Connect with us

BIHAR

राज्य की एक दर्जन लोकसभा सीटों पर 3 से 5 प्रतिशत मतदाताओं ने दबाया नोटा

Santosh Chaudhary

Published

on

इस लोकसभा चुनाव में मतदाताओं ने नोटा यानी इनमें से कोई नहीं का बटन भी खूब दबाया। राज्य के कुल 40 लोकसभा क्षेत्रों में से करीब एक दर्जन सीटों पर हुए चुनाव में नोटा का प्रतिशत कुल पड़े वोटों का 3 से 5 प्रतिशत रहा। कहा जाय कि वोटों का यह प्रतिशत उक्त सीट पर चुनाव लड़ रहे आधे से अधिक प्रत्याशियों के टोटल वोट से अधिक रहा। हालांकि, इससे चुनाव परिणाम पर कोई असर नहीं पड़ा। क्योंकि अधिकतर लोकसभा क्षेत्रों में जीत का मार्जिन लाखों में है। हालांकि, मुजफ्फरपुर व वैशाली में नोटा एक प्रतिशत से भी कम वोटरोंं ने दबाया।

सबसे अधिक 51660 नोटा गोपालगंज के मतदाताओं ने दबाया, चुनाव लड़ रहे 14 में से 8 प्रत्याशियों को मिले कुल वोट से भी ज्यादा

सबसे ज्यादा नोटा गोपालगंज सीट पर 51660 पड़े, जो यहां कुल पड़े वोटों का 5.04% रहा। इसी सीट पर चुनाव लड़ रहे 14 प्रत्याशियों में से 8 का कुल वोट मिला देने पर भी यह आंकड़ा पार नहीं होता। यही हाल जमुई लोकसभा सीट का रहा। यहां कुल वोट का 4.16 प्रतिशत ( 39496 वोट) नोटा पड़ा। वहीं, पश्चिम चंपारण4.51% यानी 45699 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया। इसी तरह तीन प्रतिशत से अधिक नोटा वोट पड़ने वाले लोकसभा क्षेत्रों में वाल्मीकि नगर (34338 वोट यानी 3.33%), समस्तीपुर (35417 वोट यानी 3.48%), सारण (28227 वोट यानी 3.01%), नवादा (35147 वोट यानी 3.73%), जहानाबाद (27574 वोट यानी 3.38%), गया (30030 वोट यानी 3.14%), भागलपुर ( 31287 वोट यानी 3.03%) शामिल है।

मुजफ्फरपुर में 0.87 और वैशाली में 0.86 प्रतिशत मतदाताओं ने नोटा को चुना

सबसे कम नोटा शिवहर में पड़ा। जहां कुल 7017वोटरों ने नोटा बटन दबाया, जो कुल पड़े वोट का 0.7 रहा। मुजफ्फरपुर व वैशाली लोकसभा क्षेत्र में बराबर-बराबर 0.86 प्रतिशत वोटरों ने नोटा का इस्तेमाल किया। मुजफ्फरपुर में 9105 और वैशाली में 9217 वोटरों ने नोटा को चुना। वहीं, पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र में 5076 मतदाता यानी 0.52 प्रतिशत वोटर और पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में 6491 मतदाताओं यानी 0.61 वोटरों ने नोटा पर बटन दबाया।

Input : Dainik Bhaskar

 

BIHAR

बिहारी परिवारों को उल्टा- सीधा और नीच सोच का कहने वाली ज्योति यादव जैसी पत्रकार को हम कब जवाब देंगे

Abhishek Ranjan Garg

Published

on

ज्योति यादव एक साधारण वेबसाइट में मामूली सी पत्रकार है, जो हमेशा उल्टा- सीधा और लोगो के ध्यान खींचने के लिये अनर्गल बात करते रहती है. सुशांत मामले में लोगो का ध्यान अपनी तरफ लाने के लिये ज्योति ने नीचता की सारी हद पार कर दी और बिहार के परिवारों के ख़िलाफ़ अपने लेख से भड़ास निकालने लगी उन्होंने एक लेख निकाला जिसमें वो सुशांत के मौत का जिम्मेदार उसके परिवार को ही ठहराने के लिये ढ़ेरो तरह का अनर्गल विलाप किया.

ज्योति ने अपने बकवास लेख में कई अनपढ़ वाले तथ्य दिए है जिसमें वो कहती है कि बिहारी परिवार अपने बच्चों को मॉडर्न श्रवण कुमार बनने का दबाव डालते रहते है और हर गलती का आरोप अपने बेटे के महिला मित्र पर लगाते है. इतना कहते हुये ज्योति यादव अपनी घटिया मानसिकता का परिचय देंते हुये बिहार को पितृसत्तात्मक बता देती है. ज्योति यादव शायद नहीं जानती की जितनी इज्जत बिहार में महिलाओं को परिवार में दी जाती है शायद ही कही हो. ज्योति छोटी मानसिकता की एक ऐसी पत्रकार है जिनकी बिहारियों से नफ़रत उनके लेख से साफ झलकती है. उनके लेख को पढ़कर यह साफ होता है कि बिहारियों के प्रति नफ़रत और घृणा फैलाना इनके एजेंडा में है.

Image may contain: 1 person, close-up, text that says "Prant Off The"

ज्योति यादव अपने लेख में कहती है कि बिहार की पितृसत्तात्मक है ऐसा शायद वो इसलिये सोचती है क्योंकि उन्हें एक ख़ास एजेंडा को फैलाना है और सुशांत के आरोपियों को बचाना है. ज्योति यादव शायद कभी बिहार नहीं आयी है उन्होंने मन ही मन बिहार के प्रति अपने नफरत को इस लेख में जाहिर कर दिया है. बिहार के परिवार वाले अपने बच्चों से प्यार नही करते ऐसा कहने वाली ज्योति को शायद उनके घर मे प्यार और सही शिक्षा नही मिला है तभी वो ऐसी घृणित सोच को समाज मे फ़ैला रही है.

ज्योति यादव का बिहार के प्रति नफ़रत किस बात का यह तो नहीं मालूम लेक़िन ज्योति ने अपने लेख के माध्यम से बिहार के लोगो को नीचा दिखाने का पूरा प्रयास किया है और सुशांत मामले में एक अनर्गल विलाप शुरू करने का प्रयास किया है. ऐसे लेखों के माध्यम से ज्योति यादव जैसी पत्रकार सुशांत मामले को भटकाने का प्रयास में लगी है.

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : दो साल से सैंकड़ो ग़रीब बच्चों को मुफ़्त में पढ़ा रहे- अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार

Muzaffarpur Now

Published

on

शिक्षा ही गरीबी से बाहर निकलने का सबसे बड़ा हथियार है. जबतक ग़रीब और दलित परिवार के बच्चों को शिक्षा नहीं दिया जायेगा तबतक समाज की ग़रीबी समाप्त नहीं हो सकती और मुजफ्फरपुर निवासी अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार ने इस बात को बखूबी समझा.

मुजफ्फरपुर में कन्हौली विष्णुदत्त स्थित मोहन सहनी टोला में अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार पिछले दो वर्षों से निःशुल्क स्कूल चला रहे है. इन दोनों दोस्तों ने अपने पैसों से गांव में स्मार्ट क्लास का निर्माण भी कराया है. गांव के बच्चों को स्मार्ट टीवी के माध्यम से ये दोनों साथी मुफ्त में आधुनिक शिक्षा दे रहे है.

फ्री स्मार्ट स्कूल चलाने और देशहित के कामों के लिये अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार ने जर्नलिस्ट फॉर सोशल रिफॉर्म (जे.एस.आर) नाम से संस्था भी बनाया है. अब इसी जे.एस आर के बैनर तले दोनों तक़रीबन 110 बच्चों को रोज़ाना फ्री में पढ़ा रहे है.

संस्था के तहत इन्होंने फ्री स्कूल की शुरुआत 2018 में की तबसे वहां एक नियमित शिक्षक उपलब्ध करा रोजाना बच्चों की पढ़ाई चल रही है. जिस इलाके में इन्होंने स्कूल बनाया है वह मूलतः दलित बस्ती है जहाँ बच्चों के साफ-सफाई और रहन सहन में ढ़ेरो परेशानी थी. फ्री स्कूल के माध्यम से बच्चो को सफाई का भी पाठ पढ़ाया जाता है. नियमित हाथ धोना, नहाना और नाखून सही समय पर काटने के लिये भी बच्चों को प्रेरित किया जाता है.

अभिषेक रंजन और उज्जवल ने जब कन्हौली के मोहन सहनी टोला में फ्री स्कूल की शुरुआत की थी तब वहां 20-25 बच्चें ही आते थे. अब धीरे- धीरे संख्या बढ़कर 110 बच्चों तक पहुँच गया है. स्मार्ट टीवी से पढ़ाई होने के कारण बच्चों को पढ़ने में भी अधिक मन लगने लगा है. जे.एस.आर के माध्यम से समय-समय पर बच्चों का मुफ़्त स्वास्थ जांच भी कराया जाता है और अन्य एक्स्ट्रा एक्टिविटी भी कराई जाती है.

स्कूल के संस्थापक अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार बताते है कि कोरोना के मद्देनजर अभी स्कूल बंद है, लेकिन खुलते ही बच्चों को मास्क और सेनिटाइजर दिया जाएगा और समाजिक अनुशासन पर विशेष बल दिया जायेगा. संस्थापक ने बताया कि जे.एस.आर फ़्री स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों का पूर्व में भी स्वास्थ जांच होता रहा है अब इन चीजों पर और विशेष ध्यान दिया जाएगा.

समाज में शिक्षा का अलख जगाने के लिये इन दोनों दोस्तों का यह कदम सराहनीय है. इनसे प्रेरणा लेकर और भी लोगों को ऐसा क़दम उठा देश निर्माण मे योगदान करना चाहिए.

Continue Reading

BIHAR

सुशांत के भाई संजय राउत पर करेंगे मानहानि का केस, पिता पर दूसरी शादी करने का लगाया था आरोप

Munna Kumar

Published

on

सुशांत सिंह राजपूत के भाई और बीजेपी विधायक नीरज कुमार बब्लू ने कहा कि वह शिवसेना और संजय राउत के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराएंगे. संजय राउत मेरे परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं. नीरज ने कहा कि जो संजय राउत ने बयान दिया है कि सुशांत के पिता केके सिंह ने दो शादी की थी यह बात गलत है.

सुशांत सिंह राजपूत का बिहार कनेक्शन ...

सुशांत के पिता पर दूसरी शादी करने का लगाया था आरोप

शिवसेना सांसद संजय राउत रिया चक्रवर्ती से भी गंदी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं. संजय राउत ने कहा कि सुशांत के पिता केके सिंह ने दूसरी शादी कर ली थी. जिसके कारण ही सुशांत और उनके पिता के रिश्ते खराब हो गए हैं. संजय रावत ने कहा है कि सुशांत के पिता पटना में रहते है. संजय रावत ने कहा कि दूसरी शादी करने कारण ही सुशांत सिंह का पिता से कोई भावनात्मक लगाव नहीं था.केके सिंह को किसी ने गुमराह किया है. गुमराह के कारण ही वह पटना में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ केस दर्ज कराया है.

Sushant Singh Rajput Death News: Actor Sushant Singh Rajput Passes ...

अंकिता ने क्यों छोड़ा साथ

संजय रावत ने बिहार पुलिस के साथ दे रही अंकिता लोखंडे पर भी निशाना साधा है. कहा कि सुशांत  की जिंदगी में दो लड़की आई अंकिता लोखंडे और और रिया चक्रवर्ती की आई. लेकिन अंकिता ने तो साथ छोड़ दिया था. लेकिन रिया तो उनकी साथ में थी. संजय रावत ने कहा कि आखिर अंकिता लोखंडे सुशांत सिंह राजपूत से अलग क्यों हुई इसकी भी जांच होनी चाहिए. अब सवाल उठ रहा है कि आखिर शिवसेना सांसद संजय रावत को आखिर सीबीआई जांच से क्यों परेशानी हो रही है कि कभी वह नीतीश कुमार तो कभी बिहार के डीजीपी गुप्तेशवर पांडेय तो कभी सुशांत के परिवार पर बोल रहे हैं.

Input : First Bihar

Continue Reading
INDIA12 mins ago

रिया चक्रवर्ती ने CBI जांच का विरोध किया, सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा

BIHAR2 hours ago

बिहारी परिवारों को उल्टा- सीधा और नीच सोच का कहने वाली ज्योति यादव जैसी पत्रकार को हम कब जवाब देंगे

MUZAFFARPUR3 hours ago

मुजफ्फरपुर : दो साल से सैंकड़ो ग़रीब बच्चों को मुफ़्त में पढ़ा रहे- अभिषेक रंजन और उज्जवल कुमार

BIHAR3 hours ago

सुशांत के भाई संजय राउत पर करेंगे मानहानि का केस, पिता पर दूसरी शादी करने का लगाया था आरोप

INDIA3 hours ago

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजीटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

INDIA3 hours ago

Chinese Troops ने पाकिस्तानी सैनिकों को जमकर पीटा, जानें आपस में क्यों भिड़े ‘जिगरी यार’

INDIA4 hours ago

रिया चक्रवर्ती फिर से पहुंची ईडी दफ्तर, नए सवालों का जवाब देने में छूटेगा पसीना

INDIA5 hours ago

‘जय श्रीराम’ और मोदी जिंदाबाद ना बोलने पर बुजुर्ग ऑटो रिक्शा ड्राइवर के साथ मारपीट

BIHAR5 hours ago

IPS विनय तिवारी को CBI में भेजने वाले अटकलों को उन्होंने खुद बताया गलत, निराश हुए लोग-

HEALTH6 hours ago

WHO की चेतावनी- वैक्सीन कोई जादुई गोली नहीं होगी, जो पलक झपकते ही खत्म कर देगी वायरस

BIHAR3 days ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA4 weeks ago

सलमान खान ने शेयर की किसानी करने की ऐसी तस्वीर, लोगों ने जमकर सुनाई खरीखोटी

INDIA4 weeks ago

एक दूल्हे के संग दो दुल्हनों ने लिए फेरे : एक गर्लफ्रेंड, दूसरी मम्मी-पापा की पसंद, Video देखें

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

BIHAR6 days ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR5 days ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR1 week ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

MUZAFFARPUR2 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

BIHAR21 hours ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

Trending