Connect with us

BIHAR

पान बेचने वाले का बेटा बना IIT इंजीनियर, मिलेगा लाखों का सैलरी पैकेज

Santosh Chaudhary

Published

on

सब्जी और पान की दुकान से उठा बिहारी गुरु आरके श्रीवास्तव ने बना दिया इंजीनियर, अब ये प्रतिभा अपनी गरीबी को पीछे छोड़ बन चुके है ऑफिसर —

गुरु ने पहली मुलाकात में बच्चे की मेधा परख ली। फिर उसे इस तरह तराशा कि एक ही कोशिश में वे सफल हुए देश की प्रतिष्टित इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं में। कभी सब्जी और पान की दुकान पर घुट रहे बचपन को संवरते देर न लगी। इस समय वे एक बड़े संस्थान से इंजीनियर बन आज बड़ी कंपनियों में कोई लाखो महीने कमा रहा तो कोई सरकारी अफसर बन अपने सपने को पंख लगा रहा।

इस कहानी के प्रणेता हैं, मैथमेटिक्स गुरु फेम आरके श्रीवास्तव और उसकी परिणति हैं इंजीनियर श्रीराम और सचिन कुमार। ये इस गुरु द्वारा तराशी गई अनुपम कृति हैं। वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर आरके श्रीवास्तव बताते हैं कि बात 2009 और 2011की है। इनमे एक नन्हा बच्चा वर्ग 8 में था तो दूसरा वर्ग 10 में।

उस समय मैं बिक्रमगंज रोहतास( बिहार) में अपने शैक्षणिक संस्थान क्लास में बच्चों को पढ़ा रहा था।

हमारी सोच थी कि समाज के बच्चों को पढ़ाई की दुनिया में आगे किया जाए। तभी सशंकित भाव में ये बच्चे मेरे पास आये थे। उनमे एक का नाम श्रीराम था तो एक का नाम सचिन,

आरके श्रीवास्तव उस वाकये को याद करते हुए आगे कहते हैं, वे स्टूडेंट्स में से एक बिहार के रोहतास जिले में ग्राम मोथा का रहने वाला था तो दूसरा बिक्रमगंज में किराए के मकान लेकर पढ़ने अपने पिता के साथ आया था। उनमे एक के पिताजी संजय गुप्ता बिक्रमगंज में सब्जी बेचते थे तो दूसरे के पिता राजकुमार साह पान बेचते थे। दोनो अपने पिता के काम में हाथ बटाते था। ये बच्चे अपने सपनो के साथ आगे पढऩा चाहता था। कहीं से सुनकर हमारे पास चले आये था।

श्रीराम और सचिन से जब मेरी बात हुई थी तो उसके अंदर पढ़ाई के प्रति विशेष ललक दिखी। तब मैंने गणित के कुछ सवाल इन स्टूडेंट्स से पूछा , अपने दिमाग से ये स्टूडेंट्स इतना बढिय़ा जवाब दिया कि मुझे उनको अपने गुरुकुल में इन्हें शिक्षा देने को लेकर निर्णय लेने में जरा भी देर न लगी।

बकौल आरके श्रीवास्तव बताते है कि इन्हें निःशुल्क शिक्षा के अलावा वह सारी शिक्षा संबंधी जरूरी बस्तुएं कॉपी किताबे भी संस्था के तरफ से उपलब्ध कराये जाने लगे। इन स्टूडेंट्स के परिवार वाले काफी खुश दिखे की हमारे बच्चे को बेहतर रास्ता मिल गया अब यह पढ़ लिख कर जरूर काबिल इंसान बन जाएंगे।

वर्ष 2009 से 2013 तक लगातार 4 वर्ष सब्जी विक्रेता का बेटा श्रीराम आरके श्रीवास्तव के शैक्षणिक आंगन में पढ़ा वही सचिन 2011 से 2014 तक। श्रीराम वर्ग 8 से 12 वी तक तो सचिन वर्ग 10 से 12 वी तक कि पढ़ाई आरके श्रीवास्तव के शैक्षणिक आंगन से पूरा किया। सचिन अपने प्रयास में वह वर्ष 2014 में आइआइटी की परीक्षा में ओबीसी रैंक से सफल हुए। वही श्रीराम बिहार संयुक्त प्रवेश इंजीनियरिंग परीक्षा में बेहतर रैंक के साथ वर्ष 2013 मे पहले ही प्रयास में सफल हो गया। श्रीराम का दाखिला भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में हुआ वही सचिन ने अपने निर्णय से सबको चौका दिया, आईआईटी में ओबोसी रैंक से चयनित होने के वावजूद मनचाहा ब्रांच नही मिलने के चलते उसने आईआईटी छोड़ एनआईटी भोपाल में दाखिला लिया। श्रीराम इलेक्ट्रॉनिक एंड कॉम्बिनीकेशन तो सचिन सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर आज देश के बड़े संस्थान में इंजीनियर है। आरके श्रीवास्तव इन स्टूडेंट्स से पहली मुलाकात और इनकी सफलता की कहानी हमेशा दूसरों को सुना प्रेरित करते हैं।

 

श्रीराम इस समय हैदराबाद में ईसीऑयल ( भारत इलेक्ट्रॉनिक्स निगम लिमिटेड )में सरकारी ऑफिसर बन चुका है और अपने सपने को पंख लगा रहा वही सचिन देश की प्रतिष्टित कंपनी में लाखों की सैलरी पर कार्यरत है । श्रीराम और सचिन कहते है कि उनकी जिंदगी में गुरु के रूप में आरके श्रीवास्तव का खास महत्व है। आज श्रीराम के पिता जब अपने बच्चे की सफलता का जिक्र सुनते है तो उनके आंखे खुशियो से नम हो जाते है वे कहते है कि आरके श्रीवास्तव सर जैसा फरिस्ता नही मिलता तो आज मेरा बेटा सरकारी ऑफिसर नही बन पाता। वही सचिन के पिता अब इस दुनिया को छोड़ चले गये, बीमारी के कारण वे इस दुनिया को छोड़ चले गए, बेटे को इंजीनियर प्रवेश परीक्षा में पास होते तो उन्होंने देखा परन्तु कॉलेज से इंजीनयर बन पास होने के बाद नौकरी लगने की खुशी वे नही देख पाये। लेकिन आज उनका बेटा इस काबिल जरूर बन गया है जो अपने छोटे भाईयो को पढ़ाना और परिवार को बेहतर तरीके से चला सके। माहौल ऐसा मिला कि आज वे एक ऐसे काम से जुड़े हैं, जो बड़े बिजनेस हाउस को निर्णय लेने में मदद कर रहा।

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में अब तक कोरोना से 2 लोगों की मौत, आज 26 नए मरीज मिले

Muzaffarpur Now

Published

on

muzaffarpur-corona

जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह के निर्देश के आलोक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और उस पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के परस्पर समन्वय से गंभीरता पूर्वक दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा वर्तमान स्थिति पर पैनी नजर रखी जा रही है।

आज जिले में कोरोना से संक्रमित कुल 26 मरीज सामने आए। इस तरह जिले में अब तक कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 601 हो चुकी है। आज उपचार के बाद कुल 27 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। इस तरह अब तक कुल 399 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। कुल दो व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। जिले में अब कुल एक्टिव केस की संख्या 200 है।

जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में सभी प्रखंडों में गठित फ्लाइंग स्क्वायड टीम के द्वारा मास्क पहनो अभियान को निरंतर गति दी जा रही है। साथ ही लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए लगातार अनुरोध भी किया जा रहा है। जिला परिवहन पदाधिकारी रजनीश लाल अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार और अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी अनिल कुमार दास एवं उनकी टीमों द्वारा मास्क न पहने वाले के विरुद्ध सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है।

प्रखंडों में भी यह कवायद लगातार चल रही है। मास्क न पहने वाले से जुर्माने भी वसूले जा रहे हैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट का भी निरन्तर जांच किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने जिले वासियों/आम -आवाम से अपील की है कि मास्क का नियमित तौर पर प्रयोग करें। सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करें। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचे। साथ ही सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का अक्षरशः पालन करें।

Continue Reading

BIHAR

बिहार में बढ़ा कोरोना का खतरा, सरकार ने 9 मेडिकल कॉलेज में खोला कोविड सेंटर

Muzaffarpur Now

Published

on

PATNA : बिहार में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना के बढ़ते खतरे को भांपते हुए राज्य सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. बिहार सरकार ने राज्य के 9 मेडिकल कॉलेजों में 900 बेडों वाली कोरोना वार्ड बनाने का निर्देश दिया है.

बिहार स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी नए आदेश के मुताबिक राज्य के 9 मेडिकल कॉलेजों में कोरोना वार्ड बनाने का निर्देश दिया है. पटना पीएमसीएच, पटना एनएमसीएच, दरभंगा डीएमसीएच, भागलपुर जेएनएमसीएच, मुजफ्फरपुर एसकेएमसीएच, गया एएनएमसीएच, नालंदा वर्द्धमान आयुर्वेदिक संस्थान हॉस्पिटल, बेतिया राजकीय मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल और मधेपुरा जननायक कर्पूरी ठाकुर चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल में 100-100 बेड वाले कोरोना केयर सेंटर खोलने का आदेश दिया गया है.

बिहार में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. इस पत्र में ये भी कहा गया है कि पटना एनएमसीएच, गया एएनएमसीएच और भागलपुर जेएनएमसीएच को छोड़कर बाकी के अस्पतालों में 100 बेड का वार्ड बनाने का आदेश किया गया है.

Input : First Bihar

Continue Reading

MUZAFFARPUR

अतिथि शिक्षकों की सेवा स्थायी करने हेतु जिले के सभी 11 विधायकों ने की अनुसंशा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर जिले के सभी 11 विधायकों ने आज यानि 10 जुलाई को अतिथि शिक्षकों की सेवा अवधि को स्थायी करने की सिफ़ारिश करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा है। विधायकों ने यह स्वीकार किया है कि इंटरमीडिएट में अतिथि शिक्षकों के आने बाद परिणाम में गुणात्मक परिवर्तन हुआ है।

उच्चतर माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष हिमांशु राज ने सभी विधायकों को इस अनुशंसा हेतु धन्यवाद करते हुए कहा कि शिक्षकों ने कोरोना काल में भी अपनी जान जोखिम में डालकर इंटरमीडिएट व मैट्रिक की कॉपी का मूल्यांकन किया जिससे बोर्ड ससमय परिणाम घोषित कर पाई। साथ ही उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अतिथि शिक्षक सदैव सरकार के हर आदेश का अनुपालन करते रहें हैं अतः अब राज्य सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वें इन शिक्षकों को उचित पारितोषिक मिलना चाहिए। इस क्रम में उन्होंने सरकार से शिक्षकों के सेवाकाल को स्थायी (60 वर्ष) तथा मानदेय को भी स्थायी करने की मांग की है।

Continue Reading
TRENDING10 mins ago

मंत्री तुलसी सिलावट की फिसली जुबान- प्रधानमंत्री, यूपी-एमपी के मुख्यमंत्रियों को बताया देश के लिए कलंक

INDIA2 hours ago

गैंगस्‍टर विकास दुबे का हुआ अंतिम संस्कार, पत्नी ऋचा बोली- एक दिन करूंगी सबका हिसाब

muzaffarpur-corona
MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर में अब तक कोरोना से 2 लोगों की मौत, आज 26 नए मरीज मिले

BIHAR3 hours ago

बिहार में बढ़ा कोरोना का खतरा, सरकार ने 9 मेडिकल कॉलेज में खोला कोविड सेंटर

MUZAFFARPUR3 hours ago

अतिथि शिक्षकों की सेवा स्थायी करने हेतु जिले के सभी 11 विधायकों ने की अनुसंशा

BIHAR5 hours ago

पटना में जीजा को पसंद आ गई साली, एक लाख रुपये सुपारी देकर गर्भवती पत्नी को मरवा दिया

BIHAR6 hours ago

2 टोकरी आम के लिए बच्चे का मर्डर, जांच में जुटी पुलिस

BIHAR7 hours ago

भारत के पहले कोरोना वैक्सिन का पटना AIIMS में आज से ह्यूमन ट्रायल शुरू

BIHAR7 hours ago

बिहारियों से झारखंड में बढ़ रहा कोरोना, हेमंत के अनुरोध पर बिहार से झारखंड जाने वाली ट्रेनों के परिचालन पर लगी रोक

WORLD10 hours ago

नेपाल में भारतीय न्‍यूज चैनल बैन, PAK और चीन के चैनल रहेंगे चालू

BIHAR4 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

ENTERTAINMENT1 week ago

सामने आया चंद्रचूड़ सिंह के फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने का असली रीजन

BIHAR3 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA4 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

MUZAFFARPUR7 days ago

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में सलमान के अधिवक्ता मुजफ्फरपुर कोर्ट में हुए हाजिर

BIHAR2 weeks ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA5 days ago

महिला सब इंस्पेक्टर गिरफ्तार, रेप के आरोपी को बचाने के लिए 35 लाख रुपए लिया रिश्वत

BIHAR4 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR3 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

INDIA3 weeks ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

Trending