नहीं होगा रेलवे का निजीकरण, कुछ सेवाओं को किया गया आउटसोर्स : पीयूष गोयल
Connect with us
leaderboard image

INDIA

नहीं होगा रेलवे का निजीकरण, कुछ सेवाओं को किया गया आउटसोर्स : पीयूष गोयल

Santosh Chaudhary

Published

on

संसद के शीतसत्र के पांचवे दिन केंद्र सरकार ने उच्च सदन में बताया कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जा रहा है, बस यात्रियों को सहूलियत देने के लिए कुछ सेवाओं की आउटसोर्सिंग हो रही है। केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को प्रश्नकाल के दौरान सदन को बताया कि एक अनुमान के तहत रेलवे को सुचारू रूप से चलाने के लिए अगले 12 वर्षों में 50 लाख करोड़ रुपये की जरूरत होगी। सरकार के लिए यह खर्च उठाना मुश्किल है इसलिए यह कदम उठाये जा रहे हैं। गोयल ने कहा, हर दिन बेहतर सेवाओं और रेलवे लाइन्स के लिए सदस्य एक नई मांग लेकर आते हैं। इन्हें पूरा करने के लिए अगले 12 साल के लिए 50 लाख करोड़ रुपये देना सरकार के लिए आसान नहीं है। बजट से जुड़ी कई समस्याएं होती हैं जिन्हें निपटाने के उपाय करने होते हैं।

Image result for piyush goyal railway"

यात्रियों की बढ़ती संख्या के लिए हजारों नई ट्रेनें शुरू करने और अधिक से अधिक निवेश की आवश्यकता है। ऐसे में अगर निजी निवेशक सरकार के नेतृत्व में इस क्षेत्र में पैसा निवेश करना चाहते हैं तो इसमें क्या गलत है। विभाग का स्वामित्व सरकार के पास ही रहेगा। इसे निजीकरण नहीं कहा जा सकता, सिर्फ कुछ सेवाओं को आउटसोर्स किया जा रहा है।

रेलवे कर्मियों पर नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव

रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी ने कहा, हम सिर्फ वाणिज्यिक और ऑन बोर्ड सेवाओं को निजी क्षेत्र से आउटसोर्स कर रहे हैं। स्वामित्व पूरी तरह से रेलवे का होगा और इससे रेलवे कर्मचारी किसी तरह से प्रभावित नहीं होंगे। निजी क्षेत्र के आने से रोजगार और बढ़ेंगे।

Input : Amar Ujala

INDIA

3 महीने पहले लॉन्च हुई इस बाइक ने उड़ा दिए सबके होश, बिना रुके 156 km तक का देती है रेंज

Santosh Chaudhary

Published

on

अगर साल 2019 को इलेक्ट्रिक व्हीकल का साल कहा जाए तो शायद इसमें कोई सोचने वाली बात होगी। इस साल कंपनियों ने कई शानदार इलेक्ट्रिक कार से लेकर इलेक्ट्रिक बाइक्स तक को लॉन्च किया। ऐसे में आज हम आपके लिए एक ऐसी इलेक्ट्रिक बाइक लेकर आए हैं, जो स्मार्टफोन से कनेक्ट हो जाती है। इसके अलावा यह माइलेज के मामले में भी काफी किफायती है। हम बात कर रहे हैं। देश की सबसे पहली इलेक्ट्रिक बाइक Revolt RV 400 की जिसमें कई शानदार फीचर्स दिए गए हैं। आज हम आपको इस बाइक की कीमत से लेकर इसके स्पेसिफिकेशन्स तक के बारे में बताएंगे। ताकी, आप खुद तय कर सकें कि यह बाइक आपके बजट में कैसी रहेगी? डालते हैं एक नजर,

Image result for revolt rv400

  • मोड्स- Revolt RV 400 में बेहतर राइडिंग एक्सपीरियंस के लिए तीन राइडिंग मोड्स मिलते हैं। इनमें ECO, Normal और Sport शामिल है।
  • रेंज- Revolt RV 400 में आपको 156 किलोमीटर का रेंज मिलता। आसान भाषा में कहें तो यह इलेक्ट्रिक बाइक एक बार फुल चार्ज होने पर 156 किलोमीटर तक बिना रुके चलती है।
  • मोड्स- Revolt RV 400 में आपको तीन राइडिंग मोड्स मिलते हैं। ECO मोड में 45 Kmph की टॉप स्पीड और 180 km का रेंज। Normal मोड में 65Kmph की टॉप स्पीड और 110 km का रेंज। Sport मोड में 65Kmph की टॉप स्पीड और 80 km का रेंज मिलता है।
  • मोटर और बैटरी- Revolt RV 400 में 3kW का इलेक्ट्रिक मोटर दिया है। वहीं, इसमें 72V, 3.24KWh की लिथियम-ऑयन बैटरी दी गई है।
  • चार्जिंग- Revolt RV 400 चार घंटे से भी कम समय में फुल चार्ज हो जाती है।
  • टॉप स्पीड- Revolt RV 400 सड़कों पर 85 किलोमीटर प्रति घंटे की टॉप स्पीड से दौड़ लगा सकती है।
  • ग्राउंड क्लियरेंस- Revolt RV 400 का ग्राउंड क्लियरेंस 215 मिलीमीटर है।
  • वजन- Revolt RV 400 का वजन 108 किलोग्राम है।
  • कीमत- Revolt RV 400 की एक्स-शोरूम कीमत 98,999 रुपये है। हालांकि, इसमें रजिस्ट्रेशन, इंश्योरेंस, स्मार्टकार्ड और 3 साल के लिए 4G कनेक्ट्रिविटी के लिए वन टाइम पेमेंट जैसे अतिरिक्त शुल्क देने होंगे।हालांकि, इसे आप 3499 रुपये प्रति माह (37 महीने तक) के प्लान में भी खरीद सकते हैं। यानी Revolt RV 400 के स्टेंडर्ड वेरिएंट को खरीदने के लिए आपको 37×3499= 129,463 रुपये देने होंगे। जबकि, इसके प्रीमियम वेरिएंट के लिए आपको 37×3999= 147,963 रुपये देने होंगे।
  • ब्रेकिंग- Revolt RV 400 में आपको ड्यूल डिस्क सेटअप मिलता है। इसके फ्रंट में 240 मिलीमीटर का डिस्क ब्रेक दिया गया है। वहीं, इसके रियर में भी आपको 240 मिलीमीटर का डिस्क ब्रेक मिलता है।
  • सेफ्टी- Revolt RV 400 में सेफ्टी के लिए कॉम्बिनेशन ब्रेकिंग सिस्टम (CBS) के साथ रिजनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम (RBS) जैसे फीचर्स दिए गए हैं।

Continue Reading

INDIA

2 लाख रुपये में शुरू करें ये सदाबहार बिजनेस, मोदी सरकार भी करेगी मदद

Santosh Chaudhary

Published

on

अगर आप कम इन्वेस्टमेंट में कोई बिजनेस करने के बारे में सोच रहे हैं तो आज हम आपको एक खास बिजनेस के बारे में बताने जा रहे हैं. ये बिजनेस आप 2 लाख रुपये लगाकर शुरू कर सकते हैं. पापड़ बनाने के बिजनेस को सिर्फ दो लाख रुपये में किया जा सकता है. नेशनल स्मॉल इंडस्ट्रीज कॉरपोरेट (National Small Industries Corporate) ने इसके लिए एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार किया है, जिसके तहत आपको मुद्रा स्कीम (PM Mudra Yojna) की मदद से आपको 4 लाख रुपये का लोन सस्ते रेट में मिल जाएगा.

कितना लगेगा कुल खर्च
इस रिपोर्ट के मुताबिक, केवल 6 लाख रुपये के इन्वेस्टमेंट से करीब 30 हजार किलोग्राम की प्रोडक्शन क्षमता (Production Capacity) तैयार हो जाएगी. इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपका कुल 6 लाख 5 हजार रुपये खर्च होगा.

फिक्स्ड कैपिटल: इस टोटल खर्च में फिक्स्ड कैपिटल (Fixed Capital) और वर्किंग कैपिटल (Working Capital) का खर्च शामिल है. फिक्स्ड कैपिटल में दो मशीन, पैकेजिंग मशीन इक्विपमेंट जैसे तमाम खर्च शामिल है.

वर्किंग कैपिटल: वर्किंग कैपिटल में स्टाफ की तीन महीने की सैलरी, तीन महीने में लगने वाली कच्चा माल और यूटिलीटी प्रोडक्ट का खर्च शामिल है. इसके अलावा इसमें किराया, बिजली, पानी और टे​लीफोन बिल जैसे खर्च भी शामिल हैं.

किन चीजों की होगी जरूरत
पापड़ बनाने के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको शिफ्टर, दो मिक्सर, प्लेटफॉर्म बैलेंस, इलेक्ट्रिक ओवन, मार्बल टेबल टॉप, चकला बेलन, एल्युमिनियम के बर्तन जैसे मशीनरी की जरूरत होगी. पापड़ बनाने के बिजनेस के लिए कम से कम 2500 स्क्वैयर फीट की जगह की जरूरत होगी.

अगर आपके पास खुद की जगह नहीं है तो इसे किराये पर लिया जा सकता है, जिसके लिए कम से कम 5 हजार रुपये किराया आपको हर महीने देन होगा. मैनपावर की बात करें तो इसके लिए आपको 3 अनस्किल्ड लेबर, 2 स्क्ल्डि लेबर और एक सुपरवाइजर की जरूरत होगी. इन सभी की सैलरी पर 25 हजार रुपये खर्च होगा, जो वर्किंग कैपिटल में जोड़ा गया है.

मुद्रा योजना के तहत ले सकते हैं 4 लाख रुपये तक का लोन
6 लाख रुपये के कुल कैपिटल में से आपको अपने पास 2 लाख रुपये लगाने होंगे. सरकार की मुद्रा योजना के तहत आपको 4 लाख रुपये तक का लोन मिल जाएगा. इसके लिए आपको प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें कई सारी ​डीटेल्स भरनी होंगी.

ऐसे बढ़ा सकते हैं सेल
इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस नहीं देनी होती है. आप लोन का अमाउंट 5 साल में लौटा सकते हैं. प्रोडक्ट बनने के बाद थोक में बेचना होगा. इसके लिए छोटे किराना स्टोर्स, सुपरमार्केट और बड़े रिटेलर्स से संपर्क बनाकर प्रोडक्ट की सेल बढ़ाई जा सकती है.

Input : News18

 

Continue Reading

INDIA

जिंदगी की जं’ग हा’र गई उ’न्नाव दु’ष्क’र्म पी’डि़ता, सफरदजंग अ’स्पताल में ली अं’तिम सां’स

Santosh Chaudhary

Published

on

उत्तर प्रदेश के लखनऊ से एयरलिफ्ट कर दिल्ली लाई गई उ’न्नाव निवासी सा’मूहिक दु’ष्क’र्म पी’डि़ता शुक्रवार देर रात आ’खिरी जिंदगी की जं’ग हा’र गई। यहां सफदरजंग अस्पताल में रात 11.40 बजे पी’डि़ता ने अं’तिम सांस ली। सुबह परिजनों की मौजूदगी में श’व का पो’स्टमा’र्टम किया जाएगा।

DEMO PHOTO

95 फीसद जली थी पीडि़ता

गुरुवार देर शाम 95 फीसद जली अवस्था में पीडि़ता को सफदरजंग अस्पताल की बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया था। पीडि़ता का इलाज कर रहे बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि रात 11.10 बजे पीडि़ता को दिल का दौरा पड़ा और 11.40 पर सांस टूट गई। इससे पूर्व दिन में अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने दिन में बताया था कि ऐसे गंभीर मामलों में इलाज बहुत मुश्किल होता है। गुरुवार रात आठ से साढ़े आठ बजे के दौरान पीडि़ता बात कर पा रही थी। वह अस्पताल में मौजूद अपने बड़े भाई से पूछ रही थी कि भइया क्या में बच जाऊंगी, मैं जीना चाहती हूं। आरोपितों को छोड़ना नहीं है। इस दौरान उन्हें सांस लेने और बोलने में काफी तकलीफ भी हो रही थी।

भाई ने कहा, दरिंदों को मिले मौत की सजा

दिन में मीडिया से बात करते हुए पीडि़ता के भाई ने कहा था कि हैदराबाद में गुनाहगारों को सजा मिल चुकी है। उनकी बहन से दरिंदगी करने वालों को भी मौत की सजा मिलनी चाहिए। पीडि़ता की मां भी दिल्ली आई थीं, लेकिन वह काफी परेशान हो रही थीं इसलिए घर भेज दिया गया।

आरोपितों ने केरोसिन छिड़ककर लगाई थी आग

25 वर्षीय पीडि़त युवती उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली थीं। पुलिस में दी शिकायत के मुताबिक दो साल पहले शादी का झांसा देकर गांव का ही शिवम रायबरेली ले गया था। वहां शिवम व उसके दोस्त शुभम ने दुष्कर्म किया और वीडियो बना लिया। शुभम को पुलिस ने क्लीनचिट दे दी थी, जबकि शिवम नौ माह रायबरेली जेल में रहकर 30 नवंबर को जमानत पर छूटा था। आरोपित लगातार मुकदमा वापसी का दबाव बना रहा था। गुरुवार सुबह पीडि़ता बैसवारा रेलवे स्टेशन जा रही थी। गांव से लगभग तीन सौ मीटर दूर रास्ते में शिवम त्रिवेदी और उसके साथ कुछ लोगों ने रोका और केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी और भाग निकले।

आधा किमी दौड़कर लपटों से घिरी पीडि़ता लगाती रही बचाने की गुहार

लपटों से घिरी पीडि़ता बचाने की गुहार लगाते हुए आधा किलोमीटर तक दौड़ती रही। अंत में एक गैस एजेंसी के गोदाम के पास तक आते ही वह गिर गई। शोर सुन बाहर निकले गार्ड ने आग बुझाकर यूपी 112 पर सूचना दी। पुलिस युवती को सुमेरपुर सीएचसी ले गई, जहां से उसे जिला अस्पताल और वहां से लखनऊ ले जाकर सुबह साढ़े दस बजे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल (सिविल) में भर्ती कराया गया। लखनऊ से एयर एंबुलेंस के जरिये रात सवा आठ बजे दिल्ली एयरपोर्ट लाया गया। वहां से ग्रीन कॉरिडोर बनाकर सफदरजंग अस्पताल लाया गया।

सभी आरोपित गिरफ्तार

उसके बयान के आधार पर सभी आरोपित गुरुवार को ही गिरफ्तार कर लिए गए थे। इनकी पेशी से पहले हैदराबाद एनकाउंटर होने से उसके दोहराव का खतरा था। इस कारण आरोपित शिवम त्रिवेदी, उसके पिता रामकिशोर, प्रधान पुत्र शुभम त्रिवेदी व हरिशंकर त्रिवेदी और उमेश बाजपेई (पंचायत मित्र) को शुक्रवार सुबह सुमेरपुर सीएचसी में मेडिकल चेकअप कराकर पुलिस बिहार थाने में बैठाए रही। कभी पुरवा कोर्ट तो कभी उन्नाव में पेशी की बातें हुईं। पेशी शाम छह बजे उन्नाव में तब हुई, जब बाकी कोर्ट बंद हो चुकी थीं। इस दौरान सभी चौराहों व नाकों पर पुलिस डटी रही।

चाहते हैं हैदराबाद जैसा इंसाफ

बेटी के माता-पिता भी हैदराबाद एनकाउंटर जैसा इंसाफ चाहते हैं। कहते हैं, मेरी बेटी भी उन्हीं हालात से गुजरी है। उसके गुनहगारों को भी वैसी ही सजा मिलनी चाहिए। ऐसा सबक सिखाने से ही हैवानियत रुकेगी। ऐसी कार्रवाई ही वहशियों में खौफ पैदा करेगी।

पीडि़ता के चाचा को धमकी

गुरुवार को हैवानियत से पहले मुख्य आरोपित शिवम त्रिवेदी ने पीडि़ता के गंगाघाट निवासी चाचा को भी जान से मारने की धमकी दी थी। ऑडियो वायरल होने पर गंगाघाट कोतवाली में डीएम व एसपी ने चाचा से बात की। डीएम ने कहा कि धमकी जैसी बात नहीं है। चाचा के साथ मध्यस्थता का रास्ता निकालने के लिए आरोपित ने एक रिश्तेदार को कहा था। इनकी शुक्रवार को बात होनी थी पर इसके पहले ही घटना हो गई।

बच सकती थी वारदात

लालगंज पुलिस सतर्क होती तो शायद दुष्कर्म पीडि़ता बच भी जाती। पीडि़ता ने 2018 में थाने में शिकायत की थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। फिर उन्नाव के बिहार थाना में चार मार्च-2019 को शिवम व शुभम के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई। कोर्ट के आदेश पर लालगंज पुलिस ने भी रिपोर्ट लिखी। 30 नवंबर को शिवम हाईकोर्ट से जमानत पर छूटा, लेकिन लालगंज पुलिस बेखबर रही। शिवम ने साथियों संग गुरुवार तड़के करीब चार बजे उसे जिंदा जलाने की कोशिश कर डाली। पीडि़ता के मजिस्ट्रेट को दर्ज कराए बयान के आधार पर शिवम के पिता रामकिशोर, शुभम के पिता हरिशंकर त्रिवेदी व उमेश बाजपेई को भी आरोपित बना लिया है। इन्हें गुरुवार को ही पकड़ लिया गया था।

पीडि़ता के घरवालों को मदद

शुक्रवार को सपाइयों ने पीडि़ता के घर वालों को एक लाख रुपये की आर्थिक मदद दी। सपाइयों ने शासन से पीडि़त परिवार को 25 लाख की आर्थिक सहायता और सुरक्षा देने की मांग की है।

बरसीं महिला आयोग उपाध्यक्ष

उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह पीडि़ता के घर पहुंचीं। पीडि़ता के पिता ने बताया कि भाई को धमकाने और दुकान न लगने देने की धमकी दी जा रही है। इस पर महिला थाना प्रभारी सुनीता चौरसिया पर बरस पड़ीं और बोलीं कि जब पीडि़ता के परिवार से मिलकर बात करने को कहा था तो उसे गंभीरता से क्यों नहीं लिया। तुम जैसे लापरवाह लोगों के कारण ही ऐसी घटनाएं होती हैं।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
Advertisement
BIHAR3 hours ago

प्याज के बाद लहसुन की बारी, बिहार में 64 बोरी लू’ट ले गए लु’टेरे

BIHAR12 hours ago

बिहार के अररिया में फिर ब’ड़ी वा’रदात, दु’ष्क’र्म के बाद ब’च्ची को रे’ड लाइट एरिया में बे’चा

BIHAR14 hours ago

चुनाव से पहले हर घर में नल का जल : CM नीतीश

MUZAFFARPUR15 hours ago

मुजफ्फरपुर: ABVP के कार्यालय पर ह’मला, लाखो रुपये के लू’ट का लगाया आ’रो’प

MUZAFFARPUR16 hours ago

मुजफ्फरपुर : आप भी ऑटो से आना-जान करते हैं तो हमेशा रहें सावधान, बाद में सिर धुनने से कुछ भी हाथ नहीं लगने वाला

BIHAR16 hours ago

NEET: करना चाहते हैं रजिस्‍ट्रेशन तो देर ना करें, जारी हो गया है परीक्षा का शेड्यूल

BIHAR17 hours ago

3.75 लाख कांट्रैक्‍ट शिक्षकों को CM नीतीश का तोहफा, अब सेवा काल में तीन प्रमोशन

MUZAFFARPUR18 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर के निबंधन कार्यालय में निगरानी विभाग की छा’पेमारी

MUZAFFARPUR18 hours ago

प्‍याज के ‘फेर’ में फंसे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, मुजफ्फरपुर के CJM कोर्ट में हुआ परिवाद

Patna Mahavir Temple
BIHAR18 hours ago

अयाेध्या में रघुपति लड्‌डू के नाम से बिकेगा पटना महावीर मंदिर में मिलनेवाला तिरुपति का नैवेद्यम

TRENDING1 week ago

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे कम समय में 100 मिलियन व्यूज़ मिले

INDIA5 days ago

12वीं पास के लिए CISF में नौकरियां, 81,100 होगी सैलरी

OMG3 days ago

पति ने खुद की पढ़ाई रोककर पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगते ही पत्नी ने दूसरी शादी कर ली

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर बैंक मैनेजर की ह’त्या करने पहुचे शूट’र की लो’डेड पिस्ट’ल ने दिया धो’खा, लोगो ने जम’कर पी’टा

INDIA1 week ago

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर में 8 ब’म मिलने से ह’ड़कंप, घर में छिपाकर रखा गया था ब’म

BIHAR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर पहुंची श्रीराम जानकी विवाह बरात का शंख ध्वनि के बीच भव्य स्वागत

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

BIHAR5 days ago

बिहार पुलिस: सब इंस्‍पेक्‍टर के 221 पदों के ल‍िये आवेदन शुरू, 1 लाख से ज्‍यादा होगी सैलरी

INDIA2 days ago

है’दरा’बाद गैं’गरे’प: एनका’उंटर पर आ’रोपी की पत्‍नी बोली- जहां पति को मा’रा, वहीं मुझे भी मा’र दो

Trending

0Shares