RBI के नए नियमों में क्या-क्या है? 10 प्वाइंट्स में समझिए

0
161

देशभर में ऑनलाइन वॉलेट को यूज करने वाले यूजर्स की संख्या बढ़ती जा रही है। इसमें Paytm, PhonePe, GooglePay, AmazonPay के साथ कई दूसरे वॉलेट शामिल हैं। हालांकि, कई बार इन वॉलेट से पैसे गायब होने के मामले सामने आए हैं। ऐसे में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने इस फ्रॉड को रोकने के लिए नए नियम बनाए हैं। इन नियमों की चलते ऐसे वॉलेट को यूज करने वाले यूजर्स धोखाधड़ी से बच पाएंगे।

1. फरवरी 2019 के बाद बिना KYC वेरिफिकेशन के कोई यूजर मोबाइल वॉलेट का यूज नहीं कर पाएंगे।

2. ऑनलाइन वॉलेट की सुविधा वाली सभी कंपनियों को अब कॉन्टैक्ट नंबर और ईमेल आईडी देना होगी। ताकि किसी वजह से कस्टमर कोई रिपोर्ट करना चाहे तब आसानी से कर सके।

3. मोबाइल वॉलेट कंपनी जैसे Paytm, PhonePe, AmazonPay या अन्य को इस बात पर ध्यान रखना होगा कि यूजर्स SMS अलर्ट, इमेल और नोटिफिकेशन के लिए रजिस्टर करवाएं।

4. किसी भी कस्टमर के साथ धोखाधड़ी नहीं हो इसके लिए मोबाइल वॉलेट कंपनियां 24X7 कस्टमर केयर हेल्पलाइन की शुरूआत करेंगी।

5. किसी यूजर के साथ धोखाधड़ी होती है और इसके लिए मोबाइल वॉलेट प्रोवाइडर जिम्मेदार है, तो यूजर को नुकसान हुए पैसों को 3 दिनों के अंदर पूरा रिफंड किया जाएगा।

6. यदि ऐसे किसी मामले में जब कस्टमर के साथ फ्रॉड हुआ है, लेकिन वो शिकायत नहीं कर पाया, तब भी वॉलेट प्रोवाइडर को पूरा पैसा रिफंड करना होगा।

7. किसी यूजर के साथ फ्रॉड हुआ जिसकी शिकायत उसने 4 से 7 दिनों के अंदर की है और उसकी कुल राशि 10000 रुपए के नीचे है, तब भी कंपनी को रिफंड देना होगा।

8. अगर फ्रॉड की शिकायत 7 दिनों के अंदर की गई है तब रिफंड को RBI के तहत करना होगा।

9. रिफंड से जुड़े सभी मामलों को कंपनी 10 दिनों के अंदर सॉल्व करना होगा। यदि कंपनी के साथ कोई विवाद है तो उसे भी 90 दिनों के अंदर खत्म करना होगा।

10. यदि किसी यूजर की शिकायत को 90 दिनों के अंदर नहीं सुलझाया तो कंपनी को पूरा रिफंड चुकाना होगा।

Input : Dainik Bhaskar