अधिक तापमान के चलते AES ने मुजफ्फरपुर में बरपाया कहर, खाद्य पदार्थ नहीं जिम्मेदार
Connect with us
leaderboard image

MUZAFFARPUR

अधिक तापमान के चलते AES ने मुजफ्फरपुर में बरपाया कहर, खाद्य पदार्थ नहीं जिम्मेदार

Santosh Chaudhary

Published

on

मुजफ्फरपुर व इसके आसपास बच्चों पर कहर बरपाने वाली एईएस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) का नाता किसी फल या खाद्य पदार्थ से नहीं, बल्कि तेज गर्मी से है। जब तापमान लगातार 40 डिग्री या उससे ज्यादा रहता है तो बच्चों के बीमार होने की संख्या बढ़ जाती है। केंद्रीय टीम की जांच और शोध में यह बात सामने आई है। टीम के प्रमुख वरीय शिशु रोग विशेषज्ञ व राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के राष्ट्रीय सलाहकार डॉ. अरुण कुमार सिंह ने केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपते हुए बीमारी से बचाव के कई सुझाव भी दिए हैं।

इससे पहले भी एसकेएमसीएच के शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर सहनी ने अपने शोध में पाया था कि इस बीमारी का रिश्ता गर्मी से है। इसका प्रकाशन 2012 व 2013 में मेडिकल जर्नल में हुआ था। ज्ञात हो कि एईएस से उत्तर बिहार में इस वर्ष छह सौ से अधिक बच्चे पीडि़त हुए। इनमें से 160 ने दम तोड़ दिया।

अरब-राजस्थान भी रहा शोध का केंद्र बिंदु

डॉ. अरुण ने सर्वाधिक गर्मी प्रभावित इलाके को केंद्र्र बिंदु मानकर शोध किया। वह बताते हैं कि राजस्थान या सऊदी अरब में काफी गर्मी पड़ती है। लेकिन, अंतर यह है कि वहां हर साल गर्मी में एक तरह का तापमान रहता है। जबकि, मुजफ्फरपुर में हर साल गर्मी में तापमान एक समान नहीं रहता है। यहां जिस साल 40 डिग्री या उससे ज्यादा तापमान होता है, उस समय बच्चे बीमार होते हैं। शोध में पता चला कि वर्ष 2012 व 2014 में तापमान ज्यादा रहा। तब भी बच्चे प्रभावित हुए थे। इस साल भी 40 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा तापमान रहा, इसलिए ज्यादा बच्चे बीमार हुए। उनका मानना है कि किसी इंफेक्शन या वायरस से यह बीमारी नहीं हो रही।

कार्निटाइन की कमी पाई गई

जब वर्ष 2014 में एईएस का प्रकोप ज्यादा था, तब अमेरिका में बच्चों के खून व पेशाब की जांच कराई गई थी। इस साल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज, बेंगलुरु में जांच कराई गई। 2014 की तरह इस बार की भी रिपोर्ट सामान्य है। लेकिन, इस बार एक नई बात सामने आई कि बच्चों में कार्निटाइन की कमी मिली। यह शरीर में एनर्जी प्रोडक्शन में मदद करता है। इलाज के क्रम में कार्निटाइन की मात्रा दी गई तो बच्चे जल्द स्वस्थ हुए।

तेज धूप में निकलने और खेलने से हुए पीडि़त

बीमार बच्चों की पैथोलॉजी व मांसपेशियों की जांच हुई तो पाया गया कि उनका सिर्फ मस्तिष्क ही नहीं, बल्कि हार्ट व लीवर सहित दूसरे अंग भी प्रभावित हो रहे हैं। सबसे ज्यादा तीन से चार साल के बच्चे बीमार पाए गए। वे ऐसे बच्चे थे, जो पहली बार तेज धूप में निकले और दो-तीन दिन खेलते रहे। उसके बाद माइट्रोकांड्रिया ने एनर्जी बनाना कम कर दिया। बीमार हुए तो उनको बचाना मुश्किल हो गया।

टीम ने सरकार को ये दिए सुझाव

-सर्वाधिक गर्मी यानी मई-जून में गांव में बच्चों के खेलने की जगह बने, जहां अस्थायी या स्थायी टेंट या शेड बनाया जाए। वहां सुबह 11 से दो बजे के बीच छोटे बच्चे खेलें।

-मई-जून में आंगनबाड़ी सेंटर की ओर से बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाए।

-परिजन बच्चों को दोपहर में नहीं जाने दें। ज्यादा से ज्यादा पानी दें।

-बच्चों को ज्यादा देर तक भूखे पेट नहीं रहने दिया जाए।

-गर्मी के दिन में शिविर लगाकर कार्निटाइन की जांच हो तथा उसकी आपूर्ति की जाए।

-यदि बच्चा बीमार हो तो तुरंत सरकारी अस्पताल पहुंचाया जाए।

-सरकारी अस्पताल में आइसीयू व्यवस्था को मजबूत किया जाए।

Input : Dainik Jagran

 

BIHAR

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए डीटीओ कार्यालय में हंगामा, पिटाई

Himanshu Raj

Published

on

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए काफी दिनों से जिला परिवहन कार्यालय (डीटीओ) आ रहे युवक ने गुरुवार को अपना धैर्य खो दिया। आक्रोशित हो डीटीओ, एमवीआइ एवं कर्मियों को भद्दी-भद्दी गाली देने लगे। अधिकारियों एवं कर्मियों को धमकी दी। उसकी इस हरकत से कार्यालय में अफरा-तफरी मच गई। कर्मियों ने उसे समझाने की कोशिश की। मगर वह नहीं माना और हंगामा करने लगा। इस पर वहां तैनात सुरक्षा बल एवं कर्मियों ने युवक की जमकर पिटाई कर दी। इससे कुछ देर के लिए भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। मौके पर पहुंचे डीटीओ मो. नजीर अहमद एवं एमवीआइ दिव्य प्रकाश ने इसकी सूचना नगर थाने को दी। बाद में युवक के गलती मानने एवं लिखित माफी मांगने पर छोड़ दिया गया। अधिकारियों के जांच में निकलते ही पहुंचा था युवक दोपहर में डीटीओ, एमवीआइ एवं प्रवर्तन अवर निरीक्षक की टीम वाहन जांच को निकली। अधिकारियों के निकलते ही युवक हंगामा करने लगा। गाली देने के साथ ही सबको देख लेने की धमकी देने लगा। कर्मियों ने समझाया तो उससे भी उलझ गया। बाद में पिटाई की नौबत आ गई। हंगामे की सूचना मिलते ही सभी अधिकारी रास्ते से ही लौट आए। दोस्त के काम से आया था

 

युवक बीबीगंज का रहने वाला

बीबीगंज निवासी युवक ने बताया कि बेंगलुरू में रह रहे अपने दोस्त के डीएल संबंधी मामले में वह काफी दिनों से आ रहा है। इस मामले में कोर्ट का भी आदेश है। इसके बावजूद काम के नाम पर उसे पिछले कई दिनों से परेशान किया जा रहा था। गुरुवार को भी काम नहीं किया गया। युवक को छोड़ा गया डीटीओ मो. नजीर अहमद ने कहा कियुवक को कोई परेशानी थी तो मुझसे मिलना चाहिए था। इस तरह से गाली-गलौज एवं धमकी देना उचित नहीं। सुरक्षा बलों एवं कर्मियों ने उसे समझाया तो उससे ही उलझ गया। लिखित में माफीनामा देने के बाद उसे छोड़ दिया गया।

 

Input: Jagran

Continue Reading

BIHAR

मिठनपुरा में फ्लावर मिल से एक ट्रक श’राब जब्त

Himanshu Raj

Published

on

मिठनपुरा थाना क्षेत्र के बेला लीची बगान इलाके में गुरुवार की रात पुलिस ने फ्लावर मिल के अंदर छा’पेमारी कर श’राब लदी एक ट्रक को जब्त किया है। इसके अलावा चार अन्य वाहन जब्त किए गए हैं। करीब पांच सौ से अधिक कार्टन श’राब की बताई जा रही है। इस दौरान दो कर्मियों को पुलिस ने हि’रासत में लिया है। उससे पूछताछ कर फ्लावर मिल मालिक व अन्य धं’धेबाजों के बारे में पता लगाया जा रहा है। एसएसपी जयंत कांत ने बताया कि एक ट्रक श’राब जब्त की गई है। मिलान किया जा रहा है।

बताया गया कि एसएसपी को गुप्त सूचना मिली कि फ्लावर मिल के अंदर से शराब का धंधा किया जा रहा है। सूचना के बाद खुद एसएसपी के नेतृत्व में विशेष टीम ने इलाके में नाकेबंदी कर मिल पर छापेमारी की। इस दौरान शराब लदी ट्रक को जब्त किया गया। छापेमारी में शामिल डीएसपी नगर रामनरेश पासवान ने बताया कि मिल के बोर्ड पर ठाकुर सेल्स एंड फूड .. लिखा पाया गया है। हिरासत में लिए गए कर्मियों से पूछताछ पर आगे की कार्रवाई की जा रही है। स्थानीय लोगों से पूछताछ में जानकारी मिली कि हर साल मिल पर लगा बोर्ड का नाम बदल दिया जाता है। काफी दिनों से वहां पर अवैध ढंग से शराब का धंधा हो रहा था। इसकी सूचना स्थानीय थाने को लोगों ने कई बार दी। लेकिन मिठनपुरा पुलिस ने छापेमारी नहीं की। नए एसएसपी के योगदान देने के बाद लोगों को उनपर विश्वास हुआ और गुप्त सूचना मिलने पर फौरन कार्रवाई की गई।

Input: Dainik Jagran

 

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर प्लेटफार्म एक पर चलना दुश्वार, हर तरफ कब्जा

Ravi Pratap

Published

on

मुजफ्फरपुर जंक्शन ए वन ग्रेड होने के बावजूद यात्री सुविधाओं में फिसड्डी है। जंक्शन के सभी प्लेटफार्म पर अव्यवस्था का आलम है। प्लेटफार्म संख्या एक भी इससे अछूता नहीं है। यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल न करते हुए रेलवे के अलग-अलग विभागों ने अपने फायदे के लिए प्लेटफार्म संख्या एक पर कब्जा जमा रखा है। इस कारण इस प्लेटफार्म पर यात्रियों का चलना भी दुश्वार हो गया है।

600 मीटर लंबे इस प्लेटफार्म पर कहीं भी ऐसी जगह नहीं बची है, जहां यात्री बेफ्रिक होकर आराम से चल सके। विभागों ने अपना सामान भारी मात्रा में प्लेटफार्म पर जमा लिया है। प्लेटफार्म के एक हिस्से में आरएमएस के हजारों पैकेट पड़े हैं तो दूसरे हिस्से में रेलवे के पार्सल का ढेर लगा है। बचे हिस्से में बॉक्स पोर्टल के सैकड़ों बॉक्स प्लेटफार्म पर पड़े हैं। इसके बाद भी बची-खुची जगहों पर रेलवे ने स्टॉल खुलवा दिया है। अमूमन डाउन लाइन की सभी महत्वपूर्ण ट्रेनें प्लेटफार्म संख्या एक पर ही आती हैं। ट्रेनों पर सवार होने के लिए हर दिन प्लेटफार्म पर अफरातफरी मची रहती है। इस स्थिति में हर तरफ सामान बिखरे होने से दर्जनों यात्री गिरकर चोटिल होते हैं।

पिछले हफ्ते हुई थी मौत

बीते आठ नवंबर को भी प्लेटफार्म एक पर हर तरह का सामान बिखरा पड़ा था। यात्रियों की संख्या भी काफी थी। ट्रेन में चढ़ने के लिए हुई धक्का-मुक्की के क्रम में समस्तीपुर के सुशील झा ट्रैक पर गिर पड़े व ट्रेन से कट गए। दो महीना पहले भी हुई इस तरह की घटना में एक अन्य यात्री की मौत हुई थी। चोटिल होने की घटनाएं अक्सर होती हैं।

प्लेटफार्म पर लगतीं बाइकें

रेलकर्मियों की मनमानी इस तरह चल रही है कि वे अपनी बाइकें प्लेटफार्म पर ही लगाते हैं। कुछ दिन पहले बाइक हटाने के लिए जीआरपी ने अभियान चलाया था। अभियान खत्म होते सैकड़ों की संख्या में बाइकें फिर से लगने लगी हैं। प्लेटफार्म के जिस हिस्से में बाइकें लगाई जाती हैं, वह प्लेटफार्म एक को प्लेटफार्म पांच व छह से जोड़ता है।

रखी जाती निर्माण सामग्री

प्लेटफार्म संख्या तीन व चार का हाल भी कमोबेश एक की तरह ही है। यहां पिछले एक साल से निर्माण काम चल रहा है। इसको लेकर प्लेटफार्म के एक बड़े हिस्से को घेर दिया गया है। निर्माण सामग्री रख दी गई है। इंजीनियरिंग विभाग की लापरवाही के कारण तीन महीने का फुटओवर ब्रिज का कार्य पिछले एक साल से चल रहा है।

प्लेटफार्म संख्या एक पर विभागों का कब्जा कर वहां सामान रख देना गंभीर मामला है। यह यात्रियों के लिए जानलेवा साबित होगा। स्थानीय अधिकारियों ने इस मामले की जानकारी नहीं दी है। मामले की जांच कराई जाएगी। सभी विभागों को सामान हटाने का आदेश दिया जाएगा।

-सीएस प्रसाद, सीनियर डीसीएम, सोनपुर मंडल

Input : Live Hindustan

Continue Reading
Advertisement
mathematician-vashishtha-narayan-singh
BIHAR5 mins ago

वशिष्ठ नारायण सिंह नासा से गुमनामी तक

pollution-in-bihar
BIHAR15 mins ago

24 घंटे में फिर बढ़ा प्रदूषण, सास की बीमारी का ख’तरा

BIHAR21 mins ago

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए डीटीओ कार्यालय में हंगामा, पिटाई

BIHAR22 mins ago

जेपी सेतु पर 20 से शुरू होगा बड़े वाहनों का परिचालन

BIHAR32 mins ago

श्रद्धांजलि: तब लालू ने कहा था- बिहार को भले ही बंधक रखना पड़े, वशिष्ठ बाबू का इलाज विदेश तक कराएंगे

BIHAR40 mins ago

मिठनपुरा में फ्लावर मिल से एक ट्रक श’राब जब्त

BIHAR1 hour ago

प्रकाश पर्व : कंगन घाट पर बनेगी पांच हजार क्षमता वाली टेंट सिटी

BIHAR11 hours ago

डॉ. वशिष्ठ नारायण के निधन पर PM मोदी ने जताया शोक, कहा- देश ने खो दी विलक्षण प्रतिभा

TRENDING12 hours ago

लता मंगेशकर चौथे दिन भी आईसीयू में, हालत स्थिर; परिजन ने कहा-दुआओं के लिए शुक्रिया

BIHAR12 hours ago

रेड मारने गई बिहार पुलिस को उतारनी पड़ गई पैंट

INDIA4 weeks ago

तेजस एक्सप्रेस की रेल होस्टेस को कैसे परेशान कर रहे लोग?

BIHAR3 weeks ago

27 अक्टूबर से पटना से पहली बार 57 फ्लाइट, दिल्ली के लिए 25, ट्रेनों की संख्या से भी दाेगुनी

BIHAR3 weeks ago

पंकज त्रिपाठी ने माता पिता के साथ मनाई प्री दिवाली, एक ही दिन में वापस शूटिंग पर लौटे

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के नदीम का भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चयन, जश्न का माहौल

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के लाल शाहबाज नदीम का क्रिकेट देखेगा पूरा विश्‍व, भारतीय टीम में शामिल होने पर पिता ने कही बड़ी बात

BIHAR2 weeks ago

मदीना पर आस्‍था तो छठी मइया पर भी यकीन, 20 साल से व्रत कर रही ये मुस्लिम महिला

BIHAR2 weeks ago

प्रत्यक्ष देवता की अनूठी अराधना का पर्व है छठ व्रत, जानें अनूठी परंपरा के बारे में कुछ खास बातें

MUZAFFARPUR3 weeks ago

धौनी ने नदीम से मिलकर कहा, गेंदबाजी एक्शन ही तुम्हारी पहचान

BIHAR4 weeks ago

अगले 10 दिनों तक भगवानपुर – घोसवर रेल मार्ग रहेगी बाधित, जाने कौन कौन सी ट्रेनें रहेंगी रद्द

INDIA2 weeks ago

छठ पूजा के दौरान दिखी यमुना की ख’तरनाक तस्वीर, सोशल मीडिया पर यूरोप की नदियों से की गई तुलना

Trending

0Shares