मुजफ्फरपुर जिले की आबादी 58 लाख से बढ़कर 60 लाख हुई
Connect with us
leaderboard image

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर जिले की आबादी 58 लाख से बढ़कर 60 लाख हुई

Avatar

Published

on

आबादी नियंत्रण के लिए किए जा रहे सारे उपायों के बाद भी मुजफ्फरपुर जिले की आबादी बढ़ रही है। बीते एक साल में जिले की आबादी 58 लाख से बढ़कर 60 लाख हो गयी है। राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिवर्ष के हिसाब से जिले की आबादी हर साल दो गुने स्तर से बढ़ रही है। राष्ट्रीय स्तर पर जहां 1.1 फीसदी की दर से आबादी बढ़ी रही है, वहीं मुजफ्फरपुर में यह तीन फीसदी से अधिक है। वर्ष 2018 में यह दर 2.8 थी। राज्य में यह दर 2.5 फीसदी है।

जिले की आबादी वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 48 लाख एक हजार 45 थी। वर्ष 2019 के मई तक यह बढ़कर 59 लाख 97 हजार 409 हो गयी है। वर्ष 2017 के मुकाबले सवा तीन लाख से अधिक आबादी इस साल अब तक बढ़ चुकी। स्वास्थ्य विभाग अपने विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन बढ़ी हुई आबादी पर ही कर रहा है। टीकाकरण के अनुसार, जिले की कुल आबादी में से 2.8 फीसदी एक साल उम्र के बच्चे हैं।

नीति आयोग के तहत आकांक्षी योजना में इस जिले को दो साल पूर्व ही शामिल किया गया है। इसमें कहा गया है कि मुजफ्फरपुर की आबादी तेजी से बढ़ रही है। इसका असर नगर निगम के शहरी क्षेत्रों पर पड़ रहा है। शहर के अगल-बगल बसे नए मोहल्लों की आबादी मिलाकर कुल साढ़े सात लाख आबादी का दबाव शहर पर है। इस कारण अतिक्रमण व ट्रैफिक व्यवस्था चरमरायी हुई। विशेषज्ञों के अनुसार, आबादी को नियंत्रित नहीं किया गया तो वर्ष 2041 तक जिले की आबादी 80 लाख से अधिक हो जाएगी। इसके मद्देनजर तत्काल पहल जरूरी है।

सरकार को भेजी गयी रिपोर्ट के अनुसार, आबादी बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण परिवार नियोजन का सही से क्रियान्वयन नहीं होना है। बंध्याकरण, नसबंदी का लक्ष्य शत-प्रतिशत पूरा नहीं हो रहा है।

गरीबी, अशिक्षा व सामाजिक भ्रांतियां को बड़ा कारण बताया गया है। इसके साथ गर्भनिरोधक इंजेक्शन, गोली का सेवन व वितरण सही नहीं है। सदर अस्पताल के ओपीडी में परिवार नियोजन की काउंसिलिंग सही से नहीं हो रही है। प्रसव वार्ड में पीपीआईसीयूडी प्रवेश व कॉपर टी पर भी काम सही से नहीं हो रहा है। सीएस डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि अब काम दिखेगा। कई निर्देश दिए गए हैं। आशा कार्यकर्ता जागरूकता के लिए घर-घर जाकर परिवार नियोजन को लेकर आ रही समस्या पर काम करेंगी। इसकी कार्ययोजना बन गयी है।

इन प्रखंडों की अधिक बढ़ी आबादी:कुढ़नी, मोतीपुर, पारू, मुशहरी, मीनापुर, औराई, सकरा, सरैया, साहेबगंज अन्य प्रखंडों में आबादी अधिक बढ़ी है।

शहर की आबादी पांच लाख से अधिक हुई

शहर की आबादी वर्ष 2011 की जनगणना में तीन लाख 91 हजार 499 थी। वर्ष 2018 में यह बढ़कर चार लाख 75 हजार 440 हो गयी। इस साल के मई माह तक शहर की आबादी पांच लाख को पार कर गयी थी। यह नगर निगम क्षेत्र की आबादी है। शहर के आसपास भगवानपुर, पताही, बैरिया, कोल्हुआ, झपहां रोड, उमानगर, रामदयालुनगर, तुर्की तक शहर के नाम पर घर बन रहे हैं। इसका दबाव भी नगर निगम के क्षेत्र वाले शहरी क्षेत्र पर है। आनेवाले समय में आबादी बढ़ने से रिहायशी इलाकों में आवास की कमी हो सकती है। इसके साथ बुनियादी व मूलभूत सुविधाओं का अभाव भी होगा।

बंध्याकरण की स्थिति खराब

2016-17 में 20 हजार 110 ऑपरेशन हुए

2017-18 में 18 हजार 861 ऑपरेशन हुए

2018-19 में 17 हजार 919 ऑपरेशन हुए

2019-20 में आठ सौ ऑपरेशन हुए अब तक

Input : Hindustan

 

MUZAFFARPUR

औरंगाबाद के डीएम ने बनाया किर्तिमान, मुजफ्फरपुर हैं मातृभूमि

Pratik Ratna

Published

on

मुजफ्फरपुर मूल के औरंगाबाद में जिलाधिकारी श्री माहिवाल ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान अनोखा कीर्तिमान कायम किया। श्री माहिवाल के नेतृत्व में औरंगाबाद जिले में एक जागरूकता अभियान चलाया गया जिसमें एक अनोखा प्रयोग किया गया। इस मुहिम के दौरान जिलाधिकारी महोदय ने एक ही समय में नौं स्थानों पर 55,109 महिलाओं को ‘मतदान का संकल्प’ दिलाया। श्री माहिवाल के इस उम्दा प्रयास की बेहद सराहना हुई।

Image may contain: 1 person

‘इंडियन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स’ उन लोगों को सम्मानित करती हैं जो देशभर में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कुछ अलग कर सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करतें हैं। ‘इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स 2020’ की टीम ने इसकी पड़ताल की और श्री माहिवाल के इस कार्य को सत्य पाया। श्री माहिवाल की इस उपलब्धि को कीर्तिमान के रुप में ‘इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स 2020’ के अंक में प्रकाशित किया जाएगा।

Image may contain: 2 people, people smiling, people standing

हमारे मुजफ्फरपुर के लाल श्री राहुल रंजन माहिवाल नें एक बातचीत के दौरान अपने इस उपलब्धि का श्रेय औरंगाबाद की जनता को दिया।

Image may contain: 4 people, people smiling, outdoor

देश में ऐसे लोग विरले हीं जन्म लेते हैं जो ऐसे कीर्तिमान से समाज और मातृभूमि को गौरवान्वित करतें हैं। उन्हीं सपूतों में से एक हैं श्री राहुल रंजन माहिवाल। श्री माहिवाल को उनके मुजफ्फरपुर की जनता तथा मुजफ्फरपुर नाउ की तरफ से ढेरों शुभकामनाएं।

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

उपभोक्ता परेशान, चारों तरफ विभाग के प्रति आक्रोश कई इलाकों में रात भर गायब रह रही बिजली

Avatar

Published

on

गर्मी का मौसम आने के पहले विद्युत विभाग ने पावर सब स्टेशनों की क्षमता नहीं बढ़ाई। इसका खामियाजा अब उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। जिले के लगभग सभी पावर सब स्टेशनों पर क्षमता से दोगुना लोड बढ़ गया है। इससे बिजली व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। पावर स्टेशन की क्षमता 20 मेगावाट की है और लोड 27 से 30 मेगावाट आ रहा है। इससे सुचारु रूप से आपूर्ति देने में बाधा आ रही है। शहर के कई इलाकों में रात-रात भर बिजली नहीं रह रही है। शहरीक्षेत्र के कई इलाकों में 22 घंटे तक आपूर्ति ठप रही। इससे उपभोक्ताओं में विभाग के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है। समस्या को देखते हुए जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने विद्युत कार्यपालक अभियंता को ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत से बात कर आपूर्ति में सुधार कराने को कहा है।

पेयजल संकट से जूझ रहे लोग : बैरिया, चंदवारा, मिस्कॉट, भिखनपुरा सहित शहर से गांव तक के कई इलाकों में 22 घंटे तक ब्लैक आउट की स्थिति रही। इससे लोगों को पेयजल संकट से जूझना पड़ रहा है। बिजली आने का लोग सुबह से शाम इंतजार करते रहे। विभाग की ओर से बिजली काटने की पूर्व में कोई जानकारी नहीं दिए जाने से उनकी समस्या और बढ़ जाती है।

व्यवसायियों में भी नाराजगी : बिजली के अभाव में दुकानदारों को भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। व्यवसायी हन्नी सिंह, अमित कुमार, राजीव कुमार, मुन्ना कुमार आदि ने बताया कि बिजली की आंख-मिचौनी से जेनरेटर भी नहीं चल पा रहे। वहीं, जो जेनरेटर चला रहे हैं उनको सैकड़ों रुपये का डीजल फूंकना पड़ रहा है। बैट्री और इनवर्टर भी काम नहीं कर रहे हैं। इससे व्यवसायियों में बिजली विभाग के प्रति खासी नाराजगी है।

पूरी नींद सो भी नहीं पा रहे लोग : बिजली ने शहरवासियों की चैन की नींद भी छीन ली है। रात में बिजली के अभाव और उमसभरी गर्मी में वे ठीक से सो भी नहीं पा रहे हैं। शुक्रवार से बैरिया, एमआइटी, भगवापुर में इलाके में बिजली की तबाही मची है। लोगों का दिन का चैन और रात की नींद हराम है। मिठनपुरा चौक पर बारिश से बिजली के खंभे पर फ्लैक्स गिर जाने से थोड़ी देर तक लाइन बाधित रही।

भिखनपुरा 33 केवीए चार घंटे रहा बाधित : मेंटेनेंस को लेकर टाउन वन में शनिवार सुबह करीब ढाई घंटे बिजली बाधित रही। दोपहर में बारिश के दौरान 33 केवीए ब्रेक डाउन हो गया। एमआरटी की टीम ने भिखनपुरा विद्युत पावर सब स्टेशन पहुंचकर एक-एक पावर ट्रासंफॉर्मर, सिटी ब्रेकर सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की जांच की। इसके बाद शाम करीब पांच बजे लाइन चालू की गई। आधा घंटा चलने के बाद फिर ब्रेक डाउन हो गया। इससे टाउन-1, 2 व 3 में बिजली को लेकर हाहाकार मचा रहा।

Input : Dainik Jagran

 

Continue Reading

MUZAFFARPUR

इनाम पाने पर भी का’र्रवाई काे भूल गई सदर पुलिस

Avatar

Published

on

भगवानपुर स्थित मुथूट फाइनेंस कंपनी के दफ्तर से 11 करोड़ के सोना लू’टकां’ड में फरार सर’गना समेत छह आरो’पितों पर पुलिस कार्र’वाई काे दबा गई। इसी कां’ड में साेना बरामदगी के बाद मुथूट की ओर से पुलिस काे इनाम में बड़ी राशि देने का ऐलान  हुआ था। इनाम लेने के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई में शिथिलता बरतती रही। 18 किलाे साेना बरामदगी की बात ताे दूर फरार आ’रोपितों  के नाम-पते का सत्यापन कर कुर्की वारं’ट लेने की कागजी प्रक्रिया तक नहीं की गई। वरीय अधिकारी का भी इस केस से ध्यान हट चुका है। फिलहाल कां’ड में सदर थानेदार राजेश्वर प्रसाद काे IO बनाया गया है।

वैशाली के सराय में बैंक लूट के दाैरान शुक्रवार काे इस कांड में शामिल अपराधी महुअा के हरपुर गांव के निवासी अरमान की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इसके बाद एक बार फिर मुथुट साेना लूटकांड सुर्खियाें में है। नगर डीएसपी मुकुल रंजन ने सदर थानेदार काे कांड के फरार अाराेपिताें के नाम-पते का सत्यापन कर कुर्की की कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। बता दें कि फरवरी में लुटेरों ने मुथूट फाइनेंस कंपनी के दफ्तर से 11 करोड़ का सोना लूट लिया था। पुलिस ने तीन लुटेरों को गिरफ्तार किया था। 17 किलोग्राम सोना बरामद हुआ  था। अपराधियाें के पास से जब्त साेना काे मुक्त कराने के लिए मुथुट फाइनेंस कंपनी काे काफी मेहनत करनी पड़ी थी, तब जाकर पुलिस ने साेना मुक्त करने की रिपाेर्ट भेजी थी।

इनपुट : दैनिक भास्कर

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Uncategorized9 hours ago

बाबा गरीबनाथ की नगरी मुजफ्फरपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्रावणी मेला की शुरूआत

SPORTS11 hours ago

कुमार धर्मसेना बोले- हां ‘ओवरथ्रो’ पर मैंने गलत फैसला दिया, लेकिन मुझे इसका मलाल नहीं

BIHAR16 hours ago

रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान का निधन, समस्तीपुर से थे सांसद

MUZAFFARPUR17 hours ago

औरंगाबाद के डीएम ने बनाया किर्तिमान, मुजफ्फरपुर हैं मातृभूमि

WORLD17 hours ago

अमेरिका पहुंचे इमरान खान की एयरपोर्ट पर ‘घनघोर बेइज्जती’, स्वागत नहीं होने पर मेट्रो से जाना पड़ा होटल

INDIA19 hours ago

कोर्ट ने बढ़ाई एजाज खान की मुश्किलें, अब 14 दिनों के लिए पुलिस हि’रासत में

MUZAFFARPUR21 hours ago

उपभोक्ता परेशान, चारों तरफ विभाग के प्रति आक्रोश कई इलाकों में रात भर गायब रह रही बिजली

RELIGION22 hours ago

सावन में करें शनिदेव को प्रसन्न, करियर-नौकरी-धन में होगा लाभ

RELIGION23 hours ago

सावन में कांवड़ उठाने का महत्व, इन नियमों की न करें अनदेखी

MUZAFFARPUR23 hours ago

इनाम पाने पर भी का’र्रवाई काे भूल गई सदर पुलिस

INDIA4 weeks ago

पूरे देश में एक जैसा होगा लाइसेंस, राज्य नहीं कर पाएंगे कोई बदलाव

BIHAR1 week ago

सुबह में ढोयी बालू की बोरियां, शाम में लग गए एनडीआरएफ के साथ… ऐसे हैं डीएम साहब

BIHAR6 days ago

बिहार में पहली बार पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई, 3 DSP, 50 इंस्पेक्टर सहित 66 पर FIR

BIHAR5 days ago

पटना पहुंचे रितिक रोशन, आनंद कुमार के पैर छुए, कहा- लगता है पिछले जन्म में मैं बिहारी ही था

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर में सरकारी राशि की मची है लूट, मनरेगा योजना में मजदूरों के बदले चल रहे JCB और टैक्टर

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : लड़की ने किया सु’साइड, कूद गई पानी की टंकी से

MUZAFFARPUR4 weeks ago

DM ने बढ़ाई स्कूल खुलनें की तारीख, सभी सरकारी-गैर सरकारी मे जारी रहेगा धारा 144

BIHAR3 weeks ago

बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, इन जिलों में भीषण बारिश और आंधी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

पब्लिक ट्रांसपोर्ट : Hello My Taxi ने मुजफ्फरपुर कैब के साथ शुरू की कैब सर्विस

INDIA3 weeks ago

चलते वाहन की चाबी नहीं निकाल सकती पुलिस, सिर्फ इनका है चालान करने का अधिकार

Trending