सिकंदरपुर मन के खतियान में आमजन का भी नाम तो कैसे रोकें रजिस्ट्री : रजिस्ट्रार

0
34
Sikandarpur Man

सिकंदरपुर मन की खासमहाल की जमीन के निबंधन पर प्रमंडलीय आयुक्त व डीएम के आदेश से रोक लगाई गई है। लेकिन, ब्रह्मपुरा थाना संख्या 402 के तहत सिकंदरपुर मन की जमीन होने के संबंध में उपलब्ध कराई गई सूची में कई मामलों में रैयत के नाम में आम जनता का नाम भी अंकित है। मन के खतियान में रैयत का नाम बिहार सरकार राजस्व विभाग, सर्व साधारण या अन्य विभाग के साथ ही आम जनता के नाम पर पर दर्शाए गए हैं। इस प्रकार की जमीन की सूचना देते हुए इसके निबंधन के संबंध में जिला अवर निबंधक संजय ग्वालिया ने अपर समाहर्ता डा. रंगनाथ चौधरी से मार्गदर्शन मांगा है। जिला अवर निबंधक ने पूरे मामले की जानकारी अपर समाहर्ता को देते हुए आम जनता के नाम के संबंधित दस्तावेजों का निबंधन स्वीकार करने में हो रही कठिनाइयों की जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि सिकंदरपुर मन की जमीन से संबंधित उपलब्ध कराई गई सूची में बिहार सरकार के अलावा 26 मामलों में आम जनता के नाम में शांति देवी, मुरलीधर बंका, मोतीलाल बैठा, जगतमणि देवी, राघव पाल, शकुंतला देवी, बनवारी लाल, वैदेही देवी समेत सर्व साधारण के नाम अंकित हैं। इस प्रकार की जमीन के खतियान में भी आम जनता के नाम अंकित हैं। ऐसे में इस प्रकार की भूमि का निबंधन स्वीकार किया जाए या नहीं इसके संबंध में मार्गदर्शन दिया जाए। ताकि, उसके आधार पर आगे निबंधन की कार्रवाई की जा सके। अवर निबंधक ने अपर समाहर्ता को 26 मामलों की पूरी जानकारी उपलब्ध कराई है।

Sikandarpur Man

नक्शा व सर्वे में 115.84 एकड़ है सिकंदरपुर मन की जमीन

तत्कालीन प्रमंडलीय आयुक्त अतुल प्रसाद के निर्देश पर अधिकारियों ने मापी कर 10 जून 2016 को सिकंदरपुर मन की 115.84 एकड़ जमीन होने की जानकारी दी थी। इसके 114.34 एकड़ में पानी तथा 1.5 एकड़ को अतिक्रमित बताया था। आयुक्त के आदेश पर तत्कालीन अधिकारियों ने सिकंदरपुर मन की कैलेस्ट्रल व रिवीजनल दोनों सर्वे में 180.31 एकड़ जमीन बताई थी। लेकिन, रिवीजनल सर्वे में मन की 35 एकड़ जमीन को बूढ़ी गंडक नदी में बताए जाने से प्रमंडलीय आयुक्त ने मन की जमीन की पैमाइश कर रिपोर्ट सौंपने को कहा। पूर्व में अधिकारियों ने आयुक्त को रिवीजनल सर्वे में सिकंदरपुर मन की 92 एकड़ मन, 9.79 एकड़ अंबेडकर नगर के रूप में अतिक्रमित, 10.67 एकड़ कृषि योग्य, 33 एकड़ स्टेडियम तथा 35 एकड़ गंडक नदी में बताई गई। इसके बाद अधिकारियों ने मापी कर सिकंदरपुर मन की जमीन को 115.84 एकड़ बताया था।

Input : Dainik Bhaskar