जज्बे को सलाम! नौकरी करते हुए बच्चों को दी केनोइंग की ट्रेनिंग

0
33
Bhagalpur
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इनसे मिलिए, ये हैं भागलपुर जिला बल के सिपाही मनोज। राष्ट्रीय स्तर पर बिहार का परचम लहार कई गोल्ड मेडल जीत चुके मनोज की तमन्ना है उनसे सीखने वाला खिलाड़ी केनोइंग में अंतरराष्ट्रीय पदक जीते।

इसके लिए नौकरी करने के बाद भी वह रोज सुबह छह केनाइंग के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने भैरवा तालाब पहुंच जाते हैं। खुद के अंतराष्ट्रीय पदक जीतने का सपना पूरा नहीं हो पाया लेकिन मनोज अब बच्चों को सीखा कर पदक के सपने को पूरा करना चाहते हैं।

Bhagalpur

मनोज पुलिस की नौकरी से समय निकाल हर रोज सुबह भैरवा तालाब में कयाकिंग-केनोइंग का बच्चों को फ्री में प्रशिक्षण देते हैं। रोज 20-25 खिलाडी उनसे प्रशिक्षण लेते हैं। उन्होंने सौ से ज्यादा युवाओं को केनाइंग की ट्रेनिंग दे चुके हैं। उनके शिष्य चंदा,अमित,सुधीर कुमार सुधांशु ,कुंदन,चंदन आदि राष्ट्रीय स्तर पर भागलपुर का परचम लहरा चुके हैं। इन खिलाड़ियों का कहना है कि मनोज जैसे गुरु ने निस्वार्थ भाव से उन्हें इस योग्य बनाया कि वे देश के कई हिस्सों में जाकर मेडल ले चुके हैं। वर्ष 2007 में एनसीसी कोटा के आधार पर बिहार पुलिस में बतौर सिपाही नियुक्त हुए। यही नहीं वर्ष 2013 में बिहार में कयाकिंग केनोइंग संघ की स्थापना भी की।

टीएमबीयू में इस खेल को शामिल कराया

वर्ष 2016 में टीएमबीयू की ओर से जारी किए जाने वाले खेल कैलेंडर में इस खेल को शामिल करवाया। राष्ट्रीय विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में टीएमबीयू के कयाकिंग की टीम को फाइनल तक पहुंचवाया। दक्षता हासिल करने के लिए उन्होंने 2013 में ही भारतीय कयाकिंग एवं केनोइंग  संघ द्वारा आयोजित अंतराष्ट्रीय कोच, जज एवं रेफरी का कोर्स किया।

Source : Hindustan

 

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

                                                                                      

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •