Connect with us
leaderboard image

INDIA

PM मोदी की अपील- 21 दिन तक 9 गरीब परिवारों की मदद कर करें मां की आराधना

Himanshu Raj

Published

on

पूरे विश्व में जानलेवा महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस से 21 दिन तक जंग का एलान करने के बाद बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की जनता से मुखातिब हुए। देश में जारी लॉकडाउन के बीच दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पीएम ने कहा कि नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है। मां शैलपुत्री स्नेह, करुणा और ममता का स्वरूप हैं। उन्हें प्रकृति की देवी भी कहा जाता है। आज देश जिस संकट से गुजर रहा है, ऐसे समय में उनके आशीर्वाद की बहुत आवश्यकता है। मैं कामना करता हूं कि उनकी कृपा से इस संकट से हम उनके आशीर्वाद से लड़ाई लड़ लेंगे। उन्होंने कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिन में जीता गया था। आज कोरोना के खिलाफ पूरा देश लड़ रहा उसमें 21 दिन लगेंगे। महाभारत के युद्ध के समय श्रीकृष्ण सारथी थे। आज देश में 130 करोड़ जनता सारथी हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि 21 दिन में हमे कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई को जीतना है। इसमें काशी वासियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। संकट की इस घड़ी में काशी सबका मार्गदर्शन कर सकती है। काशी का तो अर्थ ही है शिव। इस संकट के समय में काशी के लोग पूरी दुनिया को सीख दे सकते हैं।  शिव यानी कल्याण। शिव की नगरी में, महाकाल-महादेव की नगरी में संकट से जुझने का, सबको मार्ग दिखाने का सामर्थय है।

मोदी ने कहा कि काशी का अनुभव शाश्वत, सनातन, समयातीत है और इसलिएआज लॉकडाउन की परिस्थिति में  काशी देश को संयम, समन्वय, संवेदनशीलतासिखा सकती है। काशी देश को सहयोग, शांति, सहनशीलता सिखा सकती है। काशी देश को साधना, सेवा, समाधान सिखा सकती है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिन में जीता गया था, आज कोरोनी के खिलाफ जो युद्ध पूरा देश लड़ रहा है, उसमें 21 दिन लगने वाले हैं। हमारा प्रयास है इसे 21 दिन में जीत लिया जाए।पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि काशी का सांसद होने के नाते मुझे ऐसे समय में आपके बीच होना चाहिए था, लेकिन आप यहां दिल्ली में जो गतिविधियां हो रही हैं, उससे भी परिचित हैं। यहां की व्यस्तता के बावजूद मैं वाराणसी के बारे में निरंतर अपने साथियों से अपडेट ले रहा हूं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने काशी वासियों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि कभी-कभी लोग जानकारी होते हुए भी गलतियां करते हैं। कोरोना से लड़ाई में सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग ही सही है। इसी से लोग ठीक भी हो रहे हैं। इसके कई उदाहरण भी मिले हैं। उन्होंने कहा देश कोरोना से लड़ाई में लगा है। उन्होंने हेल्पलाइन का नंबर भी साझा किया। पीएम मोदी ने कहा कोरोना से जुड़ी सही और सटीक जानकारी के लिए सरकार ने वाट्सएप के साथ मिलकर एक हेल्पडेस्क भी बनाई है। अगर आपके पास वाट्सएप की सुविधा है तो आप इस नंबर 9013151515 पर ‘नमस्ते’ खिलकर भेजेंगे तो आपको उचित जवाब मिलना शुरू हो जाएगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में, अस्पतालों में इस समय सफेद कपड़ों में दिख रहा हर व्यक्ति ईश्वर का ही रूप है। आज यही हमें मृत्यु से बचा रहे हैं, अपने जीवन को खतरों में डालकर ये लोग हमारा जीवन बचा रहे हैं। ये डॉक्टर और कर्मचारी हमें बचा रहे हैं। उन्होंने एक काशी के एक व्यापारी के सवाल के जवाब देते हुए कहा कि कोरोना वायरस न हमारी संस्कृति को और न हमारे संस्कार को मिटा सकता है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना का जवाब देने का सबसे सटीक उपाय करुणा है। हम करुणा से कोरोना को जवाब दे सकते हैं। हम संकट के इस समय में गरीबों के साथ करुणा दिखा सकते हैं। अभी नवरात्र शुरू हुआ है। हम संकल्प लें कि अगले 21 दिन तक हम नौ गरीब परिवारों को पालने की जिम्मेदारी लें तो यह नवरात्रि सफल हो जाएगी। इसके अलावा आपके आसपास जो पशु हैं, उनकी भी चिंता करनी है। मेरी लोगों से प्रार्थना है कि अपने आस-पास के पशुओं का भी ध्यान रखें।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस न हमारी संस्कृति को मिटा सकता है और न ही हमारे संस्कार मिटा सकता है। इसलिए संकट के समय हमारी संवेदनाएं और जागृत हो जाती हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर मैं कहूं कि सब कुछ ठीक है, सब कुछ सही है, तो मैं मानता हूं कि ये खुद को भी धोखा देने वाली बात होगी। इस समय केंद्र सरकार हो या राज्य सरकारें, जितना ज्यादा हो सके, जितना अच्छा हो सके, इसके लिए भरसक प्रयास कर रही हैं। ऐसे में जब देश के सामने इतना बड़ा संकट हो, पूरे विश्व के सामने इतनी बड़ी चुनौती हो, तब मुश्किलें नहीं आएंगी, सब कुछ अच्छा होगा, ये कहना अपने साथ धोखा करने जैसा होगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो तकलीफें आज हम उठा रहे हैं, जो मुश्किल आज हो रही है, उसकी उम्र फिलहाल 21 दिन ही है। कोरोना का संकट समाप्त नहीं हुआ, इसका फैलना नहीं रुका तो कितना ज्यादा नुकसान हो सकता है, इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है। निराशा फैलाने के हजारों कारण हो सकते हैं, लेकिन जीवन तो आशा और विश्वास से ही चलता है। नागरिक के नाते कानून और प्रशासन को जितना ज्यादा सहयोग करेंगे, उतने ही बेहतर नतीजे निकलेंगे। हम सभी का प्रयास होना चाहिए कि प्रशासन पर कम से कम दबाव डालें, प्रशासन का सहयोग करें। अस्पताल में काम करने वाले, पुलिसकर्मी, सरकारी दफ्तरों में काम करने वाले, हमारे मीडियाकर्मी इन सभी का हमें हौसला बढ़ाना चाहिए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना के संक्रमण का इलाज अपने स्तर पर बिल्कुल नहीं करना है, घर में रहना है और जो करना है डॉक्टरों की सलाह से ही करना है। फोन पर अपने डॉक्टर से बात कीजिए और अपनी तकलीफ बताइए। आपने खबरों में भी देखा होगा कि दुनिया के कुछ देशों में अपनी मर्जी से दवाएं लेने के कारण कैसे जीवन संकट में पड़ रहे हैं। हम सभी को हर तरह के अंधविश्वास से, अफवाह से बचना है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप सभी ने देखा होगा कि मानवजाति कैसे इस संकट से जीतने के लिए एक साथ आ गई है। इसमें सबसे बड़ी भूमिका निभा रही है हमारी बाल सेना। चार से पांच साल के बच्चे अपने परिवारीजन को जागरूक कर रहे हैं। कई परिवारों ने सोशल मीडिया पर ऐसी वीडियो शेयर किये हैं। पीएम ने कहा कि पूरे देश से हजारों प्रबुद्ध नागरिकों ने इस महामारी से निपटने के लिए सख्ती से लॉकलाउन लागू कराने की अपील की है। जब हमारे देशवासियों में ये दृढ़ इच्छा शक्ति हो, तो मुझे विश्वास है कि देश इस महामारी को जरूर हराएगा।

Input:Dainik Jagran

INDIA

देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 4281 हुई, अब तक 111 लोगों की मौत

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना वायरस का कहर दुनिया के साथ-साथ भारत में भी बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़े के अनुसार, देश में इस खतरनाक वायरस के अब तक 4,281 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। इस बीमारी से 318 लोग ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और एक मरीज को दूसरी जगह भेजा गया है। अब तक 111 मरीजों ने कोरोना से जान गंवाई है। भारत सरकार की तरफ से लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा रहा है, फैलने से रोकने के लिए कई कदम भी उठाए गए हैं।

सरकार ने जारी किए हैं हेल्पलाइन नंबर

कोरोना से जुड़ी कोई जानकारी लेने या देने के लिए हेल्पलाइन नंबर +91-11-23978046 पर फोन किया जा सकता है। इसके अलावा हर राज्य ने अपना हेल्पलाइन नंबर जारी किया हुआ है। नंबर देखने के लिए क्लिक करें।

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

INDIA

कोरोना: समस्याओं से अधिक चुनौतियां

Rajni Kant Pandey

Published

on

भारत सहित सम्पूर्ण विश्व आज कोरोना वाइरस की जद में है।इस महामारी ने मानवता को संकटग्रस्त परिस्थिति में ला खड़ा कर दिया है।वाइरस ने पूरे विश्व के विकास के पहिये को रोक दिया है।उत्पादन से लेकर वितरण तक सब कुछ ठप्प पडा हुआ है।स्वास्थ्य असुरक्षा से लेकर आर्थिक असुरक्षा ने मानवीय सुरक्षा के विमर्श को और अधिक महत्वपूर्ण बना दिया है।

सार्वजनिक तंत्र इस तरह के संकट के लिए बिल्कुल तैयार नही थे। अचानक से आई इस विपदा ने सार्वजनिक तंत्रो के आधारभूत सरंचना की कमियों को उजागर किया है। ये अलग बात है कि इच्छा शक्ति के आधार पर राष्ट्र ससक्त तरीके से इस आपदा से लड़ रहा है।

सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि इस समस्या से उबरने के बाद की परिस्थितियां कैसी होंगी? क्या हम तैयार है या क्या हमें अब उस तरफ ध्यान देने की आवस्यकता है।निश्चित तौर पे सब कुछ सामान्य होने में वक़्त लगने वाला है लेकिन तैयारियां हमे अभी से करनी होगी।

स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त करना, लोगो तक आवस्यक वस्तुओं की आपूर्ति और हुए नुकसान की भरपाई करना पहली प्राथमिकता होनी चाहिये। उत्पादन की प्रक्रिया को बढ़ावा देना होगा। समाजवाद को ध्यान में रखते हुए मजदूरों और उनके परिवार को बुनियादी लाभ पहुचाना होगा तभी हम फिर से उठ खड़े होंगे। साफ सफाई के साथ साथ अपने आस पास के प्रति लोगो को और अधिक जागरूक करना होगा।

 fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading

INDIA

इंदौर की घटना पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अखबार में छपवाया विज्ञापन, मांगी माफी

Muzaffarpur Now

Published

on

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में डॉक्टरों की टीम पर हमले की खबर मिल रही थी. यह मामला सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर काफी हंगामा मचा था. हमले में इसी समुदाय से संबंध रखने वाली वहां मौजूद डॉक्टर ने इस तरह की घटना से किसी भी हालत में नहीं डरने की बात कही थी. साथ ही कहा था कि वे अपना काम करते रहेंगे. अब इस मामले में मुस्लिम समुदाय ने वहां के प्रमुख अखबार में इस घटना की निंदा करते हुए माफीनामा का एक विज्ञापन छपवाया है. इस विज्ञापन में इस समुदाय के लोगों ने कोरोना महामारी की जांच के लिए गई टीम पर हमले की घटना पर किसी भी तरह का अल्फाज नहीं होने की बात कही है. विज्ञापन में ये भी लिखा है कि यह अप्रिय घटना जाने अनजाने में अफवाहों के कारण हुई. साथ ही इस तरह की घटना पर दिल से माफी मांगने की बात कही गई है.

इंदौर की घटना पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अखबार में छपवाया विज्ञापन, मांगी माफी

मुस्लिम समुदाय से की गई है ये अपील

इस विज्ञापन में मुस्लिम समुदाय के लोगों से कोरोना वायरस से सचेत रहने और सरकार, प्रशासन और डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को सहयोग करने की अपील की गई है.

डॉक्टरों की टीम पर हुआ था हमला

दरअसल, कोरोना की जांच करने के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर हमला हुआ था. ये हमला शहर के टाटपट्टी बाखल इलाके में हुआ था. इस दौरान टीम पर पथराव करने के साथ ही उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया था. इस टीम में दो महिला डॉक्टर भी मौजूद थीं. इनमें से एक डॉ जाकिया सैय्यद थीं और दूसरी डॉक्टर का नाम था डॉ. तृप्‍ति कटदरे. इन पर हुए इतने बड़े हमले के बाद भी दोनों ही डॉक्टरों ने हिम्मत नहीं हारी. ये दोनों डॉक्टर कोरोना के खिलाफ जंग में लगातार काम कर रही हैं.

पीएचसी की इंचार्ज को मिल चुका है अवार्ड

जानकारी के अनुसार डॉ. जाकिया सैय्यद पलासिया पीएचसी की ‌इंचार्ज हैं. पूर्व में इन्हें बेस्ट पीएचसी का अवार्ड मिल चुका है. वहीं डॉक्टर तृप्‍ति क्षिप्रा पीएचसी में पदस्‍थ हैं और कोरोना कॉम्बेट टीम की सदस्य हैं.

इलाके में मिले 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज

जानकारी के लिए बता दें कि इंदौर के जिस इलाके में स्क्रीनिंग करने गई डॉक्टरों की टीम पर हमला किया गया था. उसी इलाके में 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इस घटना की जानकारी मिलने के बाद इस इलाके में हड़कंप मच गया है.

Input:News18

fight-against-covid-19-by-muzaffarpur-now

Continue Reading
BIHAR33 mins ago

क्या लॉकडाउन खोलने का बन गया प्लान? जान लीजिए इन 4 स्टेज में खुल सकता हैं लॉकडाउन

INDIA2 hours ago

देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 4281 हुई, अब तक 111 लोगों की मौत

INDIA2 hours ago

कोरोना: समस्याओं से अधिक चुनौतियां

MUZAFFARPUR3 hours ago

भगवान श्रीराम के खिलाफ अमर्यादित वीडियो वायरल करने वाला गिरफ्तार; समाज ने ही किया बहिष्कृत

BIHAR3 hours ago

बाहर फंसे अप्रवासी बिहारियों के खाते में भेजे 10.35 करोड़

BIHAR3 hours ago

लॉकडाउन : अब तक 9000 से अधिक वाहन जब्त, 445 लोग हुए गिरफ्तार

BIHAR5 hours ago

बिहार: सात साल से था जेल में बंद, परिवार ने सोचा मर गया है बेटा, Corona ने ऐसे मिलवाया

BIHAR5 hours ago

गांवों की चहल-पहल पर भारी पड़ा लॉकडाउन, लेकिन अनुशासन देखने लायक

WORLD5 hours ago

UK PM बोरिस जॉनसन की हालत बिगड़ी, सांस लेने में दिक्‍कत के बाद आईसीयू में किया गया शिफ्ट

BIHAR5 hours ago

कोरोना से जिंदगी की जंग जीतकर NMCH से डिस्चार्ज हुए सिवान के चार मरीज, बिहार में कोई नया केस भी नहीं

INDIA3 days ago

गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अब लॉकडाउन के दौरान मिलेगी ये छूट, देखें लिस्ट

BIHAR2 weeks ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

INDIA2 weeks ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA2 weeks ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR2 days ago

बिहार में शुरू हुआ कोरोना का चेन ब्रेक, थर्ड स्टेज का खतरा भी कमा

BIHAR3 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

INDIA1 week ago

Lockdown के दौरान युवक ने फोन करके कहा 4 समोसे भिजवा दो, डीएम ने भिजवाए 4 समोसे और साफ कराई नाली

BIHAR2 weeks ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA1 week ago

COVID-19 के बीच सलमान खान के भतीजे की मौत, परिवार में शोक की लहर

Trending