अब पंजाब में भी ‘रंग’ दिखा रही शाही लीची

0
87
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुजफ्फरपुर की शाही लीची का रंग पंजाब में भी जम रहा है। इसकी खुशबू से वहां के किसान झूम रहे हैं। राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र की पहल पर पांच राज्यों में लीची की खेती शुरू करने के बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। पंजाब में शाही लीची का उत्पादन मुजफ्फरपुर से लगभग दोगुना आया है। सब कुछ ठीक रहा तो गेहूं उत्पादन की तरह लीची उत्पादन में पंजाब नई इबारत लिख सकता है।

 

 

पांच राज्यों में लीची की खेती : लीची को देश के अन्य राज्यों तक पहुंचाने के शोध कार्य के तहत राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र फिलहाल पांच राज्यों में इसे परख रहा है। इसमें पंजाब, हिमाचल प्रदेश, नगालैंड, कर्नाटक व छत्तीसगढ़ शामिल हैं। नगालैंड में अनुसंधान केंद्र से भेजे गए 12 हजार लीची के पौधे लगाए गए हैं।

 

Sahi lItchi, Litchi, Bihar, Muzaffarpur

 

पंजाब में सबसे बेहतर परिणाम : पंजाब में लगाए गए लीची के बागों से सबसे बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। वहां प्रति हेक्टेयर 15 टन लीची का उत्पादन हो रहा है। जबकि मुजफ्फरपुर में यह आंकड़ा आठ टन ही है। अब तक के शोध में लीची उत्पादन के लिए पंजाब की मिट्टी को बेहतर माना गया है। लीची उत्पादन की तकनीक का प्रयोग करने में भी आसानी हो रही है। कुल मिलाकर कहा जाए तो सब कुछ अनुकूल है। 1वैज्ञानिक लगातार रख रहे नजर : राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों के अलावा संबंधित राज्य के वैज्ञानिक भी लीची पर लगातार नजर रख रहे हैं। वहां लगातार शोध हो रहा है।

Input : Dainik Bhaskar


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •