीएम नीतीश कुमार शनिवार को संझौली के अमेठी पंचायत के सुसाड़ी गांव पहुंचेगे। वे यहां सुसाड़ी गांव का भ्रमण कर सात निश्चय योजनाओं का कार्यान्वयन को देखेंगे। गांव में चौपाल का भी आयोजन किया जाएगा। जिसमें ओडीएफ, सत्याग्रह केंद्र आदि का डोमेन्सट्रेशन सीएम के समक्ष किया जाएगा। कार्यक्रम में सीएम का स्वागत जिले में ओडीएफ आइकन रही फूल कुमारी करेंगी। ओडीएफ के क्षेत्र के अन्य आइकन भी मौके पर मौजूद रहेंगे। चौपाल कार्यक्रम मुख्यत: जिले में ओडीएफ कार्यक्रम की सफलता पर फोकस रहेगा। यहां ओडीएफ प्लस लेकर डोमिनिस्ट्रेशन किया जाएगा। कचड़ा प्रबंधन की शुरूआत भी अमेठी पंचायत से ही होगी। डीएम अनिमेष पराशर ने भास्कर को बताया कि डेढ़ साल पहले अमैठी पंचायत ओडीएफ हुआ था। अमैठी ओडीएफ का आदर्श पंचायत है।

फूल कुमारी को अच्छे दिन का इंतजार! संझौली में ओडीएफ कार्यक्रम के दौरान चर्चा में आई फूल कुमारी अब स्वच्छता की ब्रांड एंबेसडर बन गई है। ज्ञात हो कि निर्धनता के बावजूद फूल कुमारी मंगल सूत्र बेचकर अपने घर में शौचालय बनाया था। एक विद्यालय में मीड डे मील में रसोईए का काम करने वाली फूल कुमारी की चर्चा पूरे राज्य में थी। अपने पति विनोद सिंह के साथ हाड़तोड़ मेहनत कर जिंदगी की जद्दोजहद में चार बच्चों के साथ परिवार का पालन-पोषण कर रही हैं। फूल कुमारी को इस बात का मलाल है कि उन्हें सम्मान तो मिल रहा है, लेकिन सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। पीएम आवास योजना का लाभ अब तक परिवार को नहीं मिला है। उज्ज्वला योजना में भी उन्हें गैस चूल्हा एवं सिलेंडर प्राप्त नहीं हुआ है। बक्सर की घटना के बाद चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात बक्सर के नंदन गांव में सीएम के काफिले पर हुए पथराव और हमले के बाद रोहतास प्रशासन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यक्रम में सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ा दी है। सुसाड़ी गांव में लोगों को आधार की जांच के बाद प्रवेश दिया जा रहा है। देर साम से ही आधार की जांच शुरू हो गई है। पहले से तैनात किए गए एक हजार पुलिसकर्मियों को अब 207 जगहों पर चौकसी रखने के लिए तैनात किया जाएगा। ये स्थल कैमूर से रोहतास में प्रवेश करते समय खुर्माबाद नदी पुल से शुरू होकर भोजपुर के बॉर्डर से मोहिनी गांव तक चिन्हित किए गए हैं। जहां एक-एक दंडाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस बल मौजूद रहेंगे। शुक्रवार की शाम सीएम के रोहतास सीमा में प्रवेश करते ही सर्किट हाउस तक भारी संख्या में पुलिस बल व दंडाधिकारियों की तैनाती दिखी। शसुसाड़ी के लिए निकलने से पहले देर रात से ही बाकी के स्थलों पर ये दंडाधिकारी और पुलिसकर्मी तैनात मिलेंगे। पुलस हेड क्वार्टर से जारी निर्देर्शों के अनुसार एरिया डोमिनेशन, कार्केट जांच, आदि पर विशेष ध्यान देते हुए हेलीपैड सुरक्षा के लिए लगाए गए हैं। गहन जांच से गुजरना पड़ा समर्थकों को सर्किट हाउस पहुंचते ही सीएम के स्वागत में पहुंच पार्टी के नेता और मुख्यमंत्री के समर्थकों को गहन जांच के दौर से गुजरना पड़ा। एक-एक व्यक्ति की पूरी जांच के साथ वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने महिला नेत्रियों और पार्टी कार्यकर्ताओं के बैग और झोले भी जांच किए। दिए गए गुलदस्ते मुख्यमंत्री के हाथो तक नहीं पहुंचे। बीच में ही सुरक्षाकर्मियों ने गुलदस्ते अपने हाथों में ले लिया। संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश पुलिस मुख्यालय से मिले निर्देर्शों के अनुसार रोहतास में पूर्व से सक्रिय भाकपा माओ, रणवीर सैना, पीडब्लूजी आदि प्रतिबंधित संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखना है। इनके प्रभाव वाले थाना क्षेत्रों में पुलिस को प्रतिपल की खबर रखने के लिए गुप्तचरों को तैयार रखना है। सभी थाना क्षेत्रों में होटल, धर्मशाला, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आदि की गहन जांच होगी। आने वाले हर व्यक्ति से पूछताछ के बाद ही उन्हें कार्यक्रम में जाने की अनुमति होगी।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •