कार्यालय मुज़फ़्फ़रपुर आयोजना क्षेत्र प्राधिकार, मुज़फ़्फ़रपुर जो कि अनुमंडल पूर्वी भवन में जब से खुला तब से किसी भी कार्यदिवस को खुला नहीं पाया गया, सवाल अहम है कि क्या सुशासन की सरकार में कार्यालय बंद करने का निश्चय को मुज़फ़्फ़रपुर जिलाधिकारी व अनुमंडल अधिकारी पूर्वी द्वारा पालन किया जा रहा है तो कोई बात नहीं।

ग्रेटर मुजफ्फरपुर में शामिल गांवों में घर बनाने के लिए नक्शा पास कराने के लिए इस कार्यालय खोला गया है। नक्शा पास आसानी से हो इसके लिए नगर, आवास एवं विकास विभाग ने मुजफ्फरपुर आयोजना क्षेत्र प्राधिकार गठित की है। अनुमंडल पूर्वी के भवन में प्राधिकार का कार्यालय खुली है। भविष्य में शहर के विस्तार की संभावना को देखते हुए नगर विकास विभाग ने आयोजना क्षेत्र की पहचान कर अधिसूचना जारी कर दी गई है। इसमें नगर निगम के अलावा जिले के 216 गांवों को शामिल किया गया है। आयोजना क्षेत्र में अब किसी भी आवास निर्माण के लिए नक्शा पास कराना जरूरी होगा। नक्शा के लिए एसडीओ पूर्वी कार्यालय के पिछले हिस्से में आयोजन क्षेत्र प्राधिकार का कार्यालय खोल दिया गया है।

इस कार्यालय से आयोजना क्षेत्र में शामिल गांवों में मकान बनाने के लिए नक्शा पास होगा। आयोजना क्षेत्र में शामिल गांवों में अब बिना सड़क सुविधा के आवासीय भवनों का नक्शा नहीं बनाया जाएगा। कार्यालय खुलने के साथ ही जिले में प्राधिकार का गठन भी कर लिया गया है। प्रमंडलीय आयुक्त प्राधिकार के अध्यक्ष व डीएम उपाध्यक्ष बनाए गए हैं। सदस्य के तौर पर इसमें नगर के निवेशक, नगर आयुक्त, उपविकास आयुक्त, अपर समाहर्ता राजस्व, पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता, पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता, ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता, राज्य सरकार की ओर से मनोनीत दो व्यक्ति व कांटी नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी को शामिल किया गया है। आयोजना क्षेत्र का मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी एसडीओ पूर्वी को बनाया गया है।