डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज

0
224

बिहार को जब से नया डीजीपी मिला है, पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. बिहार के नए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अचानक पहुंच जाते हैं. गुप्तेश्वर पांडेय सिर्फ बयान ही नहीं दे रहे हैं बल्कि एक्शन मोड में भी हैं. वो अपने महकमे के लोगों को भी गलती करने पर नहीं बख्शते हैं. ऐसा ही एक मामला नालंदा के बाद अब राजधानी पटना में सामने आया है.

पटना के दो थानेदार हुए सस्पेंड

दरअसल, शनिवार की रात डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय रात को अचानक एक्टिव हो गए. वो राजधानी पटना के दो थानों को टारगेट कर निकल पड़े. एक्शन के दौरान पटना के दो थानेदार उनके हत्थे चढ़े और फिर दोनों पर गाज भी गिरी. आपको बता दें कि शनिवार की देर रात 12 से 1 बजे के बीच डीजीपी ने एक साथ पटना के दो थानों पर दबिश दी. ये दो थाने शहर के एसके पुरी और गर्दनीबाग थाने थे.

डीजीपी ने जब थाने की जांच शुरू की तो कमियां ही कमियां पाई. थाने की डायरी लंबित मिली तो साथ ही हाजत में बगैर किसी कानूनी कार्रवाई के एक शख्स को बन्द पाया गया. इस दौरान डीजीपी ने ऑन द स्पॉट फैसला लेते हुए एसकेपुरी और गर्दनीबाग के थानेदार पर कार्रवाई की. उनके साथ ही लापरवाही बरतने वाले दो और पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड किया गया.

इससे पहले नालंदा में दिखा था एक्शन

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अचानक रात के तकरीबन 9 बजे बिना किसी पूर्व सूचना के नालंदा के दीपनगर थाना पहुंच गये थे. पूरे एक्शन के साथ अपनी जिम्मेवारी को जिद बना लेने वाले डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के थाने में पहुंचते हीं हड़कंप मच गया. थाने पहुंचकर सबसे पहले डीजीपी ने थाना दैनिकी को अपने कब्जे में लिया और उसकी बारीकी से जांच की.

Input : Live Cities

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur