नीति आयोग ने की सिफारिश, नहीं लेना होगा कोई लाइसेंस
Connect with us
leaderboard image

INDIA

नीति आयोग ने की सिफारिश, नहीं लेना होगा कोई लाइसेंस

Santosh Chaudhary

Published

on

देश में प्राइवेट कारों की बढ़ती संख्या को रोकने के लिए केंद्र सरकार नई पॉलिसी लाने पर विचार कर रही है। नीति आयोग ने यह पॉलिसी तैयार की है। इस पॉलिसी के तहत निजी कारों के मालिकों को कुछ शर्तों के साथ सवारी ढोने की छूट दी जाएगी। इससे निजी कार मालिकों की कमाई भी बढ़ेगी।

नीति आयोग ने प्राइवेट कारों की संख्या कम करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार के सामने व्हीकल पूलिंग (Vehicle Pooling) पॉलिसी पेश की है। इस पॉलिसी के तहत निजी कार मालिक अपनी कार में सवारी ढो सकते हैं। हालांकि, उनको एक दिन में तीन या चार ट्रिप लगाने की अनुमति होगी। इस पॉलिसी के तहत राज्य सरकारें इन निजी कारों को कैब या टैक्सी नहीं माना जाएगा। TOI की एक रिपोर्ट के अनुसार, यात्रियों की सुरक्षा के लिए इन निजी कारों के मालिकों को अपना वाहन राज्यों में कार्य कर रहे कैब एग्रीगेटर के पास पंजीकृत कराना होगा। यह कैब एग्रीगेटर वाहनों की केवाईसी अपने पास रखेंगे। इस सेवा को लेने वाले निजी वाहन चालकों को अपने यात्रियों के लिए बीमा सुविधा भी लेनी होगी।

पॉलिसी के अनुसार, इस सेवा का लाभ लेने वाले सभी वाहनों का पूरा रिकॉर्ड वाहन डेटाबेस (Registerd Vehicles) पर दर्ज होगा, ताकि कोई कार मालिक एक दिन में ज्यादा ट्रिप लगाने के लिए एक से ज्यादा एग्रीगेटर के पास पंजीकरण ना करा ले। पॉलिसी में स्पष्ट किया गया है कि कोई भी कैब एग्रीगेटर किसी भी कार मालिक को ज्यादा ट्रिप लगाने को प्रोत्साहित करने के लिए किसी भी प्रकार का इंसेंटिव नहीं देगा। एक अधिकारी के अनुसार, सरकार इसके लिए किसी भी प्रकार की किराया नीति जारी नहीं करेगी और यह सब बाजार पर निर्भर रहेगा। हालांकि, पॉलिसी के नियमों का पालन कराने के लिए सरकार एक मजबूत ऑडिट सिस्टम लाएगी।

परिवहन संबंधी नियम बनाने के अधिकार राज्यों के पास होता है। ऐसे में केंद्र सरकार इस पॉलिसी को सफल बनाने के लिए राज्य सरकारों से बातचीत कर रही है। केंद्रीय परिवहन मंत्रालय इस पॉलिसी को लेकर कई राज्यों से दो दौर की बातचीत कर चुका है।

Input : Dainik Bhaskar

INDIA

पाकिस्ता’न के F-16 विमान को मा’र गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन को मिलेगा वीर चक्र

Ravi Pratap

Published

on

भारत की सीमा में घुसे पाकिस्तान (Pakistan) के एफ-16 (F-16) लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan Varthaman) को वीर चक्र से सम्मानित किया जाएगा. गुरुवार को स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) पर भारत सरकार अभिनंदन को शीर्ष सैन्य सम्मान दिया जा रहा है

इसी के साथ बालाकोट में आतंकी संगठनों को नेस्तानाबूत करने वाली भारतीय वायुसेना के स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल दिया जाएगा.

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया गया था. इस हमले में 40 सैनिक शहीद हो गए थे. इस हमले के 13 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी कैंप को निशाना बनाया था.

हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने दूसरे दिन भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की, लेकिन भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मिग-21 (MiG-21) बाइसन से पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को डॉगफाइट में नियंत्रण रेखा के पास मार गिराया.

गौरतलब है अभिनंदन ने जब मिग-21 से पाकिस्तान के एफ-16 को मार गिराया था उसके कुछ सेकेंड के बाद उनका विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया और उन्हें विमान से कूदना पड़ा. अभिनंदन गलती से पाकिस्तान की सीमा में उतर गए. जिसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया था. हालांकि, अतंरराष्ट्रीय दबाव के बाद ही पाकिस्तान ने उन्हें रिहा कर दिया था और वह स्वदेश लौटे थे.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

70 मिनट तक सुषमा स्वराज ने लड़ी मौ’त से जंग

Ravi Pratap

Published

on

दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री नहीं रही। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात दिल का दौरा पडने से निधन हो गया। घबराहट होने की शिकायत के बाद रात 9.26 बजे सुषमा को एम्स लाया गया।

जहां डॉक्टरों की टीम के काफी प्रयासों के बाद भी जब उनकी जान नहीं बचाई जा सकी तो टीम में मौजूद दो जूनियर डॉक्टर के आंखों में आंसू आ गए।

Image : ANI

वे खुद को कंट्रोल कर पाते मगर भावनाओं के आगे वे हार गए और बाहर निकलकर फूट फूटकर रोने लगे। दरअसल, सत्तर मिनट तक सीपीआर और हार्ट को पंप करने के अलावा शॉक भी देने के बाद सुषमा स्वराज की धड़कनें वापस नहीं लौटी तो उन्हें तत्काल जीवन रक्षक उपकरण (वेंटीलेटर) का सपोर्ट दिया। इसके बावजूद सुषमा के शरीर ने साथ छोड़ना शुरू कर दिया था। डॉक्टरों के आगे भी उस वक्त कुछ और करने को बचा नहीं।

Image : ANI

दस बजकर 50 मिनट पर जब अंतिम सांस ली। इन डॉक्टरों ने अपनी पहचान जाहिर ना करने की अपील करते हुए उन्होंने अमर उजाला को सुषमा के उन अंतिम सत्तर मिनट का पूरा ब्यौरा दिया। डॉक्टरों की मानें तो सुषमा को रात नौ बजकर पैतीस मिनट पर एम्स लाया गया था लेकिन उससे पहले ही अलर्ट होने से बारह डॉक्टरों की टीम मौजूद थी।

आनन फानन में उन्हें एंबुलेंस से बाहर लाकर सीधे इमरजेंसी ले जाया गया। यहां दो डॉक्टर सीपीआर के साथ मौजूद थे।

डॉक्टर चंद सेंकड में ही समझ गए कि सुषमा को कार्डिएक अरेस्ट हुआ है। करीब दस से पंद्रह मिनट तक सीपीआर से काम नहीं चला तो तुंरत उन्हें शॉक दिया। तीन बार शॉक के बाद भी सुषमा के शरीर ने कुछ रेस्पांड नहीं किया तो डॉक्टरों ने तीसरे विकल्प यानि हार्ट को पंप करने का फैसला लिया।

ह्दयरोग विभाग के डॉ वीके बहल और उनकी पूरी टीम पंप देने में जुट गई। जबकि दूसरी ओर डॉ प्रवीण अग्रवाल की टीम ने वेंटीलेटर को तैयार किया। पंप से भी काम नहीं चला तो सुषमा स्वराज को वेंटीलेटर दिया। मगर इस तब तक काफी देर हो चुकी थी और सुषमा की धड़कनों ने पूरी तरह से साथ छोड़ दिया था।

Continue Reading

INDIA

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का नि’धन, यहां दें श्रद्धांजलि

Ravi Pratap

Published

on

देश की पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की नेता सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. दिल्ली के एम्स अस्पताल में सुषमा स्वराज ने अंतिम सांस ली. देश की सबसे प्रखर वक्ताओं में शुमार सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां क्लिक करें.सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां क्लिक करें.

View this post on Instagram

देश की पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की नेता सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. दिल्ली के एम्स अस्पताल में सुषमा स्वराज ने अंतिम सांस ली. देश की सबसे प्रखर वक्ताओं में शुमार सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां कमेंट बॉक्स में दे।

A post shared by Muzaffarpur Now (@muzaffarpurlive) on

Continue Reading
Advertisement
INDIA1 hour ago

पाकिस्ता’न के F-16 विमान को मा’र गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन को मिलेगा वीर चक्र

MUZAFFARPUR2 hours ago

स्वतंत्रता दिवस पर इस वर्ष नहीं होंगे मुजफ्फरपुर में सांस्कृति कार्यक्रम

BIHAR5 hours ago

दशरथ मांझी से प्रेरणा ले ग्रामीणों ने पहाड़ चीर मंदिर जाने का रास्ता बनाया

BIHAR20 hours ago

पश्चिम अफ्रीका में फंसी बिहारी फैमिली, मदद के लिए सुषमा स्वराज को कर रहे याद

BIHAR1 day ago

रक्षाबंधन पर बढ़ी मोदी राखी की डिमांड, महिलाएं कर रहीं अधिक डिमांड

BIHAR1 day ago

मुजफ्फरपुर का नाम खुदीराम बोस रखने की मांग

BIHAR1 day ago

न्यूजीलैंड वित्त मंत्रालय में विश्लेषक बनीं मुजफ्फरपुर की बेटी शेफालिका, गांव में खुशी की लहर

BIHAR2 days ago

सावन का अंतिम सोमवार होने की वजह से मुस्लिम परिवार बकरीद पर आज नहीं देंगे कुर्बानी

INDIA1 week ago

70 मिनट तक सुषमा स्वराज ने लड़ी मौ’त से जंग

INDIA1 week ago

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का नि’धन, यहां दें श्रद्धांजलि

BIHAR3 weeks ago

बिहार में अब नहीं चलेगा पक’ड़़उआ ब्याह, कोर्ट ने इंजीनियर की शादी कर दी कैंसिल

BIHAR4 weeks ago

बिहार में पहली बार पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई, 3 DSP, 50 इंस्पेक्टर सहित 66 पर FIR

BIHAR4 weeks ago

पटना पहुंचे रितिक रोशन, आनंद कुमार के पैर छुए, कहा- लगता है पिछले जन्म में मैं बिहारी ही था

INDIA3 weeks ago

UGC ने इन 23 यूनिवर्सिटी को फर्जी घोषित किया, देखें लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

मधुबनी में आसमान से गिरा पत्थर पहुंचा पटना, सीएम नीतीश ने बड़े ही करीब से देखा-परखा

RELIGION4 weeks ago

ये है दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग, दर्शन करने वाला कभी नहीं रहता गरीब

INDIA3 weeks ago

राखी से ठीक एक माह पहले बहन ने भाई को दिया जिंदगी का तोहफा

INDIA3 weeks ago

साक्षी मिश्रा ने बनाया नया इंस्टा अकाउंट, खुद को बताया अभि की टाइग्रेस, भाई के लिए रक्षाबंधन की पोस्ट

BIHAR4 weeks ago

बिहार: एक साथ निकली छह सखियों की डे’डबॉडी, एक की चल रही थी सांस, मचा कोहराम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

आधुनिक तकनीक से टंकी की सफाई अब अपने शहर में भी

Trending

0Shares