Connect with us

BIHAR

खुशखबरी: बिहार में मार्च तक 7000 असिस्टेंट प्रोफेसरों की हो जाएगी नियुक्ति, जानिए

Published

on

अगले साल मार्च तक बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसराें की नियुक्ति हो जाएगी। शिक्षा विभाग ने बुधवार काे इन विश्वविद्यालयों के कुलसचिवाें के साथ बैठक के बाद यह लक्ष्य तय किया है। इसके लिए विश्वविद्यालय सेवा आयोग के जरिए दिसंबर से आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी। अब तक दो हजार से कम रिक्तियां मिली हैं, जबकि सभी विश्वविद्यालयों में लगभग सात हजार पद रिक्त हैं।

विभाग ने मगध, पाटलिपुत्र, बीआरए, एलएन मिथिला, केएसडीएस और मजहरूल हक विश्वविद्यालय काे 15 तक रिक्तियां भेजने का निर्देश दिया है। अबतक जो रिक्तियां मिली हैं, उसके अनुसार वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में 556, पूर्णिया विश्वविद्यालय में 330, तिलकामांझी विश्वविद्यालय भागलपुर में 197, मुंगेर विश्वविद्यालय में 266, बीएन मंडल विश्वविद्यालय में 301 और पटना विश्वविद्यालय में 151 पद रिक्त हैं।

शिक्षा विभाग की ओर से बैठक में कहा गया कि बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग से  सहायक प्राध्यापकों के खाली पदों पर  नियुक्ति प्रक्रिया शीघ्र आरंभ होगी। इसके लिए विभाग द्वारा उन छह विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों को एक सप्ताह के अंदर शिक्षकों की रिक्तियों का ब्योरा उपलब्ध कराने का आदेश दिया गया जिन्होंने कई बार निर्देश देने के बाद भी रिक्तियों की सूची नहीं सौंपी है।

मगध विवि (बोधगया), एलएन मिश्र मिथिला विवि (दरभंगा), वीर कुंवर सिंह विवि (आरा), जयप्रकाश विवि (छपरा), पूर्णिया विवि और मुंगेर विवि ने अबतक विश्वविद्यालय सेवा आयोग को सहायक प्राध्यापकों के खाली पदों की सूची नहीं मुहैया करायी है।

बैठक में सभी विश्वविद्यालयों में लोक अदालत से जुड़े मामलों के निष्पादन एवं कन्या उत्थान योजना के कार्यान्वयन की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में उच्च शिक्षा निदेशक रेखा कुमारी, उपनिदेशक अजीत कुमार, दीपक कुमार सिंह एवं राजेश कुमार सिंह समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

विश्वविद्यालयों के शिक्षकों-कर्मचारियों को मिलेगा नया वेतनमान

बिहार के विश्वविद्यालयों के शिक्षकों और  कर्मचारियों को सातवां पुनरीक्षित वेतनमान का लाभ इसी माह (नवम्बर) से मिलेगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने एक सप्ताह के भीतर राशि का ब्योरा उपलब्ध कराने का आदेश सभी विश्वविद्यालयों को दिया है ताकि 20 नवम्बर तक नये वेतनमान की पूरी राशि जारी की जाए। इस संबंध में बुधवार को शिक्षा विभाग के स्व.मदन मोहन झा सभागार में सभी विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों के साथ उच्चस्तरीय बैठक आयोजित की गई।

 

8 हजार शिक्षकों तथा 15 हजार कर्मियों को मिलेगा लाभ

शिक्षा विभाग द्वारा नवम्बर से नया वेतनमान का भुगतान किये जाने से सभी विश्वविद्यालयों में करीब 8 हजार शिक्षकों एवं 15 हजार कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। 6 मार्च 2019 को राज्य सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक सातवां वेतनमान के प्रभावी होने से वेतन में 15 से 18 फीसद की वृद्धि हुई है।

हालांकि सातवें वेतनमान को लागू करने में आठ माह की देरी हो चुकी है और अभी तक छठा वेतनमान ही शिक्षकों व कर्मियों को मिल रहा था। सिर्फ पटना विश्वविद्यालय ने सातवां वेतनमान के तहत नवम्बर से शिक्षकों एवं कर्मचारियों को वेतन भुगतान किया है।

Input : Dainik Jagran

 

BIHAR

चिराग पासवान ने बिहार की सभी 243 सीटों पर तैयारी का किया एलान, बोले -जीतेंगे सभी सीटें

Published

on

PATNA :लोकजनशक्ति पार्टी सुप्रीमो चिराग पासवान ने एलान कर दिया है कि बिहार की तमाम 243 विधानसभा सीटों पर पार्टी ने चुनाव की तैयारी कर रखी है। सभी सीटों पर हमारी जीत तय है। उन्होनें वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए बिहार प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक की। उन्होनें कहा कि पार्टी एनडीए को जिताने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेगी।

चिराग पासवान ने वीसी के जरिए जुड़े पार्टी पदाधिकारियों को कहा कि जैसा की अब लगता है की समय पर ही चुनाव होंगे।पिछले नवम्बर से पार्टी ने सभी 243 पर तैयारी कर रखी है। जिसका लाभ गठबंधन के साथियों को चुनाव में होगा।जो सीटें लोजपा लड़ेगी वह वहां जीतेगी और जहां गठबंधन का साथी दल लड़े वह सब सीटे जीतना है। ताकि बिहार 1st बिहारी 1st के सपने पर आने वाली सरकार चल सके और बिहार का स्वर्णिम काल लौट सके। उन्होनें बताया कि पार्टी ने 31 लाख लोगों को बिहार में पार्टी का सदस्य बनाया है जिसका सीधा लाभ चुनाव के दौरान एनडीए को सभी सीटों पर मिलेगा।

पार्टी के प्रधान महासचिव शाहनवाज़ अहमद कैफी ने कहा कि पार्टी के संस्थापक राम विलास पासवान के द्वारा कोरोना संकट के दौर में किए गए काम की बदौलत अब सारा देश उन्हें अन्नदाता के रूप में जानने लगा है। पूरे देश में खाद्य आपूर्ति का प्रबंधन जो पार्टी के संस्थापक व केंद्रीय मंत्री श्री राम विलास पासवान ने किया है उसकी सभी तारीफ कर रहे हैं जिसका लाभ पार्टी को निश्चित तौर पर मिलेगा।बिहार संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजू तिवारी ने कहा की जल्द ही सम्भावित प्रत्याशियों को बूथ लिस्ट जमा करने की तारीख़ की घोषणा पार्टी करेगी।

लोक जनशक्ति पार्टी की आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बिहार कार्यकारिणी की बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने की।मीटिंग में बिहार प्रदेश अध्यक्ष और सांसद प्रिन्स राज के साथ-साथ बिहार संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और विधायक राजू तिवारी और पार्टी के बिहार प्रधान महासचिव शाहनवाज़ अहमद कैफी के साथ कुल 122 सदस्यों की बिहार कार्यकारिणी कमिटी के 115 सदस्यों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवायी ।

Input : First Bihar

Continue Reading

BIHAR

बिहार के चंपारण शताब्दी समारोह ने बनाया वर्ल्ड रेकार्ड, डेढ़ करोड़ लोगों तक पहुंचा था गांधी का संदेश

Published

on

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 10 अप्रैल 1917 को नील की खेती करने वाले बिहार के किसानों को अंग्रेजों के जुल्म से मुक्ति दिलाने बिहार आए थे। वर्ष 2017 में गांधी की चंपारण यात्रा का बिहार सरकार ने शताब्दी समारोह मनाया। इस दौरान सालभर गांधी के विचारों को घर-घर पहुंचाने के लिए दर्जनों कार्यक्रम हुए। सरकार ने अपने खजाने की अच्छी-खासी राशि गांधी के संदेशों को लोगों तक पहुंचाने के लिए खर्च किया और समारोह के दौरान व्यापक जनभागीदारी बनी।

लिमका बुक ऑफ रेकार्ड्स ने बिहार के इस अभियान को विश्व रेकार्ड का दर्जा दिया है। साथ ही गांधी के विचारों को लेकर इसे दुनिया का सबसे बड़ा अभियान माना है। लिमका की संपादक वत्सला कौल बनर्जी ने गुरुवार को बिहार की इस बड़ी उपलब्धि की जानकारी शिक्षा विभाग को दी। साथ ही विश्व रेकार्ड कायम करने का प्रमाण पत्र भेजा। चम्पारण शताब्दी समारोह के सूत्रधार तथा शिक्षा विभाग के शोध प्रशिक्षण निदेशक विनोदानंद झा ने कहा कि यह राज्य सरकार और शिक्षा विभाग की बड़ी कामयाबी है। चंपारण शताब्दी समारोह को लिमका में दर्ज किया जाना गांधी जी के प्रति, चंपारण की धरती के प्रति और बिहार के साक्षरताकर्मियों के प्रति सम्मान है।

DEMO PIC

डेढ़ करोड़ लोगों तक पहुंचा गांधी का संदेश
लिमका बुक ऑफ रेकार्ड्स ने जनशिक्षा निदेशालय और बिहार राज्य साक्षरता मिशन द्वारा चंपारण शताब्दी समारोह के मौके पर खासतौर से ‘बापू आपके द्वार’ नामक फोल्डर के प्रकाशन का जिकर किया है। इस फोल्डर द्वारा गांधी के संदेशों को बिहार के डेढ़ करोड़ घरों तक 46 हजार साक्षरताकर्मियों द्वारा पहुंचाया गया, लिमका ने इसे विशेष रूप से उद्धृत किया है।

राष्ट्रीय विमर्श से हुआ था आरंभ 
चंपारण शताब्दी समारोह की शुरुआत पटना के ज्ञान भवन में दो दिवसीय (10-11 अप्रैल 2017) राष्ट्रीय विमर्श से हुआ था। गांधी के विचार और संदेशों को लेकर इस विमर्श में देशभर के गांधीवादी जुटे। 17 अप्रैल को देशभर के 840 स्वतंत्रता सेनानियों को सम्मानित किया गया। सम्मान तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने दिए। सत्याग्रह से जुड़े स्थलों पर गांधी मूर्तियों की स्थापना, हेरिटेज वाक, मोहन से महात्मा पपेट शो, राज्य के सभी कार्यालयों में गांधी सूक्तियों का लेखन, बुनियादी विद्यालयों के जीर्णोद्धार हुए। समारोह का समापन 27 मार्च 2018 को  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने किया।

लिम्का में यह दूसरा रेकार्ड
चंपारण शताब्दी समारोह लिमका बुक में दर्ज होने वाला बिहार का दूसरा रेकार्ड है। लिमका ने इससे पहले 2017 की बिहार की मानव शृंखला को दुनिया की सबसे बड़ी ह्यमेन चेन के रूप में जगह दी थी। वर्ष 2020 के जनवरी माह में बनी मानव शृंखला ने भी वर्ल्ड रेकार्ड के लिए अपनी दावेदारी लिमका में पेश की हुई है।

Input : Hindustan

Continue Reading

BIHAR

विश्व पर्यावरण दिवस: बिहार में इन तीन दुर्लभ पेड़ों को क्षति पहुंचाई तो रोज देना होगा एक लाख रुपये जुर्माना

Published

on

बिहार में पाए जाने वाले दुर्लभ प्रजाति के तीन पेड़ों को यदि किसी ने नुकसान पहुंचाया तो उसकी खैर नहीं। राज्य सरकार इन्हें संरक्षित करने जा रही है। जल्द इनके पाए जाने वाले तीन स्थानों को जैव विविधता विरासतीय स्थल घोषित किया जाएगा। फिर इन पौधों का व्यावसायिक प्रयोग करने वालों पर प्रतिदिन एक लाख तक जुर्माना हो सकता है। इनमें बेतिया के रघिया और मंगुराहा के अलावा कैमूर जिले का कुछ चिह्नित हिस्से शामिल हैं। तीनों पौधों की यह विशिष्ट प्रजातियां प्राकृतिक रूप से वहीं पाई जाती हैं। इन प्रजातियों में कैमूर के अंजन, रघिया और मंगुराहा के साइकस पक्टीनाटा व पायनस रॉक्सबरगाई पौधे शामिल हैं। शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण दिवस है। यह इत्तेफाक है या सुखद संयोग कि इस बार पर्यावरण दिवस की थीम जैव विविधता ही है। बिहार सरकार जैव विविधता के संरक्षण की दिशा में जल्द महत्वपूर्ण कदम बढ़ाने जा रही है। वह अपनी जैव विविधता से जुड़ी विरासतों को सहेजेगी।

World Environment Day If these three trees Pinus Roxburghii Cycas ...

पाइनस रॉक्सबरगाई
इसका चर्चित नाम चीड़ का पेड़ है। इसकी औषधीय प्रयोग बहुत अधिक है। सूजन दूर करने वाले तमाम हर्बल उत्पादों के साथ ही दर्दनाशक दवाओं में भी इसका प्रयोग होता है। इसकी पहचान विलियम रॉक्सवर्ग के नाम पर है।

साइकस पेक्टीनाटा
यह साइकस की चौथी प्रजाति है जिसे स्कॉटलैंड के वनस्पति विज्ञानी फ्रांसिस बुचनन ने 1826 में परिभाषित किया था। यह विलुप्त होती प्रजाति देखने में सजावटी होने के साथ ही औषधीय दृष्टि से बेहद खास मानी जाती है।

ऐसे लगेगा जुर्माना
पेड़ों की तीन महत्वपूर्ण प्रजातियों के संरक्षण की योजना है। बिहार बायो डायवर्सिटी बोर्ड इस काम में जुटा है। इस प्रस्ताव को केंद्र ने हरी झंडी दे दी है। स्थानीय निकायों से सहमति लेकर राज्य सरकार इन्हें अधिसूचित कर देगी। फिर इनका व्यावसायिक प्रयोग करने वालों पर प्रतिदिन एक लाख तक दंड का प्रावधान है। पकड़े जाने के बाद जांच में जिस दिन से दुर्लभ पेड़ों के व्यावसायिक उपयोग की बात साबित होगी उस दिन से पकड़े जाने की तारीख तक प्रत्येक दिन एक लाख जुर्माना लगेगा।

पहली बार विरासत स्थल घोषित होंगे तीन स्थान 
पहली बार तीन स्थानों को विरासत स्थल घोषित करने की तैयारी हो रही है। दरअसल बायो डायवर्सिटी एक्ट-2002 के सेक्शन-37 में विलुप्त होती प्राकृतिक महत्व की चीजों को बचाने के लिए सरकार उन्हें जैव विविधता विरासत स्थल के रूप में अधिसूचित कर सकती है। इसके लिए संबंधित निकाय से परामर्श लेना जरूरी है।

देश में 17 जैव विविधता विरासत स्थल हैं फिलहाल
असम का मजौली रिवर आइलैंड, गोवा का पुर्वातली राय, कर्नाटक में नल्लूर टर्र्मांरड ग्रोव्स, चिकमंगलूर का होग्रीकेन और बंगलूरू की यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चरल साइंसेज का चिह्नित हिस्सा शामिल है। इसके अलावा मध्य प्रदेश की नारो हिल्स, सतना और्र ंछदवाड़ा का पातालकोट, महाराष्ट्र का गढ़ चिरौली स्थित ग्लोरी ऑफ अल्लापल्ली, मनीपुर का दियालांग विलेज, मेघालय का ख्लौ कुर सायम कमीइंग, ओडीसा का मंडासारू, तेलंगाना का अमीनपुर लेक, लखनऊ के कुकरैल स्थित घड़ियाल पुर्नवास केंद्र, पश्चिम बंगाल के दार्र्जींलग के टोंग्लू और धोत्रे तथा झाड़ग्राम स्थित चिल्कीगढ़ के चिन्हित हिस्से जैव विविधता विरासत स्थलों में शामिल हैं।

Input : Hindustan

Continue Reading
BIHAR27 mins ago

चिराग पासवान ने बिहार की सभी 243 सीटों पर तैयारी का किया एलान, बोले -जीतेंगे सभी सीटें

BIHAR31 mins ago

बिहार के चंपारण शताब्दी समारोह ने बनाया वर्ल्ड रेकार्ड, डेढ़ करोड़ लोगों तक पहुंचा था गांधी का संदेश

BIHAR35 mins ago

विश्व पर्यावरण दिवस: बिहार में इन तीन दुर्लभ पेड़ों को क्षति पहुंचाई तो रोज देना होगा एक लाख रुपये जुर्माना

BIHAR39 mins ago

पूरे बिहार में स्मार्ट बिजली मीटर जल्द लगेंगे, इन जिलों से शुरू होगा प्री-पेड मीटर लगाने का ट्रायल

MUZAFFARPUR41 mins ago

इनसे सीखें : सिंचाई की नई तकनीक ने बदली मुजफ्फरपुर के किसान की किस्मत

MUZAFFARPUR50 mins ago

मुजफ्फरपुर : समलैंगिक शादी के प्रयास मामले में किशोरी पहुंची जेल, साथी किशोरी का किया था अपहरण

BIHAR2 hours ago

दरभंगा में बम विस्फोट से मचा हड़कंप, पांच लोग गंभीर रूप से जख्मी

BIHAR2 hours ago

प्रवासी मजदूरों को अपराधी बताकर फंसी नीतीश सरकार का नया पत्र, कहा- गलती से जारी हो गयी थी पहली चिट्ठी

BIHAR2 hours ago

बिहार में रोजगार के लिए 10 लाख रुपये देगी नीतीश सरकार, जानें नियम व शर्त

WORLD2 hours ago

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम निकला कोरोना पॉजिटिव, कराची के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH1 week ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

INDIA4 weeks ago

महाराष्ट्र: औरंगाबाद में मालगाड़ी ने 19 मजदूरों को कुचला, 16 की मौत, सभी पटरी पर सो रहे थे

Trending