Connect with us

BIHAR

बिहार में फिर से है’वानियत: प्रेमी ने ग’र्भवती प्रेमिका को जिं’दा ज’लाया, हा’लत गं’भीर

Santosh Chaudhary

Published

on

पश्चिमी चंपारण । प्यार किया और झां’सा देकर शा’रीरिक सं’बंध बनाया। जब प्रेमिका ग’र्भवती हो गई और शादी के लिए द’बाव बनाने लग तो  है’वानियत की ह’द पार करते हुए प्रेमी ने अपनी ग’र्भवती प्रेमिका को घर में घुसकर जिं’दा ज’ला दिया। युवती की हा’लत गं’भीर बनी हुई है वहीं प्रेमी फ’रार है।

बिहार में फिर से हैवानियत: प्रेमी ने गर्भवती प्रेमिका को जिंदा जलाया, हालत गंभीर

घटना मंगलवार की सुबह की है। नरकटियागंज थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर गांव की है,जहां  एक गर्भवती युवती को उसके प्रेमी ने जिंदा जला दिया है। हालांकि युवती के परिजनों के प्रयास से बुरी तरह से झुलसी युवती को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने युवती की हालत चिंताजनक बताई है। उसका इलाज चल रहा है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

 

बताया जाता है कि पीड़िता अपने गांव के ही एक युवक मोहम्मद अरमान से प्रेम करती थी। युवक मोहम्मद अरमान शादी का झांसा देकर पिछले दो वर्षों से युवती का यौन शोषण कर रहा था। इस बीच, युवती गर्भवती हो गई तो उसने अपने प्रेमी पर शादी करने के लिए दबाव बनाया। इसे लेकर उनके बीच अक्सर विवाद होता था।

दो दिन पूर्व भी दोनों के बीच शादी की बात को लेकर फिर से कहा- सुनी भी हुई थी। जिसके बाद दोनों के बीच बातचीत बंद थी। मंगलवार की सुबह जब युवती के परिवार के सभी सदस्य घर के दरवाजे पर थे। तभी अरमान घर के पीछे के रास्ते से  केरोसिन तेल से भरा गैलन लेकर घर में घुसा और सो रही युवती पर उड़ेल कर आग लगा दी। युवती के चिल्लाने की आवाज सुनकर परिजन दौड़े तो आरोपित वहां से फरार हो गया।

नरकटियागंज के एसडीपीओ सूर्यकांत चौबे ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ है। युवती को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर बतायी जा रही है। उन्होंने कहा कि युवती के परिजनों का बयान दर्ज कर पुलिस कार्रवाई कर रही है।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

NDA में मांझी इन, चिराग आउट? आने वाले दिनों में दिखेंगे कई नये सियासी दांव

Ravi Pratap

Published

on

बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच संभावनाओं की सियासत आगे बढ़ रही है. सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर एनडीए के सहयोगी लोजपा ही कोरोना के बहाने हमला बोल रही है तो वहीं महागठबंधन के अहम घटक नीतीश के समर्थन में खड़े होते नजर आ रहे हैं. दरअसल तेजी से बदल रही बिहार की राजनीति में जीतन राम मांझी (Jeetan Ram Manjhi) की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (Ham) नीतीश कुमार के समर्थन में तब खड़ी हो गई है जब लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag paswan) की तरफ से कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं.

हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने चिराग पर हमला बोलते हुए खुल कर सीएम नीतीश कुमार के कोरोना को लेकर किए जा रहे कार्यों की तारीफ की है. हम प्रवक्ता ने चिराग पर हमला बोलते हुए कहा कि विपत्ति के समय भी राजनीति कर रहे हैं. बचकानी हरकत छोड़ दें चिराग. नीतीश कुमार क़ोरोना से मजबूती से लड़ रहे हैं. दानिश ने कहा कि  चिराग को नीतीश कुमार पर हमला बोलने की बजाय अपने बयानों पर लगाम लगानी चाहिए.

अब सवाल यह उठता है कि अचानक मांझी की पार्टी का झुकाव नीतीश कुमार के प्रति क्यों? क्या कोई नई राजनीति के संकेत तो नहीं. इस पर दानिश रिज़वान ने कहा कि सियासत संभावनाओं का खेल है, कब क्या हो जाए कौन जानता है? जाहिर है बिहार की सियासत में परिस्थितियां बहुत तेजी से बदल रही हैं. कौन सी पार्टी किस ओर जाएगी, कौन सा दल किस गठबंधन का हिस्सा बनेगा, इसकी तस्वीर साफ- साफ नहीं दिख रही है.

सूत्र बताते है की मांझी की पार्टी का नीतीश प्रेम कहीं कोई बड़े राजनीतिक खेल का इशारा कर रहा है. नीतीश रामविलास पासवान को बैलेंस करने के लिए दलित कार्ड के तौर पर मांझी को आगे कर सकते हैं इसकी आशंका लोजपा को भी है. इस पर जेडीयू नेता और सीएम नीतीश के करीबी माने जाने वाले बिहार सरकार के मंत्री जय कुमार सिंह ने भी चिराग पासवान पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में बैठ कर बिहार के बारे में बोलना आसान है.

नीतीश के करीबी मंत्री ने कहा कि चिराग पासवान बिहार आकार कभी देखे हैं कि जनता किस परेशानी में है और उसकी मदद नीतीश सरकार कैसे कर रही है? मांझी जी जमीनी नेता हैं वो देख रहे हैं कि नीतीश जी बिहार की जनता की सेवा कैसे कर रहे है. मांझी की नज़दीकी पर खुल कर तो जय कुमार सिंह कुछ नहीं बोल रहे हैं, लेकिन इतना ज़रूर इशारा कर राजनीति गर्मा रहे हैं कि राजनीति में संभावनाएं कभी खत्म नहीं होती.

वहीं, दूसरी ओर खबर ये भी  है कि जीतन राम मांझी को महागठबंधन में कोई खास तवज्जो नहींं मिल रही  हैं जिससे मांझी परेशान हैं और सुरक्षित विकल्प की तलाश में हैं. ऐसे में सीएम  नीतीश से नजदीक दिखना उनकी मजबूरी भी है. हालांकि ये दोनों ओर से है क्योंकि सीएम नीतीश भी मांझी जी के सहारे लोजपा को बैलेंस करने की कोशिश कर रहे हैं. जाहिर है अभी आने वाले दिनों में नये-नये कई सियासी दांव देखने को मिलेंगे.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

बिहार: प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज की फीस आज हो सकती है तय, जानें कितने रूपए का भेजा गया प्रस्ताव

Ravi Pratap

Published

on

पटना के निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज की दर आज निर्धारित हो सकती है. इसको लेकर जिला प्रशासन और सिविल सर्जन कार्यालय की ओर से अहम फैसले लिये जा सकते हैं. निजी अस्पतालों में हाल के दिनों में कोविड 19 के इलाज के नाम पर मनमानी राशि वसूलने की कई घटनाएं सामने आ चुकी है. इसके बाद इलाज की राशि जल्दी तय करनी की मांग की जा रही थी.

दूसरे राज्यों के अस्पतालों की दर का अध्ययन किया गया

प्राप्त जानकारी के मुताबिक निजी अस्पतालों में कोविड के इलाज की दर तय करने के लिए दिल्ली, तमिलनाडु, कर्नाटक के अस्पतालों की दर का अध्ययन किया गया है. इसके आधार पर आम लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए तय राशि का प्रस्ताव तैयार किया भी जा चुका है.

जिला प्रशासन अपने स्तर से इसे तय करने जा रहा

माना जा रहा है कि जिला प्रशासन पिछले कुछ दिनों से इंतजार कर रहा था कि स्वास्थ्य विभाग के स्तर पर इसको लेकर कोई फैसला या दिशा निर्देश आ जाये. ऐसा नहीं होने की स्थिति में अब जिला प्रशासन अपने स्तर से इसे तय करने जा रहा है.

निजी अस्पतालों में कोविड 19 के इलाज की राशि तय करने को लेकर एक कमेटी का भी गठन किया गया है. कमेटी की पिछले दिनों हुई बैठक में पटना सिविल सर्जन ने निजी अस्पतालों में इलाज की अधिकतम दर को लेकर एक प्रस्ताव भी दिया था.

इलाज की राशि का यह है प्रस्ताव

इस प्रस्ताव में कोविड मरीजों से प्रतिदिन सामान्य बेड का अधिकतम पांच हजार रुपये, आइसीयू का 10 हजार और वेंटिलेटर का 15 हजार रुपये लेने की बात कही गयी थी. लेकिन इस प्रस्ताव का कई निजी अस्पताल विरोध कर रहे हैं. आइएमए बिहार के प्रेसिडेंट डाॅ बीके कारक कहते हैं कि कई बड़े निजी अस्पतालों के लिए इस दर पर काम करने में मुश्किल आ सकती है. ऐसे में आइएमए, निजी अस्पतालों आदि विभिन्न पक्षों के साथ बैठ कर इस पर सहमति बनाकर कोई अंतिम फैसला लिया जाना चाहिए.

पटना सिविल सर्जन का बयान

निजी अस्पतालों में कोविड 19 मरीजों के इलाज की दर बहुत जल्द निर्धारित कर दी जायेगी. इसको लेकर विभिन्न राज्यों के निजी अस्पतालों की दर का हमने अध्ययन भी किया है. कोरोना महामारी के इस दौर में मेरी सभी निजी अस्पतालों से अपील है कि वे नो प्राॅफिट नो लाॅस के सिद्धांत पर काम करें. यह समय मुनाफा कमाने का नहीं, बल्कि मानवता की सेवा करने का है.

डाॅ राजकिशोर चौधरी, सिविल सर्जन, पटना

Input : Prabhat Khabar

Continue Reading

BIHAR

स्नातक पार्ट वन का रिजल्ट जारी, दो हजार विद्यार्थी बिना प्रैक्टिकल के पास

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर : बीआरए बिहार विश्वविद्यालय ने स्नातक पार्ट वन का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया है। 666.ङ्ग1ंङ्ग4.ल्ली3 पर जाकर छात्र-छात्रएं अपना रॉल नंबर डालकर रिजल्ट देख सकते हैं। गुरुवार को परीक्षा कमेटी की ऑनलाइन बैठक में चर्चा की गई कि पार्ट वन की परीक्षा में तीन से पांच फीसद विद्यार्थी प्रायोगिक परीक्षा नहीं दे सके थे। लॉकडाउन के कारण इनकी परीक्षा का आयोजन नहीं हो सका। जबकि, शेष विद्यार्थियों का परिणाम बनकर तैयार है। ऐसे में तैयार रिजल्ट को रोककर रखना उचित नहीं है। जबकि, रिजल्ट जारी होने के बाद प्रायोगिक परीक्षा के आयोजन का प्रावधान नहीं है। ऐसे में निर्णय लिया गया कि सैद्धांतिक पत्रों में अधिकतम और न्यूनतम अंक के आधार पर औसत मूल्यांकन कर इनका रिजल्ट जारी किया जाए। परीक्षा समिति के इस निर्णय को कुलपति डॉ.हनुमान प्रसाद पांडेय ने स्वीकृति दे दी। साथ ही परिणाम जारी करने का आदेश दिया। इसके बाद दोपहर बाद पार्ट वन का रिजल्ट जारी कर दिया गया। रिजल्ट में किसी प्रकार की समस्या के लिए विद्यार्थियों को वेबसाइट पर ही ऑनलाइन रिपोर्ट करना है। ऑफलाइन या हस्तलिखित आवेदन विश्वविद्यालय में स्वीकार नहीं किया जाएगा। बता दें कि पार्ट वन की परीक्षा में लगभग 90 हजार विद्यार्थी शामिल हुए थे। इसमें से करीब 2000 विद्यार्थी प्रैक्टिकल की परीक्षा नहीं दे सके थे। जिन्हें औसत अंक देकर पास किया गया है।

स्टूडेंट सपोर्ट सिस्टम से कर सकते समस्याओं का समाधान : परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार ने बताया कि कोराना काल में छात्र-छात्रएं रिजल्ट में यदि कोई गड़बड़ी हो तो इसके लिए घबराएं नहीं। विवि की ओर से उन्हें कम परेशानी हो इसको ध्यान में रखते हुए स्टूडेंट सपोर्ट सिस्टम विकसित किया गया है। रिजल्ट के ठीक नीचे स्टूडेंट सपोर्ट सिस्टम लिखा है। उसपर क्लिक कर विद्यार्थी अपनी समस्या बता सकते हैं। इसके लिए मांगी जाने वाली जानकारियां उपलब्ध करानी होंगी। इसके एक सप्ताह के भीतर समस्याओं का समाधान कर दिया जाएगा।

मुजफ्फरपुर : बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में स्नातक में नामांकन को लेकर अबतक 1.7 लाख सीटों पर करीब 1.75 लाख रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। जबकि आवेदन के लिए अगस्त के अंत तक तिथि विस्तारित की गई है। ऐसे में यह आंकड़ा ढ़ाई लाख तक पहुंचने का अनुमान है। जबकि बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में पिछले सत्र के अनुसार 1.07 लाख सीट हैं। हालांकि, इस बार सीट को पुनर्निर्धारित करना है। इसके लिए नामांकन कमेटी की बैठक होनी है। इसमें से एक लाख से अधिक छात्र-छात्रएं फाइनल फॉर्म भरकर विवि को जमा कर चुके हैं। बता दें कि कॉलेजों को सीट के अनुसार ही नामांकन लेना है। इसको लेकर अगले सप्ताह बैठक कर कॉलेजों को सीट आवंटित कर दिया जाएगा।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR59 mins ago

NDA में मांझी इन, चिराग आउट? आने वाले दिनों में दिखेंगे कई नये सियासी दांव

TRENDING2 hours ago

28-वर्षीय शख्स की तोंद ने उसे कुएं में गिरने से बचाया, तस्वीर आई सामने

BIHAR2 hours ago

बिहार: प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज की फीस आज हो सकती है तय, जानें कितने रूपए का भेजा गया प्रस्ताव

BIHAR4 hours ago

स्नातक पार्ट वन का रिजल्ट जारी, दो हजार विद्यार्थी बिना प्रैक्टिकल के पास

MUZAFFARPUR4 hours ago

शहर में नाला निर्माण को बनेगा मास्टर प्लान: मंत्री सुरेश शर्मा

BIHAR5 hours ago

बिहार: हटाया जाएगा ‘नियोजित शिक्षक’ शब्द, 15 अगस्त को बड़ा तोहफा देंगे CM नीतीश!

BIHAR5 hours ago

बिहार के मेडिकल कॉलेजों में लगेंगे ऑक्सीजन प्लांट

MUZAFFARPUR5 hours ago

मुजफ्फरपुर : कंटेनमेंट जोन में सैनिटाइजेशन के साथ दो होमगार्ड की रहेगी नियमित तैनाती

INDIA5 hours ago

VIDEO: अदालत में सुनवाई के दौरान कोई वकील खा रहा था गुटखा, कोई पी रहा था हुक्का, लगी फटकार

MUZAFFARPUR15 hours ago

DM-SSP ने स्वतंत्रता दिवस को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया

BIHAR1 week ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA3 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA3 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR5 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR6 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending