सुरक्षा से खिलवाड़ : टार्च की रोशनी में बीस किमी दौड़ी ट्रेन, जैसे-तैसे ट्रेन पहुंची स्टेशन

0
61
Muzaffarpur, Muzaffarpur, Railway Junction, Bihar
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नरकटियागंज रेलमार्ग पर मोतीपुर से मुजफ्फरपुर के बीच करीब 20 किलोमीटर तक टॉर्च की रोशनी में मंडुआडीह एक्सप्रेस दौड़ी। घटना सोमवार रात की है। लोको पायलट 20 से 30 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन लेकर जंक्शन पर पहुंचा। बताया गया कि मोतीपुर स्टेशन पर मंडुआडीह एक्सप्रेस पहुंची। पांच मिनट रुकने के बाद चली, लेकिन खुलने के साथ ही इंजन की हेडलाइट खराब हो गई। ट्रेन को आगे बढ़ाने में दिक्कत होने लगी। लोको पायलट ने ट्रैक दिखाई नहीं देने के कारण ट्रेन रोक दी। तत्काल लाइट ठीक करने की कोशिश की गई, लेकिन खराबी पकड़ में नहीं आ सकी। लोको पायलट ने स्थानीय स्टेशन मास्टर व कंट्रोल को सूचना दे ट्रेन आगे ले जाने से मना कर दिया। उसने दूसरा इंजन उपलब्ध कराने की मांग की। कंट्रोल की ओर से कोई पॉजिटिव रिस्पांस नहीं मिला। वरीय कर्मियों ने लोको पायलट को जैसे-तैसे व्यवस्था कर ट्रेन को मुजफ्फरपुर तक पहुंचाने का निर्देश दिया।

WATCH SINGER ARYA NANDINI

अधिकारियों से मिले निर्देश के बाद सुरक्षा ताक पर रखकर ट्रेन को चलाया गया। लोको पायलट ने हैंड टॉर्च को इंजन की लाइट पर लटका दिया। मद्धिम रोशनी में ट्रेन आगे बढ़ी। पायलट बड़ी सतर्कता से रोक-रोककर ट्रेन चलाता रहा। करीब 20 किमी की दूरी तय करने में डेढ़ घंटे का समय लगा। ट्रॉच की रोशनी में ट्रेन चलाना बहुत मुश्किल था लेकिन किसी तरह ट्रेन जंक्शन पहुंची।

मुजफ्फरपुर जंक्शन पर ठीक की गई ट्रेन की लाइट
ट्रेन के जंक्शन पर पहुंचने के बाद इंजन की लाइट ठीक की गई। इसके बाद देर रात 12 बजे वापस मंडुआडीह के लिए चलाया गया। यहां गार्ड व लोको पायलट ने कहा कि टॉर्च की रोशनी में ट्रेन चलाना बहुत कठिन था।

Source : Live Bihar


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •