Connect with us

INDIA

चुनाव प्रचार खत्म होते ही केदारनाथ पहुंचे पीएम मोदी, लेंगे राष्ट्र विजयी होने का आर्शीवाद

Published

on

लोकसभा चुनाव का प्रचार खत्म हो गया है. 19 मई को अंतिम चरण का मतदान होना बाकी है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर पहुंच गए हैं. शनिवार को पीएम मोदी केदारनाथ और 19 मई को बद्रीनाथ जाएंगे. पीएम मोदी केदारनाथ पहुंच गए हैं, जहां वह दिनभर पूजा और गुफा में ध्यान करेंगे और साथ ही बाबा केंदारनाथ से राष्ट्र विजयी होने का आर्शीवाद भी लेंगे.

आपको बता दें कि वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह गुजरात के सोमनाथ मंदिर जाएंगे. बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री को इन दोनों धामों की यात्रा के लिए चुनाव आयोग की ओर से इजाजत भी मिल गई है.

प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले केदारनाथ मंदिर में विशेष पूजा अर्चना और रुद्राभिषेक करेंगे. पीएम मोदी की यात्रा को देखते हुए प्रशासन, पुलिस और एसपीजी तैयारियों में जुट गई है

पीएम मोदी की यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह है. गुरुड़चट्टी में साधना के बाद यह पहला मौका है जब मोदी केदारनाथ में ध्यान करेंगे. ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग केदारनाथ धाम की ऊंचाई समुद्र तल से 11,700 फीट है. जबकि मंदिर परिसर से डेढ़ किमी दूर बनी ध्यान गुफा की ऊंचाई करीब 12,250 फीट है. हालांकि 18 मई को केदारनाथ और बद्रीनाथ में बारिश होने का अनुमान है. लेकिन इससे पीएम के कार्यक्रम पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

2017 में कपाट खुलने के मौके पर पीएम मोदी ने प्रथम भक्त के तौर पर बाबा केदार के दर्शन कर रुद्राभिषेक किया था. उसके बाद से अब वे चौथी बार केदारनाथ आ रहे हैं. 2013 में केदारनाथ में आई आपदा के बाद पुनर्निर्माण पर लगातार उनकी नजर रही है. केदारनाथ के पुनरुत्थान का जिम्मा संभालने के बाद मोदी ने ही केदारनाथ गुफा के पुनर्निर्माण के निर्देश दिए थे. पिछले साल बनकर तैयार गुफा का संचालन इस साल से शुरू हो गया. इस साल महाराष्ट्र के जय शाह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुफा में रुकने वाले दूसरे भक्त होंगे.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और आखिरी चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. बीजेपी हेडक्वार्टर में हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पांच साल के कार्यकाल के बाद उनकी सरकार दोबारा चुनकर आएगी. उन्होंने कहा कि चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से चुनाव हुआ. पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे कर के दोबारा जीतकर आए ये शायद देश में बहुत लंबे अर्से के बाद हो रहा है. ये अपने आप में बड़ी बात है.

19 मई को पीएम का कार्यक्रम

– सुबह 7 बजे केदारधाम मंदिर प्रस्थान

– सुबह 8 बजे पूजा दर्शन

– सुबह 8 से 8.30 मंदिर से सेफ हाउस

– 8.30 केदारनाथ हेलीपैड प्रस्थान

– 9.45 बद्रीनाथ हेलीपैड पर आगमन

– 9.55 बद्रीनाथ मंदिर आगमन

– 10 बजे पूजा दर्शन

– 10.50 बद्रीनाथ हेलीपेड से जौलीग्रांट एयरपोर्ट देहरादून

– 11.30 दिल्ली रवाना

Input : Live Cities

INDIA

दूल्हा-दुल्हन को नहीं रोक पाईं राज्य की ‘सरहदें’, बॉर्डर पर ही पढ़ा गया निकाह

Published

on

बिजनौर. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को काबू करने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के कारण जब दूल्हा-दुल्हन को एक-दूसरे के राज्य जाने की अनुमति नहीं मिली, तो उन्होंने अपने-अपने राज्यों की बॉर्डर पर ही निकाह कर एक-दूसरे को कबूल किया.

उत्तराखंड के टिहरी में कोठी कालोनी के मोहम्मद फैसल का निकाह उत्तर प्रदेश में बिजनौर के नगीना की आयशा से बुधवार को होना तय हुआ था. आयशा के परिजन ने बताया कि बारात बुधवार को आनी थी, मगर लॉकडाउन के कारण दूल्हा पक्ष को उत्तर प्रदेश में आने की इजाजत नहीं मिल सकी.

DEMO PIC

उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष तय की गयी तारीख पर ही निकाह करना चाहते थे, इसलिए प्रशासन से इजाजत लेकर दोनों राज्यों की सीमा पर निकाह पढ़ाया गया. उन्होंने बताया कि इस दौरान दोनों राज्यों की पुलिस भी मौजूद रही.

Virtual Nikah in Hyderabad amid lockdown

लॉकडाउन के बीच इंटरनेट बना कपल्स का सहारा

गौरतलब है कि देश में लॉकडाउन को देखते हुए कई जोड़ों ने अपने विवाह की तारीख को आगे बढ़ा दिया. लेकिन कुछ जोड़े ऐसे भी रहे, जो इस लॉकडाउन का तोड़ निकालकर एक दूजे के हो गए. दरअसल लॉकडाउन के बीच इन जोड़ों ने ऑनलाइन विवाह किया. इसमें मेहंदी, संगीत सभी रस्में ऑनलाइन की गईं. लोगों को ऑनलाइन ही आमंत्रित किया गया. शादी कराने वाले पंडित ने भी ऑनलाइन मंत्रों का उच्चारण किया. लॉकडाउन के नियमों को न तोड़ा जाए, इसके लिए ऑनलाइन शादी रचाई गई. मध्य प्रदेश के अविनाश ने कहा कि हमने सतना में धूमधाम से शादी करने की योजना बनाई थई, जिसमें 8000 से अधिक मेहमानों के आने की उम्मीद थी.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

Lockdown 4.0: Swiggy ने रांची में शुरू की शराब की होम डिलीवरी

Published

on

रांची. देशभर के बड़े शहरों में खाद्य पदार्थों की होम डिलीवरी करने वाली कंपनी स्विगी (Swiggy) ने हाल ही में कोविड-19 की वजह से अपने कारोबार में आयी जोरदार कमी के बाद 1100 कर्मचारियों को निकालने दिया है. हालांकि अब वह झारखंड की राजधानी रांची में शराब की होम डिलीवरी (Liquor Home Delivery) करेगी.

अन्‍य राज्‍यों में भी करेगी होम डिलीवरी

स्विगी ने कहा कि झारखंड सरकार से सभी जरूरी मंजूरी प्राप्त करने के बाद कंपनी ने रांची में शराब की होम डिलीवरी शुरू की है और इसके बाद अगले एक हफ्ते में राज्य के अन्य शहरों में भी शराब की होम डिलीवरी शुरू करने की कंपनी की योजना है. जबकि कंपनी दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन आर्डर’ पूरा करने और उसकी ‘होम डिलीवरी’ के लिये संबंधित राज्य सरकारों से भी बातचीत कर रही है. स्विगी ने एक बयान में कहा कि रांची में घरों तक शराब की आपूर्ति का काम शुरू हो गया है, राज्य के अन्य शहरों में एक सप्ताह के भीतर यह शुरू हो जाएगा. आपको बता दें कि स्विगी ने कानून के अनुसार अल्कोहल की सुरक्षित आपूर्ति सुनिश्चित करने को लेकर कदम उठाये हैं. इसमें अनिवार्य रूप से उम्र और उपयोगकर्ता के सत्यापन के उपाय शामिल हैं.

Swiggy launches alcohol delivery in Ranchi, in talks with other ...

स्विगी के उपाध्यक्ष (उत्पाद) ने कही ये बात

स्विगी के उपाध्यक्ष (उत्पाद) अनुज राठी ने कहा कि सुरक्षित और जवाबदेह तरीके से अल्कोहल की घरों तक आपूर्ति के जरिये हम खुदरा दुकानदारों के लिए अतिरिक्त कारोबार सृजित कर सकते हैं. साथ ही शराब की दुकानों पर भीड़-भाड़ की समस्या भी दूर होगा और सोशल डिस्‍टेंसिंग को बढ़ावा मिलेगा. उन्होंने कहा कि कंपनी के पास प्रौद्योगिकी और ढांचागत सुविधा है जिससे वह छोटे-छोटे गली-मोहल्ले भी सामानों की आपूर्ति कर सकती है. कंपनी किराना सामानों और कोविड-19 राहत उपायों का दायर बढ़ाने जैसी पहल के लिये स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रही है. बयान के अनुसार स्विगी के उपाध्यक्ष (उत्पाद) ने राज्य सरकारों के दिशानिर्देश के अनुसार लाइसेंस और अन्य जरूरी दस्तावाजों का सत्यापन करने के बाद अधिकृत खुदरा दुकानदारों के साथ गठजोड़ किया है.

ऐसे होगी शराब की सुरक्षित डिलीवरी

स्विगी ने शराब की सुरक्षित डिलीवरी करने के लिए और सभी लागू नियमों का पालन करने के लिए कई उपाय किये हैं जैसे अनिवार्य रूपये उम्र की जांच और डिलीवरी के समय उसका वेरीफिकेशन करने के बाद ही डिलीवरी देना. ग्राहक अपना एक वैध सरकारी आईडी और अपना सेल्फी अपलोड करके अपनी उम्र का वेरीफिकेशन करवा सकते हैं. कंपनी ने बताया कि सभी ऑर्डर के लिए एक यूनिक ओटीपी होगा जो डिलीवरी करते समय ग्राहक द्वारा उपलब्ध कराना होगा. इसका भी ध्यान रखा गया है कि राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मात्रा से अधिक मात्रा में कोई भी ग्राहक शराब का ऑर्डर नहीं कर सके. रांची के ग्राहक अपने Swiggy app को अपडेट करके Wine Shops कैटेगरी में जाकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

रांची में महंगी हुई शराब

सरकार के आदेश के बाद झारखंड में बुधवार से शराब की दुकानें (Liquor Shop) खुल गयी हैं. हालांकि लोगों को पीने के लिए ज्यादा खर्च करने होंगे, क्योंकि प्रदेश में 20 से 25 फीसदी तक शराब महंगी (Liquor Price Hike) हो गई है. उत्पाद विभाग ने शराब पर 10 फीसदी विशेष कर लगाया है. वहीं वाणिज्यकर विभाग ने वैट की दर में इजाफा करते हुए 50 से 75 फीसदी कर दिया है. इसको लेकर उत्पाद आयुक्त विनय कुमार चौबे की ओर से सभी जिलों के उपायुक्तों को दिशा-निर्देश दिये गये हैं. इसके तहत सुबह सात से शाम सात बजे तक दुकानें खुली रहेंगी.

ई टोकन के लिए लिंक जारी

केन्द्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशों के तहत राज्य में कोरोना कंटेनमेंट जोन व मॉल में शराब की बिक्री पर रोक जारी रहेगी. उत्पाद विभाग ने सभी लाइसेंसधारियों को निर्देश दिया है कि वे दुकानों पर प्रतिदिन सेनिटाइजेशन कराएंगे. दुकान के बाहर व भीतर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन का ध्यान रखा जाएगा. ई पेमेंट का भी प्रावधान करने को कहा गया है. दुकानों पर जल्द से जल्द सीसीटीवी कैमरा लगाकर उसका लिंक विभाग को शेयर करने को भी कहा गया है, ताकि गड़बड़ी की कोई गुंजाइश न रहे. ई-टोकन के लिए लोग https://jhexcisetoken.nic.in इस लिंक का इस्तेमाल करें.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

फ्लाइट्स का किराया हुआ तय, 3 महीने तक बस फिक्स किराया ही ले पाएंगी एयरलाइंस, जानिए कितने का होगा टिकट

Published

on

नई दिल्‍ली. केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 25 मई से घरेलू उड़ानों का ऑपरेशन शुरू करने की घोषणा कर दी है. इस घोषणा के साथ, उन्‍होंने एयर फेयर की अधिकतम एवं न्‍यूनतम सीमा भी तय कर दी है. मंत्रालय द्वारा एयर फेयर पर लगाया गया यह कैप अगले तीन महीने तक लागू रहेगा. केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने देश के सबसे व्‍यस्‍त रूट का उदाहरण देते हुए बताया कि दिल्‍ली से मुंबई के बीच का न्‍यूनतम किराया 3500 रुपए और अधिकतम किराया 10 हजार रुपए तय किया गया है. इसी तरह, दिल्‍ली-मुंबई की ही तरह 25 मई से शुरू हो रही सभी सेक्‍टर की उड़ानों के किराए की सीमा तय कर दी गई है.

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि उनके मंत्रालय की कोशिश है कि आपदा के इस दौर में ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को किफायती दरों पर एयर टिकट उपलब्‍ध हों. इसी मकसद से सभी गंतव्‍यों का अधिकतम एवं न्‍यूनतम किराया तय किया गया है. उन्‍होंने बताया कि पूर्व की तरह एयरलाइंस एयर फेयर को विभिन्‍न बकेट्स में बांट कर उसकी बिक्री शुरू करेंगी. एयरलाइंस को निर्देश दिया गया है वह अपने बकेट्स का निर्धारण मंत्रालय द्वारा तय किए गए अधिकतम एवं न्‍यूतनतम किराये के आधार पर ही करें. इसके अलावा, एयरलाइंस से यह भी कहा गया है कि वह 40 फीसदी टिकटों की बिक्री मंत्रालय द्वारा तय किए गए औसत किराए से कम में ही करेंगी.

दूरी के हिसाब से सात हिस्‍सों में बांटा गया है एयर फेयर

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि किराये के लिहाज से उड़ानों को सात ब्‍लॉक्‍स में बांटा गया है. इन्‍हीं ब्‍लॉक्‍स के आधार पर अधिकतम एवं न्‍यूनतम किराए का निर्धारण भी किया गया है. उन्‍होंने बताया कि पहले सेक्‍टर में 40 मिनट तक की उड़ानों को शामिल किया गया है. वहीं, 40 मिनट से 60 मिनट की उड़ान को दूसरे ब्‍लॉक, 60 से 90 मिनट की उड़ान को तीसरे ब्‍लॉक, 90 से 120 मिनट की उड़ान को चौथे ब्‍लॉक, दो से ढाई घंटे की उड़ानों को पांचवें ब्‍लॉक, 150 मिनट से 3 घंटे तक की उड़ानों को छठवें ब्‍लॉक और 180 मिनट से 220 मिनट तक की उड़ानों को सातवें ब्‍लॉक में रखा गया है. उन्‍होंने कहा कि इस समय में कोई भी मुसाफिर देश के एक छोर से दूसरे छोर के बीच सफर कर सकता है.

Input : News18

Continue Reading
INDIA1 min ago

दूल्हा-दुल्हन को नहीं रोक पाईं राज्य की ‘सरहदें’, बॉर्डर पर ही पढ़ा गया निकाह

INDIA6 mins ago

Lockdown 4.0: Swiggy ने रांची में शुरू की शराब की होम डिलीवरी

BIHAR22 mins ago

बिहार: हत्या का सबूत खोजने के लिए DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लगा दी खनुआ नदी में छलांग, की लाइव क्राइम रिपोर्टिंग

BIHAR27 mins ago

AS संजय कुमार के जाने के बाद कोरोना अपडेट भी चला गया,बिहार के लोग पूछ रहे सवाल- क्या बैठ गया स्वास्थ्य विभाग?

MUZAFFARPUR31 mins ago

मुजफ्फरपुर पुलिस को मिली सफलता, भारी मात्रा में शराब के साथ 4 गिरफ्तार

INDIA33 mins ago

फ्लाइट्स का किराया हुआ तय, 3 महीने तक बस फिक्स किराया ही ले पाएंगी एयरलाइंस, जानिए कितने का होगा टिकट

BIHAR36 mins ago

प्रशासन की बदहाली आई सामने, गया के क्वारेंटाइन सेंटर में 5 साल के बच्चे की सांप काटने से मौत

INDIA39 mins ago

सुपर साइक्लोन ‘अम्फान’ से बंगाल में 72 लोगों की मौत, PM मोदी ने दिया मदद का भरोसा

BIHAR42 mins ago

क्या आज जारी होगा बिहार मैट्रिक का रिजल्ट, छात्रों की धड़कनें बढ़ीं

BIHAR6 hours ago

वट सावित्री कल, इस विधि से पूजा करना होता है अधिक फलदायी

BIHAR1 week ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA3 weeks ago

क्या 4 मई से शुरू होगा ट्रेनों का संचालन? जानें रेलवे की आगे की रणनीति

INDIA3 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR3 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD2 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR3 weeks ago

IIT से पढ़ाई, डॉन की गिरफ्तारी, अब बिहार के IPS बने यूट्यूब गुरु

BIHAR4 weeks ago

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 9 दिनों के अंदर बनेगा नया राशन कार्ड, ये होगी प्रक्रिया

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी ; 36 घंटे के अंदर बैंक लूट कांड का किया खुलासा

BIHAR4 weeks ago

मौसम विभाग ने साइक्लोन सर्किल का जारी किया अलर्ट, इन जिलों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की संभावना

BIHAR3 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

Trending