पीएमसीएच, एनएमसीएच और आईजीआईएमएस में 10 हजार मरीजों की भर्ती की होगी व्यवस्था

0
97

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पीएमसीएच विश्व का सबसे बड़ा अस्पताल बनेगा। कैंपस में पर्यावरण के अनुकूल ग्रीन बिल्डिंग बनेगी, जिसमें 5000 बेड होंगे। 5540 करोड़ की लागत से 7 साल में 3 चरणों में अस्पताल का विस्तार होगा। 450 बेड की धर्मशाला भी होगी। इसके साथ ही एनएमसीएच व आईजीआईएमएस में भी 2500-2500 बेड की व्यवस्था रहेगी।

सीएम शुक्रवार को राजेंद्रनगर अस्पताल में 106 बेड के अतिविशिष्ट नेत्र अस्पताल और राजवंशीनगर लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में बनने वाले ट्रॉमा सेंटर के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने भी संबोधित किया।

30 बेड का होगा ट्रॉमा सेंटर

मुख्यमंत्री ने कहा-नेत्र चिकित्सा के बेहतर इंतजाम के लिए राजेंद्रनगर अस्पताल का चयन किया गया है। यहां ओपीडी में इलाज होता रहेगा। कहा कि राजवंशीनगर के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल को 400 बेड का हड्‌डी रोग अस्पताल बनाने का निर्णय लिया गया है। इसी कैंपस में 30 बेड का ट्रॉमा सेंटर बनेगा।

भ्रष्टाचार, अपराध व सांप्रदायिकता के मुद्दे पर कभी समझौता नहीं

मुख्यमंत्री ने बिहार में महागठबंधन टूटने के पीछे भ्रष्टाचार को मुख्य वजह बताते हुए कहा कि अगर भ्रष्टाचार का मामला सामने नहीं आता तो शायद ऐसी नौबत आती ही नहीं। बिहार में 13 वर्ष से हम जनता की सेवा कर रहे हैं तो यह जॉर्ज फर्नांडिस की ही देन है। हमारा लक्ष्य जनता की सेवा है। मुख्यमंत्री शुक्रवार को जदयू द्वारा रवींद्र भवन में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने मुजफ्फरपुर में जॉर्ज की हाथों में हथकड़ी लगी प्रतिमा लगवाने की घोषणा की। कहा कि जॉर्ज साहब ने ताउम्र सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। हम भी भ्रष्टाचार, अपराध और सांप्रदायिकता के मुद्दे पर कभी समझौता नहीं कर सकते हैं। जॉर्ज साहब के नेतृत्व में 1994 से ही संघर्ष किया पर सफलता नवंबर 2005 में मिली। अगर उनके नेतृत्व में विद्रोह नहीं होता तो आज हमारी पहचान नहीं रहती। सीएम ने कहा कि लोग अब अच्छे काम की चर्चा तक नहीं करते।

Input : Dainik Bhaskar